सामूहिक बलात्कार मामले में दो आरोपी गिरफ्ता - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 जुलाई 2019

सामूहिक बलात्कार मामले में दो आरोपी गिरफ्ता

two-arrest-rape
मैनपुरी (उत्तर प्रदेश), नौ जुलाई, मैनपुरी जिले में एक महिला के अपहरण के बाद उससे कथित सामूहिक बलात्कार के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में पीड़ित महिला के पति की बर्बरतापूर्वक पिटाई करने के आरोप में तीन पुलिसकर्मियों को निलम्बित करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस अधीक्षक अजय शंकर राय ने मंगलवार को 'भाषा' को बताया कि आरोपियों ने शुक्रवार को कुरावली कस्बे से गुजर रहे मोटरसाइकिल सवार दम्पति पर हमला करने के बाद महिला को अपहृत कर कथित तौर पर कार में उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया था। मामले में आरोपी दो लोगों अमित और शैलेन्द्र यादव को एटा जिले की पुलिस ने सोमवार रात मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि तीसरे आरोपी लालू उर्फ सत्येन्द्र की तलाश की जा रही है। मालूम हो कि यह घटना मैनपुरी जिले के बिछवां थाने में हुई। घटना उस वक्त हुई जब गत शुक्रवार को मैनपुरी जिले में मोटरसाइकिल से आ रहे दंपति को कुरावली कस्बे के पास कार सवार तीन बदमाशों ने रोक लिया और उनसे मारपीट की। आरोप है कि बदमाशों ने पति की आंख में कोई पाउडर डाल दिया और उसकी पत्नी को अगवा करके कार में सामूहिक बलात्कार किया। बाद में उसे एटा बस अड्डे के पास फेंककर भाग गये। आरोप है कि होश आने पर जब पति थाने पहुंचा, तो मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उस पर अपनी पत्नी की हत्या करने और जुर्म छुपाने के लिये गलत शिकायत करने का आरोप लगाया और उसके साथ बर्बरतापूर्वक मारपीट की। पीड़ित महिला ने होश में आने के बाद अपने पति से सम्पर्क किया। बाद में किसी तरह कुरावली थाने पहुंची और आपबीती सुनायी, जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए आरोपी थानाध्यक्ष तथा सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। आगरा जोन के पुलिस महानिरीक्षक ए सतीश गणेश के निर्देश पर बिछवां थानाध्यक्ष राजेश पाल सिंह तथा कॉन्स्टेबल कृष्ण वीर सिंह और छत्रपति सिंह के खिलाफ हत्या के प्रयास तथा एससी एसटी एक्ट की सुसंगत धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर तीनों को निलम्बित कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक अजय शंकर राय ने बताया कि तीनों पुलिसकर्मी फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...