सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 20 सितंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 सितंबर

खुशहाल मध्यप्रदेश की ओर बढ़ते कदम : पी.सी.शर्मा जनसंपर्क मंत्री,मध्यप्रदेश शासन

यह खुशहाल और हरा-भरा नया मध्य प्रदेश है,जो लोक-कल्याण का संकल्प लिए नई ऊँचाइयाँ छू रहा है। यहाँ किसान खुशहाल होकर आगे बढ़ रहे है। ग्रामीण इलाकों का सर्वांगीण विकास हो रहा है। बहनें और बेटियाँ सुरक्षित होकर उन्नति के नए आयाम स्थापित कर रही है। नौनिहालों की आँखों में स्वर्णिम सपने हैं। समाज में सुख-शांति और सद्भावना है। युवाओं के लिए रोजगार की असंख्य संभावनाएँ जगी हैं। कौशल विकास के पुख्ता और सहज इंतजाम होने से समाज का हर तबका लाभान्वित हो रहा है। जल, जंगल और जमीन के असल रक्षक आदिवासी समाज में प्रसन्नता और विश्वास बढ़ा है और उनकी उम्मीदें आसमान पर है। दलित और वंचित वर्ग आत्म-विश्वास से भरा हुआ है। पिछड़ा वर्ग का आरक्षण बढ़कर 27 प्रतिशत होने से समाज के एक बड़े तबके में विकास के साथ कदम-ताल का विश्वास बढ़ा है। अल्पसंख्यक समुदाय भयमुक्त होकर विकास का हमराह बना हुआ है। पिछले 15 सालों के कुशासन ने युवाओं को हतोत्साहित किया था लेकिन कमलनाथ सरकार ने युवाओं के कल्याण की बेहतरीन परिकल्पना से नई  संभावनाएँ जगाई हैं। युवाओं के लिए रोजगार के नए और बेहतर अवसर उत्पन्न हो रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार ने उद्योग नीति मेँ संशोधन कर राज्य मेँ लगने वाले उद्योगों मेँ स्थानीय युवाओं को 70 प्रतिशत रोजगार देना अनिवार्य कर दिया है। खिलाड़ियों को उच्च स्तर की सुविधाएँ देने को सरकार प्रतिबद्ध है। राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता मेँ भाग लेने वाले और जीतने वाले खिलाड़ियों के लिए पुरस्कार राशि कई गुना बढ़ा दी गई है। शिक्षा संस्थानों का कायाकल्प करके आधुनिक संसाधन बढ़ाएँ जा रहे हैं जिससे हमारे नौनिहाल बेहतर और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा अर्जित कर सके।  स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त किया गया है। ग्रामीण इलाकों तक आसानी से बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ जन-मानस को मिल सके, इसके लिए लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के क्षेत्र मेँ तत्परता से कार्य किए जा रहे हैं। पंचायतों को मजबूत किया गया है और शासन की योजनाओं का लाभ गाँव-गाँव तक पहुँचे यह सुनिश्चित किया गया है। वहीं नगरीय विकास को बेहतर और नियोजित स्वरूप दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना योजना से नगरीय विकास को गति मिली है। बिजली की दरों को सस्ता करने से आम आदमी को बहुत राहत मिली है। पर्यटन की दृष्टि से देश-विदेश मेँ राज्य की नई पहचान बनी है। परिवहन की व्यवस्थाएँ बेहतर हुई हैं। कर्मचारी कल्याण हो या सामाजिक न्याय, लोगों का विश्वास बढ़ा है। हमारी आस्था, धर्म, जन-जागरण और प्रेरणा के प्रतीक साधु-संतों की भी इस प्रदेश में वैसी ही चिंता की जा रही है, जैसी अन्य जन-समुदाय की। आध्यात्म विभाग ने संत समागम के माध्यम से साधु-संतों का सम्मान करके और उनकी समस्याओं पर व्यापक विमर्श कर यह साफ संदेश दिया गया है कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार की लोक कल्याणकारी नीति से कोई भी वर्ग अछूता नहीं रहे। राज्य में धर्मस्व, धार्मिक न्यास और आनंद विभाग को मिलाकर अध्यात्म विभाग का गठन इसीलिए किया गया जिससे आस्था और विश्वास के साथ हमारा धर्म निरपेक्ष ढाँचा और मजबूत बने। धार्मिक स्थानों का समुचित और चहुँमुखी विकास कर धर्मावलम्बियों को सुलभ और बेहतर सुविधाएँ मिल सके, इस दिशा मेँ तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश