देश की पहली महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 1 जून 2019

देश की पहली महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण

sitaraman-india-first-women-finance-minister
नयी दिल्ली, 31 मई, निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनकर एक बार फिर इतिहास रचा। वित्त मंत्री के तौर पर उन्हें आर्थिक नरमी, रोजगार सृजन, फंसे कर्ज को काबू में लाने और निवेश बढ़ाने की चुनौती से निपटना होगा। सीतारमण ने इससे पहले भी इतिहास रचा जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली पिछली सरकार में पूर्णकालिक रक्षा मंत्री का कार्यभार संभाला। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अब वह वित्त मंत्रालय का जिम्मा संभालेंगी। यह पहला मौका है जब किसी महिला को पूर्णकालिक वित्त मंत्री बनाया गया है। इससे पहले, प्रधानमंत्री रहते हुये इंदिरा गांधी ने 1970-71 में वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभाला था। साठ साल की सीतारमण ने अरूण जेटली का स्थान लिया है। जेटली ने इस सप्ताह की शुरूआत में प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा था कि वह स्वास्थ्य कारणों से मंत्री पद पर नहीं बने रहना चाहते। उन्होंने ऐसे समय वित्त मंत्रालय का जिम्मा संभाला है जब अर्थव्यवस्था नरमी, निर्यात में गिरावट तथा फंसे कर्ज की समस्या से जूझ रही है। जेटली के मातहत काम कर चुकी सीतारमण 2014 में वित्त राज्यमंत्री और वाणिज्य मंत्रालय मे स्वतंत्र प्रभार राज्य मंत्री रह चुकी हैं। उसके बाद सितंबर 2017 में वह रक्षा मंत्री बनी। रक्षा मंत्रालय की कमान संभालने वाली वह पहली महिला थी। सीतारमण वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभालने से पहले जेटली के आधिकारिक निवास पर गयी। वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी पदभार ग्रहण कर लिया। हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के पुत्र ठाकुर ने हमीरपुर लोकसभा सीट चौथी बार जीती है। उन्होंने कांग्रेस के राम लाल ठाकुर को करीब 4 लाख रिकार्ड मतों से हराया। 44 वर्षीय ठाकुर मई 2016 से फरवरी 2017 के दौरान भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे हैं। लोढ़ा समिति के सुधारों को लागू करने में बाधा खड़ी करने की कोशिश को लेकर उच्चतम न्यायालय ने उसी साल जनवरी में उन्हें पद से हटने का आदेश दिया था।  राज्यसभा सदस्य सीतारमण जवाहरलाल नेहरू और लंदन स्कूल आफ इकोनामिक्स की छात्र रही हैं। सीतारमण का जन्म तमिलनाडु के मदुरै में 18 अगस्त 1959 को हुआ। उन्होंने तिरूचिरापल्ली में रामास्वामी कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री ली। उन्होंने स्नात्कोत्तर की डिग्री जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से ली।  उन्होंने लंदन में एग्रीकल्चरल इंजीनियर्स एसोसिएशन में अर्थशाशस्त्री के सहायक के रूप में काम किया। वह प्राइसवाटरहाउस में बतौर वरिष्ठ प्रबंधक काम कर चुकी हैं। इस दौरान उन्होंने कुछ समय के लिये बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के लिये भी काम किया। भारत लौटने पर उन्होंने सेंटर फार पब्लिक पालिसी स्टडीज में उप-निदेशक के रूप में काम किया। सीतारमण 2008 में भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी और उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया। उन्हें मार्च 2010 में पार्टी प्रवक्ता बनाया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...