झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 15 सितंबर 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 सितंबर

एक भारत श्रेष्ठ भारत के संकल्प को साकार करने के लिए हमें सेवा संकल्प लेना चाहिए - दौलत भावसर

jhabua news
झाबुआ । देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिवस के अवसर पर जिला भाजपा द्वारा आज सेवा संकल्प पखवाड़े का आयोजन झाबुआ स्थित निराश्रित बाल आश्रम के बच्चों के बीच मना कर शुभारंभ किया इस अवसर पर आश्रम के बच्चों को भाजपा द्वारा फल फूल वितरण बी किए गए सेवा संकल्प पखवाड़े के शुभारंभ पर उपस्थित भाजपा कार्यकर्ता और पदाधिकारियों के साथ बच्चों को संबोधित भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दौलत भावसार भाजपा जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा आयोजन केशव प्रभारी सुरेंद्र चैहान पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल आदिवासी नेता कल्याण डामोर नगर अध्यक्ष बबलू सकलेचा ने संबोधित कर बच्चों का मार्गदर्शन किया इस अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व जिला अध्यक्ष और प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भावसार ने संबोधित करते हुए कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत के नवनिर्माण में देश के ऐसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के सपनों को साकार करने के लिए हमें सेवा और संकल्प का व्रत लेकर समाज की सेवा करना चाहिए तभी जाकर एक भारत श्रेष्ठ भारत बन पाएगा भावसार ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की दिशा में त्रि बता से आगे बढ़ रहा है आज संपूर्ण भारत धारा 370 जम्मू एंड कश्मीर में हटा दिए जाने के बाद एकता के स्वर में सुर मिला रहा है भारत का तेजो में नेतृत्व मोदी जी के मार्गदर्शन में विश्व को प्रेरित कर रहा है देश को सुरक्षित समृद्ध और विकसित राष्ट्र बनाने की दिशा में मोदी जी का महत्वपूर्ण योगदान है मोदी जी का जीवन देश के गरीबों को मजदूरों को नौजवानों को किसानों को समर्पित है स्वच्छ भारत की कल्पना मोदी जी के नेतृत्व में संभव दिखाई पड़ रही है हम सब आज सेवा और संकल्प पखवाड़े के शुभारंभ के अवसर पर यहां से संकल्पित होकर जाए कि देश और प्रदेश के साथ जिले के एम नगर के दीन हीन गरीबों अनाथ बच्चों की सेवा सेवा कर उनको समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए अपना योगदान देंगे भावसार ने इस अवसर पर धारा 370 हटाए जाने पर के अवसर पर मोदी जी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि हमने जब संघ 1990 में धारा 370 हटाओ कश्मीर बचाओ को लेकर जन जागरण पदयात्रा का आयोजन इंदौर से दिल्ली कर 12100 किलोमीटर की पदयात्रा पूर्ण की थी और 50 से अधिक स्थानों पर सभाएं कर धारा 370 हटाने के लिए जन जागरण किया था तब हमने नहीं सोचा था कि देश से यह धारा कभी हटेगी परंतु यह सब संभव देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार में दिए गए क्रांतिकारियों से ही संभव हो सका है हमारा पदयात्रा करना सार्थक हो गया है भावसार ने कहा कि मोदी जी का जन्मदिन के अवसर पर हम सब संकल्प लें हम सब जाति पंथ धर्म संप्रदाय आदिवासी गैर आदिवासी अकड़ा पिछड़ा सामान्य वर्ग के भेद को भूलकर हम सब हिंदुस्तानी हैं हम सब भारतीय हैं हम सब भारत मां के लाल हैं के विचारों को फैलाकर भारत को शक्तिशाली बनाने में अपना योगदान दें इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि मोदी जी हम सबके लिए प्रेरणा के पुण्य हैं हम उनके बताए हुए संकल्पों को अपने जीवन में उतार कर देश सेवा में अपने आप को सब आगे बनाएं इस अवसर पर पूरे पखवाड़े के तहत चलने वाले कार्यक्रमों का विवरण शर्मा ने विस्तार से रखा 17 सितंबर को शर्मा ने सभी से आह्वान किया है कि उस दिन हम नगर में जिले में वार्डों में पंचायतों में मोहल्ला में स्वच्छता अभियान चलाकर नरेंद्र मोदी जी का जन्म दिवस मना कर मोदी जी के सपनों को साकार करें पूर्व विधायक बिलवाल इस अवसर पर मोदी जी के कार्य पद्धति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मोदी जी एक गरीब परिवार से निकल कर इस मुकाम तक पहुंचे हैं बिलवाल ने निराश्रित बच्चों से सवाल जवाब करते हुए पूछा कि आप भारत माता किसे मानते हैं बच्चों ने उसका जवाब दिया विधायक ने कहा कि आप में से कौन क्या क्या बनना चाहता है तब बच्चों ने कहा कि हम डॉ बनेंगे हम एसपी बनेंगे हम कलेक्टर बनेंगे और एक बच्चे ने कहा कि मैं विधायक बनूंगा इन सब विचारों को जानने के बाद विधायक ने बच्चों को टिप्स देते हुए कहा इसके लिए आपको कड़ा परिश्रम कर आगे लक्ष्य को प्राप्त करना होगा तब जाकर आप डॉक्टर कलेक्टर विधायक एसपी बन पाओगे इस अवसर पर आदिवासी नेता डामोर ने भी संबोधित करते हुए बच्चों को देश सेवा का संकल्प लेने का और सभी को शुभकामनाएं प्रेषित की कार्यक्रम का संचालन भूपेश सिंगार द्वारा किया गया कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन नगर अध्यक्ष बबलू सकलेचा द्वारा व्यक्त किया गया इस अवसर पर भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अजय पोरवाल नगर महामंत्री नाना राठौर नगर उपाध्यक्ष अंकुर पाठक महिला मोर्चा की नगर अध्यक्ष पार्षद श्रीमती प्रीति पांचाल सायरा बानो निर्मला अजनार विवेक मेडा नरेंद्र राठौड़ या जवान सिंह गुंडिया बीजेपी लिंबा भाई सरपंच महेंद्र भूरिया मनोज सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

