मधुबनी : सात निश्चय योजनाओं के को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 सितंबर 2019

मधुबनी : सात निश्चय योजनाओं के को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन

meeting-for-saat-nishchay-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) : श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में गुरूवार को स्थानीय डी0आर0डी0ए0 स्थित सभाकक्ष में सात निश्चय योजना के तहत लोहिया स्वच्छता अभियान तथा नल-जल एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा की गयी। इस अवसर पर उप-विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री अजय कुमार सिंह, प्रभारी,पंचायती राज पदाधिकारी, मधुबनी, श्री किशोर कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, मधुबनी, श्री सुनील कुमार, सात निश्चय योजना के वरीय पदाधिकारी, श्रीमती रेणु कुमारी समेत सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रोग्राम पदाधिकारी, मनरेगा उपस्थित थे। समीक्षा के क्रम में जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा कहा गया कि सात निश्चय की सभी योजनाओं के क्रियान्वयन में संबंधित प्रखंडों के किसी भी विभाग के कर्मियों तथा पदाधिकारियों का सहयोग लिया जा सकता है। यथा कृषि विभाग तथा अन्य विभाग के कर्मियों का सहयोग लोहिया स्वच्छता अभियान आदि में लिया जा सकता है। उन्होंने कलुआही प्रखंड विकास पदाधिकारी को खराब प्रदर्शन वाले तीन पंचायत रोजगार सेवकों का 05 दिनों के मानदेय की कटौती करने का निदेश दिया। साथ ही वैसे सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी जिनका जियो टैगिंग 60 प्रतिशत से कम तथा प्रोत्साहन राशि का भुगतान भी 55 प्रतिशत से कम है, उनसे स्पष्टीकरण पूछने हेतु उप विकास आयुक्त, मधुबनी को निदेश दिया। उन्होंने जियो टैगिंग कार्य में प्रगति लाने हेतु किसान सलाहकार तथा विकास मित्र को भी लगाने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि 02 अक्टूबर को जिला को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जाना है। जिसको देखते हुए सभी पदाधिकारियों को अपने-अपने कार्यो में प्रगति लाते हुए निर्धारित लक्ष्य को पूर्ण करने का निदेश दिया। उन्होंने नल-जल योजना की प्रगति की समीक्षा के दौरान सभी पदाधिकारियों को निदेश दिया कि वे सभी वैसे पंचायत जिसमें राशि की कमी देखी जा रही है, वहां पूर्व से चल रही योजनाओं को शीघ्र पूर्ण करें। साथ ही सभी पदाधिकारियों को योजना के क्रियान्वयन में पूर्ण पारदर्शिता लाते हुए विभागीय नियमों के आलोक में कार्य कराने का निदेश दिया।  जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा विभागीय निदेश के आलोक में सहायक अभियंता के द्वारा प्रखंड विकास पदाधिकारी को समय-समय पर योजनाओं के गुणवत्ता से संबंधित प्रतिवेदन दिया जाना है। उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी, बासोपट्टी द्वारा अरघावा पंचायत के वार्ड नं0 02,08,10 तथा 12 में चल रहे नल-जल योजना के क्रियान्वयन की जांच जिला स्तरीय पदाधिकारी से कराने हेतु अनुरोध किया गया। उन्होंने जिला पंचायती राज पदाधिकारी को उक्त वाडों में चल रही योजनाओं की जांच करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि दिनांक 14.09.2019 को डी0आर0डी0ए0 सभागार, मधुबनी में नल-जल योजना के एम0बी0 बुक कार्य की समीक्षा करने तथा आवंटन हेतु एम0आई0एस0 पर अपलोड करने की कार्रवाई की जायेगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना तथा जल-जीवन हरियाली कार्यक्रम की भी समीक्षा की गयी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...