सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 1 जून 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जून

मध्यप्रदेश कांग्रेस शिक्षक संघ सौपेगा आठ सूत्रीय मांगों का ज्ञापन 

सीहोर। प्रांतीय आव्हान पर शिक्षक अध्यापकों की विभिन्न मांगों को लेकर जिलाध्यक्ष मुकेश निमोदिया के नेतृत्व में मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस संघ के द्वारा सोमवार सुबह मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री को संबोधित आठ सूत्रीय ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा जायेगा।  मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस के द्वारा सहायक शिक्षक से शिक्षक शिक्षक से प्राधाध्यापक, प्राधानाध्यापक से व्याख्याता के पदनाम पात्रतानुसार दिया जाने शिक्षक संवर्ग को वर्ष 1998 में काटी गई अवकाश अवधि के बदले में पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा 2008 में बंद10 दिवस का अर्जित अवकाश दिए जाने। सातवे वेतनमान की दूसरी किश्त का भुगतान तत्काल किए जाने। अध्यापक संवर्ग को सातवें वेतनमान का लाभ प्रदान किया जावे। गुरूजनों की नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता दी जाने। अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति जुलाई माह में की जाने । ग्रीष्म अवकाश के समय सभी विभागीय प्रशिक्षण तत्काल निरस्त किये जाने। लोकसभा चुनाव ग्रीष्म अवकाश में होने के कारण समस्त शिक्षकों को 15 दिवस का अवकाश स्वीकृत किए जाने। शिक्षक शिक्षिकाओं को  3 प्रतिशत डीए का भुगतान के आदेश प्रसारित करने की मांग लम्बे समय से की जा रहीं है। जिलाध्यक्ष  निमोदिया ने समस्त शिक्षकों अध्यापकों ज्ञापन देने में शामिल होने की अपील की है। 

डायल 100 (एफ.आर.वी.) वाहन में तैनात आरक्षक को एसपी ने किया निलंबित
गश्त ड्यूटी पर तैनात अधिकारी/कर्मचारियों की एक वेतन वृद्धि भी रोकी अवैध रेत परिवहन से संबंधित है मामला 
पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र सिंह चौहान ने नसरुल्लागंज के एफ.आर.वी. में तैनात आरक्षक हिम्मत सिंह (बैच नंबर 670) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में नसरुल्लागंज कस्बे में 24 मई को रात्रि में रेत के 35 से अधिक डंफर निकलते दिखाई दे रहे हैं और एफ.आर.वी. वाहन रोड़ के किनारे खड़ा दिखाई दे रहा है। कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा द्वारा रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन शाम 6 से प्रात: 6 बजे तक प्रतिबंधित किया गया है। इसके बावजूद भी एफ.आर.वी. वाहन में तैनात हिम्मत सिंह ने रेत के डंफरों के संबंध में न तो किसी सक्षम अधिकारी को अवगत कराया न ही स्वत: कोई कार्यवाही की। पुलिस अधीक्षक ने 24 मई को नसरुल्लागंज क्षेत्र में गश्त ड्यूटी पर तैनात अधिकारी/कर्मचारियों की एक वेतन वृद्धि रोक दी है एवं इनके स्थानांतरण करने के भी निर्देश दिए हैं। परिवीक्षावीन उपनिरीक्षक संजय गुर्जर-रात्रि चैक गश्त अधिकारी, आरक्षक 241 दीपक चौहान, आरक्षक 192 सुबोध, सैनिक 419 देवकरण, 224 कमल सिंह, 379 कमल सिंह एवं 446 महेश धुर्वे द्वारा गश्त ड्यूटी के दौरान रेत के अवैध परिवहन को रोकने के लिए कोई कार्यवाही नहीं की गई। 

मानसून के पहले विद्युत रखरखाव के चलते सीहोर के विभिन्न क्षेत्रों में 4 जून को होगी बिजली कटौती

