विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 22 जुलाई 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जुलाई

हर माह दो करोड़ राजस्व वसूली के निर्देश

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को राजस्व अधिकारियों के माध्यम से सम्पादित किए जाने वाले कार्यो की समीक्षा की। नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के अलावा समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।  कलेक्टर श्री सिंह ने राजस्व वसूली के लक्ष्य प्राप्ति के लिए हर माह दो करोड़ रूपए की राशि वसूलने के निर्देश सभी राजस्व अधिकारियों को दिए है। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि प्राकृतिक आपदा के एक भी प्रकरण लंबित ना रहें। पीड़ितो को समय पर आरबीसी के प्रावधानो के तहत सहायता राशि अविलम्ब उपलब्ध कराई जाएं।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के तहत दर्ज आवेदनों पर एल-वन स्तर पर ही निराकरण की कार्यवाही सम्पादित की जाए। उन्होंने अतिक्रमण हटाने की मुहिम में और तेजी लाने के निर्देश दिए है। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि राजस्व संबंधी तमाम प्रबंध आरसीएमएस पोर्टल पर दर्ज किए जाएं। वर्तमान में देखने में आया है कि आरसीएम में कम और दायरे में कम प्रकरण परलिक्षित हो रहे हे। उन्होंने राजस्व न्यायालयों सहित जनसुनवाई एवं सीएम हेल्पलाइन तथा वरिष्ठ कार्यालयों से प्राप्त होने वाले आवेदनों को भी आरसीएमएस में दर्ज किए जाएं। ऐसे प्रकरण जिनका निराकरण हो चुका है उन्हें रिकार्ड रूम में हस्ताक्षरित किए जाएं। कलेक्टर श्री सिंह ने इस दौरान राजस्व वसूली अभियान, प्रत्येक ग्राम में गौशाला, चारागाह विकास के तहत प्रबंध सुनिश्चित किए जाए के भी निर्देश दिए है। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि हर गतिविधियों पर पैनी नजर रखे खासकर एसडीएम अपने-अपने पद स्थापना क्षेत्रों में अधीनस्थ विभागों की भी समीक्षा सतत करते हुए उनके क्रियान्वयन पर नजर रखें। राजस्व वसूली, डायवर्सन प्रीमियम की वसूली हेतु विशेष प्रयास करें। बैठक में अब तक विभिन्न करों के तहत की गई वसूली की बिन्दुवार समीक्षा की गई।  कलेक्टर श्री सिंह ने राज्य सरकार द्वार प्रारंभ किए गए नवीन योजना कार्यक्रमों के क्रियान्वयन पर सभी एसडीएम नजर रखें। उन्होंने खासकर आपकी सरकार आपके द्वार के तहत आयोजित होने वाले शिविरों पर जोर देते हुए कहा कि शिविर आयोजनों की तिथियों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। ताकि आमजनों को शिविर का अधिक से अधिक लाभ मिल सकें।  कलेक्टर श्री सिंह ने तहसीलवार बनाए गए बाढ नियंत्रण कक्ष के संचालन के संबंध में भी पूछताछ की। उन्होंने कहा कि कार्यक्षेत्रों की शैक्षणिक संस्थाएं आगंनबाडी केन्द्रों के माध्यम से दी जाने वाली सुविधाओ का लाभ सुपात्रों को मिल रहा है कि नहीं पर की क्रास मानिटरिंग करें। उन्होंने हितग्राहीमूलक योजनाओं एवं शासकीय कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में नवाचार करते हुए लक्ष्यों की पूर्ति सितम्बर माह तक पूर्ण करने के निर्देश दिए है। 