में शासन संधारित मंदिरों के पुजारियों के मानदेय में तीन गुना वृद्धि की गई है। इसके साथ ही कई धार्मिक स्थलों को पर्यटन केन्द्रों के रूप में विकसित करके वहाँ आधुनिक और उच्च स्तर की सुविधाओं का भी विकास किया जा रहा है। इससे स्थानीय स्तर पर व्यापक रोजगार बढ़ने की संभावनाएँ बढ़ी है। विमानन के क्षेत्र में शासकीय हवाई पट्टियों को पायलट प्रशिक्षण, उड्डयन गतिविधियों एयर स्पोर्ट्स, हेलीकॉप्टर अकादमी के लिए सुलभ बनाया गया है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का लाभ प्रदेश की जनता को खूब मिल रहा है और प्रदेश के कोने-कोने से धर्मावलम्बी विभिन्न तीर्थ-स्थानों पर जाकर दर्शन लाभ ले रहे है। धार्मिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण राम वनगमन पथ की प्रस्तावित योजना रचनात्मक होकर राज्य के कई इलाकों में विकास के द्वार खोल रही है। राम वनगमन पथ के प्रस्तावित मार्ग में सतना, पन्ना, कटनी, उमरिया, शहडोल और अनूपपुर जिले आते हैं। इन स्थानों के प्रमुख धर्म-स्थलों का जीर्णोद्धार, संरक्षण और विकास किया जाएगा। नदियो, झरनों और वनों का संरक्षण कर उन्हें प्रदूषण मुक्त रखने के साथ ही समुचित जन सुविधाएँ सुलभ करवाकर पर्यटन के लिए भी विकसित किया जाएगा। लोकतंत्र का चौथा स्तंभ मीडिया को माना जाता है। हमारे पत्रकार कृत-संकल्पित होकर लोकतंत्र को मजबूत करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं और कमलनाथ सरकार पत्रकारों की सुरक्षा और उनकी बेहतरी के लिए निरंतर कार्य कर रही है। पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की तैयारी है। महिला पत्रकारों को प्रोत्साहन और सुरक्षा देने के लिए राज्य स्तरीय समिति का गठन,पत्रकारिता सम्मान, दुर्घटना और स्वास्थ्य बीमा योजना,पत्रकार आवास ऋण योजना जैसे कई अन्य प्रभावकारी कदम उठाये गए है। विधि और विधायी के कार्य समय पर सम्पन्न हो इसके लिये भी व्यवस्था को बेहतर करने के कदम उठाये गए हैं। एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को लागू किए जाने को लेकर सरकार तैयार है। अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश के 4 अतिरिक्त न्यायालयों की स्थापना,वाणिज्यिक न्यायालयों का गठन और व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 की भर्ती सुनिश्चित करने जैसे कार्यों का फायदा निश्चित ही जन-समुदाय को मिलेगा। विज्ञान और प्रौद्योगिकी से देश और समाज का तेजी से विकास हो, इसके प्रयास पूर्व प्रधानमन्त्री स्व. राजीव गांधी ने लगभग 35 साल पहले ही प्रारम्भ कर दिए थे। कमलनाथ सरकार इस दिशा में तेजी से कार्य कर रही है। भोपाल में साईंस सिटी का विकास, उज्जैन और जबलपुर में उप क्षेत्रीय विज्ञान केंद्र की स्थापना,समस्त सेवाओं को ऑन लाईन करने जैसे कई प्रभावशाली कदम उसी दिशा में सकारात्मक प्रयास है। विकास से दूर मध्यप्रदेश के विकास के लिए व्यापक और सकारात्मक सोच की आवश्यकता को देखते हुए कमलनाथ सरकार ने संकल्पित होकर प्रतिबद्धता से उसे पूरा करने का प्रयास किया है। पिछली सरकार ने किसानों के खिलाफ जो अन्याय पूर्ण और हिंसात्मक व्यवहार किया था, उससे अन्नदाता भयभीत और बदहाल थे। कमलनाथ सरकार ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना से किसानों को व्यापक राहत दी। इसे साथ ही कृषि और किसान कल्याण के लिए व्यापक योजनाओं की शुरुआत की। मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना से आकस्मिक और अप्रत्याशित दुर्घटनाओं से निबट पाने के प्रति किसानों में विश्वास जागा है। जाहिर है कमलनाथ सरकार जब से आई है,मध्य प्रदेश मेँ खुशहाली आई है। बेहतर और खुशहाल मध्यप्रदेश बने, इसलिए हम संकल्पित होकर कार्य कर रहे हैं। लोक कल्याण ही हमारा ध्येय है।

