सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 जून 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जून

हास्य एवं योग के साथ आयोजित हुआ आनंद सम्मेलन

sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के मार्गदर्शन में जिला स्तरीय आनंद सम्मेलन का आयोजन गुरुवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री समीर यादव एवं प्रदेश कॉआर्डिनेटर श्री सत्यप्रकाश द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया। आनंद सम्मेलन में जिले के लगभग 174 आनंदकों ने अपना पंजीयन कराया और कार्यशाला में दिनभर संचालित होने वाली विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से जाना कि तनावमुक्त रहकर जीवन में किस प्रकार आनंद की अनुभूति कर प्राप्त की जाए।   कार्यक्रम के दौरान अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी ने कहा कि प्रतिदिन की दिनचर्या में मानसिक आनंद की प्राप्ति आवश्यक है। शासकीय सेवकों को शासकीय सेवा के अलावा भी सभी की मदद करनी चाहिए। समाज सेवा करें, चर्चा करें, गीत गाएं, कविताएं लिखें, साथियों का जन्मदिन एवं सिर्फ शासकीय सेवा ही न करें अपने शौक को भी जिंदा रखें। सभी संस्थाओं में आनंद के लिए विचारधाराएं बढ़ाएं। साथ ही साथ सभी अपने विचार भी व्यक्त करें जिससे की आपको आनंद की प्राप्ति हो सके। एक दिवसीय कार्यशाला में अल्प विराम, फ्रीडम ग्वास, लाइफ बैलेंस शीट से भी आनंदकों को परिचित कराया गया। कार्यक्रम में शासकीय उमावि सीहोर की छात्राओं कु.प्रियंका राव, अदिति सोनी द्वारा प्रेरणा गीत प्रस्तुत किये गये। जिले में आयोजित की जाने वाले गतिविधियों पर चर्चा एवं आनंदकों के अनुभव को साझा करने में भोपाल अध्यात्म विभाग के संजय श्रीवास्तव, विजय श्रीवास्तव, श्रीमती अंजना श्रीवास्तव ने अपनी सक्रिय भूमिका का निर्वाहन किया और जिले के आनंदकों के माध्यम से विभिन्न प्राकर की गतिविधियों के संचालन के लिए अपने सुझाव परस्पर साझा किये। कार्यक्रम का संचालन श्री माधव यादव ने किया एवं अतिथियों का स्वागत श्री संजय जोशी व कमलेश शर्मा द्वारा किया गया।

बालिका को प्रदान किया गया डिजिटल श्रवण यंत्र

sehore news
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम द्वारा कई बालक एवं बालिकाओं का जीवन संवारा गया है। ऐसे बच्चे जो सुन नहीं सकते थे उन्हें डिजिटल श्रवण यंत्र तथा बोल नहीं पा रहे बच्चों को स्पीच थैरेपी देकर उनमें सुधार लाया गया वहीं कटे-फंटे होंठों की सर्जरी कर कई मासूमों के चेहरे पर आरबीएसके कार्यक्रम के अंतर्गत मुस्कान आई है। ऐसे ही एक प्रकरण में जिला चिकित्सालय में स्थित जिला शीघ्र हस्तक्षेप केन्द्र डीईआईसी के माध्यम से अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी के हाथों सिविल सर्जन डॉ. भरत आर्य की उपस्थिति में डिजिटल श्रवण यंत्र एक बालिका को प्रदान किया गया।  सिविल सर्जन डॉ. भारत आर्य ने बताया कि नसरूल्लागंज अंतर्गत बाईबोड़ी निवासी श्री राजेन्द्र मीणा की तीन वर्षीय बालिका रक्षा मीणा को अपर कलेक्टर श्री चतुर्वेदी के हाथों डिजिटल श्रवण यंत्र प्रदान किया गया। रक्षा जन्म से बोल-सुन नहीं पा रही थी। कलेक्टर महोदय श्री अजय गुप्ता के मार्गदर्शन में तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.प्रभाकर तिवारी के दिशा निर्देशन में डिजिटल श्रवण यंत्र प्रदान किया गया। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में अब तक  43 बच्चों की काक्लिर इम्पलांट सर्जरी की गई है।  अब तक हेयरिंग ऐड के 50 बच्चों को डिजिटल श्रवण यंत्र प्रदान किए गए हैं। चालू वर्ष में 10 जरूरत मंद बच्चों को डिजिटल श्रवण यंत्र प्रदान किया गया।

