झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 सितंबर 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 सितंबर

भाजपा का विधानसभा स्तराीय वृहद सम्मेलन आज
केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर, फग्गनसिंह कुलस्ते,पूर्व मुख्यमंत्री षिवराजसिंह चैहान, कैलाष विजयवर्गीय,  प्रदेषाध्यक्ष राकेषसिंह देगें मार्गदर्षन
झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि आज 4 सितम्बर को कृषि उपज मंडी परिसर में भाजपा का विधानसभा स्तरीय विशाल सम्मेलन दोपहर 12 बजे से आयोजित किया जारहा है। विधानसभा झाबुआ स्तरीय इस कार्यकर्ता सम्मेलन में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर, केन्द्रीय मंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान, भाजपा के राष्ट्रीय नेता कैलाश विजयवर्गीय, एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेशसिंह भारतीय जनता पार्टी की रीति नीती एवं केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की कल्याणकारी नीतियों एवं लागू किये गये हितलाभो के बारे में विस्तार से मार्गदर्शन प्रदान करेगें । इस सम्मेलन में क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर विशेष रूप  से विधानसभा क्षेत्र झाबुआ में भाजपा के द्वारा किये जारहे कार्यो पर भी प्रकाश डालेगें । इस सम्मेलन में झाबुआ विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक मतदान केन्द्रों से कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया गया है  । श्री शर्मा ने आज 4 सितम्बर बुधवार को होने वाले झाबुआ विधानसभा क्षेत्र के वृहद सम्मेलन में सहभागी होने की अपील की है  । भाजपा के पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल, कलसिंह भाबर एवं सुश्री निर्मला भूरिया ने सभी कार्यकर्ताओं एवं भाजपा के सभी पदाधिकारियों से अधिक से अधिक संख्या में शामील होने की अपील की है । उक्त जानकारी जिला मीडिया प्रभारी राजेन्द्रकुमार सोनी ने दी ।

600 से अधिक तपस्वियों के पारणे के साथ हुआ पर्यूषण महापर्व का समापन, 4 सितंबर को सभी तपस्वियों की चैत्य परिपाटी अनुसार निकलेगी भव्य रथ यात्रा, तपस्वियों का होगा बहुमान

jhabua news
झाबुआ। श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में 3 सितंबर, मंगलवार को 600 से अधिक तपस्वियों के पारणे का आयोजन वालीबाई समीरमल भंडारी की स्मृति में यषवंत, निखिल, शार्दुल, जिनांष भंडारी परिवार द्वारा किया गया। इस अवसर पर सभी तपस्वियांे ने पारणे के लाभ लेने के साथ ही समाजजनों ने एक-दूसरे से क्षमायाचना भी की। बाद सभा में आचार्य श्रीजी ने क्षमापना का महत्व बताया। 4 सितंबर को सुबह सभी तपस्वियांे की चैत्य परिपाटी अनुसार भव्य रथ यात्रा निकलेगी। जिसमें प्रथम बार भगवान के रथ के पीछे सभी तपस्वी पैदल चलेंगे। बाद बावन जिनालय में आचार्य नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा के पश्चात् सभी तपस्वियों का बहुमान किया जाएगा। बावन जिनालय में मंगलवार को सुबह 7.30 बजे से पारणे का आयोजन भंडारी परिवार की ओर से रखा गया। जिसमें 44 दिवसीय भक्तामर महातप के 74 तपस्वी सहित पर्यूषण महापर्व के दौरान की गई सभी तपस्याआंे के तपस्वियों ने पारणे का लाभ लिया। इस दौरान सभी तपस्वियों की साता पूछते हुए उनके द्वारा कि गए तप की खूब-खूब अनुमोदना भी की गई। तपस्याआंे करने वालों को धन्यावाद भी दिया गया। सभी तपस्वियों को पारणे करवाने का अनुपम लाभ भंडारी परिवार ने लिया। इस दौरान सभी तपस्वियों के साथ समाजजनों ने परस्पर एक-दूसरे से हुई गलतियों के लिए ‘मिच्छामि दुक्कड़म’ कहकर वर्षभर हुई गलतियों के लिए क्षमायाचना भी की एवं समाजजन एक-दूसरे के गले मिले। पारणे का आयोजन बावन जिनालय गुरू हाॅल एवं पोषध शाला भवन में हुआ। पारणे करीब 9.30 बजे तक चले।

मन को मारोगे तो आत्मा को पारोगे
बाद आयोजित संक्षिप्त सभा में अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ‘नवल’ ने कहा कि पर्यूषण महापर्व के मुख्य तीन सूत्र है, उसमें से एक है खमामि अर्थात हम सभी से सामूहिक क्षमायाचना करते है। मैं एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी आज पर्यूषण महापर्व के समापन पर सभी देवो, आचार्य भगंवतांे, साधु-संतों और पूरे श्वेतांबर जैन श्री संघ तथा चातुर्मास समिति से क्षमायाचना करते है एवं श्वेतांबर श्री संघ और चातुर्मास समिति को ऐतिहासिक आयोजनन के लिए आर्षीवाद भी देते है। आचार्य भगवंत ने समाजजनों एवं उपस्थित तपस्वीजनांे से कहा कि हमे  जीवन में हमेषा अपने चित्त में एक ही भाव रखना चाहिए, वह है क्षमा का। हमे वर्षभर ही अपने जीवन में किसी भी प्रकार के दुष्कृत्य करने से बचना चाहिए। किसी प्रकार का आडंबर नहीं करना चाहिए। आज मनुष्य के पास सब कुछ है, लेकिन चंचल मन को वह स्थिर नहीं रख पाता है। हमे मन को स्थिर रखना सीखना होगा। आचार्य ने कहा कि जो ‘मन को मारेगा वो तो आत्मा को पारेगा’ अर्थात आत्म शुद्धि के लिए मन की शुद्धि आवष्यक है।

