झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 10 सितंबर 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितंबर

तेजादशमी का पर्व धुमधाम से मना तोडी ताॅंतीयाॅ

jhabua news
पारा । नगर के तेजाजी महाराज मंदिर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी तेजादशमी का पर्व हर्षोल्लास से भक्तों व मन्नतधारियों ने मनाया गया। पर्व एक दिन पुर्व नवमी की रात्रि में भजन कीर्तन कर जागरण किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार सत्यविर तेजाजी महाराज कि दशम के दिन सुबह पूजा अर्चना के बाद मंदिर से शोभायात्रा तेजाजी महाराज के चित्र छत्री व ध्वजा को गाजे बाजे के साथ पुरे नगर में निकाली। शोभायात्रा नगर मे भ्रमणकर मंदिर पहुंची जहां पर आरती कि गई। बाद मे पूरे वर्षभर से   जीव जन्तुओ के दंश से पिडीत आदमी अथवा पशु को तेजाजी महाराज के नाम से तांती बांधी गई थी उन तांतीयो को तेजाजी के अंश स्वरूप पण्डा पूना भाई छडावद वाले द्वारा निवारण कर छुड़ाया गया। यह क्रम अनवरत शाम करीब 6 बजे तक चलता रहा जिसमे करिब 40 से भी ज्यादा तातियो को छुड़ाया गया। साथ ही मंदिर पर दिन भर दर्शनार्थीयो का तांता लगा रहा। सभी श्रद्धालुओ ने मदिर पर धुप दिप अगरबती कर श्रीफल का प्रसाद तेजाजी महाराज को चढाया व धर्म लाभ लिया व विषेले जंतुओ से रक्षा करने कि प्रार्थना कि।  इस अवसर पर समिति के सदस्यं राजमल राठौड़, मन्नालाल राठौड़,रतन प्रजापत,भगीरथ कहार,लाभचंद मिस्त्री,सतीश अजनार,राजू भाई, राकेश भाई सहित अन्य समिति के सदस्यों का विशेष योगदान रहा। साथ ही समिपस्थ ग्राम नवापाडा व रातिमाली के भी तेजाजी मदिर  से विशाल जुलुस नगर के प्रमुख मार्गो से निकाला व भजन पुजन के साथ भण्डारे का अयोजन किया गया।

बालक हायर सेकैन्ड्री स्कुल पारा के लिए प्रथक भवन मांग की आदिमजाती कल्याण मंत्री मरकाम को दिया ज्ञापन

jhabua news
पारा । गत दिवस झाबुआ जिला मुख्यालय पर पधारे आदिमजाती कल्याण मंत्री से पारा नगर के युवा सामाजिक कार्यकर्ता राकेश कटारा ने नगर वासियो कि ओर ज्ञापन देकर बालक हायर सेक्ेन्ड्री स्कुल के लिए प्रथक भवन सहीत क्षेत्र के अन्य स्कुलो व छात्रावास कि समास्याओ को दुर करने कि मांग की ।  विगत दिवस झाबुआ जिले के भ्रमण पर पधारे आदिमजाती कल्याणमंत्री ओमकार सिह मरकाम को पारा नगर के सामाजिक कार्यकर्ता राकेश कटारा ने नगर सहीत आसपास के स्कुल व छात्रावास कि समस्याओ को दुर करने के लिए ज्ञापन देते हुवे बताया कि रामा ब्लाक  के पारा नगर के बालक हायर सेकेन्ड्री स्कुल का  काई भवन आजतक नही हे। वर्तमान मे जिस भवन मे हायर सेकेन्ड्री स्कुल संचालीत हे वह भवन मिडिल स्कुल पारा के नाम से सन 1964 बना था। करिब 55 वर्ष पुराने इस भवन मे मिडिल सहीत हाई स्कुल व हायर सेकेन्ड्री स्कुल कि संस्था संचालीत है। लगभग राईटआॅफ हो चुके इस भवन मे करिब 900 से भी ज्यादा कि संख्या मे छात्र अध्ययनरत है। बावजुद इसके प्रशासन व सरकार का इस ओर घ्यान नही है। युवा समाजसेवी राकेश कटारा ने प्रथक से नवीन भवन बनान कि मांग करते हुए शासन को इस ओर ध्यान देने का ज्ञापन दिया हे। साथ ही श्री कटारा ने पारा नगर के बालक व बालिका छात्रावास जोकि जिर्णशिर्ण हो चुके हेके लिए भी नवीन भवन बनाने कि मांग कि। जिससे के दुर दराज के ग्रामीण क्षेत्र से पढने आने वाले बच्चो को प्रर्याप्त सुविधा मिल सके। मंत्री मरकाम ने भी शिघ्र ही इसको बनवाने का आश्वाश्न दिया। इस अवसर पर श्री कटारा के साथ एनएसयुआई के जिला अध्यक्ष विनय भाबोर सुरेस पचाया अनिल सौलंकी, धर्मेद्र सहीत कई कांगे्रस के कार्यकर्ता व गणमान्य नगारिक उपस्थित थै।

बर्तन बांटने के नाम पर आदिवासियो को भ्रष्टाचार कर छला गया सांसद डामोर ने प्रेसवार्ता कर लगाये आरोप