ट्राय सायकल मिलने से बढ़ने लगी दिव्यांग मधु की आमदनी की रफ्तार

sehore news
जिला विकलांग पुर्नवास केन्द्र द्वारा ट्रायसायकल मिलने से मधु कुशवाह के चेहरे पर रौनक नजर आने लगी है। जिला विकलांग पुर्नवास केन्द्र द्वारा विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण कर चिकित्सकों की अनुशंसा अनुसार मोती बाबा मंदिर काछी मोहल्ले में रहने वाली 33 वर्षीय दिव्यांग मधु कुशवाह को नि:शुल्क ट्रायसायकल प्रदान की गई है। मधु बताती है कि वह सब्जी बेचने का काम करती हैं साथ ही कभी-कभार सिलाई का काम भी कर लेती हैं। ट्रायसायकल मिलने से मधु सब्जी मंडी जाकर सब्जी ले आती है और हाथ ठेले पर सब्जी बेचती है। ट्रायसायकल की वजह से सब्जी लाने एवं बेचने में मधु को बहु सहूलियत हुई है। मधु ने बताया कि सब्जी बेचने के अलावा वह घर पर सिलाई का काम भी करतीं है और अब ट्रायसायकल मिलने से वह बाजार से सिलाई का काम ले आती हैं और समय पर सिलाई कर वापस दें आती हैं। मधु का कहना है कि उनकी आमदनी बढ़ाने में प्रदेश सरकार की योजना और जिला विकलांग पुर्नवास केन्द्र का विशेष योगदान रहा है। उन्होंने प्रदेश सरकार का आभार माना है।

प्रायवेट स्कूलों की मान्यता नवीनीकरण के लिए ऑनलाइन  आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून

शिक्षा का अधिकार कानून के तहत संचालित प्रायवेट स्कूलों की मान्यता नवीनीकरण के लिए आवेदन 30 जून 2019 तक ऑनलाईन प्राप्त किये जाएंगे। राज्य शिक्षा केन्द्र के प्रस्ताव पर एनआईसी द्वारा www.educationportal.mp.gov.in/rte पर निजी विद्यालयों के लिए यह सुविधा प्रारंभ की गई है। संबंधित बीआरसीसी के द्वारा आवेदन तिथि के 15 दिन में स्कूलों का भौतिक सत्यापन किया जाकर ऑनलाईन निरीक्षण रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी को प्रेषित की जायेगी। जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा प्राप्त मान्यता आवेदनों का 30 दिन में निराकरण किया जायेगा। प्रायवेट स्कूलों की मान्यता नवीनीकरण की यह ऑनलाईन प्रक्रिया एजुकेशन पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in के आरटीई प्रभाग से संचालित होगी। 