श्वेतांबर जैन श्री संघ एवं चातुर्मास समिति ने की क्षमायाचना
इससे पूर्व श्वेतांबर जैन श्री संघ की ओर से अध्यक्ष संजय मेहता ने पूरे संघ की ओर से सभी से क्षमायाचना की। वहीं श्री नवल स्वर्ण जयंती चातुर्मास समिति की ओर से अध्यक्ष कमलेष कोठारी ने चातुर्मास समिति के समस्त पदाधिकारी-सदस्यों की ओर से ‘मिच्छामी दुक्कड़म’ कहा। पारणे के लाभार्थी श्री संघ के वरिष्ठ यषवंत भंडारी ने पारणे करवाने में कोई त्रुटि हुई हो तो उसके लिए क्षमायचना की। इस अवसर पर योगेष जैन बापू ने भी अपने विचार व्यक्त किए। पारणे के लाभार्थी भंडारी परिवार की ओर से निखिल, शार्दुल भंडारी का बहुमान चातुर्मास समिति के वरिष्ठ एवं समाजरत्न सुभाषचन्द्र कोठारी, निलेष लोढ़ा, संतोष रूनवाल, सचिव अषोक रूनवाल, जितेन्द्र जैन आदि ने किया।

भव्य रथ यात्रा की बोलियां बोली गई
इसी क्रम में श्वेतांबर जैन श्री संघ अध्यक्ष संजय मेहता ने 4 सितंबर, बुधवार को तपस्वियों के तप अनुमोदनार्थ निकाली जाने वाली भव्य रथ यात्रा की बोलियां बोली। जिसमें बैंड-बाजों के बाद सबसे आगे भगवान आदिनाथ की प्रतिमा को रथ में लेकर चलने के लाभार्थी चातुर्मास समिति के वरिष्ठ संतोष, सुनिता, मोना, टीना, क्रिष परिवार बने। भगवान का सारथी बनने का लाभ जयेष हस्तीमल संघवी परिवार के साथ भगवान को चंवर ढुलाने के भी लाभार्थी बनें। सभी तपस्वियों को साफा एवं माला पहनाने का लाभ भी संतोष रूनवाल परिवार ने लिया। दोपहर डेढ़ बजे श्रीमती श्वेता भंडारी की भक्तामर महातप की तपस्या निमित्त भंडारी परिवार तथा श्रीमती सुनिता बाबेल एवं श्रीमती अंजु भंडारी की तपस्या निमित्त चैवीसी भरत बाबेल, प्रमोद भंडारी परिवार की ओर से रखी गई। जिसमें बड़ी संख्या में श्री संघ, महिला परिषद्, बहू मंडल, नवकार ग्रुप की श्राविकाएं शामिल हुई।

आज निकलेगी तपस्वियों की चैत्य परिपाटी अनुसार भव्य रथ यात्रा
श्वेतांबर जैन श्री संघ के सह-सचिव रिंकू रूनवाल ने बताया कि 4 सितंबर, बुधवार को सुबह 7.30 बजे से बावन जिनालय में नवकारसी का आयोजन चातुर्मास समिति की ओर से अध्यक्ष कमलेष कोठारी एवं समाज रत्न सुभाष कोठारी द्वारा रखा गया है। पश्चात् 8.30 बजे चैत्य परिपाटी अनुसार तपस्वियों की भव्य रथ यात्रा निकाली जाएगी। जिसमें एक विषेष रथ पर भगवान आदिनाथ की प्रतिमा विराजमान रहने के साथ प्रथम बार सभी तपस्वी एवं समाजजन पैदल चलेंगे। यह रथ यात्रा शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए पुनः मंदिर पर पहुंचेगी। जहां आचार्य नरेन्द्र सूरीजी एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा द्वारा प्रवचन बाद सभी तपस्वियांे का बहुमान लाभार्थी श्रीमती चंद्राकांताबेन कांठी परिवार की ओर से श्वेतांबर जैन श्री संघ एवं श्री नवल स्वर्ण जयंती चातुर्मास समिति द्वारा किया जाएगा। अंत में साधर्मी वात्सल्य का आयोजन होगा।

योग परिवार द्वारा पैलेस गार्डन एवं लक्ष्मीनगर काॅलानी में महिला मंडल ने मनाया ऋषि पंचमी पर्व, 
सामूहिक उद्यापन के साथ समूह में पढ़ी ़ऋषि व्रत की कथा
jhabua news
झाबुआ। योग परिवार की महिलाओं द्वारा स्थानीय पैलेस गार्डन एवं लक्ष्मीनगर काॅलोनी में काॅलोनी की महिलाओं द्वारा 3 सितंबर, मंगलवार को ऋषि पंचमी पर्व मनाया गया। पैलेस गार्डन पर सामूहिक उद्यापन कार्यक्रम के बाद सभी महिलाओं ने भोजन प्रसादी भी ग्रहण की। पैलेस गार्डन पर ऋषि पंचमी पर्व पर सामूहिक उद्यापन कार्यक्रम में योग परिवार की महिलाओं में सुश्री रूक्मणी वर्मा, मधु जोषी, माया पंवार, कृष्णा शेखावत, हंसा शुक्ला, शषि त्रिवेदी, सुनिता गेहलोत, शोभा पंड्या, पुष्पा जोषी, लीना पटेल आदि शामिल हुई। यहां उद्यापन की विधि आचार्य पं. जैमिनी शुक्ला, निखिल त्रिवेदी एवं नंदकिषोर शर्मा ने संपन्न करवाई। यहां उक्त कार्यक्रम करीब 2 घंटे तक चला। बाद उद्यापन की पूर्णाहूति पर सभी ने भोजन प्रसादी का लाभ लिया।

