गांधी की जयंती अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित हो - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 जून 2019

गांधी की जयंती अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित हो

gandhi-anniversery-0should-celebrate-world-wide
नयी दिल्ली 26 जून, राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने सरकार से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर मनाये जाने के लिए पहल करने की अपील की है । श्री शर्मा ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद के प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योग दिवस को जिस प्रकार से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए जिस प्रकार से पहल की थी उसी प्रकार की पहल राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने के लिए की जानी चाहिए । उन्होंने कहा कि बापू एक समय न केवल कांग्रेस के अध्यक्ष थे बल्कि देश के स्वतंत्रता संग्राम में लोगों जोड़ने के लिए अहम भूमिका निभायी थी । गांधी को न केवल स्मरण करने बल्कि उनके संदेशों का अनुसरण करने की जरुरत है । उन्होंने राष्ट्रपति के अभिभाषण की चर्चा करते हुए कहा कि इसमें पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु की चर्चा नहीं है । पंडित नेहरु आजादी के आन्दोलन के अग्रिम पंक्ति के नेताअों में थे और सबसे अधिक समय तक जेल में रहे थे । उन्होंने दो महान पुस्तकों की रचना की थी जिसकी अब भी चर्चा की जाती है । श्री शर्मा ने आजादी के आन्दोलन की चर्चा करते हुए कहा कि आठ अगस्त 1942 को कांग्रेस नेतृत्व को गिरफ्तार कर जेल में बंद कर दिया गया था और इस संगठन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था । उन्होंने कहा उस दौरान हिन्दू महासभा और मुस्लिम लीग ने अंग्रेजों को यह लिखकर दिया था कि आजादी के आन्दोलन को कुचल दो । पंजाब और बंगाल में कांग्रेस की सरकार चली गयी और अंग्रेजों से मिलकर इन दोनों संगठनों ने सरकारें बनायी । उन्होंने कहा कि स्वार्थ से प्ररित लोग सरदार पटेल और पंडित नेहरु के संबंधों को लेकर भ्रांति फैलाते हैं । पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भी पंडित नेहरु की जबरदस्त प्रशंसा की थी । 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...