jhabua news
झाबुआ। प्रदेश में आदिवासियो के साथ कांग्रेस सरकार एंव प्रशासन ने धोकाधडी की है। जिले के प्रभारी मंत्री ने वादा किया था कि जिले के सभी समुहो को 25 हजार के बर्तन शासकिय स्तर पर दिये जायेगे।  किन्तु 7 सितम्बर को प्रदेश के अजाक मंत्री ओमकांर सिंह मरकाम ने सिर्फ विधानसभा क्षेत्र झाबुआ में ही जो बर्तन बांटे है उसमें व्यापक भ्रष्टाचार की बु आ रही है। मंत्रिजी द्वारा बांटे गये बर्तनो की अनुमानित बाजार मुल्य के मान से बर्तन 8650 रूपये से अधिक के नही माने जा सकते है। परिवहन आदि व्यय जोड भी लिया जाये तो 10 हजार से अधिक के बर्तन प्रदाय नही हुआ है। 20 किलो ग्राम वजन ने तीन एल्युमिनियम के तपले जिसका वजन 20 किलोग्राम का बाजार मुल्य 4 हजार रूपये होता हैं। स्टील के तीन धामो की किमत लगभग 2 हजार रूपये है तीन चम्मच लगभग 450 रूपये है। स्टील के दो बडे चम्मच 500 रूपये से अधिक के नही, झारो की किमत तथा दो बाल्टियो की किमत 750 रूपये के लगभग होती है। इस प्रकार 25 हजार के अनुपात में बांटे जाने वाले बर्तनो की किमत 10 हजार रूपये से अधिक सभी खर्चो को जोडकर भी नही होती है। इस प्रकार इसमें व्यापक गडबडी नही हुई होगी इस संभावना से इंकार नही किया जा सकता है। आश्चर्यजनक तो यह है कि पुरे जिले की बजाय झाबुआ विधानसभा क्षेत्र. में ही उपचुनाव को देखते हुये बांटे गये है। थांदला एवं पेटलावद  विधानसभा क्षेत्र में एक भी बर्तन नही बंटा है। सभी समुहो को बांटे जाने की बात की जा रही है जबकि एक एक गांव में पाॅच से दस समुह काम कर रहे है। मंत्रिजी के इस कार्यक्रम में पार्टी विशेष के लोगो को ही लेकर ही बर्तनो का वितरण हुआ है। इसमें जिन समुहो के नाम से बर्तन बांटे गये है उनका सत्यापन भी नही किया गया है। बर्तनो का वितरण ग्राम पंचायतो को होना चाहिये था किन्तु कांग्रेस की सरकार ने बर्तन बांटने में छल कपट किया है। उक्त आरोप रतलाम झाबुआ आलिराजपुर के सांसद गुमानसिंह डामोर ने  सोमवार को एक निजी होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में लगाये।
संासद डामोर ने कहा कि अभी तक जिले में 7 मंत्री आ चुके है किन्तु जिले में बिजली की समस्या का निवारण नही हुआ है। भारी भरकम बिल गा्रमीणो को मिल रहे है। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में किसानो का कर्ज माफी एवं बिजली का बिल हाफ करने का वादा किया था किन्तु आज भी मजदुर किसान एवं गरीब वर्ग के लोगो को औसत बिल 2000 से 5000 रूपये तक आ रहे है। सांसद डामोर ने सरकार को संचेत करते हुये कहा कि झाबुआ जिले में यदि एक भी किसान का 2 लाॅख का कर्जा माफ हुआ हो तो बताये। सिर्फ सरकार गुमराह कर झुठ बोलकर आदिवासियो को उलझा रही है। मजदुरो को मनरेगा का आजतक भुगतान नही हुआ है ओर पिछले पाॅच से छ माह का भुगतान बाकी है। उन्होने कहा कि आदिवासी उपयोजना 275(1) कार्य स्वीकृत कर सरकार ने राशि जनपदो को दे दी है। किन्तु आज छः माह होने के बाद भी पंचायतो को इसका वितरण नही हुआ है। कांग्रेस सरकार दलाल ऐसे किसानो से मिल रहे है ओर लेनदेन करके जनपदो से पैसा दिलवाने का काम कर रहे है। श्री डामोर ने कहा कि आज प्रदेश में सडको की हालत 2003 जैसी स्थिति में आ चुकी है। सभी दुर सडके गड्ढो में तब्दिल हो रही है। सरकार तेज बारिश का बहाना बना रही है। जबकि भाजपा शासन में भी बारिश होती थी ओर सडको का मंेटेनेंन्स नियमित होता था। प्रदेश सरकार की विफलता का जिक्र करते हुये उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जो प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी है की सरकार के अंद ही अंतर्कलह बंदरबाट को लेकर हो रहा है। जनता के दुख दर्द पर सरकार एवं मंत्रियो का ध्यान नही है। मंत्री स्वयं ही एक दुसरे पर आलोचना करने में लगे हुये है। एक एक्साईज का आफिसर का जिक्र करते हुये कहा कि उनके वायरल आॅडियो के अनुसार मंत्री को लाखो का नजराना देना पडता है। उन्होने कहा कि किसानो का 2 लाख का कर्जा माफ होना तो दुर ब्याज के वसुली के नोटिस किसानो को आ रहे है। भाजपा सरकार शुन्य प्रतिशत ब्याज पर किसानो को कर्ज देती थी। भाजपा सरकार के अच्छे कार्यो को भी धीरे धीरे कांगे्रस सरकार नष्ट कर रही है। सांसद डामोर ने प्रधानमंत्री के 100 दिवस की कार्यकाल की उपलब्धियो का जीक्र करते हुये कहा कि इस कार्यकाल में तीन तलाक जैसा बिल पारित होना, जम्मू कश्मीर से धारा 370 एवं अनुच्छेद 35 ए हटाना, पुरे देश में कानून व्यवस्था चाक चैबंद हो गई है सीमाये सुरक्षित है तथा भारत में अंतरिक्ष में कदम रख दिया है। उन्होने कहा कि जम्मू कश्मीर से 370 हटाना एक जिम्मेदारी वाला चुनौतिपूर्ण कार्य था उसे प्रधानमंत्री ने कर दिखाया है। उन्होने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पुरे संसदीय क्षेत्र. की ओर से बधाई देते हुये कहा कि अब वास्तविक रूप में कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक हो चुका है। पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया द्वारा ईवीएम को लेकर जो याचिका दायर की गई है उस पर भी उन्होने अपने विचार व्यक्त किये। कांग्रेस वालो द्वारा उन्हे नंदी के रूप  संबोधित करने पर कहा कि नंदी तो भगवान शीव का वाहन है ओर इसे शुभ माना जाता है। किन्तु ऐसे लोगे को गधो को लेकर घुम रहे है जिनमे सामने कोई नही झुकता है। जम्मू कश्मीर ओर लद्दाख के विभाजन के बारे में भी उन्होने कहा कि इससे समस्याओ के समाधान में मदद मिलेगी। श्री डामोर ने जयस को लेकर भी अपने विचार व्यक्त किये तथा इसका गठन जिस सामाजिक उद्देश्य को लेकर आदिवासी समाज को मजबूत करने को लेकर हुआ था शिक्षा का स्तर बढाने को हुआ था। उसे हिरालाल अलावा जैसे लोगेा के कारण प्राप्त नही हो पा रहा है। श्री डामोर ने 11 सितम्बर को जिला स्तर पर प्रदेशव्यापी घंटानाद आंदोलन के आयोजन की जानकारी देते हुये कहा कि कंुम्भकर्णी निंद में सोई कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को जगाने के लिये जिले भर से भाजपा कार्यकर्ता शंख, घडी घंटाल, थाली आदि लेकर बजाते हुये रैली के रूप में कलेक्टर कार्यालय का घैराव करेंगे। ओर शासन प्रशासन को निंद से जगाएगे। श्री डामोर ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने स्थानंातरणो को उद्योग बना दिया है तथा जिले भर में 3 हजार से शिक्षको के पद रिक्त हो गये है तो कई स्कुलो में एक्सेस भी हो  गये है। प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही बची हुई है। कांग्रेस के लोगे अधिकारियो को धमकाकर वेद अवैध सभी काम करवा रहे है। कांग्रेस के लोगो का किसी भी जनता से सीधा संपर्क नही रहा है। 7 सितम्बर को आयोजित सरकारी कार्यक्रम में कांग्रेस के लिये वोट मांगे गये है। जिसे झाबुआ विधानसभा का हर मतदाता जान चुका है। कांग्रेस में चोर चोर मुसेरे भाई है ओर आदिवासियो के साथ धोखा कर रहे है। श्री डामोर ने बांटे गये बर्तनो को प्रेस को भी बताया। इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने स्वागत भाषण दिया। प्रेस वार्ता में महामंत्री श्यामा ताहेड, कल्याणसिंह डामोर, बबलू सकलेचा, सहित बडी संख्या में भाजपा पदाधिकारी उपस्थित थे।