समाज के अनछुए विषय पर लिखी दास्तान है ‘ना-जायज का दर्द’ -ः डाॅ. केके त्रिवेदी
समाज के जीवंत विषय पर लिखी अद्भूत रचना है ‘ना-जायज का दर्द -ः प्रो. अरविन्द व्यासविष्व हिन्दी दिवस पर ‘ना-जायज का दर्द’ काव्य संग्रह की समीक्षा एवं गोष्ठी का हुआ आयोजन
jhabua news
झाबुआ। ‘ना-जायज के दर्द’ में रचनाकार यषवंत भंडारी ‘यष’ ने ना-जायज कहीं जाने वाली संतान की यर्थाथ और मासूमियत से भरी करूण भावनाओं को खूबसूरती से चित्रित किया है। उक्त विचार वरिष्ठ साहित्यकार एवं सेवानिवृत्त प्राध्यापक अरविन्द व्यास ने विष्व हिन्द दिवस पर 14 सितंबर, शनिवार दोपहर स्थानीय थांदला गेट स्थित जिला पेंषनर्स कार्यालय पर जिला आजाद साहित्य परिषद द्वारा् आयोजित ‘ना-जायज का दर्द’’ काव्य संग्रह की समीक्षा एवं गोष्ठी में व्यक्त किए। श्री व्यास ने आगे कहा कि सृष्टि के सृजन की निरंतरता के लिए संतान की उत्पत्ति, स्त्री-पुरूष की प्रकृति प्रदत्त स्वभाविक आनंद और सुखकर्ता है। जिसमें स्त्री-पुरूष दोनो समान रूप से भागीदार होते है, परन्तु कई बार सामाजिक ताने-बाने एवं मर्यादा को तोड़कर जो संबंध स्थापित होते है, उसे परिवार या समाज स्वीकार नहीं करता है। ऐसी स्थिति में जो संतान पैदा होती है, उसे समाज जायज नहीं मानता है। जिसके कारण उस संतान को पारिवारिक एवं समााजिक तौर पर अत्यंत वेदना सहन करना पड़ती है। अपनमानित होना पड़ता है, यही भावना इस काव्य संग्रह में बड़े र्मािर्मक तरीके से प्रस्तुत की गई है।