घर बैठे मिलेगी उपलब्ध पौधों की जानकारी

वन विभाग ने प्रदेश के किसानों और नागरिकों को घर बैठे पौधे विभिन्न पौधों की उपलब्धता की जानकारी देने के लिये ऑनलाइन आवेदन सुविधा आरंभ की है। अब लोग एम.पी. ऑनलाइन पोर्टल <http://mpforest.mponline.gov.in>  पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की सुविधा एम.पी. ऑनलाइन के कियोस्क पर भी उपलब्ध है। इसमें वन विभाग की 170 नर्सरी से पौधे मिल सकेंगे। आवेदन मिलने पर वन विभाग उनकी माँग के अनुसार अनुमोदन करेगा। आवेदकों और संबंधित नर्सरी के अधिकारियों को एसएमएस के माध्यम से इसकी जानकारी दी जायेगी। इसके बाद आवेदक संबंधित नर्सरी को नगद भुगतान कर पौधे प्राप्त कर सकते हैं। ऑनलाइन प्रक्रिया से किसानों और आवेदकों को प्रदेश की रोपणियों में उपलब्ध विभिन्न प्रजाति के पौधे और उनकी संख्या के बारे में घर बैठे ही आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर पौधे और जानकारी मिल जायेगी। इससे उन्हें पौधा प्राप्त करने के लिये भटकना नहीं पड़ेगा। विस्तृत जानकारी के लिये एम.पी. ऑनलाइन के कस्टमर केयर दूरभाष क्रमांक 0755-6720200 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

कलेक्टर ने किये अधिकारियों के मध्य कार्य विभाजन

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा जिले में पदस्थ पदेन अपर कलेक्टर विकास/अपर कलेक्टर, संयुक्त कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टर के मध्य समय-समय पर जारी किए गए पूर्व के समस्त आदेशों को निरस्त करते हुए नये रूप से कार्य विभाजन कर दिया गया है।

श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, पदेश अपर कलेक्टर(विकास)/मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को
पदेशन अपर संचालक शिक्षा, जिला शिक्षा केन्द्र/सर्व शिक्षा अभियान, जन समस्या निवारण शिविर, लोक कल्याण शिविर, ग्रामीण सचिवालय, परख कार्य का अनुश्रवण, 20 सूत्रीय कार्यक्रम, हरियाली, जलाभिषेक, सभी विभागों के निर्माण कार्यों की समीक्षा, मत्स्य, हाथकरघा, ग्रामोद्योग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवायें, सहायक संचालक रेशम, अधीक्षक आयुर्वेद, उर्जा, उप संचालक पंचायत, जनवाणी, जनसंपर्क निधि, अत्यवसायी एवं कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य कार्य।  टीप:- मुख्य कार्यपालन अधिकारी उक्त विभागों में से अपने अधिकारी क्षेत्र की नस्तियों का निराकरण स्वयं करेंगे तथा कलेक्टर के अधिकार क्षेत्र की नस्तियां अपनी टीप के साथ कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे। विभागों में कार्यरत समस्त अधिकारी एवं कर्मचारियों के अवकाश/अग्रिम/चिकित्सा यात्रा/भविष्य निधि से विकर्षण/वेतन वृद्धि आदि के अंतिम निराकरण के पूर्ण अधिकारी सौंपे गये।