विद्युत विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मानसून के पहले विद्युत विद्युत रखरखाव के कारण 04 जून को सीहोर के विभिन्न क्षेत्रों में बिजली कटौती की जाएगी। 33 के.वी श्यामपुर के अन्तर्गत बैरागढ़ खुमान, बमूलिया, खजूरी, नवोदय, पानविहार, कस्बा श्यामपुर, सिराड़ी, रायपुरा, भोजपंप, टाकिया एवं खजूरीकला के अन्तर्गत बर्री, घाट पलासी, हिंगोनी, पाडलिया, बड़वेली, बाग मुगालिया तथा मुंगावली के अन्तर्गत खेड़ा, रायपुरा, सेमरादांगी, डोडी, खामलिया, नौनीखेड़ी, ताजपंप व सोनकच्छ के अन्तर्गत बरखेड़ी, जमोनिया, पाटन, सतपौन, सोनकच्छ एवं दोराहा के अन्तर्गत बराड़ी, बिछिया, दोराहा टाउन, झरखेड़ा, खाईखेड़ा, नवीपुर, टप्पर, तूमड़ा सब स्टेशन से प्रात:9 से शाम 6 बजे तक विद्युत प्रवाह बंद रहेगा।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग सदस्य श्री सुनील सिंघई 3 जून को सीहोर आएंगे दौरा कार्यक्रम में संशोधन

पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण सीहोर के सहायक संचालक ने बताया कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग सदस्य श्री सुनील सिंघई के 3 जून को निर्धारित दौरा कार्यक्रम में संशोधन कर दिया गया है। जारी संशोधित कार्यक्रम के अनुसार श्री सुनील सिंघई 3 जून को दोपहर 12 बजे इंदौर-भोपाल बायपास स्थित सर्किट हाउस में अल्पसंख्यक समुदाय से जनसंवाद करेंगे।  

नरेगा में ऑनलाइन प्रशासकीय स्वीकृति जारी करेंगे सरपंच

शासन के निर्देशानुसार सरपंच नरेगा योजना में निर्माण कार्यों की प्रशासनिक स्वीकृति ऑनलाईन जारी करेंगे। निर्माण कार्यों की प्राक्कलन से भुगतान तक पूरी प्रक्रिया को ऑनलाईन कर दिया गया है। प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों में एक अप्रैल 2019 से सिक्यूर (SECURE) साफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसमें सामुदायिक पेयजल कूप (निर्मल नीर) तथा ग्रामीण अंचल में शांतिधाम निर्माण के लिए स्टेण्डर्ड प्राक्कलन और डिजाइन उपलब्ध है। सामुदायिक पेयजल कूप के लिये 4 लाख 46 हजार, 5 लाख 34 हजार और शांतिधाम के लिए 1 लाख 92 हजार और 2 लाख 80 हजार लागत के दो-दो मानक प्राक्कलन निर्धारित किये गये हैं। साफ्टवेयर के अनुसार रोजगार सहायक/उप यंत्री द्वारा ले-आऊट दिया जाएगा। उप यंत्री प्राक्कलन तैयार करेंगे, सहायक यंत्री द्वारा तकनीकी स्वीकृति दी जायेगी तथा सरपंच प्रशासकीय स्वीकृति देंगे। सभी कार्यों की समय-सीमा का निर्धारण भी किया गया है।

3 से 7 जून तक होगी नवोदय में प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण   

जवाहर नवोदय विद्यालय श्यामपुर के प्राचार्य ने जानकारी देते हुए बताया कि चयनित बच्चों के पालकों को जवाहर नवोदय व़िद्यालय में 2 जून प्रात: 10 से दोपहर 2 बजे तक संबंधित दस्तावेजों संबंधी प्रपत्र दिया जाएगा। प्रपत्र प्राप्त करने के लिए पालक को अपने पाल्य का प्रवेश पत्र जिसे वह चयन परीक्ष देते समय मिला था अथवा नवोदय विद्यालय समिति की और से आपके मोबाईल संदेश को साथ लेकर आना है। बालक-बालिका को आना आवययक नही है पालक/अभिभावक को आना है। प्रपत्र प्राप्त करने के पश्चात 3 जून से 7 जून के मध्य कार्यदिवसों में प्रात:10 से दोपहर 2 बजे तक संबंधित दस्तावेजों एवं संबंधी प्रपत्र को भरकर लाना है जिससे बालक/बालिका की प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी। तत्पश्चात बालक/बालिका को छोड़ने विद्यालय द्वारा निर्धारित दिनांक को मय सामान सहित पालक/अभिभावक के साथ आना है।