राज्य स्तरीय षिक्षक समारोह में शासकीय माध्यमिक विद्यालय तलावली के जितेन्द्रसिंह सोलंकी हुआ भावभरा सम्मान, प्रदेष के महामहिम राज्यपाल लालजी टंडन से की भंेंट

jhabua news
झाबुआ। मप्र की राजधानी भोपाल में षिक्षक दिवस के उपलक्ष में 6 सितंबर को राज्य स्तरीय षिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन हुआ। जिसमें प्रदेष के कुल 40 षिक्षकों में से झाबुआ जिले से एक मात्र शासकीय माध्यमिक विद्यालय तलावली के षिक्षक जितेन्द्रसिंह सोलंकी का भी भावभरा सम्मान हुआ। श्री सोलंकी को यह सम्मान मप्र शासन के षिक्षा मंत्री डाॅ. प्रभुराम चैधरी एवं सामान्य प्रषासक मंत्री गोविन्दसिंह ने प्रदान किया। अतिथियों द्वारा उन्हें शाल ओढ़ाकर श्रीफल भेंटकर एवं अभिनंदन-पत्र प्रदान किया। साथ ही श्री सोलंकी को सम्मान निधि भी प्रदान की गई। इस अवसर पर समारोह में विषेष रूप से षिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती रष्मि शर्मा, लोक षिक्षण आयुक्त श्रीमती जयश्री कियावत एवं लोक षिक्षण संचालक गौतमसिंह आदि भी विषेष रूप से उपस्थित थे।

महामहिम राज्यपाल के साथ टी का उठाया लुत्फ
ज्ञातव्य रहे है कि राज्य स्तरीय समारोह में मप्र के महामहिम राज्यपाल लालजी टंडन को भी मुख्य अतिथि में रूप में षिरकत करना था, लेकिन स्वास्थ्य कारणों से वे समारोह में सम्मिलित नहीं हो सके। सम्मानित षिक्षकों को राज्यपाल श्री टंडन द्वारा राज भवन में चाय हेतु आमंत्रित किया गया। जहां अन्य षिक्षकों के साथ जितेन्द्रसिंह सोलंकी ने भी पहुंचकर महामहिम के साथ चाय का लुत्फ उठाया। साथ ही उनके साथ ली तस्वीरे भी सोष्यल मीडिया पर साझा की। श्री सोलंकी की इस उपलब्धि पर उन्हें शासकीय माध्यमिक विद्यालय तलावली के समस्त षिक्षक-षिक्षिकाओं, स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओं सहित ईष्ट मित्रों ने शुभकामनाएं प्रेषित की है।

नृत्य में प्रतियोगियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्षन कर लोहा मनवाया, सार्वजनिक गणेष मंडल द्वारा सातवे दिन पैलेस गार्डन पर किया ‘डांस झाबुआ डांस’ का आयोजन

jhabua news
झाबुआ। शहर के पैलेस गार्डन पर सार्वजनिक गणेष मंडल द्वारा गणेषोत्सव पर्व के 7वें दिन, 8 सितंबर, रविवार रात्रि में ‘डांस झाबुआ डांस’ का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में जिला जेल के जेलर राजेष विष्वकर्मा उपस्थित थे। प्रतियोगिता में जूनियर एवं सीनियर वर्ग के प्रतिभाागियों ने नृत्य में अपना जलवा बिखेरा। प्रतियोगिता दो वर्ग कक्षा तीसरी से आठवीं तक जूनियर एवं कक्षा 9वीं से ऊपर तक सीनियर वर्ग में रखी गई। निर्णायक के रूप में चेतन विष्वकर्मा, मुकेष बंुदेला एवं श्रीमती सोनाली जोषी उपस्थित थी। कार्यक्रम का विधिवत प्रारंभ सार्वजनिक गणेष मंडल के जितेन्द्रप्रसाद अग्निहोत्री, नानालाल कोठारी, लालसिंह चैहान एवं नीरजसिंह राठौर ने किया। वहीं विजेताओं को पुरस्कार वितरण बाबुभाई अग्निहोत्री, मनीष व्यास, धर्मेन्द्र मालवीय ‘बाबा’, जितेन्द्र शाह, पं. जैमिनी शुक्ला, बहादुर भाटी, मनोज कोठारी आदि ने किया। प्रतियोगिता का संचालन रविराजसिंह राठौर ने किया एवं आभार सुनिल चैहान ने माना।

