ओलंपिक पदक के लिये छोटी चीजों पर काम करने की जरूरत : यशस्विनी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 8 सितंबर 2019

ओलंपिक पदक के लिये छोटी चीजों पर काम करने की जरूरत : यशस्विनी

need-improvement-for-olympic-medal-yashwaswi
नयी दिल्ली, सात सितंबर,  यशस्विनी सिंह देसवाल ने हाल में रियो विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता और उन्होंने कहा कि अगले साल ओलंपिक खेलों में सफलता हासिल करने के लिये उन्हें ‘छोटी’ चीजों में सुधार करना होगा।  बाईस वर्षीय निशानेबाज ने रियो दि जिनेरियो विश्व कप में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में स्वर्ण पदक जीतकर भारत को नौंवा ओलंपिक कोटा दिलाया।  पूर्व जूनियर विश्व चैम्पियन ने सत्र के चौथे आईएसएसएफ विश्व कप के फाइनल में 236.7 अंक जुटाये और शीर्ष निशानेबाज ओलिना कोस्टेविच को पछाड़ दिया।  यशस्विनी ने यहां आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘पदक जीतकर और कोटा हासिल करके काफी खुश हूं। मेरी कड़ी मेहतन का अंत में नतीजा मिला। मेरे लिये यह पदक आश्वस्त करता है कि मैं सही दिशा में आगे बढ़ रही हूं। यह पदक सही समय पर मिला। मुझे इसकी जरूरत थी। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘पदक जीतने के बाद अब मेरी असली यात्रा शुरू हो गयी है और यह ओलंपिक कोटा जीतने जितनी ही अहम होगी। प्रतिस्पर्धा कैसी भी हो, हर शाट महत्वपूर्ण है और मुझे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘तकनीकी रूप से मुझे कोई बड़ा सांमजस्य नहीं बिठाना होगा लेकिन मुझे हर टूर्नामेंट में अपनी शाट टाइमिंग सुधारनी होगी। ’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...