जागरुकता रैली निकाल कर किया "मलेरिया निरोधक माह जून 2019" शुभारंभ

sehore news
1 जून 2019 से मलेरिया निरोधक माह जून का शुभारंभ वृहद रैली का आयोजन कर किया गया। जिसमें सिविल सर्जन डॉ. भारत भूषण आर्य, आरएमओ डॉ. सुधीर श्रीवास्‍तव, जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे, डीपीएचएनओ श्रीमती गायत्री राव, जिला आईईसी सलाहकार श्री शैलेष जिला चिकित्‍सालय का स्‍टॉफ एवं महिला स्‍वास्‍थ्‍य कार्यकर्ता प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे। मलेरिया निरोधक माह की अंतर विभागीय एडवोकेसी कार्यशाला 3 जून को कलेक्‍टर की अध्‍यक्षता में आयोजित की जाएगी। मलेरिया माह का आयोजन मात्र मलेरिया बीमारी के नियंत्रण के उपाय के लिये ही नहीं, बल्कि मच्‍छरजनित अन्‍य बीमारियों जैसे फाइलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया के प्रभावी नियंत्रण हेतु है। इसका प्रचार गांव-गांव तक जन सामान्‍य की भागीदारी के साथ किया जावेगा। मलेरिया मोबाईल रथ द्वारा प्रभावित अत्‍यंत जोखिम वाले क्षेत्रों को प्राथमिकता देते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में मलेरिया रथ चलाया जायेगा इस रथ पर वेक्‍टर जनित बिमारियों से संबंधित समस्‍त प्रचार सामग्री का प्रदर्शन किया जावेगा। साथ ही रथ में चलित प्रयोगशाला एवं उपचार की व्‍यवस्‍था की गई है।   

मुख्यमंत्री प्याज कृषक प्रोत्साहन योजना के तहत किसान 7 जून तक पंजीयन कराए

राज्य शासन द्वारा मध्यप्रदेश के किसानों को प्याज का उचित मूल्य दिलाने हेतु मुख्यमंत्री प्याज कृषक प्रोत्साहन योजना 2019-20 लागू की गई है। योजना के तहत किसान जिले की अधिसूचित मंडियों में प्याज के विक्रय के लिए ई-उपार्जन पोर्टल पर 31 मई 2019 तक पंजीयन की तिथि निर्धारित की गई थी। जिसे शासन ने 7 जून तक बढ़ा दिया गया है। योजना का लाभ लेने के लिए किसान मध्यप्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है। किसान के नाम पर स्वयं की भूमि होना चाहिए। वन पट्टाधारी किसान भी योजना का लाभ ले सकेंगे। योजना का लाभ 250 क्विंटल की औसत के आधार पर उत्पादन की सीमा तथा उत्पादन का रकवा अधिकतम 2.000 हेक्टेयर जो भी कम हो, तक ही राशि देय होगी। ई-उर्पाजन पोर्टल पर पंजीकृत किसानों के द्वारा प्याज विक्रय करने पर सीधे राशि बैंक खातों में जमा की जाएगी। किसान 07 जून तक ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन जिले की अधिसूचित कृषि उपज मंडियों में करा सकेंगे।

रबी सीजन में उपार्जन अवधि 31 मई से बढ़कर 6 जून हुई

प्रदेश में केन्द्र सरकार की प्राइस सपोर्ट स्कीम में रबी सीजन 2018-19 में किसानों से चना, मसूर एवं सरसों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपार्जन की अवधि को 31 मई से बढ़ाकर 6 जून  कर दिया है।