‘ना-जायज’ बच्चों को साहस और सम्मान देने का काम किया है
समीक्षा में जिला आजाद साहित्य परिषद् के अध्यक्ष डाॅ. केके त्रिवेदी कहा कि साहित्यकार श्री भंडारी ने अपनी इस कृति में समाज के अनछुए विषय पर जो लिखा है, वह समूचे साहित्य जगत में टेढ़ी नजर रखने वाले लेखकांे, चिंतकों को उद्देलित करता हेै। आजाद रत्न से विभूषित वरिष्ठ साहित्यकार सुरेष समीर ने कहा कि श्री भंडारी ने अपनी इस कृति में उन तमाम बच्चों को साहस दिया है एवं सम्मान दिया है, जिन्हें जन्म से ही अपने माता-पिता की ना तो गोद मिली और ना ही प्यार। युवा साहित्यकार प्रवीण सोनी ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह काव्य संग्रह एक ऐसा र्दुलभ, नाजुक और गंभीर विषय पर लिखा गया है, जो सभ्य समाज की ईमानदारी के श्वेत वस्त्रों पर लगे दागों को सामने लाने का कार्य करता है।

हिन्दी भाषा माथे की बिंदी
पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय ने काव्य संग्रह की समीक्षा करते हुए कहा कि ‘ना-जायज’ जैसे शब्द जो समाज के लिए एक गंभीर एवं संवेदनषील विषय हॅै, इस पर रचनाकार ने बेहद ही सफलतापूर्वक अपनी कलम चलाई। वरिष्ठ लेखक एमएल फुलपगारे ने कहा कि यह लघु काव्य संग्रह अपने आप में एक विषिष्टता लिए हुए है। समाज जिस संतान को हीन दृष्टि से देखती है, उसी संतान के विचारों को सकारात्मक रूप से देने का रचनाकार द्वारा अत्यंत सुदंर प्रयास दिया है। साहित्यकार पीडी रायपुरिया ने हिन्दी भाषा को माथे की बिंदी बताते हुए कहा कि दुनिया की श्रेष्ठ भाषाओं में हिन्दी का अपना एक अलग ही स्थान है। उन्होंने इस दौरान राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत रचना प्रस्तुत की।

हिन्दी भाषा विष्व की श्रेष्ठ भाषा
प्रसिद्ध गायक प्रो. महेन्द्र खुराना ने श्री भंडारी की कृति को एक कालजयी एवं अभूतपूर्व बताते हुए इसे पठनीय एवं संग्रहणीय बताया। साथ ही आपने सुंदर गीत के माध्यम से हिन्दी भाषा को विष्व की श्रेष्ठ भाषा के रूप में प्रतिपादित किया। जयेन्द्र बैरागी ने हिन्दी भाषा को लोक भाषा एवं जन-जन की भाषा बताते हुए कई मुक्तक प्रस्तुत किए। साथ ही श्री भंडारी के काव्य संग्रन ‘ना-जायज का दर्द’ को साहित्य जगत में एक क्रांतिकारी एवं सम-सामायिक साहित्य के रूप में निरूपति बताया।

देष के लाखो असहाय बच्चों को समर्पित हे काव्य संग्रह
इस अवसर पर ‘ना-जायज का दर्द’ के रचनाकार यषवंत भंडारी ने कहा कि यह लघु खंड काव्य उन लाखांे असहाय बच्चो ंको समर्पित है, जिन्हें जन्म के साथ कभी मां प्यार का नहीं मिला और ना ही बचपन की चंचलता मिली, मिली तो बस केवल, विवषता। अब फिर इन्हें जरूरत है, मदर टेरेसा जैसे संत की जो बने इनके संबल और ले चले इन्हें इनके संुदर एवं सुखमय संसार में। काव्य गोष्ठी के प्रारंभ में सभी साहित्यकारों ने मां सरस्वतीजी के चित्र पर पुष्प अर्पण कर उनकी स्तुति के माध्यम से वंदना की।

हिन्दी को 14 सितंबर 1949 को दिया राजभाषा का दर्जा
ं काव्य गोष्ठी का संचालन कर रहे आजाद साहित्य परिषद् के सचिव शरत शास्त्री ने बताया कि 14 सितंबर 1949 को भारत के संविधान में हिन्दी को राजभाषा के रूप मंे दर्जा दिया गया। आज हिन्दी विष्व के 180 से अधिक देषों में बोली जा रहंी, पढ़ी जा रहंी है एवं समझी जा रहीं है। समयानुसार हिन्दी के विद्वानों को इसे ओर अधिक परिकृष्त करने के लिए ज्ञान और विज्ञान के शब्दों का संग्रह करना होगा। गोष्ठी के अंत में आभार सुरेष समीर ने माना।