अभिरूचि गरबा प्रशिक्षण जगा रहा बच्चियों  युवतियों और ग्रहणियों में आत्मविश्वास 
समाजसेवी अरूणा राय ने की अच्छे प्रदर्शन पर प्रशिक्षण के दौरान पुरस्कार देने की घोषणा 
sehore news
सीहोर। नि: शुल्क अभिरूचि गरबा प्रशिक्षण बच्चियों युवतियों और ग्रहणियों में जहां धर्म के प्रति आस्था जगा रहा है वहीं एकल समूह नृत्यकलां के लिए आत्मविश्वास भी बढ़ा रहा है। प्रशिक्षण में लगातार बढ़ती संख्या को देखकर समाजसेवी अरूणा सुदेश राय, शीतल रिंकु जायसवाल ने शुक्रवार से चार बेंच कर दिए है। उन्होने प्रशिक्षण के दौरान जल्द सीखकर अच्छा प्रदर्शन करने वाली प्रतिभाओं को पुरूस्कृत करने की भी घोषणा की है।  टाकीज सांस्कृतिक एवं सामाजिक संगठन लगातार सातवें वर्ष शहर की माता बहनों बेटियों की रूचि के अनुसार अभिरूचि गरबा महोत्सव आयोजित कर रहा है। शहर की बहु बेटियों में यशराज गार्डन में जारी ११ दिवसीय नि: शुल्क गरबा प्रशिक्षण में सम्मिलित होने को लेकर उत्साह का माहौल बना हुआ है।  प्रशिक्षण के तीसरे शुक्रवार को टाकीज सांस्कृतिक एवं सामाजिक संगठन की सरंक्षक रोमिनी राय,नमिता राय, अरूणा राय और डॉली राय, सुधा राय,शीतल जायसवाल, संतोष विजयवर्गीय, आभा कासट, शशि सोनी,मोहनी अग्रवाल, संध्या मोदी, वत्सला शर्मा  जिया कुशवाहा, प्रतिक्षा शर्मा, सरीता कन्नौजियां, ज्योति राठौर रूपाली सोनी ने मातारानी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित एवं माल्यार्पण कर प्रशिक्षण का शुभारंभ किया।  टाकीज सांस्कृतिक एवं सामाजिक संगठन के अरूण राठौर ने बताया की अभिरूचि गरबा महोत्सव ने प्रशिक्षाणार्थी को बेहतरीन गरबा प्रशिक्षण देने के लिए मास्टर ट्रेनर नवीन चौधरी और शिवानी चौधरी को चुना है प्रशिक्षकों के द्वारा हर गरबा स्टेप स्वयं मंच से प्रस्तुत कर सिखाई जा रहीं है। गरबा प्रशिक्षण केंद्र पर ओरिजनल म्यूजिक भी रखा गया है गायक वादक सुरताल के साथ प्रशिक्षण दे रहे है। सहयोगी टीम के सदस्य प्रशिक्षाणाथर््िायों के प्रदर्शन पर बारिकी से नजर रख रहे है।  आयोजन  में  अक्षत कासट,नीलेश राठौर, पंडित शुमितेश्वर महाराज, अरूण राठौर, अमित अग्रवाल, अरविंद गुप्ता, पुरषोत्तम शर्मा, रतनेश राठौर, देवेंद्र राजपूत, विनय दुबे, पवन पुंशी, पवन अग्रवाल, नवीन चौधरी, जागेश्वर नेमा, दीपक मेवाड़ा मनोज दुबे, मनोज श्रीवास्तव अपना महत्वपूर्ण सहयोग दे रहे है। 

राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास केन्द्र जल्द होगा सीहोर में प्रारंभ

sehore news
शुक्रवार को सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग दिल्ली के संयुक्त सचिव श्री प्रबोध सेठ ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। बैठक्‍ में सीहोर जिले में शीघ्र प्रारंभ होने वाले "राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास केन्द्र" मे संबंध में चर्चा की गई। उन्होने कहा कि यह देश का पहला ऐसा संस्थान है जो लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर केन्द्रित है। पुनर्वास केन्द्र के माध्यम से मानसिक रोगियों के इलाज के साथ-साथ आम लोगों को भी मानसिक रोगों के बारे में अवगत कराया जाएगा। बैठक में बताया गया कि इस पुनर्वास केन्द्र के निर्धारित स्थान पर भवन निर्माण मे लगभग दो वर्षों का समय लगेगा। तब तक जिला पंचायत के पुराने भवन में यह केन्द्र संचालित किया जाएगा। बैठक मे कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरूण विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने लगाया अवकाश पर प्रतिबंध

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने आदेश जारी कर जिले में आगामी त्यौहारों के अवसर पर कानून व्यवस्था एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं को दृष्टिगत रखते हुये जिले में पदस्थ समस्त जिला प्रमुखों के किसी भी प्रकार के अवकाश पर तत्काल प्रतिबंध लगा दिया है एवं पूर्व से स्वीकृत अवकाश निरस्त कर दिये है। अब कोई भी अधिकारी दशहरा पर्व तक अवकाश हेतु आवेदन प्रस्तुत नहीं करें। आकस्मिकता की स्थिति में स्वयं उपस्थित होकर अवकाश स्वीकृत करायें। आदेश तत्काल प्रभावशील है।

प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील आज सीहोर जिले के भ्रमण पर इछावर - में सुनेंगे लोगों की समस्याएं

गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछडा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग मध्यप्रदेश शासन तथा सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील आज सीहोर जिले के भ्रमण पर रहेंगे। जारी दौरा कार्यक्रम अनुसार गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछडा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग मध्यप्रदेश शासन तथा सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 21 सितम्बर को 8:30 बजे भोपाल से प्रस्थान कर 10:00 बजे ग्राम पंचायत डोडी मे गौ शाला का भूमि पूजन कर 11 बजे आष्टा के जनपद सभाकक्ष मे गैस सिलेंडर वितरण कार्यक्रम मे शामिल होकर 11:30 बजे आष्टा से सलकनपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। दोपहर 2:30 बजे सलकनपुर में मन्दिर की व्यवस्था का अवलोकन कर सांय 4 बजे सलकनपुर से भोपाल के लिए प्रस्थान करेंगे।     