12 वीं की कक्षा में औसत अंक पाने वाले विद्यार्थियों के लिए सुनहरा अवसर  

 मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड भोपाल द्वारा सीहोर टूरिज्म काउंसिल के साथ जिले में 11 जून को कैरियर गाइडेंस द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन आवासीय खेलकूद संस्थान में प्रात: 10 बजे किया जाएगा। कैरियर काउंसिलिंग माध्यम से विद्यार्थियों को पर्यटन विभाग द्वारा स्थापित एम.पी.आई.एच.टी.टी.एस भोपाल द्वारा ऐसे प्रशिक्षणार्थियों को कैरियर संबंध में उचित मार्गदशर्न प्रदान किया जाएगा तथा प्रदेश के विभिन्न संस्थानों डिप्लोमा/डिग्री कोर्सेस एवं सर्टिफिकेट कोर्सेस में प्रवेश दिलाकर पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार मुहैया कराने में सहयोग प्रदान किया जाएगा। 12 वीं की कक्षा में परीक्षा परिणाम घोषित होने के उपरांत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को अपने केरियर के चुनाव में कठिनाई उत्पन्न होती है तथा विद्यार्थी अपने केरियर से भटक कर दिशाहीन कोर्सेस में दाखिला लेकर पछतावा कर अनुभव करते हैं। यह रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रमों में सीधे प्रवेश का माध्यम है, परन्तु औसत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को इसकी जानकारी न होने के कारण वे इसके व्यापक लाभ से वंचित रह जाते हैं एवं अनावश्यक कॉलेज/संस्थानों में दिशाहीन कोर्सेस में दाखिला लेकर अपना भविष्य अंधकार मय बना लेते हैं। म.प्र शासन द्वारा इस कार्याशाला के आयोजन का मुख्य उद्देश्य यह है कि कार्यशाला में आने वाले विद्यार्थियों का काउंसिलिंग कर रुचि एवं योग्यतानुसार विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए प्रेरित किया जाएगा। मप्र पर्यटन विभाग द्वारा संचालित संस्थानों जैसे एफसीआई, एसआईएचएम, एमपीआईएचटीटीएस आदि में उपलब्ध कोर्सेस एवं पर्यटन के क्षेत्र में उपलब्ध कैरियर की संभावनाओं के अवसर की जानकारी अधिक से अधिक विद्यर्थियों तक पहुंचाकर उन्हें लाभांवित करना है। कोर्सेस से संबंधित जानकारी प्राप्त किये जाने के लिए जिला पर्यटन संवर्धन परिषद सीहोर कार्यालय कलेक्ट्रेट के कक्ष क्रमांक 125 एवं प्राचार्य आवासीय खेलकूद संस्थानीय सीहोर, प्राचार्य उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-1 से संपर्क कर सकते हैं।  इस कार्यशाला में जिला प्रशासन के सहयोग से विद्यार्थियों के लिए इवेन्ट ले-आउट काउंसिलिंग प्रपत्र, काउंसिलिंग स्टॉल एवं अन्य व्यवस्थाएं की गई है। जहां से छात्रों को रजिस्ट्रेशन फार्म प्रदाय किया जाएगा तथा उनका पंजीयन कराया जाएगा। इसके उपरांत उनकी काउंसिलिंग की जाकर उन्हें उचित मार्गदर्शन प्रदान किया जाएगा।  जिले के 12 वीं उत्तीर्ण शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी जिनकों 12 वीं में औसतन कम मार्कस मिले हैं उन्हें गुमराह या अवसाद होने की आवश्यकता नहीं है। जिले के ऐसे सभी विद्यार्थियों के अभिभावक 11 जून को प्रात: 10 बजे शासकीय आवासीय खेलकूद संस्‍थान में अपने बच्चों को उचित कैरयिर मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए भिजवाएं। जिससे विद्यार्थियों द्वारा अपने भविष्य की नई राह का चुनाव किया जा सके।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार/आर्थिक कल्याण/कृषक युवा उद्यमी योजना अन्तर्गत आदिवासी हितग्राहियों को रोजगार स्थापित करने हेतु बैंक शाखावार लक्ष्य निर्धारित   