नीति आयोग के कार्यो की समीक्षा 

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज सोमवार को पुनः नीति आयोग के मापदण्डो की पूर्ति हेतु जिले में विभागो के माध्यम से क्रियान्वित कार्यो की समीक्षा की। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में इस अवसर पर नीति आयोग की प्रतिनिधि के रूप में मीनाषी शुक्ला, अपर कलेक्टर श्री वृदावंन सिंह के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी एवं स्वंयसेवी संस्थाओ के प्रतिनिधि मौजूद थे।  कलेक्टर श्री सिंह के द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, स्वरोजगार को क्रियान्वयन करने वाले विभागों, कृषि विभाग, उद्यानिकी, मत्स्य एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के लिए निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति हेतु किए गए कार्यो की जानकारी संबंधित विभागो के अधिकारियों ने प्रस्तुत की।  कलेक्टर श्री सिंह ने विदिशा आकांक्षी जिले में शामिल होने के कारण स्थिति एवं सुधार के लिए क्या-क्या उपायो पर क्रियान्वयन किया जाए कि विस्तारपूर्वक समीक्षा की है। उन्होंने कहा कि अनेक विभागो के द्वारा निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति शत प्रतिशत की गई है किन्तु बेवपोर्टल पर जानकारी दर्ज नही करने के फलस्वरूप आकांक्षी जिलो की रेकिंग में विदिशा 98 स्थान है। उन्होंने स्कूल, शिक्षा, स्वास्थ्य,  महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि अपडेट जानकारी पोर्टल पर हर माह की 15 तारीख तक दर्ज कराएं। किन्हीं कारणो से दर्ज कराने का कार्य प्रभावित होता है तो उसी माह की 19 तारीख को अनिवार्यतः दर्ज कराएं। 

निराकरण संतुष्टि के प्रतिशत में वृद्वि हो-कलेक्टर 

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा नवीन कलेक्ट्रेट के सभागार कक्ष में की। उन्होंने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन आवेदनों के लंबित प्रकरणों का निराकरण विशेष अभियान चलाकर करने के निर्देश विभागो के अधिकारियों को दिए।  कलेक्टर श्री सिंह ने विभागो के अधिकारियों से कहा कि जिले में आवेदनो के निराकरण की प्रक्रिया अनुरूप आवेदनकर्ताओं की संतुष्टि के प्रतिशत में आशातीत वृद्वि परलिक्षित नही हो रही है। उन्होंने कहा कि एल-वन स्तर पर ही आवेदनो का निराकरण बकायदा आवेदनकर्ता से सम्पर्क कर वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए निराकृत करें और आवेदनकर्ता के द्वारा सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से प्राप्त होने वाले फोन पर निराकरण की संतुष्टि के संबंध में स्पष्ट जबाव देने हेतु प्रेरित करें।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के ऐसे प्रकरण जो फोर्सक्लोज किए गए है उन प्रकरणों को संबंधित विभागो के अधिकारी पुर्न अवलोकन करें और ऐसे प्रकरण जिनका निराकरण जिला स्तर पर संभव है और वे किन्ही कारणों से फोर्सक्लोज किए गए है तो उन सभी प्रकरणो को रिओपन करते हुए आवेदकर्ताओं से सम्पर्क कर निराकरण की कार्यवाही से उन्हें अवगत कराएं ताकि संतुष्टि के प्रतिशत में वृद्वि हो सकें।  बैठक में विभिन्न विभागों में लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाहियों की जानकारियां संबंधित विभागो के अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गई वही विभागो को प्रेषित पेपर कंटिग पर की गई अद्यतन जानकारी से भी अवगत कराया गया। 

अब तक ढाई हजार से अधिक को रैबीज इंजेक्शन लगे

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देश दिए है कि आवारा कुत्तो को पकड़ने की मुहिम क्रियान्वित कर उन्हें जंगलों में छोड़ने की कार्यवाही करें।  सिविल सह अधीक्षक डॉ संजय खरे ने टीएल बैठक में बताया कि जिला चिकित्सालय में कुत्ता काटने से प्रभावितों को रैबीज इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है। अब तक ढाई हजार से अधिक ऐसे पीड़ित लोगो को इंजेक्शन लगाने का कार्य किया जा चुका है। 

पालतू पशुओं की पहचान हेतु नम्बरिंग पट्टा पहनाएं 

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज टीएल बैठक के दौरान मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देश दिए कि निकाय क्षेत्र के सभी पालतू पशुओं की पहचान हेतु उन्हें नम्बरिंगयुक्त पट्टा पहनाया जाए। साथ ही स्टॉक पंजी में नम्बरिंग के आगे पशु पालकों की जानकारी अंकित की जाएं ताकि चौराहो अथवा अन्य जगह विचरण करते पाएं जाने पर संबंधित पशुपालक से जुर्माने की राशि वसूल की जा सकें।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि नगर में ऐसे पशु जो बिना पट्टे के पाए जाते है उन्हें वाहनो के माध्यम से गौ-शालाओं में भिजवाने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। उपरोक्त कार्यो के क्रियान्वयन पूर्व निकाय क्षेत्रों के पशुपालकों के घर-घर जाकर उनकी पशुओं की गणना कर बकायदा उनके समक्ष ही पालतू पशुओं के गलों में नम्बरिंग पट्टे पहनाने का कार्य किया जाएं। ताकि निकाय क्षेत्र के सभी पशुओं का पंजीयन नगरपालिका के पास उपलब्ध रहें।

