पूर्णिया : उन्नयन स्मार्ट क्लास से बच्चों को मिलेगी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा : राजीव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 20 अगस्त 2019

पूर्णिया : उन्नयन स्मार्ट क्लास से बच्चों को मिलेगी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा : राजीव

quality-education-purnia
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता) : सूबे में चलाई जा रही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए नव प्रयोग उन्नयन योजना जो माध्यमिक शिक्षा के लिए महत्वाकांक्षी योजना है को ले बुधवार को प्रखंड स्थित उच्च विद्यालय चांदी रजीगंज के प्रांगण में समारोहपूर्वक उन्नयन स्मार्ट क्लास का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्लस टू प्रोजेक्ट विद्यालय के प्रधानाध्यापिका पुतुल कुमारी ने की। वहीं कार्यक्रम का मंच संचालन शंभुकांत मिश्र ने किया। इस दौरान विद्यालय के कक्ष को सुसज्जजित कर बड़ा सा एलईडी स्क्रीन लगाया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन रजीगंज पंचायत की मुखिया अनिता देवी, जिला पार्षद राजीव सिंह, रानीपतरा काॅलेज के अध्यक्ष विवेका गुप्ता ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पार्षद राजीव सिंह ने कहा कि आज का युग इंटरनेट का है। हर कोई चाहता है कि वे तकनीकी रूप से मजबूत बने। इसी उद्देश्य के साथ स्मार्ट क्लास का उद्घाटन किया गया है। इसका सभी छात्र फायदा उठाएं और इस डिजिटल पढ़ाई से क्लास में अव्वल आएं। स्मार्ट क्लास से छात्रों की सोच बेहतर बनेगी और आगे भी बढ़ेगी। वहीं प्रभारी प्रधानाध्यापक नौशाद आलम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज के डिजिटल युग में ग्रामीण परिवेश के बच्चे तकनीकी रूप से मजबूत होकर आगे बढ़ेंगे। स्मार्टनेस का मतलब होता है सदैव सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़े। स्मार्ट क्लास की सोच हमारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की देन है। उनकी सोच है कि जिस प्रकार बड़े बड़े शहरों में निजी विद्यालयों में तकनीकी शिक्षा प्रदान की जाती है उसी प्रकार बिहार में भी ग्रामीण परिवेश के बच्चे तकनीकी दुनिया में आगे बढ़े और उसका लाभ उठाएं। स्मार्ट क्लास में कॉपी कलम के झंझट से छुटकारा मिलेगी और प्रैक्टिकल नॉलेज के जरिये बच्चे आगे बढ़ेंगे। कार्यक्रम का संचालन कर रहे शिक्षक शंभुकांत मिश्र ने कहा कि स्मार्ट क्लास का मतलब बच्चे विजुअल और एक आईडिया के तहत अपनी सोच का विकास करें। ये मनोवैज्ञानिक तथ्य है कि बच्चे देखकर और सुनकर ज्यादा सीखते हैं। इसलिए आज के दौर में डिजिटिलाइज्ड युग की जरूरत है। इस दौरान सभी गणमान्य लोगों के द्वारा विद्यालय परिसर में फलदार पौधा लगाया गया। कार्यक्रम में मुखिया पति मनोज चौधरी, सुकेश पाल, हेमनारायण मेहता, पानो देवी, जामुनी दास, विद्यालय के शिक्षक दीपक कुमार सिंह, अवधेश कुमार सिंह, मॉडल शिक्षक चंदन कुमार सिंह, डेविड कुमार, किरण कुमारी, सुश्री के एक्का, सुषमा कुमारी, सोनी कुमारी, रोजी कुमारी सहित सभी छात्र छात्रा मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...