यह रहे विजेता
प्रतियोगिता में जूनियर वर्ग में प्रथम दर्षनी नायडू, द्वितीय मुस्कान पंवार एवं कनिष्का, तृतीय प्राची पंवार को नगद पुरस्कार एवं शील्ड तथा चतुर्थ आकांक्षा विष्वकर्मा एवं पांचवा पुरस्कार स्वरा कानूनगो को प्रमाण-पत्र एवं शील्ड प्रदान की गई। इसी प्रकार सीनियर वर्ग मंे प्रथम दुर्वा जोषी, द्वितीय शैलेष डामोर एवं तृतीय युक्ति व्यास को नगद एवं षील्ड तथा तथा चैथा पुरस्कार महावीर परमार को प्रमाण-पत्र, पेन एवं शील्ड अतिथियों द्वारा भेंट की गई।

गुरू के बिना जीवन का सार समझना ना-मुमकिन -ः पं. अनुपानंदजी महाराज

jhabua news
जिस व्यक्ति को गुरू चरणों की सेवा का अवसर मिला, वह परम् सौभाग्य शाली होता है -ः भगवताचार्य पं. अनुपानंदजी
झाबुआ। गुरू की महत्वता हमारे जीवन में अनुपम है, क्योंकि गुरू के बिना हम जीवन का सार ही नहीं समझ सकते हैं, लेकिन हमेशा इस बात का सदैव ही ध्यान रखना चाहिए कि गुरू के समक्ष चंचलता नहीं करनी चाहिए और सदा ही अल्पवासी होना चाहिए। जितनी आवश्यकता है, उतना ही बोले और जितना अधिक हो सके, गुरू की वाणी का श्रवण करें। यह बात श्री पद्म वंषीय मेवाडा राठौर तेली समाज द्वारा स्थानीय श्री नवग्रह षनि मंदिर के पीछे स्थित राठौर धर्मषाला में चल रही संगीतमय भागवत कथा के दूसरे दिन 9 सितंबर, सोमवार को कानपुर (उप्र) से पधारे भागवताचार्य पं. अनुपानंदजी महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि गुरू चरणों की सेवा का अवसर मिलना परम् सौभाग्य होता है, जो अनमोल है। गुरू की महिमा अपार है और उनकी करूणा अद्भूत है, कब किस पर अनुग्रह हो जाएं। उन्होंने धार्मिक ग्रंथो में वर्णित अवतारों के बारे में बताया कि कहीं पर चैवीस तो कहीं पर दसावतार की कथा बताई जाती है, लेकिन अवतारों की संख्या की गणना संभव नहीं है, क्योंकि जितने भक्त होते हैं उतने ही अवतार होते हैं। प्रभु के अवतार प्रयोजन पर कहा कि भगवान किसी राक्षस, दानव और अधर्मी का वध करने के लिए ही अवतरित नहीं होते हैं, बल्कि अपने भक्तजनों पर कृपा बरसाने के लिए आते हैं।

संतजन अनंत तक देखने की दृष्टि रखते है
रावण और कंस को मारने के लिए भगवान को अवतार लेने की जरूरत पड़ी। उन्होंने कहा कि घर द्वार छोड़कर वन में चले जाने से ही वैराग्य नहीं होता बल्कि अपने अंतःकरण की शुद्धता इसमें नितांत आवश्यक है। हमारे जीवन में विचारों का आदान प्रदान रोम-रोम से होता है, इसके लिए सिर्फ नाक, कान और आखें ही नहीं होती हैं। संत महात्मा की दृष्टि को दिव्य बताते हुए कहा कि हम उतना ही देख सकते है, जितनी दूर तक हमारी दृष्टि जाती है, लेकिन संतजन अनंत तक देखने की दृष्टि रखते हैं।

लाभ है तो हानि भी निष्चित है
भगवताचार्यजी ने आगे कहा कि संतो का सत्संग करने में यह नहीं सोचना चाहिए कि हमें कोई बीमारी नहीं आएगी, हमारा परिवार खुशहाल रहेगा या फिर हमारा व्यापार अच्छा चल जाएगा, यह तो प्रारब्ध होता है, जो इस दुनिया में आया है उसे एक दिन जाना ही है। जब लाभ होता है तो हानि भी निश्चित होती है। सत्संग तो जीवन की धारा बदल देता है, जिसमें ज्ञान और भक्ति की धारा में बहने लगते हैं। कई बार लोग सत्संग तो करते हैं लेकिन उसका मूल नहीं समझ पाते, जिससे जीवन पर्यंत सत्संग करने के बाद भी अंत में उनको कुछ भी हासिल नहीं हो पाता है। इसके साथ ही पं. अनुपानंदजी महाराज द्वारा कन्यादान महादान के साथ 9 सितंबर को ग्यारस होने से एकादषी के महत्व पर भी प्रकाष डाला। कथा में बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण मौजूद थे।

जनसम्पर्क मंत्री श्री पीसी षर्मा 10 एवं 11 सितम्बर को झाबुआ जिला के भ्रमण पर रहेगे 
       
झाबुआ । श्री सीपी षर्मा मंत्री विधि विधायी, जनसम्पर्क, विमानन, आध्यात्म, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विभाग मध्यप्रदेष षासन 10 एवं 11 सितम्बर को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेंगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्री पीसी षर्मा 10 सितम्बर को प्रातः 11ः00 बजे भोपाल से झाबुआ के लिए प्रस्थान कर सायं 05ः00 बजे झाबुआ सर्किट हाउस पहुचेगे। उसके बाद सायं 05.30 बजे जिले के पत्रकारो के साथ दादाजी रेस्टोरेन्ट झाबुआ में संवाद करेगे। उसके बाद सायं 06ः30 बजे होटल एम-2 में बस स्टेण्ड के पास जिले के अधिवक्ताओ के साथ संवाद एवं चर्चा करेगे। तत्पष्चात 08.00 बजे प्राचीन मंदिर गोवर्धननाथ हबेली देवदर्षन एवं रात्रि विश्राम करेगे। अगले दिन 11 सितम्बर को प्रातः 08.30 बजे बडे गणेष झांकी झाबुआ देवदर्षन करेगे। तत्पष्चात 11.30 बजे मुख्यमंत्री जी के साथ स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेगे। तत्पष्चात झाबुआ से भोपाल के लिए से प्रस्थान करेगे।