आदिम जाति कल्याण विभाग सीहोर के जिला संयोजक श्री हरजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार/मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण/मुख्यमंत्री कृषक युवा उद्यमी योजना अन्तर्गत आदिवासी वर्ग के हितग्राहियों को स्वयं का रोजगार स्थापित करने के लिए भौतिक लक्ष्य प्राप्त हुआ है, प्राप्त लक्ष्यों को बैंक शाखावार विभाजन किया जा चुका है। मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना अन्तर्गत (50 हजार से 2 करोड़ तक की योजना) के लिए हितग्राही कक्षा 10 वीं उत्तीर्ण हो/जाति प्रमाण पत्र स्थाई हो/मूल निवासी प्रमाण पत्र/आधारकार्ड/परिचय पत्र/फोटो/कोटेशन/ बैंक पासबुक/भूमि के दस्तावेज/प्रोजेक्ट रिपोर्ट आवेदक द्वारा प्रस्तावित गतिविधि की डीटेल्स रिपोर्ट (विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन) चार्टेड अकाउंटेंट द्वारा प्रमाणित कर आवेदन के साथ सलंग्न की जाएगी। यदि हितग्राही वाहन लेना चाहता है तो कॉमर्शियल ड्रायविंग लायसेंस होना अनिवार्य है। आवेदनकर्ता किसी भी शासकीय योजना के अन्तर्गत पूर्व से सहायता का लाभ प्राप्त किया हो तो इस योजना के अन्तर्गत पात्र नहीं होगा।  मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना अन्तर्गत (50 हजार से 10 लाख तक की योजना) के लिए हितग्राही कक्षा 5 वीं उत्तीर्ण हो/जाति प्रमाण पत्र स्थाई हो/मूल निवासी प्रमाण पत्र/आधारकार्ड/परिचय पत्र/फोटो/कोटेशन/ यदि हितग्राही वाहन लेना चाहता है तो कॉमर्शियल ड्रायविंग लायसेंस होना अनिवार्य है। आवेदनकर्ता किसी भी शासकीय योजना के अन्तर्गत पूर्व से सहायता का लाभ प्राप्त किया हो तो इस योजना के अन्तर्गत पात्र नहीं होगा।   मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना अन्तर्गत (50 हजार मात्र की योजना) के लिए हितग्राही शिक्षा का कोई बंधन नहीं/बी.पी.एल राशन कार्ड हो/जाति प्रमाण पत्र स्थाई हो/मूल निवासी प्रमाण पत्र/आधारकार्ड/परिचय पत्र/फोटो/कोटेशन/ आवेदनकर्ता किसी भी शासकीय योजना के अन्तर्गत पूर्व से सहायता का लाभ प्राप्त किया हो तो इस योजना के अन्तर्गत पात्र नहीं होगा।  हितग्राही इन योजनाओं के लाभ लेने के लिए जिले के किसी भी एमपी ऑनलाइन के माध्यम से स्वयं का रोजगार स्थापित करने के लिए आवेदन जनजाति कार्यविभाग मप्र आदिवासी वित्त एवं विकास निगम की बेवसाइट पर ऑनलाईन दर्ज करा सकते हैं। कलेक्ट्रेट कार्यालय जिला संयोजक जनजाति कार्य विभाग सीहोर कार्यालयीन समय में हिग्राही द्वारा एमपी ऑनलाइन से किया गया आवेदन की हार्ड कापी कार्यालय में जमा करा सकते हैं।

दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु समिति का गठन

जिले में 10 जून से 20 जुलाई तक आयोजित होने वाले दस्तक अभियान का आयोजन किया जाएगा। जिसमें 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में व्याप्त रोगों के नियंत्रण, संभवित मृत्यु के मुख्य कारकों को दृष्टिगत रखते हुए बीमार बच्चों की सक्रिय पहचान एवं बाल मृत्यु मे सर्वाधिक गिरावट हेतु साक्ष्य के आधारित अन्य गतिविधियों का क्रियान्वयन स्वास्थ्य विभाग द्वारा समन्वित विभागों के साथ आयोजित किया जाता है। ए.एन.एम आंगनवाड़ कार्यकर्ता एवं आशा द्वारा घर-घर जाकर 0-5 वर्ष तक के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण, उपचार परामर्श एवं रेफरल कार्य किया जाएगा।   कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के निर्देशानुसार दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु विकासखंड स्तर समिति गठित की गई है। समिति में अध्यक्ष अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), सचिव, विकसखंड शिक्षा अधिकारी एवं सदस्यों में मुख्य कार्यपालन अधिकारी (जनपद पंचायत) महिला एवं बाल विकास अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी, विकासखंड कार्यक्रम समन्वयक शामिल हैं।

