बिहार : बाढ़ पीड़ित इलाकों के किसानों को मिलेगी राहत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 31 अगस्त 2019

बिहार : बाढ़ पीड़ित इलाकों के किसानों को मिलेगी राहत

flood-relief-bihar
अरुण कुमार (आर्यावर्त) पटना सीएम सुशील कुमार मोदी की पहल पर बैंकों ने बिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों के कर्जदारों को राहत दे दी गई है।उन्हें कर्ज चुकाने के लिए दो साल का और समय मिल गया है।इस साल कर्ज की वसूली नहीं होगी और जिन्हें जरूरत होगी उन्हें बैंक 10 हजार का नया लोन भी देगा।डिप्टी सीएम के साथ बैंकर्स की बैठक में ये फैसला लिया गया।डिप्टी सीएम के साथ बैंकर्स की हुई बैठक में बिहार के बाढ प्रभावित 13 जिलों के कर्जदारों को लोन के भुगतान के लिए दो साल का अतिरिक्त समय दिया गया है।बैंकों ने उनके लोन चुकाने के समय को दो साल के लिए बढ़ा दिया है।इस दौरान लोन पर उन्हें सिर्फ चार प्रतिशत का ब्याज देना होगा।बैंकों ने एक साल के लिए कर्ज की वसूली रोक दी है।किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये नया लोन भी दिया जायेगा।वहीं जिसे जरूरत होगी उसे बैंक 10 हजार का उपभोक्ता कर्ज यानि कंज्यूमर लोन देगी।इसके लिए गारंटी की जरूरत नहीं होगी। डिप्टी सीएम ने कहा-कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे किसानों की सहायता में। डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि बाढ पीड़ितों की मदद के लिए सरकार कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी।बिहार के 13 जिलों में 1 करोड़ 4 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं सरकार 21 लाख 70 हजार परिवारों को 6-6 हजार रूपये की आर्थिक मदद कर चुकी है।आगे भी उनकी मदद की जायेगी।डिप्टी सीएम के साथ हुई बैठक में सरकारी अधिकारियों के साथ साथ स्टेट बैंक,पीएनबी,सेंट्रल बैंक और बैंक ऑफ बड़ोदा के अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...