कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को याद करते हुए सजल नयनों से भावभीनी श्रद्धाञ्जली - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 29 जुलाई 2019

कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को याद करते हुए सजल नयनों से भावभीनी श्रद्धाञ्जली

kargil-diwas
अरुण कुमार (आर्यावर्त) आज सारे हिंदुस्तानियों के लिए गर्व का दिन है. आज कारगिल पर विजय की 20वीं वर्षगांठ है. ठीक 20 साल पहले आज ही के दिन सरहद पर भारत ने पाकिस्तान के घुसपैठियों को करगिल की पहाड़ियों से खदेड़कर तिरंगा फहराया था. और इसी शौर्य दिवस के शुभ अवसर पर बेगूसराय के सैनिक संघ ने बीती संध्या केंडिल मार्च का आयोजन कर नगर भ्रमण करते हुए शहीद स्मारक स्थल पर केंडिल जलाते हुए उन सभी शहीदों को भवभिनी श्रद्धाञ्जली अर्पित करते हुए कहा कि इस शौर्य दिवस को हम उल्लासपूर्ण ठंग से कल यानी आज 26 जुलाई 2019 को संध्या 07 बजे स्थानीय नगर भवन में हर्षोल्लास के साथ रंगारंग कार्यक्रम के रुप में मनाएंगे।इस अवसर पर सेवा निवृत्त सैनिकों के साथ जिलाधिकारी राहुल कुमार,पुलिस कप्तान अवकाश कुमार के साथ साथ छुट्टी पर आए सैनिक और एनसीसी कैडर भी शामिल होकर इस केंडिल मार्च को ऐतिहासिक रुप देने का कार्य किया है।आज ही के दिन यानी 26 जुलाई 1999 को कारगिल युद्ध में भारत को विजय मिली थी, इस वजह से हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है।हालांकि इस जंग में हमने कई बहादुर जवान भी खोए थे। आज शहीदों के सम्मान में दूर-दूर से लोग शहीद स्मारक पर पहुंचे हैं।जहां करगिल विजय दिवस मनाया जा रहा है।उधर राष्ट्रस्तरीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं ने करगिल दिवस के मौके पर नम आंखों से शहीदों को याद किया।इस अवसर पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ”1999 में कारगिल की पहाडि़यों पर हमारी सशस्‍त्र सेनाओं के पराक्रम के प्रति राष्‍ट्र कृतज्ञता प्रकट करता है।हम उन देश की रक्षा करने वाले वीरों के शौर्य को सलाम करते हैं।जो नायक लौट नहीं सके,उनके हमेशा हम ऋणी रहेंगे।"जय हिंद”

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...