मधुबनी : नए मोटर ट्रैफिक अधिनियम के खिलाफ मोटर चालक यूनियन जयनगर ने निकाला विरोध मार्च। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 7 सितंबर 2019

मधुबनी : नए मोटर ट्रैफिक अधिनियम के खिलाफ मोटर चालक यूनियन जयनगर ने निकाला विरोध मार्च।

protest-for-new-moter-law-madhubani
जयनगर/मधुबनी  (आर्यावर्त संवाददाता) मोटर चालक यूनियन जयनगर के द्वारा नए मोटर ट्रैफिक  अधिनियम के खिलाफ रेलवे स्टेशन परिसर जयनगर  से मोटर चालकों ने विरोध मार्च निकाला जिसका नेतृत्व मोटर चालक यूनियन के अनुमंडल सचिव भूषण सिंह ने किए ।  विरोध मार्च बस स्टैंड,शहीद चौक,मैन रोड,महावीर चौक व विभिन्न चौक-चौराहों होते हुए स्टेशन चौंक पर सभा में तब्दील कीया गाय । सभा के अध्यक्षता युनियन के अनुमंडल अध्यक्ष मो0 सद्दाम ने कीया ।इस आयोजित सभा को संबोधित करते हुए मोटर चालक यूनियन जयनगर  के अनुमंडल सचिव भूषण सिंह ने कहा की यह पूरी तरह गरीब विरोधी कानून है. ट्रैफिक नियमों में उल्लंघन करने पर जुर्माना पहले से लगभग 10 गुना बढ़ा दिया गया है, जो पहले से ही आर्थिक संकट झेल रही देश की जनता के साथ क्रूर मजाक है.उन्होंने कहा कि सरकार के इन कदमों से वाहन चालकों पर बेहद नकरात्मक असर पड़ेगा. सरकार ने आॅटो-रिक्शा चालकों से 15 साल का रोड टैक्स व 5 साल के परमिट का पैसा वसूला लेकिन अब कह रही है कि सभी डीजल वाहनों के परमिट रद्द कर दिए जाएंगे और सीएनजी सेवा चलाई जाएगी. सरकार प्रदूषण बढ़ने का तर्क दे रही है. यदि सरकार सचमुच सीएनजी वाहनों को चलाना चाहती है तो इस बात की गारंटी करे कि पुराने वाहन चालक के वाहन की कीमत लगाकर सीएनजी वाहन खरीदने के लिए उन्हें 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान की जाए. इस कार्य में शिक्षित बेरोजगारों की भारी संख्या लगी हुई है. इसलिए इसे आनन-फानन में नहीं किया जा सकता है. परमिट रहने तक इन वाहनों को चलने देना चाहिए.प्रदूषण केंद्र सरकार के परिवहन विभाग द्वारा ही स्थापित किए गए थे, लेकिन अब इस कानून के तहत प्रदूषण के वे सारे सर्टिफिकेट रद्द कर दिए जाएंगे. सरकार यह बताए कि अपने ही संस्थानों के सर्टिफिकेट को रद्द कर वाहन चालकों को क्यों परेशान कर रही है? वाहन चालकों की शिकायत है कि प्रशासन उनसे आॅन द स्पाॅट जुर्माना नहीं वसूलती. बाद में कई तरह के अन्य फर्जी चार्ज भी जोड़ दिए जाते हैं. इसलिए स्पाॅर्ट फाइन की ही व्यवस्था होनी चाहिए। और आन्दोलन को मजबूती व यूनियन के विस्तर हेतु 14 सितम्बर को आम सभा आयोजित किया जाएगा जिस में सैंकड़ों संख्याओं में सभी प्रकार के मोटर चलाने वाले मोटर चालक सामिल होंगें ।इस आयोजित विरोध मार्च व सभा मे अशोक गिरी, मो0 इम्तियाज, मो0शमी, मो0 रजिया, पिंटू, मो0 मुजिबुल मो0लाल ,मो0 निसार ,श्याम राय, उमेश सिंह, संतोष यादव ,दिनेश यादव, संजीव यादव प्रमोद कुमार साह, मो0 जमाल ,मो0 छोटे, वीरेंद्र महारा, मनोज साह,दीपेश कुमार यादव  सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...