विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 10 सितंबर 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 सितंबर

निःशुल्क रेटिना जांच शिविर 15 सितम्बर को

vidisha map
विदिशा। वर्ल्ड डाइबिटीज फाउंडेशन डेनमार्क के सहयोग से विज़न केयर रिसर्च भोपाल एवं सेवा भारती के सहयोग से सेवाभारती भवन श्रीकृष्ण कालोनी दुर्गानगर में 15 सितंबर को चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया है।सुबह 10 बजे से 1 बजे तक डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के रेटिना नेत्र पटल की निःशुल्क जांच शंकर नेत्रालय मद्रास के पूर्व विशेषज्ञ डॉ गजेंद्र चावला एम एस भोपाल द्वारा की जाएगी।नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ विनोद भट्ट ने मरीजों से इस शिविर का लाभ उठाने का अनुरोध किया है।जिनके नेत्र पटल में ख़राबी आ गयी है एवं जिन्हें कम दिखाई देता हो वे इस शिविर में जांच कर सकते हैं।मरीज़ों की शुगर की भी जांच निःशुल्क की जाएगी।सेवा भारती के सचिव राजीव भार्गव ने बताया कि शिविर में केवल डायबिटीज़ से पीड़ित मरीज़ों के आँखों की रेटिना जांच की जाएगी।

बीमित फसल क्षति की सूचना टोल फ्री नम्बर पर दर्ज कराएं

जिले के सभी किसान भाईयों से आग्रह किया गया है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत बीमित फसलों की क्षति होने पर बीमा कंपनी के टोल फ्री नम्बर 1800116515 पर 72 घंटे के अन्दर नुकसान की सूचना दी जा सकती है।  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनातंर्गत आपदाएं जैसे ओलावृष्टि, भू-स्खलन, जलभराव, बादल फटना एवं प्राकृतिक बिजली गिरने के कारण प्राकृतिक कारण, आग लगने आदि जोखिम को सम्मिलित किया गया है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक के द्वारा जिले के किसानों से आग्रह करते हुए अवगत कराया गया कि जिले में जारी लगातार वर्षा के कारण एवं जलभराव से किसान जिनके द्वारा अधिसूचित सोयाबीन, उड़द, मूंग फसल का बीमा कराया गया है और क्षतिग्रस्त होती है तो पूर्व उल्लेखित टोल फ्री नम्बर पर समयावधि में सीधे बीमा कंपनी को  सूचित कर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। प्रत्येक तहसील स्तर पर बीमा कंपनी द्वारा प्रतिनिधि नियुक्त किए गए है। 