सफाई मित्र के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं

vidisha news
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज टीएल बैठक में कहा कि जिले की शासकीय स्कूल में साफ सफाई के लिए सफाई मित्र के कंसेप्ट को क्रियान्वित किया जाए। उन्होंने ग्रामीण और निकाय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले स्कूलों के शौचालयों, बाथरूम की साफ सफाई के लिए नवाचार पर बल देते हुए कहा कि ऐसे सफाई कामगार जो पार्ट टाइम में स्कूलों में स्वच्छता हेतु अपनी सेवाएं देना चाहते है उन्हें कमेटी द्वारा निर्धारित राशि मुहैया कराई जाए वही आवश्यक सामग्री शैक्षणिक संस्था के द्वारा उपलब्ध कराई जाए।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सफाई मित्रों को बकायदा यूनिफार्म भी मुहैया कराया जाएगा वही आवश्यक हुआ तो उन्हें वाहन फायनेंस कराने की प्रक्रिया भी क्रियान्वित की जाएगी ताकि वे सुगमता से शैक्षणिक संस्थाओं में पहुंचकर स्वच्छता के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे सकें। कलेक्टर श्री सिंह ने जिला शिक्षा अधिकारी एवं डीपीसी और मुख्य नगरपालिका अधिकारी को संयुक्त रूप से कार्ययोजना बनाकर सफाई कामगारो से सम्पर्क कर उन्हें स्वच्छता के क्षेत्र में योगदान हेतु अभिप्रेरित करने की बात करते हुए कहा कि सप्ताह में दो दिन किसी भी स्कूल में अपनी सेवाएं दें ताकि शैक्षणिक संस्थाएं स्वच्छता के मापदण्डों पर खरी उतर सकें वही सफाई मित्रों को आयोजित कार्यक्रमों में सहसम्मान आमंत्रित करने ओर उन्हें निर्धारित राशि देने के संबंध में भी कलेक्टर द्वारा निर्देश दिए गए है। 

शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज टीएल बैठक में अनुपस्थित मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के जनरल मैनेजर श्री शिव प्रसाद शर्मा को शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश अपर कलेक्टर को दिए है। कलेक्टर श्री सिंह ने विद्युत वितरण कंपनी के एमडी को पत्र प्रेषित कर एक वेतनवृद्वि रोकने संबंधी कार्यवाही हेतु प्रस्ताव तैयार करने के भी निर्देश दिए है। 

नवीन जिला चिकित्सालय में शिफ्टिंग की कार्यवाही हेतु निर्देश

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज टीएल बैठक में सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे को स्पष्ट निर्देश दिए कि नवनिर्मित जिला चिकित्सालय में शिफ्टिंग का कार्य एक माह में पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने नवनिर्मित जिला चिकित्सालय में शिफ्टिंग के दौरान पुराना जिला चिकित्सालय में भर्ती मरीजों को किसी भी प्रकार की असुविधाओं का सामना ना करना पडें़ का पूरा-पूरा ख्याल रखा जाए। सिविल सर्जन सह अधीक्षक के द्वारा व्यवस्थाओं के मद्देनजर जिन बिन्दुओं के संबंध में कलेक्टर का ध्यान आकर्षित कराया। उन बिन्दुओंं की पूर्ति शार्ट टेण्डर आमंत्रित कर पूर्ण की जाएं ताकि एक माह के भीतर नवीन जिला चिकित्सालय में शिफ्ट हो सकें। 

मावा एवं दूध की सैम्पलिंग सतत लें

vidisha news
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज टीएल बैठक में राजस्व अधिकारियों के साथ-साथ खाद्य सुरक्षा अधिकारी एवं निरीक्षकों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि जिले में विक्रय मावा एवं दूध की सेम्पलिंग सतत ली जाए। ततसंबंध में कार्यवाही करने हेतु उन्होंने एसडीएमों को दल गठित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्रीमती एडलिन ई पन्ना एवं उनके सहयोगियों के द्वारा पेढी चौराहे के समीप स्थित दंशमेश दुग्ध डेयरी से दूध का सेम्पल परीक्षण हेतु लिया गया है। 