विद्युत उपभोक्ता संपर्क एवं षिकायत निवारण षिविर 09 सितम्बर से
    
झाबुआ । मध्यप्रदेष प.क्षे.वि.वि.कं.लि झाबुआ के कार्यपालन यंत्री श्री नितिन चैहान ने बताया कि राज्य षासन द्वारा चलाये जा रहे आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम अनुसार झाबुआ सम्भाग के विद्युत उपभोक्ताओ की विद्युत संबंधी समस्याओ/षिकायतो के त्वरित निराकरण हेतु 09 सितम्बर 2019 से प्रातः 08.00 बजे से सायं 04.00 बजे तक संबंधित ग्राम के प्रत्येक वितरण केन्द्र के दो ग्रामो में प्रतिदिन षिविर में विद्युत आपूर्ति संबंधी बंद खराब मीटर, बिजली बिल सम्बंधी, वोल्टेज कम/ज्यादा होने, ट्रांसफार्मर बदलने एवं अन्य विद्युत सम्बंधी अन्य समस्याओ/षिकायतो का निराकरण यथा सम्भव मौके पर ही वितरण केन्द्र के प्रभारी द्वारा किया जाएगा। लम्बित प्रकरणो का निराकरण अधिकतम एक सप्ताह की समयवधि में सम्बंधित वितरण केन्द्र प्रभारी द्वारा किया जावेगा।

सीएम हेल्पलाईन एवं आपकी सरकार आपके द्वार के प्रकरणो का निराकरण प्राथमिकता से करे-कलेक्टर
समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक संपन्न
jhabua news
झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में आज समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में एसडीएम थांदला श्री बघेल, एसडीएम मेघनगर श्री पराग जैन सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में सीएम हेल्पलाइन, जनषिकायत, जनसुनवाई, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में प्राप्त आवेदनो एवं लोक सेवा गांरटी के प्रकरणो की समीक्षा करते हुए प्रतिमाह दूसरे मंगलवार को होने वाले जन अधिकार कार्यक्रम के लिए लंबित प्रकरणो का संतुष्टिपूर्वक निराकरण करने के निर्देष सभी संबंधित अधिकारियो को कलेक्टर श्री सिपाहा ने दिये। सभी अधिकारियो को निर्देषित किया गया कि जनसुनवाई, आपकी सरकार आपके द्वार, सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणो का निराकरण प्राथमिकता से करे। निराकरण के समय आवेदक से चर्चा करे, साथ ही मौके पर जाकर यथास्थिति की पूरी जानकारी के साथ समाधानकारक जवाब पोर्टल पर अपलोड करे। आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान प्राप्त हुए आवेदनो का निराकरण पोर्टल पर दर्ज करे। बैठक में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने उपसंचालक कृषि कोे किसानो की फसल की सुरक्षा, कीट नियंत्रण इत्यादि के लिए सम-समायिक सलाह जारी करने के लिए निर्देष दिये। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं आपूर्ति अधिकारी को मिलावटी खाद्य पदार्थो की सतत जाॅच कर कार्यवाही करने हेतु निर्देषित किया।

मुख्यमंत्री कमलनाथ 11 सितम्बर को झाबुआ जिला के भ्रमण पर रहेगे 
    
झाबुआ । प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ 11 सितम्बर को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेंगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ 11 सितम्बर को प्रातः 10ः30 बजे भोपाल से प्रस्थान कर 11ः45 बजे झाबुआ पहुचेगे। उसके बाद 12ः00 बजे झाबुआ में स्थानीय पोलीटेक्नीक काॅलेज झाबुआ के परिसर में आयोजित स्थानीय कार्यक्रम में सम्मिलित होगे। तत्पष्चात दोपहर 3.30 बजे झाबुआ से भोपाल के लिए हेलीकाॅपटर से प्रस्थान करेगे।

पैरामिलिट्री फोर्स चयन परीक्षा 13 सितम्बर को
      
झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने बताया कि कक्षा 12 वी में अध्ययनरत बालिकाओ के लिए पैरामिलिट्री फोर्स चयन परीक्षा का आयोजन 13 सितम्बर को किया जाएगा। इस हेतु लिखित परीक्षा 13 सितम्बर को प्रातः 10ः30 बजे से कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाबुआ में आयोजित होगी। फिजिकल एवं लिखित परीक्षा में चयन पष्चात बालिकाएॅ 18 सितम्बर 2019 से 18 जनवरी 2020 तक कन्या उ.मा.वि. झाबुआ में निःषुल्क कोचिंग प्राप्त करेगी। सप्ताह में 4 दिवस प्रातः 06ः30 से 08ः00 बजे तक एवं रविवार को 2 घंटे बालिकाओ को डीआरपी लाइन झाबुआ में फिजिकल प्रषिक्षण प्रदान किया जायेगा। कोचिंग का समय सामान्य प्रतिदिन प्रातः 08ः00 से 10 बजे तक रहेगा। बालिकाओ की सहमति के आधार पर षाम का समय भी रखा जा सकता है। संस्था में व्यावसायिक षिक्षा की नोडल पैरामिलिट्री कोचिंग के लिए प्रभारी रहेगी।

विकासखण्ड रानापुर में प्रधानमंत्री मातृत्व योजना सप्ताह अंतर्गत पर्यवेक्षक एवं आंगनवाडी कार्यक्रर्ताओ की कार्यषाला सम्पन्न
   
jhabua news
झाबुआ । प्रधानमंत्री मातृत्व योजना सप्ताह अंतर्गत आज रानापुर विकासखण्ड में पर्यवेक्षक एवं आंगनवाडी कार्यक्रर्ताओ की विकासखण्ड स्तरीय कार्यषाला का आयोजन किया गया। कार्यषाला में उपस्थित आंगनवाडी पर्यवेक्षक एवं कार्यकर्ताओ को प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के संबंध में गर्भवती महिलाओ से संपर्क कर योजनाओ के बारे में बताने, उनका पंजीयन करने एवं समय पर योजना के हितलाभ से लाभान्वित करवाने के लिए निर्देषित किया गया। कार्यषाला में जिला महिला सषक्तिकरण अधिकारी श्री बघेल सहित विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

जिले में 24 घण्टो मे 7.7 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
    
झाबुआ 09 सितम्बर 2019/जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 1050.1 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। विगत 24 घण्टो मे औसत 7.7 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 5.0,रामा में 22.0 मि.मी.,थांदला मे 1.8 मि.मी.,पेटलावद मे 3.4 मि.मी.,राणापुर मे 9.0 मि.मी, मेघनगर मे 5.0,मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

