विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 10 जुलाई 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जुलाई

विभागों के माध्यम से पौधरोपण कार्ययोजना को अंतिम रूप

vidisha-news
विदिशा जिले में शासकीय विभागों के कार्यालयों एवं अन्य संस्थानों में रिक्त शासकीय भूमि पर पौधरोपण कराने हेतु पृथक से कार्ययोजना बनाई गई है। जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने आज विभिन्न विभागों के जिलाधिकारियों से रू-ब-रू होकर पौधरोपण कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया है।  जिला पंचायत सीईओ श्री अग्रवाल ने बताया कि ऐसे विभाग जिनके यहां पौधरोपण कार्यक्रम हेतु राशि आवंटित होती है वे सभी विभाग वन विभाग की नर्सरियों से निर्धारित संख्या में पौधे सीधे क्रय कर सकते है। वन विभाग की नर्सरी से विक्रय होने वाले विभिन्न प्रजाति के प्रति पौधा दस रूपए की दर से विक्रय हेतु उपलब्ध रहेगा।  जिला पंचायत सीईओ श्री अग्रवाल ने कार्ययोजना में मुख्य रूप से तीन बिन्दुओं पर जोर देते हुए अधिकारियों से कहा कि वे बतलाई गई बिन्दुओं का अक्षरशः पालन कर पौधरोपण के कार्यक्रम को शत प्रतिशत सफल बनाने में योगदान दें ताकि पौधा सर्वाईबल होकर पेड़ बन जाए।  जिपं सीईओ श्री अग्रवाल ने कहा कि जिन विभागों के द्वारा स्वंय पौधरोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है वे सभी विभाग जुलाई माह में लक्ष्य के अनुरूप पौधो का रोपण करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रत्येक विभाग अपनी कार्ययोजना मे जिन तीन बिन्दुओं पर बल देंगे उनमें पौधा कब लगाना है, किस स्थान पर लगाना है और पौधो की देखभाल के लिए किसे नोडल नियुक्त किया गया है। कार्ययोजना में अनिवार्यतः इन बातो को उल्लेख होना चाहिए। वन विभाग के एसडीओ श्री राजीव श्रीवास्तव ने नर्सरियों में विक्रय हेतु उपलब्ध विभिन्न प्रजाति के पौधो की संख्या पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वन विभाग के माध्यम से ऐसे पौधे वितरित किए जाते है जो कम पानी में भी सर्वाईबल हो सकें। उन्होंने बताया कि वन विभाग की नर्सरियों में अनार, अमलताल, अर्जुन, आम, आंवला, इमली, कचनार, करंज, केसिया सामिया, खमेर, गुलमोहर, चिरोल, जामफल, जामुन, नीम, नीलगिरी, पीपल, बहेडा, महूआ, लसोडा, सिस्सू, सीताफल सुगमता से उपलब्ध है। आज जिन विभागो के अधिकारियों द्वारा पौधरोपण की एसओपी प्रस्तुत की उनमें आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा 976 पौधे, विदिशा कृषि उपज मंडी द्वारा 50, पीएचई द्वारा 150, जिला परिवहन विभाग द्वारा 50, बासौदा एसडीएम एवं बासौदा नगरपालिका द्वारा 3200-3200, मत्स्य विभाग द्वारा 100, खेल विभाग द्वारा 250, आरसेठी ट्रेनिग सेन्टर द्वारा 100, टीम लीड़र मिशन वॉटर शेड 12500, मेडीकल कॉलेज 50, संजय सागर परियोजना बाह्य नदी संभाग बासौदा 950, जनपद पंचायत नटेरन नौ हजार, डूडा द्वारा 14700, उद्योग विभाग द्वारा 1500, अनुविभाग क्षेत्र बासौदा में पांच हजार, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चार हजार, सम्राट अशोक सागर परियोजना संभाग दो में तीन सौ, विद्युत वितरण कंपनी में पचास, खनिज विभाग द्वारा 2500, जनपद पंचायत कुरवाई के द्वारा 5500 पौधे रोपित किए जाएंगे। 