मनीष कुमट आईजा के मप्र उपाध्यक्ष मनोनीत, एसोसिएषन का राष्ट्रीय अधिवेषन 21 एवं 22 सितंबर को मुंबई में

झाबुआ। ऑल इंडिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (आईजा) के संस्थापक (राष्ट्रीय अध्यक्ष) हार्दिक हुंडिया एवं राष्ट्रीय मंत्री महावीर श्रीमाल ने आईजा के मप्र मंत्री प्रदीप जैन की अनुसंशा पर वरिष्ठ एवं युवा पत्रकार मनीष कुमट निवासी झकनावदा (पेटलावद) को संगठन का मप्र का उपाध्यक्ष मनोनीत किया है। आईजा के संस्थापक राष्ट्रीयअध्यक्ष हार्दिक हुंडिया ने मनीष कुमट को बधाई देते हुए जानकारी दी कि एसोसिएषन का प्रथम राष्ट्रीय अधिवेशन प्राचीन अगासी जैन तीर्थ विरार मुंबई में आगामी 21 एवं 22 सितंबर को आयोजित होगा। जिसमे देशभर से जैन पत्रकार सम्मिलित होंगे। जहां उत्कृष्ट कार्य करने वालो पत्रकारों को आईजा एक्टिव रत्न से सम्मानित किया जाएगा। उक्त अधिवेषन में श्री कुमट को भी सम्मिलित होने हेतु आंमत्रित किया है। इस अवसर पर श्री कुमट ने कहा कि उन्हें एसोसिएषन द्वज्ञरा यह महत्वपूर्ण जवाबदारी सौंपे जाने पर अब वे मप्र में जैन पत्रकारों के हितार्थ लगातार कार्य करेंगे एवं संगठन को मजबूत बनाने में अपनी सक्रिय भूमिका का निर्वहन करेंगे।

दी गई बधाईयां
श्री कुमट को आईजा के प्रदेष उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी मिलने पर उन्हें जिले के वरिष्ठ पत्रकारांें में यषवंत भंडारी, मनोज मेहता, मनोज भानपुरिया, ओमप्रकाष शर्मा, योगेन्द्र नाहर, दौलत गोलानी, निलेष भानपुरिया अली असगर बोहरा, पवन नाहर, गोपाल विष्वकर्मा, उत्तम गेहलोत सहित जिले के समस्त पत्रकारों एवं ईष्ट मित्रों ने शुभकामनाएं प्रेषित की है।

श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में चार्तुमास के तहत नवल एवं जलज की निश्रा में हो रहे विविध कार्यक्रम, आचार्य नरेन्द्र सूरीजी की सूरी मंत्र की द्वितीय पीठिका की साधना हुई आरंभ

jhabua news
झाबुआ। जैन तीर्थ श्री ऋषभदेव बावन जिनालय के भव्य परिसर में आडम्बर मुक्त तथा आराधना युक्त चार्तुमास प्रगतिषील पथ पर निरंतर अग्रसर है। चातुर्मास में विविध कार्यक्रम अष्ट प्रभावक, प्रवचन सम्राट, राजस्थान केसरी आचार्य नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ‘नवल’ एवं मालव भूषण, जिले की माटी के सपूत प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजजयी मसा ‘जलज’ के पावन सानिध्य में हो रहे है। शनिवार को राजगढ़ जैन श्री संध, जोधपुर श्री संघ, बामनिया, राजेन्द्र भवन ट्रस्ट मंडल चेन्नई सहित नेल्लूर, मुंबई, पूना, कामरोट, इंदौर, ओरंगाबाद आदि नगरों से दर्षनार्थी झाबुआ आए एवं देव दर्षन तथा गुरूवंदन किया। शनिवार को धर्मस्भा में प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा ‘जलज’ ने प्रथम चक्रवती भरत महाराज की अनासक्ति एवं उत्कृष्ट प्रभु भक्ति का उदाहरण देते हुए प्रवचन में कहा कि संसार की आषक्ति से आत्म शक्ति प्रगट नहीं हो रहीं है। शक्ति में यदपि भरत चक्रवर्ती महान थे, किन्तु राज्य विस्तार की अषक्ति के कारण छोटे भाई बाहुबल से युद्ध में परास्त हो गए थे। अंतर दृष्टि प्राप्त होने पर शरीर की नष्वरता और संसार की क्षण भंगुरता समझने में देर नहीं लगाई। केवल ज्ञान महोत्सव में संपूर्ण राज परिवार सहित आकर भगवान आदिनाथ स्वामीजी से आत्म जागृति प्राप्त की थीं।

