बेगूसराय : एबीवीपी के कार्यकर्ता ने नामांकन को लेकर प्राचार्य को बनाया बंधक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 सितंबर 2019

बेगूसराय : एबीवीपी के कार्यकर्ता ने नामांकन को लेकर प्राचार्य को बनाया बंधक

abvp-kidnap-principle
अरुण कुमार (आर्यावर्त) आज बुधवार को छात्र संघ एवं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले एसबीएसएस कॉलेज के प्राचार्य को लगभग 4 घण्टे तक बंधक बनाया गया। स्नातक एवं पीजी में नामांकन को लेकर प्राचार्य के कक्ष में बैठ गए।इसका नेतृत्व छात्रसंघ अध्यक्ष मंतोष कुमार ने किया। इस मौके पर पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अजीत चौधरी एवं पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विनोद कुमार ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग करती है कि जितने भी छात्रों का ऑनलाइन आवेदन लिया गया है, सभी का नामांकन किया जाए।लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन सिर्फ छात्रों से नामांकन के नाम पर, ऑनलाइन अप्लाई के नाम पर, छात्रों से जम के अवैध वसूली की। लेकिन अब नामांकन करने में आनाकानी कर रही है।जबकि विश्वविद्यालय नहीं कहा है कि जितने भी छात्रों ने ऑनलाइन आवेदन किया है सभी का नामांकन लिया जाएगा। विश्वविद्यालय के हजारों छात्रों के साथ मजाक किया जा रहा है। जिनका नामांकन नहीं हुआ है वह कॉलेज में चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन उनका कोई नहीं सुनने वाला है।इस मौके पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राहुल कुमार सोनू एवं कॉलेज अध्यक्ष मंतोष कुमार ने कहा कि कल नामांकन का समय सीमा समाप्त हो जाएगा। लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन नामांकन की तिथि नहीं बढ़ा रही है। यह सहन नहीं किया जाएगा। सभी विषयों में नामांकन सीट बढ़ाने एवं नामांकन की तिथि बढ़ाने की मांग संगठन कर रही है।इस मौके पर विश्वविद्यालय प्रतिनिधि शुभम कश्यप एवं छात्र संघ महासचिव राजा कुमार ने कहा विश्वविद्यालय के कुलपति जो कि छात्र विरोधी हैं एवं मनमानी करते हैं। ऐसे ऐसे तानाशाह कुलपति के खिलाफ छात्र आर-पार की लड़ाई लरेगी।इसी तरह पीजी में बार-बार नामांकन के लिए छात्रों को विश्वविद्यालय जाना पड़ता है। लेकिन अभी तक आधे से अधिक छात्रों का नामांकन पीजी में नहीं हुआ।विश्वविद्यालय छात्रों के साथ मजाक कर रहा। ऑनलाइन आवेदन के नाम पर करोड़ो रुपए वसूली की गई। लेकिन छात्रों का नामांकन नहीं हो रहा। बाद में कॉलेज के प्राचार्य कुलपति एवं छात्र कल्याण का अधिकारी से दूरभाष पर बात की।कुलपति ने 6 अगस्त को प्राचार्य को विश्वविद्यालय वार्ता के लिए बुलाया है। तब जाकर छात्रों ने प्राचार्य को मुक्त किया।अगर 6 अगस्त को नामांकन सीट नहीं बढ़ाई जाएगी तो फिर से आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।इस मौके पर निरंजन, अंकित, नगर मंत्री राज, दीपक गुप्ता, अभिषेक कुमार, छोटू, राजा कुमार, कमल, नितीश, चीकू आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...