लक्ष्मीनगर में भी मनाया ऋषि पंचमी पर्व
इसी प्रकार लक्ष्मीनगर काॅलोनी में लक्ष्मीनगर काॅलोनी महिला मंडल की अध्यक्ष श्रीमती मोहिनी पालिवाल, सचिव कौषल्य महोदिया के साथ निर्मला व्यास, सुरूचि शाह, गायत्री सोलंकी, उर्मिला पालिवाल, लक्ष्मी पालिवाल, भारती राठौर, सीमा चैहान, कल्पना परमार, मंजुला चैहान, कौषल्या राठौर, कु. दीया परमार, कविता चैहान, कौषल्या महोदिया, प्रियंका राठौर, विनीता राठौर, निषा शर्मा, सरस्वती राठौर आदि द्वारा ऋषि पंचमी पर पूजन-पाठ आदि किया गया।

क्या है पर्व का महत्व एवं इस दिन क्या होता है ?
ऋषि पंचमी पर्व के बारे में योग परिवार की सुश्री रूक्मणी वर्मा एवं श्रीमती मधु जोषी ने बताया कि इस दिन महिलाएं प्रातःकाल उठकर 108 बार दातून से मंजन कर नदी, तालाबों के किनारे स्नान कर संज-संवरकर ऋ़षि पंचमी की पूजन करते है। इसमें सुहागिन महिलाओं द्वारा अपने घरों पर सप्त ़़ऋषि का पूजन किया जाता है। स्त्री जब रजसला से मुक्त हो जाती है, तब सप्त ़ऋषि की पूजा के साथ सामूहिक उद्यापन भी इस दिन किया जाता है। पूजन बाद समूह में सप्त ऋषि कथा पढ़कर इस दिन व्रत रखकर मोरधन ग्रहण किा जाता है। साथ ही यथा शक्ति ब्राम्हणों को दान पुण्य कर भोजन भी करवाया जाता है। यह पर्व अरूंधती माता से शुरू हुआ, जो प्रतिवर्ष मनाया जाता है।

गणेष पुराण का श्रवण मात्र ही पापो का क्षय करता है- आचार्य जैमिनी शुक्ला
’मन तडफत हरि दर्षन को आज ’ जेसे शास्त्रीय भजनों पर झुम उठे श्रोताप्रथम दिन भजन संध्या एवं गणेष पुराण का आयोजन हुआ ैै
झाबुआ । किसी भी पूजा-अर्चना या शुभ कार्य को सम्पन्न कराने से पूर्व गणेश जी की आराधना की जाती है। गणेश पुराण अति पूजनीय है। इसके पठन-पाठन से सब कार्य सफल हो जाते हैं। इस खंड में ऐसी कथाएं सूत जी ने सुनाई हैं जिससे हमेशा सब जगह मंगल ही होगा। सूत जी ने सबसे पहली कथा द्वारा बताया है कि किस प्रकार प्रजाओं की सृष्टि हुई और सर्वश्रेष्ठ देव भगवान् गणेश का आविर्भाव किस प्रकार हुआ। आगे सूत जी ने शिव के अनेक रूपों का वर्णन किया है। वे कैसे सृष्टि की उत्पत्ति, संहार और पालन करते हैं। साथ ही यह भी बताया गया है कि विष्णु का एक वर्ष शिव के एक दिन के बराबर होता है। साथ ही सती की कथा है जिसका विवाह शिवजी से हुआ। दूसरा खण्ड परिचय खण्ड है जिसमें गणेश जन्म कथाओं का परिचय दिया गया है। इसमें अलग-अलग पुराणों के अनुसार कथा कही गई है। जैसे पद्म व लिंग पुराण के अनुसार। और अंत में गणेश की उत्पत्ति की सविस्तार से उत्पत्ति की कथा है। तीसरा खण्ड माता पार्वती खण्ड है। इसमें पार्वती के पर्वतराज हिमालय के घर जन्म की कथा है और शिव से विवाह की कथा। आगे कार्तिकेय के जन्म की कथा है जिसमें तारकासुर के अत्याचार से लेकर कार्तिकेय के जन्म की कथा है। इस खण्ड में वशिष्ठ जी द्वारा सुनाई अरण्यराज की कथा है। चैथा खण्ड युद्ध खण्ड नाम खण्ड है। इसमें आरम्भ में मत्सर नामक असुर के जन्म की कथा है जिसने दैत्य गुरु शुक्राचार्य से शिव पंचाक्षरी मन्त्र की दीक्षा ली। आगे तारक नामक असुर की कथा है। उसने ब्रह्मा की अराधना कर त्रैलोक्य का स्वामित्व प्राप्त किया। साथ में इसमें महोदर व महासुर के आपसी युद्ध की कथा है। लोभासुर व गजानन की कथा भी है जिसमें लोभासुर ने गजानन के मूल महत्त्व को समझा और उनके चरणों की वंदना करने लगा। इसी तरह आगे क्रोधासुर व लम्बोदर की कथा है। आगे फिर कामासुर, विघ्नराज, धूम्रवर्ण की कथा कही गई है। पांचवा खण्ड महादेव पुण्य कथा खण्ड है। इसमें सूत जी ने ऋषियों को कहा, आप कृपा करके गणेश, पार्वती के युगों का परिचय दीजिए। तब आगे इस खण्ड में सत्तयुग, त्रेतायुग व द्वापर युग के बारे में बताया है। जन्मासुर, तारकासुर की कथा से इसका अन्त हुआ है। उक्त सारगर्भित आध्यात्मिक उदबोधन गणेश चतुर्थी के प्रथम दिन श्री सत्यनारायण मंदिर में उपस्थित श्रद्धालुओं को  गणेश पुराण के महत्व को बताते हुए आचार्य जैमीनी शुक्ल ने कहीं । व्यास पीठ से गणेश पुराण का जिक्र करते हुए उन्होने कहा कि भागवत महापुराण के अनुसार भाद्र माह के शुक्लपक्ष की चतुर्थी तिथि को चन्द्रदर्शन को निषिद्ध बताया गया है क्योकि इसके जीवन में व्यापक नकारात्मक प्रभाव आते है। उन्होने कहा कि शास्त्रों में गणेश चतुर्थी को यदि चन्द्रदर्शन हो जाते है तो हर माह की द्वितीया तिथि को चन्द्र दर्शन करने तथा भाद्र माह के शुक्लपक्ष की चतुर्थी का व्रत करने से दोष दुर हो जाते है।

