जमशेदपुर : प्रगतिशील लेखक संघ प्रदेश अध्यक्ष जयनंदन सम्मानित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 25 सितंबर 2019

जमशेदपुर : प्रगतिशील लेखक संघ प्रदेश अध्यक्ष जयनंदन सम्मानित

prales-adhyaksh-jaynandan-honored
जमशेदपुर (प्रमोद कुमार झा) वरिष्ठ कथाकार जयनंदन को श्री कृष्ण सिन्हा संस्थान विष्टुपुर के प्रेक्षागृह मे आयोजित  कविवर निर्मल मिलिंद समारोह में पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।इस अवसर पर मुख्य अतिथि वरिष्ठ कवयित्री और गीत कार डाक्टर शांति सुमन ने शाल ओढाकर और प्रशस्ति पत्र व चेक देकर सम्मानित किया । गांव से भरी हुई हैं कहानियां ,मुख्य अतिथि ने कहा कि जयनंदन ने जमशेदपुर को देश बना दिया ,वे देश भर मे कथा यात्रा करते हैं, उनकी कहानियों में गांव लहलहा रहा है , जब कभी भी गांव को देखना हो तो आपको जयनंदन की कहानी पढनी चाहिए ,उन्होंने कहा कि लोहे मे संवेदना नहीं होती, लोहे को पीटने वाले मे संवेदना होती है ,लौह अयस्क का सारा यौवन उनकी कहानी में है .उन्होंने उनकी विश्व बाजार में ऊंट कहानी की चर्चा भी की ,उन्होंने कहा कि जयनंदन कविता की तरह संवेदनशील है, उन्हें मिट्टी से प्यार है ऐसा होना  भी चाहिए । मुख्य वक्ता रांची के वरिष्ठ कथाकार डॉक्टर वासुदेव ने कहा कि जयनंदन सामाजिक पृष्ठभूमि पर लिखते हैं ।आठ उपन्यास और सत्रह कहानी संग्रह आ चुके हैं ।यह काम बडी बात नहीं होती ।उन्होंने कहा कि जयनंदन के जीवन में बसंत अब आया है ।उन्हें दूर तक जाना है बहुत कुछ लिखना है  कार्यक्रम का आयोजन निर्मल मिलिंद की पत्नी अर्चना मिलिंद  ने किया ।अनिता शर्मा ने स्वागत भाषण दिया अशोक शुभदर्शी ने जयनंदन का परिचय दिया ,वरिष्ठ साहित्यकार ,पत्रकार दिनेशवर प्रसाद सिंह दिनेश ,प्रो अहमद बद्र ,डाक्टर लक्ष्मण प्रसाद ,कामरेड शशि कुमार ,उषा वर्मा ,कथाकार पंकज मित्र व अन्य साहित्यकार और पत्रकार ने भी कार्य क्रम को संबोधित किया ।कार्य क्रम का संचालन डॉक्टर राजेश कुमार लाल दास आकाशवाणी संवाददाता ने किया ।अंत में धन्यवाद ज्ञापन शंभू शरण ने किया

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...