श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, अपर कलेक्टर/अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी को
राजस्व- तहसील सीहोर, इछावर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज, श्यामपुर, रेहटी एवं जावर के अन्तर्गत भू-राजस्व संहिता 1959 की धारा 60 एवं 161 एवं 165 को छोड़कर कलेक्टर की क्षेत्राधिकारिता के प्रकरणों का निराकरण प्रत्येक 10 वें प्रकरण को छोड़कर। म.प्र. कृषि खातों की अधिकतम सीमा अधिकतम सीमा अधिनियम 1960 के अन्तर्गत सीहोर, इछावर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज, श्यामपुर, रेहटी एवं जावर के सभी प्रकरणों का निराकरण प्रत्येक 10 वां प्रकरण छोड़कर, राजस्व पुस्तक परिपत्र खंड के अन्तर्गत सहायता प्रकरणों का निराकरण, पंचायत राज अधिनियम अन्तर्गत समस्त कार्य प्रत्येक 10 वां प्रकरण छोड़कर, राजस्व पुस्तक परिपत्र के अन्तर्गत शासकीय भूमि के हस्तांतरण से संबंधित प्रकरण, पशु क्रुरता अधिनियम एवं गोवंश प्रतिशेध अधिनियम 2004 के अनतर्गत प्रकरणों का निराकरण, मुख्यमंत्री घोषणा, जिले के सीहोर, इछावर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज, श्यामपुर, रेहटी एवं जावर क्षेत्र अन्तर्गत अपर जिला दण्डाधिकारी, सैनिक कल्याण, विशेष विवाह अधिनियम के अन्तर्गत विवाह अधिकारी, नजूल प्रकरणों का अपीलीय प्रकरण, वाहन अधिग्रहण अधिकारी, कलेक्टर को प्रदत्त निजी मकानों के किराया निर्धारण, जिला सत्कार अधिकारी, केन्द्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, उत्कृष्ट एवं उच्च शिक्षा से संबंधित कार्य, विधायक/सांसद मद निर्माण कार्य समीक्षा, श्रम पदाधिकारी एवं मप्र भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मंडल, मप्र आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरणों का निराकरण, प्रभारी अधिकारी स्वास्थ्य विभाग/ रेडक्रास, उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के अन्तग्रत आवश्यक वस्तु अधिनियम से संबंधित मामले,  ई-उपार्जन, प्रभारी अधिकारी भू-अर्जन शाखा, प्रभारी अधिकारी भू-अभिलेख/सीलिंग/भू-प्रबंधन/डायवर्सन/पटवारी प्रशिक्षण शाला, अपनी प्रभार की शाखाओं के अनतर्गत 20 हजार रुपये तक के वित्तीय अधिकार, मुख्यमंत्री सहायता कोष के अन्तर्गत 50 हजार रुपये तक के प्रस्ताव भेजने के संबंधी नस्ती के निराकरण के अधिकार, जिला विभागीय जांच/सतर्कता अधिकारी सीहोर, प्रभारी अधिकारी मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका के नियुक्त आदि से संबंधित अपीलें, प्र.परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण सीहोर। अंतिम निराकरण के आदेश - समस्त अधिकारी/कर्मचारियों की वार्षिक वेतन वृद्धि, सामान्य/विभागीगय भविष्य निधि से अग्रिम एवं आंशिक विकर्षण, स्थापना के अनतर्गत तृतीय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के आकस्मिक, अर्जित एवं लघुकृत अवकाश स्वीकृति के पूर्ण अधिकार, समस्त अधिकारी/कर्मचारियों के यात्रा देयक की स्वीकृति एवं प्रति हस्ताक्षर के अंतिम अधिकार, सदर वासिल वासी नबीस/जीएमएफसी/सहायक अधीक्षक सामान्य/सहायक अधीक्षक राजस्व/टंकण शाखा/आवक-जावक शाखा/जनगणना/व्यवहार वाद से संबंधित चरित्र सत्यापन/संरक्षता प्रमाण पत्र/उत्तराधीकारी प्रमाण पत्र/मप्र राज्य बीमारी सहायता योजना अन्तर्गत गरीगी रेखा के प्रमाण पत्र/अल्प बचत शाखा/उप संचालक अभियोजन एवं शासकीय अभिभाषक की नस्तियों का अंतिम निराकरण, सड़क दुर्घटना के प्रकरणों का निराकरण एवं कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये महत्वपूर्ण कार्य सौंपे गये।

श्री मेहताब सिंह गुर्जर, संयुक्त कलेक्टर को
प्रभारी अधिकारी - उप जिला निर्वाचन अधिकारी, भारत निर्वाचन एवं स्थानीय निर्वाचन, स्थापना/लेखा शाखा, लोक सूचना अधिकारी, शस्त्र लायसेंस, खाद्य, अधीक्षक, आरएम शाखा, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, औषधि लायसेंस, शिकायत एवं जांच/आवेदन/पी.जी.सेल/जनसुनवाई/जन शिकायत प्रकोष्ठ/जीआर सेल/आयोग/लोकायुक्त/समाधान ऑनलाईन/टीएल, नजूल अधिकारी, ज्यूडियिल/व्यवहार वाद, सदर वासिल वाकी नवीस, मुख्य प्रतिलिपिकार, लोक सेवा प्रबंधन/ई गवर्नेंस/सीएम हेल्पलाईन, सूचना प्राद्योगिकी, वरिष्ठ लिपिक-01 एवं 02, राजस्व/सामान्य अभिलेखागार, अपनी प्रभार की शाखाओं के अनतर्गत 10 हजार रुपये तक के वित्तीय अधिकार एवं कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये महत्वपूर्ण कार्य सौंपे गये।