मंदिर में क्लासीकल भजनों को सुन श्रोता झुम उठे
इसके पूर्व सायंकाल 7 बजे से 9 बजे तक श्री सार्वजनिक गणेशोत्सव में नगर की प्रतिष्ठित संगीत संस्था मां शारदा स्वर मंदिर विवेकानंद कालोनी झाबुआ स्थित संगीत क्लास के प्रमुख महेश शर्मा, चन्द्रराज शर्मा, निखील शर्मा, एवंु केयूर द्वारा संगीत मय शास्त्रीय संगीत पर आधारित भजनों की प्रस्तुति दी गई । ’’मधुबन मे राधिका नाचे रे ...’’ मन तरफत हरि दर्शन को आज जैसे भजनों को सुन कर श्रोता गण झुम उठे तथा उनके द्वारा संगीत साधना की मुक्त कंठ से प्रसंशा की गई । श्री महेश शर्मा एवं उनकी संगीत मंडली द्वारा भजनों की प्रस्तुति देकर अपने संगीत कौशल का परिचयन दिया निश्चित ही झाबुआ नगर के लिये ऐसी प्रतिभाऐं गौरव का विषय है। मंडल के अध्यक्ष राजेन्द्र अग्निहौत्री, भागवत शुक्ला, सौभाग्यसिंह चैहान, विजय शर्मा, दिलीप आचार्य आदि ने सफल कार्यक्रम प्रस्तुत करने पर पुरी टीम को बधाई दी ।

आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट द्वारा षिक्षक दिवस पर 6 षिक्षकों का किया जाएगा सम्मान, पैलेस गार्डन पर होगा आयोजन

झाबुआ। आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 5 सितंबर षिक्षक दिवस के अवसर पर षिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वालो शहर एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के 6 षिक्षकों का भावभरा सम्मान किया जाएगा। उक्त सम्मान समारोह स्थानीय पैलेस गार्डन पर 5 सितंबर, गुरूवार को देर शाम 7.30 बजे से आरंभ होगा। यह जानकारी देते हुए आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने बताया कि ट्रस्ट द्वारा शासकीय माध्यमिक विद्यालय अंतरवेलिया के प्रधान अध्यापक पं. राजकुमार देवल, शासकीय प्राथमिक विद्यालय डूंडका के संस्था प्रधान रूपेन्द्र राठौड़, शारदा विद्या मंदिर बिलिडोज झाबुआ के सुदामा खंगेरबम, शासकीय माध्यमिक विद्यालय पिटोल के सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक बालकृष्ण नागर, महाराणा प्रताप माध्यमिक विद्यालय नवागांव के संचालक एवं सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक विक्रमसिंह कुषवाह तथा शासकीय माध्यमिक विद्यालय डूंगराधन्ना के संस्था प्रधान बृजकिषोरसिंह सिकरवार का सम्मान उनके स्कूलों में श्रेष्ठ अध्यापन कार्य एवं षिक्षा के क्षेत्र में उपलब्धियां हासिल करने पर शाल ओढ़ाकर श्रीफल भेंटकर एवं अभिनंदन-पत्र देकर होगा। इस दौरान अतिथि ट्रस्ट के पदाधिकारियों द्वारा अपने विचार भी व्यक्त किए जाएंगे।

समारोह को सफल बनाने की अपील
आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के मेनेजिंग ट्रस्टी यषवंत भंडारी, आजीवन अध्यक्ष श्रीमती वंदना व्यास, संस्थापक सचिव नीरजसिंह राठौर, सेवा प्रकल्प परामर्षदाता सुधीरसिंह कुषवाह, अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर, सचिव सुनिल चैहान, कोषाध्यक्ष पं. द्विजेन्द्र व्यास, वरिष्ठ सदस्यों में अषोक शर्मा, इंदरसेन संघवी, राजकुमार पाटीदार, नटवरलाल सोनी, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, अतिषय देषलहरा, घनष्याम भाटी, महिलाआंे में श्रीमती कुंता सोनी, सुषीला भट्ट, लीना नागर, राजकुमारी देषलहरा, शीला त्रिवेदी, सीमा चैहान, चंचला सोनी आदि ने उक्त समारोह में ट्रस्ट के समस्त पदाधिकारी-सदस्यों से उपस्थित रहकर सफल बनाने की अपील की है।

