बेगूसराय : राज्यसभा सदस्य प्रो.राकेश सिन्हा का भव्य स्वागत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 19 अगस्त 2019

बेगूसराय : राज्यसभा सदस्य प्रो.राकेश सिन्हा का भव्य स्वागत

grand-welcome-rakesh-sinha
अरुण कुमार (आर्यावर्त) साम्हो/बेगूसराय के बीच के फासले अब होंगे दूर।राज्यसभा सदस्य (सांसद) प्रो. राकेश कुमार सिन्हा ने कहा है कि उनका राज्यसभा में जाना तभी सफल होगा,जब शाम्हो-बेगूसराय के बीच गंगा नदी पर पुल बन जाएगा।उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक धरती रही है।बेगूसराय से शाम्हो की दूरी महज 17 किलोमीटर रहने के बावजूद लोगों को 87 किमी की दूरी तय करनी पड़ती है।यहां पुल बनने से सीधे तौर पर 4-5 और तीन राज्यों के लोगों को लाभ मिलेगा।राज्यसभा में शाम्हो-बेगूसराय के बीच गंगा पुल की मांग उठाने पर शाम्हो के लोगों ने रविवार को उनका अभिनंदन सरलाही उच्च विद्यालय में रखा था,उनके आगमन को लेकर इलाके में खुशी की लहर दौड़ गई थी। सूर्यगढ़ा से शाम्हो तक जहां 10 तोरणद्वार बनाए गए थे,वहीं दर्जनों मोटर साइकिल व कार उनके अगुवानी में साथ चल रहे थे।गाजेबाजे से भी उनका भरपूर स्वागत किया गया।समारोह में उपस्थित लोगों की भीड़ पुल निर्माण को लेकर इतने उत्साहित थे कि अपने नेता का सम्मान बार-बार तालियों की गड़गड़ाहट व जयघोष की नारों से इलाके को गुंजायमान कर रहे थे।समारोह को संबोधित करने से पहले सांसद प्रो. सिन्हा शाम्हो के उस स्थल का मुआयना करने गए जहां गंगा की धारा करीब है और यहां पर ही पुल निर्माण चाहते हैं।इस मौके पर उन्होंने कहा कि तकनीकी विशेषज्ञ आकर देखेंगे,और वे ही तय करेंगे कि पुल के लिए उपयुक्त जगह कौन सी होगी।समारोह को संबोधित करते हुए सांसद प्रो. सिन्हा ने कहा कि राज्यसभा में मामले को उठाने के बाद वे केंद्रीय सड़क,परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मिलकर कहा था कि व्यक्तिगत काम से मिलने आया हूं, शाम्हो पुल निर्माण की बात करने पर मंत्री ने कहा कि यह तो सार्वजनिक है।उन्होंने कहा कि यह उनके लिए व्यक्तिगत प्रतिष्ठा से जुड़ा है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी पत्र भेजा है और जदयू के सांसद आरसीपी सिंह से भी बात कर उनका सहयोग मांगा है।मसलन उनका कहना है कि इस कार्य को पूरा कराने के लिए उन्हें जो भी करना पड़ेगा,वे करेंगे।उन्होंने कहा कि अगले साल तक पुल निर्माण की तकनीकी स्वीकृति मिल जाएगी।इस मौके पर मटिहानी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी रहे सर्वेश कुमार ने कहा कि कुछ लोग आज पुल बनने पर संदेह कर रहे हैं तो उन्हें यह जानना चाहिए कि अकेले दिल्ली में यमुना नदी पर 11 पुल बना हुआ है।उन्होंने कहा कि प्रो. सिन्हा भविष्यदष्टा हैं,आगामी 10-20 वर्षों में उत्पन्न होने वाली स्थिति के बारे में सोचते हैं। यही सोच शाम्हो पुल निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेगा।उन्होंने कहा कि चूंकि राज नरेंद्र मोदी का है इसलिए पुल बनना मुमकिन है।सूर्यगढ़ा के पूर्व विधायक प्रेमरंजन पटेल ने शाम्हो की महत्ता का उल्लेख करते हुए कहा कि पुल की मांग वर्षों पुरानी है,इसको लेकर आवाजें उठती रहींं हैं,लेकिन सांसद प्रो. सिन्हा ने जिस तरह से इस मसले का हल निकालने का प्रयास किया है उसमें अब कोई संदेह नहीं रह गया है कि पल अब भी नहीं बनेगा।कहा पुल निश्चित रूप से बनेगा।भाजपा जिलाध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि प्रो. सिन्हा बेगूसराय के लाल हैं,वे अपने मिट्टी का कर्ज चुकाना जानते हैं।उन्होंने इस काम को अपने हाथ में लिया है तो पुल अवश्य ही बनकर रहेगा।आप भी भगवान से प्रार्थना करें कि उन्हें पुल बनवाने की शक्ति मिलती रहे। समारोह की अध्यक्षता अमरेंद्र कुमार सिंह उर्फ लल्लू बाबू ने की,जबकि संचालन भाजपा के वरिष्ठ नेता मिथिलेश कुमार सिंह ने किया। सभा को पूर्व विधायक श्रीकृष्ण सिंह सहित स्थानीय कई लोगों ने संबोधित किया।मौके पर कार्यक्रम में भाजपा के जिला सदस्यता उपसंयोजक शशिकांत दास,युवा मोर्चा के कुंदन कुमार,मंडल अध्यक्ष राजीव रंजन,राजेश कुमार सिंह,सियाराम दास,सुरेंद्र सेठ,बबन कुमार,पवन,वनवासी,कल्याण आश्रम के जिलाध्यक्ष शंभू कुमार,गंगा समग्र के जिला संयोजक अवधेश कुमार,गंगा समग्र के शाम्हो सचिव राम पदारथ सिंह,सिहमा के पूर्व मुखिया संजीव सिंह,भाजपा नेता नवीन कुमार आदि प्रमुख रूप से इस समारोह भाग लेते हुए समारोह और प्रो.सिन्हा की सराहना किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...