सूरी मंत्र की द्वितीय पीठिका की आरंभ
अष्ट प्रभावक, प्रवचन सम्राट आचार्य नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा चतुर्दषी से सूरी मंत्र की द्वितीय पीठिका की मंगलमय साधना बावन जिनालय परिसर एवं श्री राजेन्द्र सूरी जैन पोषध शाला में आडम्बर रहित व्यवस्था से प्रारंभ कर चुके है। दादा गुरूदेव श्रीमदृ विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा द्वारा प्रदत्त एवं लिखित सूरी मंत्र की साधना करते हुए प्रतिदिन भक्तों को मांगलिक श्रवण करवाकर सूरी मंत्र का वासाक्षेप प्रदान कर आर्षीवाद दे रहे है। शहर में समाजजन एवं गुरू भक्त स्वेच्छा से गुरू भगवंतों के पास आकर अनेकानेक नियम लेकर मनुष्य भव को सफल कर रहे हे। धर्ममय वातावरण से सकल जैन श्वेतांबर श्री संघ में अपार खुषी की लहर है।

चार दिवसीय विषाणुजन्य एवं रोग प्रतिबंधात्मक षिविर में कुल 1 हजार 419 लोगों ने किया असरकारक आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन, शनिवार को षिविर का हुआ समापन

jhabua news
झाबुआ। स्थानीय आॅफिसर्स काॅलोनी स्थित शासकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय में चार दिवसीय विषाणुजन्य एवं रोग प्रतिबंधात्मक षिविर का समापन 14 सितंबर, शनिवार को हुआ। अंतिम दिन कुल 285 व्यक्तियों ने आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन किया। इस प्रकार 4 दिनों मंे कुल 1 हजार 419 लोगांे द्वारा षिविर का लाभ लिया गया। अंतिम दिन भगवान धन्वतरि के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर षिविर का शुभारंभ जिला आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल के साथ ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य जयेन्द्र बैरागी, इंदरसेन संघवी, पद्मावती त्रिवेदी एवं मंजुला देराश्री ने किया। अंतिम दिन षिविर में बड़ी संख्या में लोग, जिसमें शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों से महिला-पुरूषों ने भी आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन कर मौसमी बिमारियों से राहत पाई।

1 हजार 419 लोगों का हुआ पंजीयन
शासकीय आयुवेर्दिक चिकित्सालय द्वारा आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के सहयोग से आयोजित चार दिवसीय षिविर में कुल 1 हजार 419 लोगों ने आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन इसे सफल बनाया। इस हेतु समस्त षिवरार्थियों एवं सहयोगियों के प्रति आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल एवं समस्त चिकित्सकीय टीम तथा ं आसरा ट्रस्ट के संस्थापक अध्य राजेष नागर तथा ट्रस्ट के समस्त पदाधिकारी-सदसयों ने आभार व्यक्त किया है।