जिले में अब तक 1589.9 मि.मी. औसत वर्षा

जिले में आज 20 सितंबर, 2019 की प्रात:8 बजे समाप्त पिछले चौबीस घन्टों में 5 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 1589.9 मि.मी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 855  मिलीमीटर औसत वर्षा आंकी गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घन्टों में  सीहोर में 1, आष्टा में 7, जावर में 27 एवं रेहटी में 4.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। जबकि श्यामपुर, इछावर, नसरूल्लागंज एवं बुधनी में वर्षा की स्थिति शून्य दर्ज की गई है। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 1881, श्यामपुर में 1463, आष्टा में 1562, जावर में 1212.6, इछावर में 1576, नसरूल्लागंज में 1846, बुधनी में 1473 तथा रेहटी में 1705.6 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई है। इस अवधि में गत वर्ष सीहोर में 1203.2, श्यामपुर में 901, आष्टा में 804, जावर में 665.3, इछावर में 880, नसरूल्लागंज में 565.2, बुधनी में 865 तथा रेहटी में 956 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई थी।

मद्य निषेध सप्ताह के संबंध मे बैठक 23 को

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार महात्मा गांधीजी की 150 वी जयंती के अवसर पर मद्य निषेध सप्ताह (2 से 8 अक्टूबर, 2019) के संबंध मे कलेक्टर की अध्यक्षता मे बैठक 23 सितम्बर को दोपहर 12:00 बजे कलेक्ट्रेट सभा कक्ष मे आयोजित की जाएगी। उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण सीहोर ने बताया कि आयोजित बैठक मे वन मंडल अधिकारी (सामान्य), मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला आबकारी अधिकारी, सहायक संचालक, जिला जनसम्पर्क, जिला श्रम अधिकारी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद सीहोर, जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास, जिला शिक्षा अधिकारी, महाविद्यालयीन नोडल प्राचार्य शा.चन्द्रशेखर आ.अग्र. महाविद्यालय सीहोर से बैठक मे अनिवार्यत: उपस्थित होने का कष्ट करें।

मद्य निषेध सप्ताह के संबंध मे समिति का गठन

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा महात्मा गांधीजी की 150 वी जयंती के अवसर पर मद्य निषेध सप्ताह (2 से 8 अक्टूबर, 2019) आयोजित किये जाने के संबंध मे संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण म.प्र. भोपाल के निर्देशानुसार वृहद जनजागृति कार्यक्रमों के लिये जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया गया है। उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण सीहोर ने बताया कि कार्यक्रम आयोजित किये जाने हेतु कलेक्टर की अध्यक्षता मे जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया गया जिसमें सचिव पुलिस अधीक्षक सीहोर एवं सदस्य  वन मंडल अधिकारी (सामान्य) सीहोर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सीहोर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीहोर, जिला आबकारी अधिकारी सीहोर, उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण सीहोर, जिला आबकारी अधिकारी सीहोर, सहायक संचालक, जिला जनसम्पर्क सीहोर, जिला श्रम अधिकारी सीहोर, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद सीहोर, जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास सीहोर, जिला शिक्षा अधिकारी, महाविद्यालयीन नोडल प्राचार्य सीहोर को नियुक्त किया गया है।

जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग समीति की बैठक 24 को

जिला संयोजक जनजातीय कार्य विभाग ने बताया कि अत्याचार निवारण के तहत जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग समीति की बैठक का आयोजन 24 सितम्बर को साय: 4 बजे कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में  किया जाएगा।