निगरानी हेतु दल गठित

जिले में जारी अनवरत वर्षा और जल भराव से उत्पन्न स्थिति के कारण प्रभावित व्यक्तियों को आवश्यक राहत उपलब्ध कराने के उद्वेश्य से कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा दल गठित किए गए है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि विदिशा शहर के अंतर्गत निगरानी रखने के लिए कुल चार दल गठित किए गए है। प्रभारी अधिकारी के साथ-साथ सहायक अधिकारियों को शामिल कर दलों का गठन किया गया है और उन्हें क्षेत्र आवंटित किए गए है ताकि सौंपे गए क्षेत्रों की सतत निगरानी कर बाढ़ पीड़ितों के लिए त्वरित सहायता मुहैया कराने की कारगर पहल कर सकें। गठित दल अपने-अपने क्षेत्रों की स्थिति से समय-समय पर कलेक्टर को अवगत कराएंगे। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि दल क्रमांक-एक डिप्टी कलेक्टर श्री बृजेन्द्र यादव मोबाइल नम्बर 9074747485 के नेतृत्व में गठित किया गया है उक्त दल राहत शिविरों के क्षेत्रों में ठहरे हुए लोगो को भोजन, पानी, बिजली, बिस्तर व चिकित्सा सुविधाएं इत्यादि की व्यवस्थाओं की पूर्ति हेतु कार्यो का क्रियान्वयन करेंगे। उपरोक्त दल में सहायक कर्मचारी को भी शामिल किया गया है जिसमें कनिष्ठ आपूर्ति श्री शरद पंचोली मोबाइल नम्बर 9993410252, सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख श्री तनवीन हलीम मोबाइल नम्बर 9826087575 शामिल है।  दल क्र्रमांक -दो डिप्टी कलेक्टर श्रीमती आरती यादव मोबाइल नम्बर 7974014384 के नेतृत्व में गठित किया गया है। यह दल बंटीनगर, सुभाषनगर, सागर पुलिया इत्यादि क्षेत्र पर निगरानी रखेंगा। उक्त दल में तहसीलदार श्री आसुतोष शर्मा मोबाइल नम्बर 9752402482, राजस्व निरीक्षक श्री शौर्यप्रताप सिंह मोबाइल नम्बर 9454479758, पटवारी श्री दुर्ग सिंह मोबाइल नम्बर 9893567279, पटवारी श्री रजनीश रघुवंशी मोबाइल नम्बर 7587976643 को शामिल किया गया है। दल क्रमांक-तीन डिप्टी कलेक्टर श्री बृजबिहारी श्रीवास्तव मोबाइल नम्बर 9993578545 के नेतृत्व में गठित किया गया है। यह दल रंगई क्षेत्र, नौलखी तथा जतरापुरा में बाढ़ नियंत्रण संबंधी कार्यो के लिए निगरानी व राहत बचाव कार्य को सम्पादित करेगा।  उक्त दल अंतर्गत रंगई क्षेत्र के लिए सहायक कर्मचारी के दायित्व का निर्वहन जिन्हें सौंपा गया है उनमें  नायब तहसीलदार श्री राजेश शर्मा का मोबाइल नम्बर 7000779607, पटवारी श्री पंकज व्यास मोबाइल नम्बर 8109249355, पटवारी श्री आशीष रोहिला मोबाइल नम्बर 9755158210 को रंगई क्षेत्र का जिम्मा सौंपा गया है।  डिप्टी कलेक्टर श्री बृजबिहारी श्रीवास्तव के नेतृत्व में गठित दल जो नौलखी, जतरापुरा के क्षेत्र में कार्यो की मदद हेतु सहायक के रूप में दल में शामिल किए गए है उनमें नायब तहसीलदार श्री प्रमोद उइके मोबाइल नम्बर 9893346959, राजस्व निरीक्षक श्री सुधीर जैन मोबाइल नम्बर 9827270282, पटवारी श्री प्रहलाद पंथी मोबाइल नम्बर 9826751894, पटवारी श्री निरंजन राय मोबाइल नम्बर 9685275444 सहित अन्य को नौलखी जतरापुरा क्षेत्र की निगरानी का दायित्व सौंपा गया है। दल क्रमांक-चार तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी मोबाइल नम्बर 9425444006 को दल का प्रभारी नियुक्त किया गया है उक्त दल ग्रामीण तहसील में स्थित कंट्रोल रूम के संचालन हेतु किए गए प्रबंधों का क्रियान्वयन करते हुए अधिकारियों को वर्षा, राहत कार्य की जानकारियों को प्रेषित करेंगे। उक्त दल में नायब तहसीलदार श्री हेमंत शर्मा मोबाइल नम्बर 8770503030, नायब तहसीलदार सुश्री पारूल जैन मोबाइल नम्बर 9340081916, पटवारी श्रीमती भगवती जाटव मोबाइल नम्बर 9575961212, पटवारी श्री अरविन्द यादव मोबाइल नम्बर 7000933072 को सहायक के रूप में शामिल किया गया है। 

सोयाबीन को अफलन से बचाव के उपाय

किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के द्वारा किसान भाईयों को सोयाबीन की फसल को अफलन से कैसे बचाएं के उपायों से अवगत कराते हुए उनका प्रयोग करने की सलाह दी गई है।  विभाग के माध्यम से सोयाबीन को अफलन से बचाव हेतु खड़ी फसल में किसी भी प्रकार की वृद्वि हर्मोन्स विटामिन्स आदि का छिड़काव ना करें। खरपतवारनाशक एवं कीटनाशकों को मिलाकर कभी छिड़काव ना करें।  अनुशंसित बीज दर का उपयोग का प्रयोग करें। जिन खेतों में सोयाबीन घनी बोई जाती है या बीज दर अधिक रखी जाती है। वहां अफलन की समस्या आती है। खेतों में सेमीलूपर (हरी इल्ली) का प्रकोप आर्थिक क्षति स्तर से अधिक होने पर अर्थात प्रतिवर्ग मीटर मेंं चार इल्लियां दिखाई देने पर हल्के कीटनाशकोंं का प्रयोग करें जैसे क्लोरोपायरीफॉस या क्विनालफॉस (1500 एमएल प्रति हेक्टेयर) एमेक्टिन बेजोएट या फ्लूवैन्डामाइड (200 एमएल प्रति हेक्टेयर) का छिड़काव करें। तीव्र कीटनाशक जैसे प्रोफेनोफॉस, सायपर मैथ्रिन एवं ट्राईजोफॉस आदि का छिड़काव करने से बचें। जेएस 20-34, जेएस 95-60 में फूल एक साथ आते है अतः इसमें एक बार फूल झडने के बाद दो बार फूल आने की संभावना नही रहती है। अन्य प्रजाति जैसे जेएस 20-94, जेएस 20-98, जेएस 20-69 आदि में यदि एक बार फूल झड़ जाते है तो कुछ समय बाद पुनः फूल आ सकते है। इसके लिए किसी भी प्रकार के हार्मोन्स का छिड़काव न करें। 

बाढ़ पीड़ित परिवारों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरण कार्य जारी