तेज बारिष से मकान के एक हिस्से की दीवार ढही, करीब 30 हजार रू. का हुआ नुकसान

झाबुआ। 13 सितंबर, शुक्रवार को हुई तेज बारिष से स्थानीय टीचर्स काॅलोनी में कच्चे मकान के एक हिस्से की दीवार ढह गई, गनीमत यह रहीं कि परिवार के किसी भी सदस्य को चोट नहीं आई। दीवार गिरने से मकान में रखे कुछ आवष्यक सामानांे में टूट फूट हुई। मकान मालिक के अनुसार करीब 30 हजार रू. का नुकसान हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त घटना 13 सितंबर, शुक्रवार दोपहर करीब 11 बजे की है। बीेते गुरूवार रातभर बारिष के बाद शुक्रवार को भी तेज बारिष का क्रम चलने से टीचर्स काॅलोनी में रहने वाली सोना पीतलेरे (कालानी) के कच्चे मकान के प्रथम कमरे की एक हिस्से की दीवार अचानक भर-भराकर गिर गई। यह घटना तब हुई जब परिवार के सभी सदस्य दूसरे कमरे में थे, इसलिए बड़ा हादसा टल गया। मौके से परिवार के सदस्य प्रवीण कालानी ने इसकी सूचना क्षेत्र के पटवारी को दी। प्रवीण कालानी के अनुसार दीवार सहित अन्य सामान क्षतिग्र्रस्त होने से करीब 30 हजार रू. नुकसान का आकलन उन्होंने लगाया है। साथ ही जिला प्रषासन से नुकसानी का मुआवजा देने की मांग की हे।

रतलाम आंचलिक पत्रकार संघ के प्रादेशिक सम्मेलन में झाबुआ के पत्रकार सचिन जोशी होंगे सम्मानित’

झाबुआ। जिले में रानापुर के रहने वाले युवा पत्रकार सचिन जोशी ने आज से 14 वर्ष पूर्व पैथोलॉजी लेबोरेटरी को लेकर एक आर्टिकल से पत्रकारिता का सफर शुरू हुआ।झाबुआ के वरिष्ठ पत्रकार चंद्रभान सिंह भदोरिया ने भरोसा जताया और 2006 से दैनिक जागरण से पत्रकारिता में सचिन जोशी के कैरियर शुरआत की। सचिन जोशी ने पत्रकारिता के जुनून को अपने जहम में उतार कर ईमानदारी ओर कर्तव्य निष्ठा के साथ 2007 में लोकल न्यूज चैनल लाइव मीडिया में काम किया। 2008 में पत्रिका अखबार से जुड़कर 2009 के आखिर में ईटीवी न्यूज चैनल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया मैं सफर शुरू किया पांच साल 2013 से जी मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के झाबुआ जिले में प्रतिनिधित्व कर कर रहे हैं। 14 वर्षों के पत्रकारिता के सफर में बेबाक पत्रकार सचिन जोशी ने  सरकार की कई योजनाओं को ग्राउंड जीरो पर उतारा एवं जन-जन की समस्या सरकार तक पहुंचाई  साथ ही शिक्षा स्वास्थ्य सुविधाओं एवं स्कूल व्यवस्था को लेकर कई बार खबरों के माध्यम से प्रशासन को जगाने का काम किया व उनकी खबरों का असर भी हुआ। उक्त बातों को ध्यान में रखते हुए रतलाम आंचलिक पत्रकार संघ के प्रादेशिक सम्मेलन में प्रदेश अधयक्ष रमेश टाक की मंशा व कई वरिष्ठ पत्रकार एवं केंद्रीय एवं राज्य मंत्रियों की उपस्थिति में पत्रकारिता के क्षेत्र में कलम के धनी झाबुआ जिले का गौरव बढ़ाने वाले युवा पत्रकार सचिन जोशी को सम्मानित किया जाएगा।

पैरामिलिट्री फोर्स चयन के लिए फिजीकल टेस्ट डीआरपीलाईन में बालिकाओ ने लगाई दौड
चयनित बालिकाओ को 18 सितम्बर 18 जनवरी 2020 तक निःशुक्ल कोचिंग दी जाएगी
jhabua news
झाबुआ । कक्षा 12 वी में अध्ययनरत बालिकाओ के लिए पैरामिलिट्री फोर्स चयन के लिए फिजीकल टेस्ट का आयोजन आज 14 सितम्बर को डीआरपी लाईन पुलिस परेड ग्राउण्ड पर किया गया। फिजिकल टेस्ट में चयनित बालिकाओ की लिखित परीक्षा होगी। उसके बाद चयनित बालिकाओ को 18 सितम्बर 2019 से 18 जनवरी 2020 तक कन्या उ.मा.वि. झाबुआ में निःशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी। सप्ताह में 4 दिवस प्रातः 06ः30 से 08ः00 बजे तक एवं रविवार को 2 घंटे बालिकाओ को डीआरपी लाइन झाबुआ में फिजिकल प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। कोचिंग का समय सामान्य प्रतिदिन प्रातः 08ः00 से 10 बजे तक रहेगा। बालिकाओ की सहमति के आधार पर शाम का समय भी रखा जा सकता है। संस्था में व्यावसायिक शिक्षा की नोडल पैरामिलिट्री कोचिंग के लिए प्रभारी रहेगी।