प्रदेश में एक अक्टूबर से मनेगा वन्य-प्राणी सप्ताह

प्रदेश में ए‍क अक्टूबर से सात अक्टूबर तक वन्य-प्राणी सप्ताह मनाया जायेगा। इस दौरान वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में विभिन्न कार्यक्रम होंगे। इसमें पहली से चौथी कक्षा तक के विद्यार्थी "मेरा प्रिय वन्य-प्राणी", 5वीं से 8 वीं कक्षा तक के विद्यार्थी "भोपाल का प्राकृतिक सौन्दर्य", 9 वीं से 12 वीं कक्षा तक के विद्यार्थी "हमारा राष्ट्रीय वन्य-प्राणी प्राकृतिक आवास में" तथा कॉलेज के विद्यार्थी "राष्ट्रीय उद्यान में पर्यटन" और डिफरेंटली एबल्ड विद्यार्थी "अपनी पसंद" के चित्र बनायेंगे। इसी दिन सुबह 10:45 बजे वन्य-प्राणी फोटो प्रतियोगिता का शुभारंभ भी होगा। दूसरे दिन 2 अक्टूबर को सुबह 6 से 8:30 बजे तक पक्षी अवलोकन एवं जैव विविधता शिविर और सुबह 10:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक युवा संसद होगी। तीन अक्टूबर को सुबह 6:00 से 8:30 बजे तक पक्षी अवलोकन और जैव विविधता शिविर तथा सुबह 10:30 बजे से "वन्य-प्राणी संरक्षण में शिक्षकों की भूमिका" पर शिक्षक कार्यशाला होगी। सुबह 7:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक विद्यालयीन और महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के लिये "वन विहार के वन्य-प्राणी" विषय पर फोटोग्राफी कार्यशाला और प्रतियोगिता होगी। शुक्रवार 4 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से स्कूली बच्चों के लिये सृजनात्मक कार्यशाला और दोपहर 12 बजे से अनुपयोगी सामग्री से तैयार किये गये वन्य-प्राणी उत्पाद की प्रतियोगिता होगी। 5 अक्टूबर को सुबह 6 से 8:30 बजे तक पक्षी अवलोकन एवं जैव विविधता शिविर, सुबह 9 से 11 बजे तक रंगोली प्रतियोगिता, पूर्वान्ह 11:30 से दोपहर 12:30 बजे तक पॉम पेन्टिंग और दोपहर 1 से 2 बजे तक मेंहदी प्रतियोगिता होगी। रंगोली, पॉम पेंटिंग और मेंहदी प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति भाग ले सकता है। छठवें दिन सुबह 6 से 8:30 बजे तक पक्षी अवलोकन एवं जैव विविधता शिविर के अलावा दोपहर एक बजे से "प्रकृति और वन्य-जीवन" पर क्विज होगा। वन्य-प्राणी सप्ताह का समापन 7 अक्टूबर को वन्य-प्राणियों पर आधारित फैन्सी ड्रेस और फेस पेंटिंग प्रतियोगिता के बाद पुरस्कार वितरण समारोह से होगा।

त्रुटिरहित मतदाता सूची के लिए मतदाता सत्यापन कार्यक्रम

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशन में 100 प्रतिशत त्रुटिरहित मतदाता सूची के लिए मतदाता सत्यापन कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसके अंतर्गत मतदाता नामावली में अपने नाम का सत्यापन ईपिक नम्बर की सहायता से आसानी से कर सकते हैं। मतदाता को अपने मोबाईल, ईपिक नम्बर के साथ NVSP.IN पर लॉगिन करने के बाद अपना नाम, जन्म दिनांक, लिंग, संबंधी का प्रकार, पता तथा फोटो सत्यापित करना होगा। मतदाता को त्रुटियों या विवरण, फोटोग्राफ में परिवर्तन के लिए सही जानकारी का उल्लेख करना अनिवार्य है तथा सूची में दर्शाए किसी भी एक आईडी फार्म को अपलोड करना होगा। इसके पश्चात आगे की सेवाओं के लिए मतदाता को अपना मोबाईल नम्बर और ई-मेल आईडी दर्ज करना होगा। बीएलओ द्वारा भी एक सितम्बर से 15 अक्टूबर 2019 के मध्य घर-घर जाकर सत्यापन कार्य किया जा रहा है। मतदाता नामावली में त्रुटि होने की स्थिति में बीएलओ द्वारा संशोधित फार्म भरा जाएगा।