स्वतंत्रता दिवस समारोह आयोजन की तैयारियों के संबंध में दिशा निर्देश

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त समारोह आयोजन पूर्व की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा आज कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने की। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक जबावदेंही सौंपते हुए कहा कि जिम्मेदारियों का क्रियान्वयन समय सीमा में करना सुनिश्चित करें। जिला मुख्यालय पर मुख्य समारोह गतवर्ष की भांति इस वर्ष भी पुलिस परेड ग्राउण्ड पर आयोजित किया जाएगा।  पुलिस परेड ग्राउण्ड पर की जाने वाली तमाम व्यवस्थाओं के परिपेक्ष्य में बिदुंवार चर्चा की गई और अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। स्कूली विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम देशभक्ति भावना से ओतप्रोत हो। बैठक में बताया गया कि सांस्कृतिक कार्यक्रम का पूर्वाभ्यास छह अगस्त से शुरू होगी और फायनल रिहर्सल 13 अगस्त को पुलिस परेड ग्राउण्ड पर आयोजित किया जाएगा जिसका जायजा कलेक्टर और एसपी के द्वारा संयुक्त रूप से लेगें। बैठक में आमंत्रण कार्ड छपवाने, वितरण, के अलावा शासकीय अधिकारी, कर्मचारी जिनके द्वारा उल्लेखनीय प्रगति हासिल की गई है। उन्हें पुरस्कृत करने के प्रस्ताव 12 अगस्त तक डिप्टी कलेक्टर श्री बृजेन्द्र यादव के पास जमा किए जा सकते है। जिला मुख्यालय के साथ-साथ तहसील, जनपद स्तर, सभी शैक्षणिक संस्थाओं में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। 

रोशनी
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस पर्व पर सभी शासकीय स्मारको, कार्यालयों प्रकाश (रोशनी) की जाएगी। इसके लिए झालर लगाने का कार्य 13 अगस्त की रात्रि तक पूरा कर लिया जाए। ताकि 14 की रात्रि से रोशनी कार्यालयों में की जा सकें। 

उपस्थिति के निर्देश
15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को उपस्थित होने के निर्देश अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बैठक में दिए है। इसी प्रकार आमजनों से अपील की गई है कि पुलिस परेड ग्राउण्ड पर प्रातः नौ बजे झंडावंदन के समय अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं।

यूरिया जैसे घातक पदार्थ से दूध बनाने और बेचने वालों पर रासुका में करें कार्यवाही
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री सिलावट के निर्देश 
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने आज खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिये की यूरिया जैसे घातक पदार्थ मिलाकर सिंथेटिक दूध और उससे मावाए पनीर आदि अन्य उत्पाद बनाने और बेचने वालों के विरुद्ध रासुका के तहत सख्त कार्यवाही की जाये। बैठक में नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन श्री रविन्द्र सिंह और संयुक्त नियंत्रक श्री डीण्केण् नागेन्द्र उपस्थित थे। मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि सिंथेटिक दूध और इससे बने अन्य दुग्ध उत्पाद आमजन के स्वास्थ्य के लिये बहुत घातक हैं। उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों को आम आदमी के स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं करने देंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि राज्य और जिला स्तर पर इस तरह की घातक गतिविधियाँ संचालित करने वालों की धड.पकड़ के लिये उड़न दस्ता बनाकर कार्यवाही करें। श्री सिलावट ने कहा कि सभी संभागीय कमिश्नरए जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध रासुका जैसे सख्त कानून में कार्यवाही करने के लिये कहा जा रहा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिम्मेदार अधिकारियों पर भी कार्यवाही में शिथिलता बरतने अथवा जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं करने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी।

सोमवार को 5.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज

जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रों पर सोमवार को दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि 22 जुलाई की प्रातः आठ बजे रिकार्ड की गई वर्षा अनुसार 5.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है।  सोमवार को तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा की जानकारी तदानुसार विदिशा में आठ मिमी, कुरवाई 2.2 मिमी, सिरोंज में 18 मिमी, लटेरी में दस मिमी एवं नटेरन में दो मिमी वर्षा दर्ज की गई है इसके अलावा बासौदा, ग्यारसपुर और गुलाबगंज तहसील में वर्षा नगण्य रही।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...