उपभोक्ताओ के भौतिक सत्यापन के लिए गठित टीम को प्रषिक्षण दे-कलेक्टर
सार्वजनिक वितरण प्रणाली रू उपभोक्ताओं का भौतिक सत्यापन 28 सितम्बर तक होगाजिला एवं विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियो की बैठक सम्पन्न
झाबुआ । प्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली में दर्ज एक करोड़ 17 लाख 46 हजार परिवार का भौतिक सत्यापन की कार्यवाही 29 अक्टूबर तक पूर्ण की जाए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत 25 श्रेणी के परिवारों को समग्र सामाजिक सुरक्षा मिशन के पोर्टल पर सत्यापन के बाद राशन दिया जाता है। सूची में अपात्रों के नाम शामिल होने की शिकायतों पर सत्यापन के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। इस संबंध में आज कलेक्टर कार्यालय झाबुआ के सभाकक्ष में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक मे एसडीएम, सीईओ जनपद, सीएमओ नगरपालिका, महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी सहित संबंधित विभागो के जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक मे जिला आपूर्ति अधिकारी श्री त्यागी ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में दर्ज जिले के उपभोक्ताओ के सत्यापन के लिए जिले में 18 सितम्बर से 28 सितम्बर तक विषेष अभियान चलाया जाएगा। सत्यापन कार्य के लिए ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्र स्तरीय सत्यापन दल का गठन कर लिया गया है। सत्यापन दल में षामिल सदस्यो को 13 से 17 सितम्बर के मध्य विकासखण्ड स्तर पर प्रषिक्षण दिया जाएगा। दल के सदस्य घर-घर जाकर परिवारो का सत्यापन करेगे। अभियान के दौरान प्राप्त जानकारी विकासखण्ड स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में गठित समिति के समक्ष प्रस्तुत करेगे। विकासखण्ड स्तरीय अनुमोदन के बाद जिला स्तर पर कलेक्टर के अनुमोदन के बाद हटाए जाने वाले सदस्यो/परिवारो की सूची कार्यवाही के लिए विकासखण्ड स्तर पर एवं वितरण प्रणाली में जोडे जाने वाले सदस्यो/परिवारो की सूची भोपाल प्रेषित की जाएगी। इस कार्य की माॅनीटरिंग के लिए विकासखण्ड स्तर पर कंट्रोल रूम भी बनाए जाएगे। बैठक में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने गठित दल के सदस्यो को समय सीमा में प्रषिक्षण देने एवं षासन के निर्देषानुसार समय सीमा में कार्यवाही पूर्ण करने हेतु संबंधित अधिकारियो को निर्देषित किया। सत्यापन कार्य की प्रदेश स्तर से भी सतत् मॉनीटरिंग की जाएगी। इसके लिये राज्य स्तर पर कन्ट्रोल रूम बनाया गया है, जिसका टेलीफोन नम्बर 0755-2551413 है। पात्र और अपात्र हितग्राही रेखांकित होने पर सूची विभाग की वेबसाइट ूूूण्विवकण्उचण्हवअण्पद तथा देिंण्ेंउंहतंण्हवअण्पद पर उपलब्ध रहेगी। अपात्र परिवारों की सूची जनपद पंचायत, नगरीय निकाय की बैठक में सदस्यों को देखने के लिए प्रस्तुत की जाएगी। अपात्र व्यक्ति विलोपन की कार्रवाई के विरूद्ध कलेक्टर को अपना दावा, आपत्ति प्रस्तुत कर सकता है, जिसकी सुनवाई समय-सीमा में की जाएगी। अंतिम निर्णय के अद्यतन होने पर छथ्ै। की पोर्टल पर पात्रता प्रदर्शित होने पर पात्रता पर्ची जारी की जाएगी।

बिजली खम्बे अ©र ट्रांसफार्मर से दूर बनाएँ पण्डाल
    
झाबुआ । मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र, मध्य क्षेत्र एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनिय¨ं ने धार्मिक उत्सव समितिय¨ं अ©र बिजली उपभ¨क्ताअ¨ं से अपील की है कि वे बिजली खम्ब¨ं, ट्रांसफार्मर अ©र बिजली लाइन¨ं से पण्डाल दूर बनाएँ। इससे किसी भी प्रकार की विद्युत दुर्घटना से बचा जा सकेगा। विद्युत वितरण कंपनिय¨ं ने यह भी अपील की है कि वे म¨हर्रम अ©र गणेश¨त्सव के द©रान धार्मिक पण्डाल¨ं एवं झाँकिय¨ं में बिजली साज-सज्जा, नियमानुसार अस्थाई कनेक्शन लेकर ही करें। विद्युत कंपनिय¨ं द्वारा सघन जांच अभियान भी चलाया जा रहा है। धार्मिक त्य©हार तथा अन्य सार्वजनिक अवसर¨ं पर लगने वाले पण्डाल¨ं क¨ अस्थाई कनेक्शन देने के लिए विद्युत वितरण कंपनिय¨ं ने बेहतर प्रबंध किए हैं।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में जनअधिकार वीसी 11 सितम्बर को
   
झाबुआ । मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में जन अधिकारी प्रोगाम के अंतर्गत वीसी का आयोजन 11 सितंबर 2019 को सायं 6 बजे से किया जाएगा। इस वीसी में जिला कलेक्टर्स से चयनित हितग्राहियों की समस्याओं के निदान की दिशा में चर्चा की जावेगी। साथ ही जिलावार नामांकित व्यक्तियों की समस्या का समाधान किया जावेगा।  कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने संबंधित अधिकारियो को नियत समय पर एनआईसी के वीसी रूम में जानकारी के साथ उपस्थित रहने हेतु निर्देषित किया है।

संश¨धित स्वरूप में प्रभावशील ह¨गी इंदिरा गृह ज्य¨ति य¨जना मासिक खपत ’पात्रता यूनिट’ मानी जायेगी
     
