गोवा के नए मंत्रियों को सोमवार को आवंटित होंगे मंत्रालय, कावलेकर होंगे उपमुख्यमंत्री - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 जुलाई 2019

गोवा के नए मंत्रियों को सोमवार को आवंटित होंगे मंत्रालय, कावलेकर होंगे उपमुख्यमंत्री

kavlekar-will-be-goa-duputy-cm
पणजी, 14 जुलाई, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने रविवार को कहा कि राज्य कैबिनेट में शामिल चार नए मंत्रियों को सोमवार को उनके मंत्रालय आवंटित किए जाएंगे। सावंत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि पूर्व में विपक्ष के नेता रहे चंद्रकांत कावलेकर को उपमुख्यमंत्री के तौर पर नामित किया जाएगा, लेकिन उन्होंने कोई और जानकारी देने से इनकार कर दिया। राज्य विधानसभा का मॉनसून सत्र सोमवार को आरम्भ होगा। यह पूछे जाने पर कि नए मंत्री सदन में प्रश्नों का जवाब कैसे दे पाएंगे, सावंत ने कहा, ‘‘मैं उनकी मदद करूंगा।’’  गोवा में 10 कांग्रेस विधायकों के भाजपा में शामिल होने के कुछ दिनों बाद सावंत ने शनिवार को अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल किया था। उन्होंने मंत्रिमंडल में बदलाव के लिए सहयोगी दल गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के तीन सदस्यों और एक निर्दलीय सदस्य को मंत्री पद से हटा दिया था। गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले माइकल लोबो और भाजपा में शामिल होने वाले 10 में से तीन विधायकों चंद्रकांत कावलेकर, जेनिफर मोन्सेराते और फिलिप रोड्रिगेज ने नए मंत्रियों के तौर पर शपथ ली थी।  शपथ ग्रहण से पहले मुख्यमंत्री ने एक अधिसूचना जारी की थी। अधिसूचना के अनुसार चार मंत्रियों- उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई, जल संसाधन मंत्री विनोद पालेकर, ग्रामीण विकास मंत्री जयेश सालगांवकर (सभी जीएफपी विधायक) और राजस्व मंत्री रोहन खुंटे (निर्दलीय) को मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था।  कांग्रेस के 10 विधायक बुधवार को भाजपा में शामिल हुए थे। इसके साथ ही 40 सदस्यीय सदन में भाजपा के विधायकों की संख्या बढ़कर 27 हो गयी है। सरदेसाई ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस के 10 विधायकों को भाजपा में शामिल करना दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा स्थापित परंपरा को खत्म करना है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...