श्रमिकों के बच्चों से राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के लिये आवेदन 15 अक्टूबर तक

प्रदेश के बीड़ी, चूना-पत्थर, डोलोमाइट, लौह मैग्नीज और क्रोम अयस्क खदान श्रमिकों के अध्ययनरत पुत्र-पुत्रियों से प्री-मेट्रिक और पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति के लिये आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। शिक्षा के लिये वित्तीय सहायता योजना में पात्र छात्र-छात्राएँ नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल https//scholarships.gov.in/helpdesk-nsp/gov.in  पर आवेदन कर सकते हैं। प्री-मेट्रिक छात्रवृत्ति के लिये आवेदन की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर और पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर, है। नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करने की पात्रता, जानकारी, शर्तें आदि प्रदर्शित हैं।

जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन 15 तक

जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 6वीं में सत्र 2020-21 में प्रवेश हेतु परीक्षा के लिए ऑनलाईन आवेदन 15 सितम्बर तक आमंत्रित किए गए हैं। प्रवेश चयन परीक्षा 11 जनवरी 2020 को सभी विकासखण्डों में आयोजित की जाएगी। प्रवेश चयन परीक्षा हेतु आवेदन करने के लिए अभ्यर्थी को जिले के शासकीय या मान्यता प्राप्त विद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2019-20 में कक्षा 5वीं में अध्ययनरत होना चाहिए तथा अभ्यर्थी का जन्म दिनांक 01 मई 2007 से 30 अप्रैल 2011 के मध्य होना चाहिए।

असंचारी रोग कार्यक्रम अभियान का उददेश्य बीमारी की प्रारंभिक स्थिति पहचानना

असंचारी रोग कार्यक्रम (एन.सी.डी) अभियान का उद्देश्य बीमारी की प्रारंभिक स्थिति पहचान करना और समाज में असंचारी रोगों के प्रति जागरूकता बढ़ाना एवं जीवन शैली में संशोधन कर असंचारी रोग से बचाव के तरीकों के बारे में हितग्राहियों को अवगत कराना है। एनसीडी में  जिला प्रदेश के सभी 51 जिलों  में प्रथम स्थान पर है। पूरे जिले में 56 केन्द्रों पर  109 कार्यकर्ता अभियान की शत प्रतिशत सफलता के लिए निरंतर सक्रिय है।  निरंतर 3 माह (सितंबर से नवंबर 2019) तक संचालित उक्त अभियान में 30 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के करीब 75 हजार 800 हितग्राहियों के स्वास्थ्य की जांच की जानी है। सितंबर से अक्टूबर तक अभियान के दौरान सभी चिन्हित क्षेत्रों की एएनएम तथा एमपीडब्ल्यू एक दल के रूप में सप्ताह में 3 दिवस सोमवार, बुधवार, तथा गुरूवार को सूक्ष्म कार्ययोजना बनाकर भ्रमण करेगी। प्रत्येक कार्य दिवसों में दोनों ही स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा 30-30 कुल 60 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर चिकित्सा अधिकारी एएनएम द्वारा रेफर किए गए सभी संभावित मरीजों की पुनः स्क्रीनिंग करेंगे एवं रोग सुनिश्चित होने पर आवश्यक उपचार प्रारंभ करेंगे। कैंसर या गंभीर प्रकृति के मरीजों को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय या चिकित्सा महाविद्यालय रेफर करेंगे। अभियान के अंतर्गत उच्च रक्तचाप, शुगर, मुंह का कैंसर, स्तन कैंसर, गर्भाशय के कैंसर की जांच की जाएगी। सभी दलों को जांच के लिए आवश्यक उपकरण, सामग्री ग्लुकोमीटर, स्ट्रीप्स एवं लेंसेट सहित बी.पी. उपकरण, वजन तोलने की मशीन टॉर्च, तथा इंच टैप तथा दवाएं उपलब्ध करा दी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...