झाबुआ । प्रदेश में इंदिरा गृह ज्य¨ति य¨जना का लाभ ऐसे सभी घरेलू उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ दिया जायेगा, जिनकी मासिक खपत 150 यूनिट तक ह¨। इसके लिये द¨ रीडिंग की तारीख के बीच के अंतर के आधार पर आनुपातिक मासिक खपत पात्रता के रूप में निर्धारित की जायेगी। उदाहरण स्वरूप 27 दिन में रीडिंग ह¨ने पर पात्रता के लिये मासिक खपत 135 यूनिट ह¨गी अ©र 35 दिन में रीडिंग ह¨ने पर पात्रता के लिये मासिक खपत 175 यूनिट ह¨गी। प्रत्येक मासिक रीडिंग के लिये निर्धारित मासिक खपत पात्रता यूनिट मानी जायेगी। य¨जना में पात्रता यूनिट तक खपत करने वाले पात्र उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ पहली 100 यूनिट तक की खपत पर अधिकतम 100 रुपये का बिल दिया जायेगा अ©र 100 यूनिट खपत के लिये म.प्र. विद्युत नियामक आय¨ग द्वारा निर्धारित दर से गणना किये गये बिल तथा 100 रुपये के अंतर की राशि राज्य शासन द्वारा वितरण कम्पनिय¨ं क¨ सब्सिडी के रूप में दी जायेगी। हितग्राही उपभ¨क्ताअ¨ं द्वारा किसी माह में 100 यूनिट से अधिक परंतु पात्रता यूनिट तक उपय¨ग की गई खपत पर पहली 100 यूनिट के लिये देय राशि रुपये 100 ह¨गी। मीटर किराया तथा विद्युत शुल्क भी शामिल ह¨ंगे। एक स© यूनिट से अधिक एवं पात्रता यूनिट की सीमा तक शेष यूनिट¨ं के लिये म.प्र. विद्युत नियामक आय¨ग द्वारा जारी प्रचलित टैरिफ आदेश में निर्धारित दर के अनुसार बिल देय ह¨गा। एक स© यूनिट से अधिक खपत के कारण नियत प्रभार में वृद्धि ह¨ने पर तत्संबंधी अंतर की राशि हितग्राही द्वारा स्वयं वितरण कम्पनिय¨ं क¨ देय ह¨गी। किसी माह में पात्रता यूनिट से अधिक खपत ह¨ने पर उपभ¨क्ता क¨ उस माह में य¨जना का लाभ नहीं दिया जाएगा। उसकी पूरी खपत पर विद्युत नियामक आय¨ग द्वारा निर्धारित दर¨ं से बिल दिया जायेगा। य¨जना के अंतर्गत एल.वी. श्रेणी 1.1 के गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के घरेलू उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ 30 यूनिट तक की मासिक खपत के लिये देयक मात्र 25 रुपये ह¨गा, जिसका इकट्ठा बिल तीन-चार महीन¨ं में दिया जायेगा। अंतर की राशि राज्य शासन द्वारा वितरण कम्पनिय¨ं क¨ सब्सिडी के रूप में दी जाएगी। ऐसे उपभ¨क्ताअ¨ं की मासिक खपत 30 यूनिट से अधिक ह¨ने पर उन्हें अन्य उपभ¨क्ताअ¨ं के समान मासिक बिल दिया जायेगा। इसमें विगत ऐसे माह की 30 यूनिट तक के देयक की 25 रुपये प्रतिमाह की राशि बिना किसी अधिभार के शामिल की जायेगी, जिनके लिये बिल दिया जाना शेष था। मध्यप्रदेश विद्युत नियामक आय¨ग के टैरिफ आदेश में शहरी क्षेत्र¨ं में अनमीटर्ड संय¨जन प्रदान करने का प्रावधान नहीं है। घरेलू उपभ¨क्ता परिसर¨ं में शत-प्रतिशत मीटर लगाने के लिये वितरण कम्पनिय¨ं द्वारा समुचित प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्र¨ं में 500 वाॅट तक के संय¨जित भार वाले अनमीटर्ड उपभ¨क्ताअ¨ं के बिल¨ं की गणना आय¨ग द्वारा टैरिफ आदेश में निर्धारित श्रेणी एल.व्ही. 1.2 की उप श्रेणी (पप) के अनमीटर्ड संय¨जन के लिये लागू दर से की जायेगी। इंदिरा गृह ज्य¨ति य¨जना के समावेशी स्वरूप में लागू ह¨ने के बाद घरेलू उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ दी जा रही अन्य सभी सब्सिडी समाप्त की जायेगी। य¨जना के अंतर्गत जारी किये जाने वाले बिल (स्पाॅट बिल क¨ छ¨ड़कर) अलग रंग में छापे जायेंगे। बिल¨ं में शासन द्वारा प्रदत्त सब्सिडी का स्पष्ट उल्लेख किया जायेगा। य¨जना संश¨धित स्वरूप में एक सितम्बर, 2019 एवं इसके बाद प्रारंभ ह¨ने वाले आगामी बिलिंग चक्र से लागू की जायेगी। जिन उपभ¨क्ताअ¨ं के परिसर में पूर्व में मीटर स्थापित थे, वहाँ मीटर खराब ह¨ने पर आय¨ग के मानदण्ड अनुसार खपत का निर्धारण कर बिलिंग की जायेगी। खराब मीटर¨ं क¨ बदलने की कार्यवाही शीघ्र की जायेगी। वितरण कम्पनिय¨ं द्वारा विद्युत नियामक आय¨ग के निर्धारित मानदण्ड के अतिरिक्त अ©र क¨ई भी आंकलित यूनिट बिल में नहीं ज¨ड़ा जायेगा। य¨जना के विस्तारित स्वरूप के क्रियान्वयन के लिये वितरण कम्पनिय¨ं एवं पावर मैनेजमेंट कम्पनी द्वारा मैदानी स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जायेगा। आगामी बिलिंग चक्र से उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ लाभ प्रदान करने के लिये बिजली कम्पनिय¨ं के साॅफ्टवेयर में आवश्यक परिवर्तन भी यथाशीघ्र किये जायेंगे। विद्युत शुल्क का स्लैब 100 यूनिट पर परिवर्तित ह¨ता है। रीडिंग की तारीख¨ं के बीच अंतर से इसे न ज¨ड़ते हुए पूर्ववत प्रथम 100 यूनिट के लिये 9 प्रतिशत की दर से तथा 100 यूनिट से अधिक खपत पर 12 प्रतिशत की दर से विद्युत शुल्क अधिर¨पित किया जायेगा। य¨जना में परिवर्तन की जानकारी विद्युत नियामक आय¨ग क¨ उपलब्ध कराना अनिवार्य रहेगा।

राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कार-2019 के लिये 10 सितम्बर तक होगा नामांकन
      
झाबुआ । भारत शासन, कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय द्वारा जिले में उद्यमशीलता के उपर्युक्त मापदंड के उत्कृष्ट उद्यमियों और उद्यमशीलता को बढावा देने के लिये समर्पित संगठनों और मार्गदर्शकों से नामांकन स्वनामांकन करने का आग्रह किया गया है। नामांकन आगामी 10 सितम्बर 2019 तक वेबसाइट ूूूण्दमंेण्हवअण्पद पर किया जा सकता है। इस पुरस्कार का उद्देश्य उद्यमिता के विभिन्न सेक्टरों, भौगोलिक क्षेत्रों तथा आर्थिक, सामाजिक वर्ग से उभरकर समाज के सामने लाना, प्रथम पीढी के 40 वर्ष तक की आयु-सीमा वाले उत्कृष्ट युवा उद्यमियों की पहचान कर उन्हें सम्मानित करना है। इस पुरस्कार के अंतर्गत, उत्कृष्ट युवा उद्यमिययों को 01 लाख रुपये, 10 लाख रुपये एवं 01 करोड रुपये के तीन अलग-अलग प्रारंभिक निवेश श्रेणियों से जुडे उद्यम के क्षेत्र में सम्मानित किये जाने की व्यवस्था है।  इसके अतिरिक्त, देश में उद्यमशीलता को बढावा देने में विशिष्ट योगदान देने वाले व्यक्तियों और संगठनों को भी उनके उत्कृष्ट कार्य के लिये सम्मानित किये जाने की व्यवस्था है। पुरस्कार विजेताओं को माह नवंबर 2019 के दूसरे सप्ताह में प्रस्तावित इस प्रतिष्ठित पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया जाएगा। प्रत्येक विजेता को एक ट्राफी, एक प्रमाणपत्र तथा रुपये 5 लाख से 10 लाख तक नगद पुरस्कार राशि प्रदान किये जाने का प्रावधान है।

रंगीन फोटो परिचय-पत्र बनाने का विशेष अभियान निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे रंगीन फोटो परिचय-पत्र
     
झाबुआ । मुख्य निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में लगभग 74 लाख मतदाताओं के फोटो ब्लैक एण्ड व्हाईट हैं, जिनके रंगीन फोटो प्राप्त कर नवीन रंगीन फोटो परिचय-पत्र बनाये जायेंगें। बूथ लेवल अधिकारी संबंधित मतदाता से निर्धारित फार्म-8 भरवाकर रंगीन फोटो प्राप्त करेंगे। आवेदन के साथ पुराना मतदाता परिचय-पत्र जमा करने की जरूरत नहीं हैं। ऐसे मतदाताओं को नये रंगीन प्लास्टिक फोटो परिचय-पत्र निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे। मतदाता अपने पास पहले से उपलब्ध पुराने म्च्प्ब् कार्ड को तब तक रखेगा, जब तक उसे नया कार्ड उपलब्ध नहीं हो जाये। नये रंगीन फोटो परिचय-पत्र प्राप्त होने के बाद पुराने कार्ड को बूथ लेवल अधिकारी द्वारा वापस प्राप्त किया जावेगा।

विधानसभा उप निर्वाचन को संपादित करवाने हेतु जिला स्तरीय नोडल अधिकारी नियुक्त
         
झाबुआ । आगामी उप निर्वाचन विधानसभा क्षेत्र-193 झाबुआ 2019 के चुनाव कार्य को संपादित करवाने हेतु कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रबल सिपाहा द्वारा अधिकारियो को नोडल अधिकारी के रूप मे नियुक्त किया गया है। जारी आदेषानुसार सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप षर्मा को नोडल आॅफिसर फाॅर मेनपाॅवर मेनेजमेंट एवं नोडल आॅफिसर फाॅर ट्रेनिंग मेनेजमेंट, अपर कलेक्टर श्री एसपीएस चैहान को नोडल आॅफिसर फाॅर लाॅ एंड आर्डर, जिला कोषालय अधिकारी श्रीमती ममता चंगोड को नोडल आॅफिसर फाॅर ईवीएम मेनेजमंेट, कार्यपालन यंत्री आरईएस को नोडल आॅफिसर फाॅर मटेरियल मेनेजमेंट, पीआरओ श्रीमती अनुराधा गहरवाल को नोडल आॅफिसर फाॅर मीडिया, प्रभारी जिला सूचना विज्ञान केंद्र अधिकारी को नोडल आॅफिसर फाॅर कम्प्यूटराइजेषन, अतिरिक्त परियोजना समन्वयक जिला षिक्षा अधिकारी कार्यालय को नोडल आॅफिसर फाॅर स्वीप, उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास को नोडल आॅफिसर फाॅर एसएमएस माॅनीटरिंग एंड कम्यूनिकेषन प्लान, प्रबंधक ई गवर्नेंस एवं सहायक नोडल अधिकारी को नोडल आॅफिसर फाॅर मत मोबाइल एप्प, सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग श्री प्रषांत आर्य को नोडल आॅफिसर फाॅर वेलफेयर, जिला परियोजना समन्वयक जिला षिक्षा केंद्र को नोडल आॅफिसर मतदान केंद्रो पर निर्धारित न्यूनतम आधारभूत सुविधा, जिला योजना अधिकारी श्रीमती तारिणी जौहरी गंग को नोडल आॅफिसर सारणीकरण और काउंटिंग मेनेजमेंट, प्रबंधक ई गवर्नेंस श्री धर्मेंद्र मीणा को नोडल आॅफिसर फाॅर मोबाइल एप्प मेनजमंेट, सहायक अधीक्षक भू अभिलेख को नोडल आॅफिसर फोटो निर्वाचक नामावली के समस्त अद्यतन के तहत पूरक सूची एवं मार्कड काॅपी, प्रबंधक लोक सेवा गारंटी श्री संत कुमार चैबे को नोडल आॅफिसर फाॅर सीविजल के लिये जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारियो द्वारा अपने अपने प्रभार के कार्यो की कार्ययोजना तैयार कर नियत समयावधि मे कार्य संपादित किया जाएगा। सौपे गये कार्य एवं संबंधित नस्तीयां उप जिला निर्वाचन अधिकारी के माध्यम से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी को प्रस्तुत करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...