किसानो के विकास के लिए समन्वित प्रयास करे -कृषि मंत्री श्री यादव
    
jhabua news
झाबुआ । श्री सचिन सुभाष यादव मंत्री म.प्र.षासन कृषक कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने आज झाबुआ जिले के भ्रमण के दौरान सर्किट हाउस झाबुआ के बैठक कक्ष में विभागीय अधिकारियो की बैठक लेकर विभागीय योजनाओ की समीक्षा की एवं आवष्यक निर्देष दिये। बैठक में मंत्री श्री यादव ने जय किसान फसन ऋण माफी योजना, उर्वरक, मत्स्य पालन, पषुपालन, कडकनाथ पालन, कृषि उपकरण प्रदाय योजना इत्यादि की समीक्षा कर किसानो के समन्वित विकास के लिए संबंधित अधिकारियो को निर्देषित किया। बैठक में मंत्री श्री यादव ने कहा कि जय किसान फसल ऋण माफी योेजना मंें षासन द्वारा सभी किसानो का 02 लाख रूपये तक ऋण माफ किया गया है। सभी बैंक मैनेजर को निर्देषित किया जाये कि वसूली के लिए किसानो को परेषान नही करे। बैठक में अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अषोक यादव, पूर्व सासंद श्री कांतिलाल भूरिया, विधायक पेटलावद वालसिंह मेडा, विधायक थांदला वीरसिंह भूरिया, विधायक जोबट कलावती भूरिया, कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, उपसंचालक कृषि श्री रावत, वरिष्ठ महाप्रबंधक सहकारी बैंक श्री यादव, उद्यानिकी अधिकारी विजयसिंह सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।

गौमाता की सेवा करने के लिए प्रदेष में 11 सौ गौषालाए बनाई जा रही है-कृषि मंत्री श्री यादव
प्रथम चरण में 20 लाख से अधिक किसानो का कर्ज माफ किया गयाझाबुआ में आयोजित किसान एवं पंच-सरपंच सम्मेलन कों कृषि मंत्री ने किया सम्बोधित
jhabua news
झाबुआ । जिला मुख्यालय पर आयोजित किसान एवं पंच-सरपंच सम्मेलन में सम्बोधित करते हुए कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री मध्यप्रदेष षासन श्री सचिन सुभाष यादव ने कहा कि हमारे किसान कष्ट के बोझ तले दबने से बच सके इसके लिए सरकार बनते ही सबसे पहले मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी ने अपने वचनपत्र के अनुसार किसानो से किये कर्ज माफी के वादे को पूरा किया। मात्र डेढ घंटे में ही मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने अपने वचन पत्र के अनुसार किसानो से किये कर्ज माफी के वादे को पूरा करने का काम प्रारंभ कर दिया एवं पहला आदेष जारी कर किसानो को राहत दी। सरकार ने अपने सात माह के छोटे से कार्यकाल में ही 100 से अधिक वचनो को पूरा किया है। किसान कर्ज माफी सरकार की वृहद योजना है यह कार्य बडा चुनौतीपूर्ण कार्य था, फिर भी सरकार द्वारा इस योजना में त्वरित गति से कार्यवाही की गई। अभी प्रथम चरण में प्रदेष में 20 लाख से अधिक किसानो का कर्ज माफ किया गया है। झाबुआ जिले के 53 हजार 349 किसानो का 262 करोड रूपये कर्जा माफ किया गया। विधानसभा क्षेत्र झाबुआ के 12 हजार 892 किसानो का 66 करोड 30 लाख कर्ज माफ किया गया। अगले चरण में सरकार ऋण माफी योजना का दायरा बढाने जा रहे है, अभी और किसानो की कर्ज माफी पर काम होना है। ऐसे किसान जिन्होने ग्रामीण बैंक या ऐसी बैंक से कर्ज लिया था, जो योजना में षामिल नही थी, उन बैंको का भी 02 लाख तक का कर्ज सरकार द्वारा माफ किया जाएगा। किसान के बिजली का बिल भी सरकार द्वारा आधा किया गया है।   उन्होने सम्बोधित करते हुए कहा कि गौमाता की सेवा करने के लिए प्रदेष में 11 सौ गौषालाए बनाई जा रही है। झाबुआ विधानसभा में भी तीन गौषालाए बनाई जा रही है। इन गौषालाओ में गायो को रखकर उनकी सेवा की जाएगी। इसके लिए सभी व्यवस्थाए सरकार द्वारा की जाएगी। मुख्यमंत्री बागवानी एवं खाद्य प्रसंस्करण योजना में सरकार द्वारा युवा किसान भाईयो को लाभान्वित किया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रदेष में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में सरकार बनते ही सरकार द्वारा किसान ऋण माफी के साथ ही हर वर्ग के लिए निरंतर जनकल्याणकारी निर्णय लिये जा रहे है। सरकार द्वारा कन्या विवाह के लिए राषि बढाकर 51 हजार  कर दी गयी है। पेंषन की राषि भी 300 से बढाकर 600 रूपये कर दी गयी है। गेहू खरीदी पर किसानो को 260 रूपये प्रति क्विंटल बोनस दिया गया है। राज्य सरकार द्वारा आदिवासियो के विकास के लिए कई जनकल्याणकारी कदम उठाये जा रहे है। मुख्यमंत्री मदद योजना में आदिवासी के घर पर किसी परिजन की मृत्यु होने पर बाहरवा के कार्यक्रम हेतु 1 क्विंटल चावल या गेहू दोनो में से एक दिया जाएगा। यदि बच्चे का जन्म हो तो संस्कार कार्यक्रम के लिए 50 कि.ग्रा तक गेहू या चावल दोनो मे से एक दिया जाएगा। कार्यक्रम के लिए बर्तन भी ग्राम पंचायतो के माध्यम से उपलब्ध करवाये जाएगे। उन्होने कहा कि षासन द्वारा अभी जनता के हित में विद्युत बिल के संबंध में एक और क्रांतिकारी  निर्णय लिया गया है। अब ऐसे उपभोक्ता जो 100 यूनिट तक बिजली जलाते है, उन्हे सिर्फ 100 रूपये  का ही बिजली बिल भरना पडेगा। उपभोक्ता चाहे अमीर हो या गरीब हो। सरकार सभी वर्गो के लोगो को समान भाव से योजनाओ का लाभ दे रही है। आने वाले सालो में एक-एक कर के सभी वचन निभायेगे। इसके लिए सरकार प्रतिबद्व है। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अषोक यादव ने कहा कि किसानो की बैंक संबंधित समस्याओ के समाधान के लिए टोल फ्री नम्बर इसी माह में जारी किये जायेगे। सम्मेलन में पूर्व सांसद श्री कान्तिलाल भूरिया, विधायक थांदला श्री वीरसिंह भूरिया, विधायक जोबट कलावती भूरिया, विधायक पेटलावद श्री वालसिंह मेडा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति षांति डामोर एवं अन्य जनप्रतिनिधियांे ने भी सम्बोधित किया। सम्मेलन में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक विनीत जैन, सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप षर्मा, उपसंचालक कृषि श्री रावत, वरिष्ठ महाप्रबंधक सहकारी बैंक श्री यादव, उद्यानिकी अधिकारी विजयसिंह सहित जनप्रतिनिधि, जिला अधिकारी एव बडी संख्या मे आमजन उपस्थित थे। झाबुआ जिला मुख्यालय पर उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर आयोजित किसान सम्मेलन में झाबुआ की संस्कृति से ओतप्रोत नृत्य के माध्यम से मंत्री श्री यादव का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में उपसंचालक कृषि श्री रावत ने झुलडी पहनाकर तीर कमान देकर एवं प्रतीक चिन्ह गुडिया मंत्री जी को भेंट कर स्वागत किया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण देते हुए कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जिले के विकास में किसानो एवं पंच-सरपंच द्वारा किये जा रहे कार्यो के बारे में बताया।

