दरभंगा : शुरू हुआ मैथिली लघु फिल्म फेस्टिवल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 8 सितंबर 2019

दरभंगा : शुरू हुआ मैथिली लघु फिल्म फेस्टिवल

short-film-festival-started-in-darbhanga
दरभंगा (आर्यावर्त संवाददाता) मिथिला का सांस्कृतिक इतिहास बहुत पुराना रहा है |मिथिला पेंटिंग से लेकर पाबैन-त्यौहार तक मिथिला कि संस्कृति दुनिया भर में प्रचलित रही है |इसी परम्परा को आगे बढाने में निरंतर मिथिला क्षेत्र में सराहनीय कार्य हो रहा है | मैथिली लघु सिनेमा के 25 साल पूरे होने के अवसर पर दरभंगा में दो दिवसीय मैथिली लघु फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत शनिवार को गई | कार्यक्रम का आयोजन एमएलएसएम कॉलेज के प्रांगन में किया गया| इसमें पांच लघु फिल्में दिखाई गई | इसके अलावा दोनों दिन में अलग अलग कार्यक्रम रखा गया है | इस कार्य को सफल बनाने के लिए मैथिली फिल्म अकादमी दरभंगा के संयोजक शशि मोहन भारद्वाज और उनके टीम का सराहनीय योगदान रहा है| शशि मोहन ने बताया कि फेस्टिवल में मैथिली फिल्म स्क्रिप्ट लेखन और सहित्य पर चर्चा होगी| साथ ही मैथिली फिल्म निर्माण को कैसे बढ़ावा मिले इस पर भी विचार होगा| कार्यक्रम का आयोजन मैथिली फिल्म अकादमी दरभंगा की ओर से किया जा रहा है| फेस्टिवल का उद्घाटन बिहार के डीजी होमगार्ड और अग्निशमन आरके मिश्र ने किया| इस दौरान उन्होंने कहा कि जमाना तकनीक का है. मैथिली में छोटी-छोटी फिल्में बनाकर हम आसानी से आम लोगों तक पहुंच सकते हैं. इससे भाषा और कला-संस्कृति का विकास होगा|

फेस्टिवल में दिखाई जाने वाली फिल्में : फेर हेतइ भोर, एमबीए कनिया सीए वर, गोरकी, पुनर्जन्म, कवि कल्पना

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...