बिहार : डीजीपी पांडे ने अपनाया करा रुख, लिपि सिंह की हुई प्रशंसा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 4 जून 2019

बिहार : डीजीपी पांडे ने अपनाया करा रुख, लिपि सिंह की हुई प्रशंसा

lipi-singh-appriciated
अरुण कुमार (आर्यावर्त) सूत्रों से मिली जानकारी के आलोक में,बिहार पुलिस के महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे की टीम पटना जिला के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों की कार्यप्रणाली से बेहद नाराज है।बाढ़ को छोड़कर सभी अनुमंडलों को डीजीपी ने कड़ी फटकार लगाई है।गुस्सा में आए डीजीपी ने यहां तक कह दिया था कि बाढ़ छोड़ कर कहीं भी डीएसपी फील्ड में निकलते तक नहीं है।आईपीएस लिपि सिंह की जहां डीजीपी और उनकी टीम ने प्रशंसा की है, वहीं सभी पटना जिला के दूसरे सभी अनुमंडलों के एसडीपीओ को फटकार लगी है।

बाढ़ छोड़ सभी अनुमंडलों की समीक्षा करेगी टीम।
पुलिस महानिदेशक पटना जिले में खराब कानून व्यवस्था को लेकर काफी नाराज हैं।कुछ दिनों पहले एडीजी मुख्यालय ने भी एसएसपी और जिले के दूसरे पदाधिकारियों के साथ बैठक की थी,एडीजी हेडक्वार्टर की बैठक के बाद भी स्थिति नहीं सुधरी तो एडीजी लॉ एंड ऑर्डर को साथ लेकर डीजीपी खुद एसएसपी ऑफिस पहुंच गए थे और थानेदारों तक को बैठक में बुलाया गया था।इसी बैठक में उन्होंने कार्यप्रणाली को लेकर समीक्षा की तथा बेहद तल्ख टिप्पणियां की। सभी अनुमंडल के एसडीपीओ को फटकार भी लगाई गई।सिर्फ आईपीएस लिपि सिंह के बारे में डीजीपी और उनकी टीम की राय थी कि वह क्षेत्र में निकलती भी हैं और उनके यहां अपराध नियंत्रण में है।बाढ़ की एएसपी का उदाहरण देते हुए डीजीपी ने यहां तक कह दिया था कि दूसरे लोग तो फील्ड में निकलते तक नहीं हैं।उनके निशाने पर एसडीपीओ  रैंक के पदाधिकारी थे।पटना जिले के 10 अनुमंडल में नौ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों के कामकाज की समीक्षा का आदेश डीजीपी ने दिया है।

डीजी टीम करेगी समीक्षा।
पटना जिले के 9 अनुमंडल के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों के कार्यों की समीक्षा डीजी टीम द्वारा की जाएगी।एडीजी लॉ एंड ऑर्डर,एडीजी सीआईडी, एडीजी मुख्यालय खुद इन अनुमंडलों के कार्यों की समीक्षा करेंगे।कुछ डीएसपी के बारे में तो डीजीपी ने अपने मुंह से यहां तक कह दिया कि डीजीपी लोग छापामारी में निकलते तक नहीं है।फतुहा डीएसपी का नाम लेकर भी कहा गया कि वे न तो क्षेत्र में रहते हैं और ना ही मातहत पुलिस पदाधिकारियों पर उनका नियंत्रण है।दानापुर एएसपी को भी कार्यप्रणाली में सुधार लाने को कहा गया। एसएसपी कार्यालय में हुई समीक्षा बैठक में बाढ़ छोड़ सभी एसडीपीओ को क्राइम कंट्रोल के लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...