श्री रवि वर्मा, परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टर कोप्रभारी अधिकारी - वित्त, नजारत, धर्मस्व, आवक-जावक, प्रपत्र/लायब्रेरी एवं जीएमएफसी शाखा, जनगणना, अल्प बचत, एससीएसटी शिकायत प्रकोष्ठ, सूखा राहत, दंगा राहत, बाढ़ राहत, अल्प संख्यक प्रकोष्ठ, सहायक अधीक्षक सामान्य/राजस्व एवं कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये महत्वपूर्ण कार्य सौंपे गये।

कादराबाद ग्राम पंचायत में खपला ग्रामीण ने की जनसुनवाई में शिकायत

सीहेार। जनपद सीहेार तहसील श्यामपुर की ग्राम पंचायत कादराबाद के एलकार सिंह ने जनसुनवाई में पहुचकर शिकायती पत्र प्रशासनिक अधिकारियों को दिया है। जिस में ग्राम पंचायत सचिव और सरपंच पर शौचालय,मनरेगा,पीएम आवास,सीसी सड़क, पेंशन योजना, कपिलधारा योजना में लाखों रूपए का खपला करने का आरोप लगाया गया है। ग्रामीण ने प्रशासन से ग्राम पंचायत के दस्तावेज जब्त कर जांच करने और भ्रष्टाचारियों पर कड़ी कार्रवाहीं करने की मांग की है। 

दबंग कर रहा है जबरन जमीन पर कब्जा  पीडि़त वृद्धा ने मांगी प्रशासन से मदद 

sehore newsसीहोर। ग्राम बरखेड़ा कुर्मी में गरीब वृद्धा की जमीन पर दंबग के द्वारा जबरन कब्जा करने का मामला सामने आया है। पीडि़ता के साथ अतिक्रणकर्ता ने अश£ीलता भरा दुव्र्यवहार भी किया। इछावर थाना पहुंची विधवा वृद्ध पीडि़ता की रिपोर्ट दर्ज करने से भी पुलिस ने इंकार कर दिया। पति की मौत के बाद हैरान परेशान वृद्धा ने एसडीएम को भी शिकायती पत्र दिया लेकिन कोई कार्यवाहीं प्रशासन के द्वारा अबतक नहीं की गई।  पीडि़त आदिवासी वृद्धा सोना बाई पत्नि स्वर्गीय आत्माराम के मुताबिक गांव के पास पति ने मकान बनाने के लिए भूमि सुरक्षित रखी थी यह भूमि पंचायत के द्वारा आवंटित की गई थी जिस के सभी जरूरी दस्तावेज भी मौजूद है भूमि पर ४५सालों से अधिपत्य है। आर्थिक तंगी के कारण भूमि पर मकान नहीं बना पाए। इस का फायदा उठाकर गांव के ही गौरेलाल पुत्र रामनारायण तेली ने २० जून को भूमि पर जेसीबी चलवा दी। गौरेलाल इस भूमि को अपनी पता रहा है जबकी उसके पास कोई सरकारी दस्तावेज मौजूद नहीं है।  अतिक्रमणकर्ता ने भूमि से कब्जा हटाने को कहे जाने पर अश्लील गांलियां दी और मारपीट भी पीडि़ता के साथ कर दी। पीडि़ता ने शिकायती पत्र पत्र एसपी को भी दिया है। पीडि़ता सोना बाई आदिवासी ने प्रशासन से न्याय दिलाने और अतिक्रमणकर्ता को भूमि से हटाने जेसीबी मशीन को जब्त करने और एससी एसटी की धाराओं के तहत गौरेलाल पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...