दस्तक अभियान हेतु सतत निगरानी के संबंध में निर्देश

कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा द्वारा दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि विकासखंड स्तर पर संबंधित अधिकारी/कर्मचारियों का संयुक्त प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा। ग्राम स्तर पर अभियान का प्रचार-प्रसार, एमएनएम आंगनवाड़ कार्यकर्ता एवं आशा द्वारा घर-घर जाकर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों का स्वसथ्य परीक्षण, उपचार, परामर्श रेफरल कार्य, ग्राम स्तपर पर सचिव, सुपरवाइजर (स्वास्थ्य महिला एवं बाल विकास विभाग), आरबीएस के चिकित्सक दल, ग्राम स्तपर पर पदस्थ शिक्षक द्वारा अभियान की सतत निगरानी की जाएगी। विकासखंड स्तर पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद,‍ विकास खंड चिकित्सा अधिकारी, परियोजना अधिकारी समन्वयक एवं सीडीपीओ द्वारा अभियान की सतत निगरानी एवं समीक्षा की जाएगी। ग्राम सभा का आयोजन सर्वे कार्य के अंतिम दिन, अभियान के दौरान एएनएम आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा द्वारा घर-घर जाकर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों की जानकारी एकत्र कर विकासखंड स्तर पर डाटा एंट्री ऑपरेटर के माध्यम से ऑनलाइन दर्ज करवाई जाए। अभियान के दौरान रेफर रोगग्रस्त चिन्हांकित बच्चों का विकासखंड एवं जिला स्तर पर उपचार एवं फालोअप किया जाए। कलेक्टर श्री मिश्रा द्वारा समस्त संबंधित अधिकारी/कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि सौंपे गए कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किया जाना सुनिश्चत करें। जिससे जिले में होने वाली बाल मृत्यु दर को निरंक किया जा सके।

अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस पर किशोरी बालिकाओं को दी जानकारी   

अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस के अवसर पर माहवारी स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता प्रबंधन की जानकारी तथा जन जागरूकता बढाने के उद्देश्य से जिला मुख्यालय पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में डॉ अमृता सिंह, दीनू शर्मा, महिला एवं बाल विकस परामर्शदाता सुरेश पांचाल, पर्यवेक्षक सीमा शर्मा, भूपेन्द्र अहिरवार, क्लेमिना टोप्पो, अल्का सिटोके आदि के साथ आंगनवाडी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा कार्यकर्ता, किशोरी बालिकाएं कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित थे।  डॉ अमृता सिंह ने किषोरी बालिकाओं को बताया कि माहवारी के दौरान शरीर में संक्रमण होने की बढ जाती है। इस दौरान अधिक सावधानी बरतने की आवष्यकता होती है। साफ सफाई का अधिक ध्यान रखे, यदि शरीर मे खून की कमी है तो डाक्टर से चैकअप कराए, आयरन की दवाई ले। मुंगफली आदि दाने वाले मेवे भी उपयोग करें। समाज में कई भ्रांतिया फैली हे कि खट्टी चिजे नही खायें जबकि ऐसा कुछ नही है। सबसे ज्यादा साफ सफाई पर ध्यान देने की आवश्यकता है यदि शरीर में संक्रमण हुआ तो भविष्य में बांझपन जैसी स्थिति भी निर्मित हो सकती है। कार्यशाला के दौरान किशोरी बालिकाओं से प्रश्न भी पूछे गये।     

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...