बिहार : आश्वासन के साथ आई टी आई कर्मचारी का हड़ताल स्थगित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 जुलाई 2019

बिहार : आश्वासन के साथ आई टी आई कर्मचारी का हड़ताल स्थगित

सहायक निदेशक परीक्षा सह नोडल प्राचार्य आई टी आई दीघा घाट,पटना के निदेशक और बिहार राज्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ के नेताओं के बीच सौहार्दपूर्ण वातावरण में वार्ता होने बाद 27 जुलाई से जारी हड़ताल स्थगित   
iti-worker-strike-postpond
पटना, 28 जुलाई  । आज सहायक निदेशक परीक्षा सह नोडल प्राचार्य आई टी आई दीघा घाट,पटना के निदेशक और बिहार राज्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ के नेताओं के बीच सौहार्दपूर्ण वातावरण में वार्ता होने बाद 27 जुलाई से जारी हड़ताल स्थगित कर दिया गया। आज दूसरा दिन था। बिहार राज्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ के महासचिव प्रेमचन्द कुमार सिन्हा ने बताया कि आज प्रांतीय नेताओं से सहायक निदेशक परीक्षा सह नोडल प्राचार्य आई टी आई दीघा घाट, पटना के निदेशक के प्रतिनिधि के रूप में वार्ता हुई। उन्होंने कहा कि वार्ता में संघ के सभी लंबित  मांगों को एक माह में पूरा करने पर सहमति जताई। श्री सिन्हा ने कहा कि वार्ता करने आए निदेशक के प्रतिनिधि ने  संघ द्वारा संचालित धरना स्थल पर आकर खुद ही घोषणा की कि आपके सभी लंबित मांगों को एक माह में पूरा करने के लिए ठोस कदम निदेशालय उठायेगा। इसलिए आप सभी परीक्षा की महत्ता को देखते हुए तत्काल हड़ताल वापस ले लें यह मेरा अनुरोध हैं।   उनके इस अनुरोध पर सभी उपस्थित सदस्यों से विचार मांगा गया। सभी साथियों द्वारा सुझाव आने के बाद सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आज से हड़ताल स्थगित की जाए। आप सभी साथियों को हड़ताल में शामिल होने के लिए बहुत- बहुत धन्यवाद एवं आभार प्रकट किया गया। भविष्य में इसी तरह एकता बनाए रखने की जरूरत पर बल दिया गया।सभा को श्री प्रेमचंद कुमार सिन्हा, महासचिव, श्री शशिभूषण आर्य,  श्री दिनेश विश्वकर्मा, आदि ने संबोधित किया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...