जिले में लगातार जारी अनवरत वर्षा एवं जलभराव से उत्पन्न बाढ़ प्रभावितों के लिए निःशुल्क खाद्यान्न उचित मूल्य दुकानों के माध्यम से वितरण कार्य कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में जारी है।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि मंगलवार को विदिशा शहर के साढे तीन सौ परिवारों के द्वारा खाद्यान्न प्राप्त किया गया है। प्रत्येक परिवारों को क्रमशः बीस किलो गेहूं एवं पांच किलो चावल निःशुल्क उचित मूल्य दुकानों के माध्यम से वितरित करने की कार्यवाही क्रियान्वित की जा रही है। डीएसओ श्रीमती साहू ने बाढ़ पीड़ित परिवारों से आग्रह किया कि वे उचित मूल्य दुकान पर पहुंचकर खाद्यान्न प्राप्ति के कार्य में सहयोग प्रदाय करें। 

जिले में 1348.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज

विदिशा जिले में अब तक 1348.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है जबकि गतवर्ष उक्त अवधि में 831.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई थी।  जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रों पर मंगलवार को दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि दस सितम्बर की प्रातः आठ बजे रिकार्ड की गई वर्षा अनुसार 43.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। दस सितम्बर को तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा की जानकारी तदानुसार विदिशा में 89.1 मिमी, बासौदा में 63.6 मिमी, कुरवाई में 11.4 मिमी, सिरोंज में 31 मिमी, लटेरी में 19 मिमी, ग्यारसपुर में 30 मिमी, गुलाबगंज में 35 मिमी, नटेरन तहसील में 66 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। 

सभी तहसीलों में जिले की सामान्य वर्षा से अधिक दर्ज

जिले की सामान्य वर्षा 1075.5 मिमी से अधिक वर्षा जिले की सभी आठो तहसीलों में दर्ज हो चुकी है। इस वर्ष अब तक सर्वाधिक वर्षा बासौदा में 1564.6 मिमी और सबसे कम लटेरी में 1136 मिमी दर्ज हुई है इसके अलावा विदिशा में 1440.1 मिमी, कुरवाई में 1215.5 मिमी, सिरोंज में 1213 मिमी, ग्यारसपुर में 1423.5 मिमी, गुलाबगंज में 1489.5 मिमी और नटेरन में 1304.4 मिमी वर्षा अब तक दर्ज हो चुकी है। इस प्रकार जिले में अब तक 1348.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज हो चुकी है। 

एक प्रकरण में आर्थिक मदद जारी

मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के एक प्रकरण में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक सहायता के आदेश जारी कर दिए है। जिसमें चार हजार रूपए अन्त्येष्टि अनुदान के भी शामिल है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि विदिशा तहसील के ग्राम किरमची रूसल्ली के श्री जमना प्रसाद पंथी की कृषि कार्यो के दौरान करंट लगने से मृत्यु हो जाने पर मृतक की पत्नी आवेदिका श्रीमती चंदा बाई पंथी को चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक सहायता जारी की गई है। 

राष्ट्रीय प्रतिभा खोज और मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन अब 20 सितम्बर तक

राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा ¼NTSE½ एवं राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति (NMMSS) परीक्षा 2019-20 के लिये विद्यार्थी अब 20 सितम्बर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। पूर्व में आवेदन की तिथि 8 सितम्बर निर्धारित की गई थी। संचालक राज्य शिक्षा ने जानकारी दी है कि एम.पी.ऑनलाइन के कियोस्क पर दोनों परीक्षाओं के आवेदन निरूशुल्क किये जा सकते हैं। स्कूल के प्राचार्य एवं संकुल प्राचार्य द्वारा प्रमाणीकृत प्रपत्रों के आधार पर एम.पी. ऑनलाइन के अधिकृत कियोस्क से निःशुल्क आवेदन किये जा सकते हैं। इन परीक्षाओं के लिये किसी भी प्रकार की फीस नहीं माँगी गई है। राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति में चयनित विद्यार्थियों को कक्षा 9वीं से 12वीं तक प्रतिवर्ष 1200 रुपये छात्रवृत्ति दी जाती है। इस परीक्षा के लिये शासकीय विद्यालयों, स्थानीय निकायों द्वारा संचालित विद्यालयों, अनुदान प्राप्त विद्यालयों में कक्षा 8वीं में नियमित रूप से अध्ययनरत विद्यार्थी, जिन्होंने 7वीं में कम से कम ‘‘सी’’ ग्रेड प्राप्त किया हो तथा जिनके पालकों की वार्षिक आय डेढ़ लाख तक हो, आवेदन कर सकते हैं। राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में शासकीय एवं अशासकीय सभी विद्यालयों के कक्षा 10वीं में अध्ययनरत विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। चयनित विद्यार्थियों को पीएचडी तक छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...