किसान ऋण माफी योजना के प्रमाण पत्र वितरित
श्री सचिन सुभाष यादव मंत्री म.प्र.षासन कृषक कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने सम्मेलन में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के पात्र किसानो को ऋण माफी योजना के प्रमाण पत्र एवं अन्य योजनाओ के हितग्राहियो को हितलाभ का वितरण किया। कार्यक्रम स्थल पर मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव ने कृषि एवं उद्यानिकी फसल की प्रदर्षनी का अवलोकन भी किया। उन्होने जिले के किसानो द्वारा उत्पादित फल सब्जियो की गुणवत्ता एवं आकार की प्रषंसा की। उन्होने षासन की योजना अंतर्गत प्रदाय किये गये ट्रेक्टर के हितग्राहि किसान को ट्रेक्टर की चाबी सौपकर विकास के लिए कामना की।

 ऊजा विभाग के मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह 04 सितम्बर को जिले के भ्रमण पर
     
झाबुआ । म.प्र.षासन ऊजा विभाग के मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह 04 सितम्बर बुधवार को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह 04 सितम्बर को प्रातः 08ः30 बजे इन्दौर से झाबुआ के लिए प्रस्थान कर प्रातः 11ः30 बजे झाबुआ सर्किट हाउस पर पहुचेगे। तत्पष्चात दोपहर 12ः00 से 02ः00 बजे तक उत्कृष्ट विद्यालय मैदान झाबुआ पर आयोजित जिले के विद्युत उपभोक्ताओ एवं कार्यकर्ताओ के सम्मेलन में सम्मिलित होगे। तत्पष्चात दोपहर 03ः00 बजे झाबुआ सर्किट हाउस पर जिले के विद्युत वितरण कम्पनी अधिकारियो के साथ समीक्षा बैठक लेगे। उसके बाद दोपहर 03ः30 से सायं 04ः30 बजे तक मध्यप्रदेष विद्युत कम्पनी में कार्यरत नियमित, आउटसोर्स, संविदा कर्मचारियो की समस्याओ पर चर्चा करेगे। उसके बाद सांय 05ः00 बजे झाबुआ से इंदौर के लिए प्रस्थान करेगे।

नगरीय विकास एवं आवास विभाग के मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 4 एवं 5 सितम्बर को जिले के भ्रमण पर
     
झाबुआ । म.प्र.षासन नगरीय विकास एवं आवास विभाग के मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 4 एवं 5 सितम्बर को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 04 सितम्बर को सायं 05ः00 बजे अलीराजपुर से झाबुआ के लिए प्रस्थान कर सांय 06ः00 बजे झाबुआ पहुचकर रात्रि विश्राम करेगे। अगले दिन 05 सितम्बर को उत्कृष्ट विद्यालय मैदान झाबुआ पर आयोजित स्थानीय कार्यक्रम में सम्मिलित होगे। तत्पष्चात सायं 05ः00 बजे झाबुआ से भोपाल के लिए प्रस्थान करेगे।