नेशनल लोक अदालत में 13 खण्डपीठों में प्रकरणो की सुनवाई कर किया गया निराकरण
     
jhabua news
झाबुआ । जिला झाबुआ में श्री अशोक कुमार तिवारी, जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, झाबुआ के मार्गदर्शन में आज 14 सितम्बर 2019 (शनिवार) को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिला न्यायालय में अदालत का शुभारंभ में जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री तिवारी द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। नेशनल लोक अदालत के लिए 13 खण्डपीठो में प्रकरणो की सुनवाई की गई। अदालत में उपस्थित हुए पक्षकारो का आपसी सुलह के माध्यम से समझौता करवाकर प्रकरणो का निराकरण किया गया। उक्त लोक अदालत हेतु झाबुआ न्यायालय में 8 खण्डपीठ एवं तहसील थांदला में 02 तथा तहसील पेटलावद में 03 खण्डपीठ इस प्रकार कुल 13 खण्डपीठों में सुनवाई की गई। नेशनल लोक अदालत में समझौता योग्य आपराधिक प्रकरण, दिवानी प्रकरण, निगोशिएबल इंस्टूªमेंट एक्ट की धारा 138 के प्रकरण, मनी रिकवरी प्रकरण, एम.ए.सी.टी. (मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण) के मामले, श्रम विवाद प्रकरण, विद्युत एवं जलकर बिल संबंधी प्रकरण (राजीनामा योग्य), वैवाहिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण के प्रकरण, राजस्व के प्रकरण (जिला न्यायालय में लंबित) संबंधी आदि प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह समझौते के माध्यम से किया गया। प्रीलिटिगेशन प्रकरणों के रूप में समझौता योग्य आपराधिक प्रकरण, दिवानी प्रकरण, निगोषिएबल इंस्टूªमेंट एक्ट की धारा 138 के प्रकरण, मनी रिकवरी प्रकरण, श्रम विवाद प्रकरण, बी.एस.एन.एल. के टेलीफोन प्रकरण, विद्युत एवं जलकर बिल संबंधी प्रकरण (राजीनामा योग्य), भरण-पोषण प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह एवं समझौते के माध्यम से किया गया।

20 सितम्बर तक लगेगे वेतन निर्धारण शिविर
    
झाबुआ । जिला पंेशन अधिकारी श्रीमति ममता चंगोड ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन के शासकीय कर्मचारियो के सातवे वेतनमान की द्वितीय किश्त के आहरण के पूर्व संबंधित कार्यालय द्वारा किये गये वेतन निर्धारण का अनुमोदन जिला पंेशन अधिकारी अथवा संभागीय संयुक्त संचालक कोष एवं लेखा इंदौर से कराया जाना अनिवार्य है। त्रुटिपूर्ण वेतन निर्धारण पर वसूली या न्यायालयीन प्रकरणो की स्थिति निर्मित न हो। इस उदेश्य से कर्मचारी के वेतन निर्धारण की जाॅच एवं अनुमोदन आवश्यक है। इस कार्य को अतिशीघ्र सम्पादित करने के उदेश्य से संभागीय संयुक्त संचालक कोष एवं लेखा इंदौर के पर्यवेक्षण में वेतन निर्धारण शिविर जिला पेंषन कार्यालय में तथा संभाग स्तर पर संभागीय संयुक्त संचालक कोष एवं लेखा कार्यालय इंदौर में 20 सितम्बर 2019 तक आयोजित किये जायेगे।

रंगीन फोटो परिचय-पत्र बनाने का विशेष अभियान निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे रंगीन फोटो परिचय-पत्र
     