मानोरा में रात्रि चौपाल आज

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा ग्रामीणजनों की मूलभूत समस्याओं का निदान गांव में ही संभव हो इसके लिए अनुविभाग क्षेत्रों में रात्रि चौपालो का आयोजन सतत जारी है। ग्यारसपुर एसडीएम श्रीमती आरती यादव ने बताया कि अनुविभाग क्षेत्र की ग्राम पंचायत मानोरा में 11 जुलाई की संध्या चार बजे से रात्रि चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उक्त चौपाल में सभी विभागों के खण्ड स्तरीय अधिकारी अनिवार्यतः उपस्थित होकर विभागीय योजनाओं की जानकारी आमजनों को देते हुए उनसे मौके पर लाभांवित कराने का प्रयास करेंगे। इसके अलावा विभाग से संबंधित प्राप्त आवेदनों का भी मौके पर निराकरण कराएंगें। एसडीएम श्रीमती यादव ने ग्राम चौपाल के मद्देनजर की जाने वाली बुनियादी व्यवस्थाओं की पूर्ति कराने हेतु ग्राम पंचायत को अधिकृत किया है। जिसमें मुख्य रूप से टेन्ट, कुर्सी, माईक शामिल है उन्होंने ग्राम के सचिव एवं रोजगार सहायक को रात्रि चौपाल आयोजन का व्यापक प्रचार-प्रसार ग्रामीण क्षेत्र मेंं करने के निर्देश दिए है। 

मुख्य सड़क के दोनो ओर पौधरोपण

ग्रीन विदिशा के उद्वेश्य प्राप्ति हेतु जिले में चहुंओर पौधरोपण कार्यक्रमों का आयोजन सतत जारी है। बुधवार को मुखर्जी नगर से श्रीरामलीला चौराहा की ओर जाने वाली मुख्य सड़क के दोनो और पौधरोपण हुआ जिसमें नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा अन्य जनप्रतिनिधियों एवं अन्य गणमान्य नागरिकों तथा सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों के पदाधिकारियों ने पौधरोपण में सहभागिता निभाई र्है। मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने बताया कि होटल रॉयल पैलेस, मुखर्जीनगर के दरम्यिन गुलमोहर, कंजी, शीशम, कचनार, नीम सप्तपर्णी आदि प्रजाति के पौधे रोपित किए गए है। पौधरोपण कार्यक्रम का संचालन मुक्तिधाम सेवा समिति के सचिव श्री मनोज पांडे के द्वारा किया गया। 

दस्तक में प्रदेश स्तर पर आठवां स्थान 

दस्तक अभियान के उद्वेश्यों की प्राप्ति हेतु बनाई गई कार्ययोजना के अनुरूप अमला अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहा है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि राज्य स्तर पर जारी दस्तक सूची की रेकिंग के मामले में विदिशा जिला आठवें स्थान पर है। अब तक जिले में अभियान के तहत 56.06 प्रतिशत की उपलब्धि हासिल की गई है। जबकि प्रथम रैंक पर डिडोंरी जिला द्वारा 62.43 प्रतिशत उपलब्धि हासिल की गई है। 

मतदाता पंजीकरण जागरूकता विशेष अभियान

नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची पुर्नरीक्षण कर मतदाता पंजीकरण जागरूकता के लिए विशेष अभियान संचालित करने के निर्देश मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग की सचिव सुनीता त्रिपाठी के द्वारा जारी किए गए है।  उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण प्रजापति ने बताया कि नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का पुर्नरीक्षण कार्य प्रगतिरत है। आयोग द्वारा दावे आपत्तियां प्राप्त करने के लिए 21 अगस्त से 30 अगस्त तक की तिथि निर्धारित की गई है। आयोग की मंशा के अनुरूप समस्त पात्र मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल हो अतः मतदाताओं में पंजीकरण कराने की अपील निम्नांकित कार्यो हेतु की गई है। तदानुसार मीडिया संस्थानों और अन्य माध्यमों से प्रचार सामग्री प्रायोजित करना, मतदाता जागरूकता के विज्ञापनो का प्रसारण दूरदर्शन, स्थानीय टीव्ही चैनल पर मतदाता जागरूकता का प्रसारण स्थानीय केबल आपरेटर से मतदाता जागरूकता की जानकारी, जनप्रचार, सिनेमा संचालकों से मतदाता जागरूकता का प्रचार करने की अपेक्षा व्यक्त की गई है। आयोग द्वारा स्थानीय अखबारो में अधिक से अधिक समाचारों का प्रकाशन, जिला निर्वाचन अधिकारी अथवा अन्य स्थानीय महत्वपूर्ण सामाजिक, गणमान्य नागरिकों की ओर से मतदाता जागरूकता की अपील का प्रसारण तथा निःशुल्क मतदाता शिक्षा, मतदाता जागरूकता और पंजीकरण की गतिविधियों का मीडिया संस्थानों द्वारा जनहित में आयोजन एवं प्रचार-प्रसार को शामिल किया गया है। 