आगामी त्यौहार गणेष चतुर्थी, मोहर्रम, डोल ग्यारस, नवरात्रि, विजयादषमी आदि त्यौहार पर सोषल मीडिया हेतु धारा 144 का आदंेष जारी

झाबुआ । पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा आगामी त्यौहार गणेष चतुर्थी, मोहर्रम, डोल ग्यारस, नवरात्रि, विजयादषमी आदि त्यौहार पर सामाजिक समरसता, आपसी सौहार्द एवं आपसी षांति व्यवस्था बनाये रखने के लिये झाबुआ जिले में सोषल मीडिया जैसे व्हाट्संअप, फेसबुक, ट्विटर आदि के माध्यम से असामाजिक तत्वो के द्वारा सामाजिक तानेबाने दो सामुदायो के मध्य संघर्ष/वैमनस्यता की स्थिति को निर्मित करने हेतु आपत्तिजनक संदेष व चित्रो, वीडियो मैसेज का प्रसारण कर धार्मिक भावनाओ को उभारने एवं साम्प्रदायिक वातावरण निर्मित करने के प्रयास हो सकते है। असामाजिक तत्वो के द्वारा इन सोषल साईटस पर आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट करने व उस पर होने वाले कमेट्स/क्रोस कमेट्स के कारण वैमनस्य का संचार होता है, जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति होने की संभावना बनी रहती है। कोई परिस्थितियो में कानूनी कार्यवाही किये जाने हेतु किसी प्रकार का दण्डिक दायित्व अधिरोपित करने का प्रावधान उपलब्ध होने के कारण इन मानव जीवन व लोक संपत्ति की क्षति की संभावना और लोकषांति भंग होने की प्रबल संभावना बनी रहती है। इस प्रकार असामाजिक गतिविधियो पर अंकुष लगाये जाने की तत्काल आवष्यकता प्रतीत होने से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत जन सामान्य के हित एवं लोक षांति को बनाये रखने    हेतु प्रबल सिपाहा, कलेक्टर एवं जिला दण्डधिकारी झाबुआ ने जिले में मानव जीवन की सुरक्षा, लोकषांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रदत्त अधिकारी का प्रयोग करते हुए संपूर्ण जिला झाबुआ के सीमावर्ती क्षेत्रो में सर्वंसधारण के पालनार्थ प्रतिबंधात्मक आदेष जारी किया हैं। यदि कोई भी व्यक्ति या समूहो के द्वारा सामाजिक तानेवाने, दो समुदायो के मध्य संघर्ष/वैमनस्यता की स्थिति को निर्मित करने हेतु सोषल मीडिया पर जैसे व्हाटसअप, फेसबुक, ट्विटर आदि के माध्यम से आपत्तिजन संदेष व चित्रो वीडियो, आडियो मैसेज पोस्ट एवं प्रकाषित नही करेगा। यह कि सोषल मीडिया पर कोई भी व्यक्ति सामाजिक एवं व्यक्तिगत रूप से आपत्तिजनक व अष्लील संदेषो को प्रकाषित नही करेगा। किसी भी प्रकार के आपत्तिजनक दवेषपूर्ण अथवा धार्मिक भावनाओ को भडकाने वाले संदेष एवं चित्र, आडियो/विडियो कमेंट आदि पर प्रतिबंध होगा जो आतंकवाद, जातिवाद, साम्प्रदायिकता से संबंधित होगा। ऐसे चित्र, आडियो/विडियो कमेट जो महिला एवं अल्पसंख्यक वर्ग या समुदाय जाति विषेष के विरूद्व प्रतिकुल टिप्पणी करते हो। यह आदेष जन सामान्य से संबंधित है एवं परिस्थितिवष इतना समय उपलब्ध नही है कि जन सामान्य या समूह को इस संबंध में सूचना दी जाकर सुनवाई की जा सके। अतः दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत यह आदेष एक पक्षीय पारित किया जा रहा है। कोई भी हितबद्व दण्ड प्रक्रिया सहिता की धारा 144 के अंतर्गत इस आदेष के विरूद्व अपनी आपति या आवेदन इस न्यायालय में प्रस्तुत कर सकता है। इस आदेष का निर्वहन सामान्य जन एवं संबंधितो को व्यक्तिषः कराया जाना संभव नही है। इस आदेष का उल्लंघन भारतीय दण्ड संहिता 1880 की धारा 188 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध होगा। यह आदेष 02 सितम्बर 2019 को जारी होकर दिनाक 31 अक्टूम्बर 2019 तक प्रभावषाील रहेगा।

शासकीय पाॅलेटेक्निक कालेज झाबुआ में ईवीएम की एफएलसी का कार्य 04 सितम्बर 2019 को प्रातः 10ः00 बजे से बीईएल के इंजिनियर्स द्वारा कार्य समाप्ति तक प्रतिदिन किया जावेगा

झाबुआ । आगामी विधानसभा क्षेत्र 193-झाबुआ में होने वाले उप चुनाव को दृष्टिगत रखते हुये जिला झाबुआ की विगत निर्वाचन की रिजर्व ईवीएम मशीने कार्यालय जिला पंचायत के स्ट्रांग रूम एवं दिनंाक 03.09.2019 को जिला धार से प्राप्त ईवीएम मशीनों को शासकीय पाॅलेटेक्निक कालेज झाबुआ के कक्ष क्रं. एफ-25 में सुरक्षित स्थित स्ट्राॅग रूम में रखी गई है। शासकीय पाॅलेटेक्निक कालेज झाबुआ में ईवीएम की एफएलसीका कार्य दिनंाक 04.09.2019 को प्रातः 10ः00 बजे से बीईएल के इंजिनियर्स द्वारा कार्य समाप्ति तक प्रतिदिन किया जावेगा।