झाबुआ । मुख्य निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में लगभग 74 लाख मतदाताओं के फोटो ब्लैक एण्ड व्हाईट हैं, जिनके रंगीन फोटो प्राप्त कर नवीन रंगीन फोटो परिचय-पत्र बनाये जायेंगें। बूथ लेवल अधिकारी संबंधित मतदाता से निर्धारित फार्म-8 भरवाकर रंगीन फोटो प्राप्त करेंगे। आवेदन के साथ पुराना मतदाता परिचय-पत्र जमा करने की जरूरत नहीं हैं। ऐसे मतदाताओं को नये रंगीन प्लास्टिक फोटो परिचय-पत्र निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे। मतदाता अपने पास पहले से उपलब्ध पुराने म्च्प्ब् कार्ड को तब तक रखेगा, जब तक उसे नया कार्ड उपलब्ध नहीं हो जाये। नये रंगीन फोटो परिचय-पत्र प्राप्त होने के बाद पुराने कार्ड को बूथ लेवल अधिकारी द्वारा वापस प्राप्त किया जावेगा।

विद्युत उपभोक्ता संपर्क एवं शिकायत निवारण शिविर 30 सितम्बर तक
    
झाबुआ । म.प्र.प.क्षे.वि.वि.कं.लि.झाबुआ के कार्यपालन यंत्री श्री नितिन चैहान ने बताया कि राज्य शासन द्वारा चलाये जा रहे आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम अनुसार झाबुआ सम्भाग के विद्युत उपभोक्ताओ के विद्युत समस्याओ/शिकायतो के त्वरित निराकरण हेतु प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार 30 सितम्बर तक झाबुआ सम्भाग अंतर्गत संचालित 13 वितरण केन्द्र के प्रत्येक वितरण केन्द्र के दो ग्रामो में प्रतिदिन प्रातः 08 बजे से सायं 4 बजे तक सम्बंधित ग्राम के पंचायत भवन में षिविर आयोजित किये जावेगे। षिविर में विद्युत आपूर्ति सम्बंधी, बंद खराब मीटर, बिजली बिल, वोल्टेज कम/ज्यादा होने संबंधी ट्रांसफार्मर बदलने सम्बंधी एवं अन्य विद्युत समस्याओ/शिकायतो का निराकरण यथा सम्भव मौके पर ही वितरण केन्द्र के प्रभारी द्वारा किया जाएगा। लम्बित प्रकरणो का निराकरण अधिकतम एक सप्ताह की समयवधि में सम्बन्धित वितरण केन्द्र प्रभारी द्वारा किया जावेगा। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार 17 सितम्बर को वितरण केन्द्र मेघनगर के ग्राम देदला में, मेघनगर वितरण केन्द के ग्राम मोखडा में, थांदला वितरण केन्द के ग्राम टिमरवानी में, थांदला वितरण केन्द के ग्राम सजेली मालजीसाथ में, काकनवानी वितरण केन्द के ग्राम ढेबर में, काकनवानी वितरण केन्द के ग्राम भीमपुरा में, रानापुर वितरण केन्द के ग्राम ढोल्यावड में, रानापुर वितरण केन्द के ग्राम लंबेला में, पारा वितरण केन्द के ग्राम बलोला में, पारा वितरण केन्द के ग्राम पिथनपुर में, खवासा वितरण केन्द के ग्राम मकोडिया में, खवासा वितरण केन्द के ग्राम भेरूपाडा में, बामनिया वितरण केन्द के ग्राम बारिगांव में, बामनिया वितरण केन्द के ग्राम सेमलपाडा में, सारंगी वितरण केन्द के ग्राम पोलारूण्डा में, सारंगी वितरण केन्द के ग्राम नाहरपुरा में, पेटलावद वितरण केन्द के ग्राम भेरूपाडा में, पेटलावद वितरण केन्द के ग्राम उन्नई में, रायपुरिया वितरण केन्द के ग्राम मोरझरिया में, रायपुरिया वितरण केन्द के ग्राम छापरी में, झकनावदा वितरण केन्द के ग्राम तारखेडी में, झकनावदा वितरण केन्द के ग्राम सेमलिया में, झाबुआ ग्रामीण वितरण केन्द के ग्राम पिपलिया पारा रोड में, झाबुआ ग्रामीण वितरण केन्द के ग्राम भोयरा में शिविर आयोजित किया जाएगा।

जिले में 24 घण्टो मे 74.0 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
         
झाबुआ । जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 1197.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। विगत 24 घण्टो मे औसत 74.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 90.6,रामा में 55.0 मि.मी.,थांदला मे 84.2 मि.मी.,पेटलावद मे 149.2 मि.मी.,राणापुर मे 46.0 मि.मी, मेघनगर मे 19.0,मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...