आईटीआई में ऑनलाईन प्रवेश 16 तक

मध्यप्रदेश शासन सामान्य प्रशासन विभाग भोपाल के आदेशानुसार शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश हेतु आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग ;म्ॅैद्ध को 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है। प्रशिक्षणार्थियों से आर्थिक रूप से कमजोर पूर्व उल्लेखित वर्ग की च्वाईस फिलिंग एवं नये प्रशिक्षणार्थियों के रजिस्ट्रेशन एवं ज्वाईस फिलिंग के लिए एमपी ऑनलाईन पोर्टल पुनः 10 से 16 जुलाई 2019 तक खोला जा रहा है। 

विश्व जनसंख्या स्थिरता माह की शुरूआज आज से

विश्व जनसंख्या स्थिरता माह के दौरान 11 जुलाई से 11 अगस्त तक प्रदेश में जनसंख्या स्थिरता के उद्देश्य से सभी विकासखंड मुख्यालय पर परिवार विकास मेले लगाए जाएंगे। मेले में जन-प्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों और नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी। संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन सुश्री छवि भारद्वाज ने जिला कलेक्टरों से कहा कि मेले के सफल आयोजन के लिये अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित करें। जनसंख्या नियंत्रण के लिये कारगर प्रयास करें। उन्होंने बताया कि मिशन द्वारा जिला स्तर पर परिवार विकास मेले में उत्कृष्ट कार्य करने वाले सेवाप्रदाता और प्रेंरकों को स्वतंत्रता दिवस पर प्रशस्ति-पत्र दिये जायेंगे।

चिकित्सकों एवं अस्पताल संचालकों को आवश्यक निर्देश जारी

मध्यप्रदेश नर्सिग होम एक्ट तथा संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं मध्यप्रदेश भोपाल के निर्देशों के अनुसार बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति, पंजीयन के प्रायवेट प्रेक्टिस न करें न ही अस्तपताल संचालित करें। पैथॉलाजी लेब भी ऐसे चिकित्सक द्वारा संचालित की जायेगी जो एम डी होगें। निरीक्षण के दौरान शासन के नियमों, निर्देशों का उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित चिकित्सक, अस्पताल संचालक के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी, इसके लिए वे स्वयं उत्तरदायी होगें। साथ ही निजी चिकित्सकोंध्अस्पताल संचालकों से भी कहा है कि वे एक्ट के अंतर्गत पंजीयन की एक प्रति मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में अविलंब प्रस्तुत करें। 

टूरिज्म क्विज प्रतियोगिता सात को एसएटीआई में पंजीयन की अंतिम तिथि 20

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा प्रदेश के 9वीं से 12वीं कक्षा तक अध्ययनरत बच्चों के लिए मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज 2019 का आयोजन किया जा रहा है। विदिशा जिले में उक्त प्रतियोगिता सात अगस्त को एसएटीआई में आयोजित की गई है। प्रत्येक शैक्षणिक संस्था के तीन-तीन विद्यार्थी प्रथम चरण की प्रतियोगिता में शामिल होंगे। प्रतियोगिता हेतु पंजीयन के लिए अंतिम तिथि 20 जुलाई नियत की गई है।  क्विज का उद्वेश्य प्रदेश के समृद्व इतिहास, परम्पराओं, ऐतिहासिक धरोहर, सांस्कृति रंगों, कला, प्राकृतिक समृद्वि, महापुरूषों, पर्यटन महत्व की संभावनाओं से परिचित कराने तथा सीखने की प्रक्रिया विकसित करना है।  जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने सभी अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व, जिला शिक्षा अधिकारी, को पत्र प्रेषित कर प्रतियोगिता हेतु पंजीयन अनिवार्यतः हर स्कूल से हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश प्रसारित किए है। इसी प्रकार उनके द्वारा संकुल प्राचार्यो को भी निर्देश जारी किए गए है कि अपने कार्यालय स्तर पर पंजीयन एवं क्विज प्रतियोगिता के आयोजन हेतु टीम गठित कर जिला पंचायत को अवगत कराएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...