सातवी आर्थिक गणना अगस्त/सितम्बर 2019 और नवंबर/दिसंबर 2019 के दौरान आयोजित की जाएगी
     
झाबुआ । भारत सरकार सांख्यिकी कार्यक्रम मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा जारी निर्देषो के अनुसार सातवी आर्थिक गणना अगस्त/सितम्बर 2019 और नवंबर/दिसंबर 2019 के दौरान आयोजित की जाएगी। जिले की भौगोलिक सीमा के भीतर आर्थिक गतिविधियो से संबंधित जानकारी निर्धारित प्रारूप में मोबाईल एप्लिकेषन की मदद से घर-घर जाकर सर्वे के माध्यम से नागरिक सुविधा केन्द्रो (बेब) द्वारा नियुक्त किए गए प्रगणको/पर्यवेक्षको द्वारा एकत्रित/सत्यापित की जाएगी। इसलिए नागरिको से अनुरोध है कि वे उन्हे सही जानकारी प्रदान करे। आर्थिक गणना से एकत्र की गई जानकारी जिले में उदयमो की वास्तविक आर्थिक स्थिति प्राप्त करने में मदद करेगी। एकत्र की गई आर्थिक गतिविधियो में लगे लोगो के जीवन स्तर को सुधारने के लिए नीति निर्माण में बहुत सहायक होगी, और रोजगार के अवसर पैदा करने में भी मदद करेगी। आपके द्वारा प्रदाय की गई जानकारी को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा। इस संबंध में आप आष्वस्त रहे। झाबुआ के सभी नागरिको से कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अपील की है, कि आप सातवी आर्थिक गणना 2019 के लिए नियुक्त किए गए प्रगणको और सुपरवाईजरो को अपना सहयोग और समर्थन देवे और सही जानकारी प्रदान करे ताकि जिले में आर्थिक गणना का कार्य निर्धारित समय सीमा और गुणवता के साथ पूरा किया जा सके।

राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा सितम्बर माह टैग लाईन हर घर पोषण का त्यौहार्
    
झाबुआ । प्रदेश में इस वर्ष भी सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा। एक से 30 सितम्बर तक मनाये जाने वाले पोषण माह की टैग लाईन हर घर पोषण का त्यौहार रखी गयी है। पूरे माह राज्य, जिला, विकासखण्ड और आँगनवाड़ी स्तर पर पोषण जागरूकता एवं इसे जन-आंदोलन का रूप देने के लिये विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। राष्ट्रीय पोषण माह का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य एवं पोषण आवश्यकता के प्रति जागरूकता, गर्भावस्था जाँच और पोषण देखभाल, शीघ्र स्तनपान व्यवहार, सही समय पर ऊपरी आहार और निरन्तरता आदि पर समुदाय को जागरूक करना है। एनीमिया या शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिये आयरन सेवन एवं खाद्य विविधता संबंधित उपायों तथा पाँच वर्ष तक के बच्चों की शारीरिक वृद्धि निगरानी, किशोरी-शिक्षा, पोषण शिक्षा का अधिकार, सही उम्र में विवाह, सफाई और स्वच्छता की गतिविधियों के माध्यम से पोषण विषय को जन-आन्दोलन का रूप देना है। पोषण माह के सफल आयोजन में महिला-बाल विकास विभाग के साथ-साथ नगरीय प्रशासन एवं विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्कूल शिक्षा, खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, उच्च शिक्षा, दूरदर्शन एवं रेडियो, आकाशवाणी तथा डेव्हलपमेंट पार्टनर्स आदि सहभागी होंगे। पोषण माह में होने वाली सभी गतिविधियों की जानकारी केन्द्र सरकार के पोर्टल पर अपडेट की जाएगी तथा वेबसाइट के माध्यम से इसकी रोजाना समीक्षा भी होगी।

किसानो की मिट्टी परीक्षण का कार्य 30 सितम्बर तक करना सुनिष्चित करे-कृषि मंत्री श्री यादव
     
झाबुआ । श्री सचिन सुभाष यादव मंत्री म.प्र.षासन कृषक कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने आज झाबुआ जिले के भ्रमण के दौरान षगुन गार्डन झाबुआ में आयोजित कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के मैदानी अमले के सम्मेलन में सम्बोधित करतें हुए कहा कि किसानो के खेतो की मिट्टी का नमूना लेकर परीक्षण का कार्य 30 सितम्बर तक करना सुनिष्चित करे। किसानो के मिट्टी के हेल्थ कार्ड के अनुसार उर्वरको का उपयोग करने के लिए सलाह दे। किसान अपना विकास कर पाए उसके लिए उन्हे बहुआयामी खेती, पषुपालन, मुर्गी पालन, मत्स्य पालन, डेयरी व्यवसाय अपनाने के लिए प्रेरित करे। सम्मेलन में अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अषोक यादव, पूर्व सासंद श्री कांतिलाल भूरिया, विधायक थांदला वीरसिंह भूरिया, उपसंचालक कृषि श्री रावत, वरिष्ठ महाप्रबंधक सहकारी बैंक श्री यादव, उद्यानिकी अधिकारी विजयसिंह सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे। केन्द्रीय सहकारी बैंक झाबुआ के जिला कार्यालय में बैंक के अधिकारियो/कर्मचारियो द्वारा स्वागत किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...