पूर्णिया : जागरूकता के अभाव में नहीं हो सका स्वच्छता योजना का विस्तार, बाजार में पसरी है गंदगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 जुलाई 2019

पूर्णिया : जागरूकता के अभाव में नहीं हो सका स्वच्छता योजना का विस्तार, बाजार में पसरी है गंदगी

swachchcta-purnia
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता) : लोहिया बिहार स्वच्छता मिशन के तहत गांवों को ओडीएफ बनाने के बाद ठोस कचरा प्रबंधन का काम किया जाना था। पायलट के रूप में जिले के चांदी आदर्श पंचायत का चयन किया गया था। पंचायत में अधिकारियों एवं ग्रामीणों के बीच कचरा प्रबंधन पर बैठक आयोजित किया गया था। 18 जनवरी से सरकार द्वारा कचरा प्रबंधन कमिटी का गठन कर पंचायत के सभी गांवों में लोगों को कचरे का उपयोग के बारे में लोगों को जागरूक करने के साथ साथ ठोस कचरा प्रबंधन का कार्य किया गया था। जिसमें चार सदस्यीय टीम बनाकर जनप्रतिनिधि के सहयोग से गांव में लोगों को जागरूक किया जाना था। जिसके तहत गोबर, थर्मोकल, प्लास्टिक जैसे कचरे को उपयोग में लाने के लिये ग्रामीणों को जागरूक करना था। हालांकि वरीय पदाधिकारी के आदेश पर यह योजना कुछ दिन तक ठीक ठाक चली। लेकिन धीरे धीरे स्थिति जस की तस बनी हुई है। रानीपतरा बाजार में वर्तमान समय में अभी भी कचरे का अंबार लगा हुआ है। ऐसे में विभाग के द्वारा पूर्ण रूप से ध्यान नहीं देने के कारण यह योजना कागजों तक ही सिमट कर रह गई। जबकि इस योजना को लेकर चांदी पंचायत में कई बार कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था। जिसके तहत वरीय पदाधिकारी ग्रामीणों को स्वच्छता के प्रति जागरूक रहने का संदेश भी दिया था। चार माह बीत जाने के बाद स्थिति पुराने रुख में बदल गई। ऐसे में स्थिति यह दर्शाती है कि लोगों को पूर्ण रूप से मिलने वाली जानकारी में कोई न कोई कमी रह गई। हालांकि कचरा प्रबंधन के बैठक में ग्रामीणों को सूखे कचरे व गीले कचरे के बारे जानकारी दी गई थी। लेकिन गांव गांव जाकर पूर्ण रूप से जानकारी नहीं देने के कारण आज भी सभी जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है। रानीपतरा बाजार में सब्जी बेचने वाले ज्यादातर लोग सुखी व सड़ी हुई सब्जी रात्रि के समय मुख्य मार्ग पर फेंक देते हैं। जिस कारण रानीपतरा बाजार की स्थिति धीरे धीरे बदतर बनती जा रही है। इस ओर किसी भी स्थानीय जनप्रतिनिधि का ध्यान भी नहीं जाता है। यह समस्या आमलोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...