BJP विधायक दल के नेता बने फडणवीस, बोले- शिवसेना संग बनेगी सरकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 अक्तूबर 2019

BJP विधायक दल के नेता बने फडणवीस, बोले- शिवसेना संग बनेगी सरकार

bjp-shivsena-will-firm-government-fadnavis
महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर जारी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुना है. बुधवार को महाराष्ट्र विधान भवन में बीजेपी के विधायक दल की बैठक हुई, इस बैठक में महाराष्ट्र भाजपा के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल और वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुने जाने का प्रस्ताव रखा जिसे सर्वमत से पारित किया गया. दिल्ली से पर्यवेक्षक बन महाराष्ट्र पहुंचे नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि भाजपा शिवसेना से बात कर रही है, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ही बनेंगे.

'शिवसेना के साथ ही बनेगी सरकार'
भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वह पीएम मोदी और अमित शाह का शुक्रिया अदा करते हैं. 2014 और 2019 में हमने फ्रंटफुट पर चुनाव लड़ा और जीता भी. उन्होंने कहा कि जो भी अफवाहें हैं उनपर ध्यान नहीं देना चाहिए, भाजपा और शिवसेना मिलकर सरकार बनाएंगे. शिवसेना की कुछ डिमांड हैं, उन्हें सुलझा लिया जाएगा. फडणवीस ने अपने भाषण में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का भी शुक्रिया अदा किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि इस बार हमने कुछ निर्दलीयों का भी समर्थन लिया है. बुधवार को हुई इस बैठक में भाजपा के सभी विधायक भगवा पगड़ी बांध कर पहुंचे, जहां देवेंद्र फडणवीस का जबरदस्त स्वागत किया गया. केंद्रीय आलाकमान की ओर से नरेंद्र सिंह तोमर, अविनाश राय खन्ना को पर्यवेक्षक बनाया गया है, जो विधायक दल की बैठक में मौजूद रहे. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना लगातार भाजपा पर सवाल खड़े कर रही है. शिवसेना भाजपा को 50-50 फॉर्मूले की याद दिला रही है, लेकिन बीजेपी की ओर से इसपर कोई खास तवज्जो नहीं दी जा रही है.

कल होगी शिवसेना की विधायक दल की बैठक
एक तरफ भाजपा विधायक दल की बैठक हुई है, तो वहीं शिवसेना ने गुरुवार को अपने विधायक दल की बैठक बुलाई है, बता दें कि इस बार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी विधायक चुनकर आए हैं. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि शिवसेना का विधायक दल का नेता उन्हें चुना जा सकता है. महाराष्ट्र में भाजपा को 105 और शिवसेना को 56 विधायक मिले हैं, कुल 161 का आंकड़ा बहुमत के आंकड़े से काफी अधिक है.

घमासान के बीच बीजेपी की महाबैठक
विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को कुल 105 विधायक मिले हैं, लेकिन ये सरकार बनाने के लिए काफी नहीं हैं. बुधवार को बैठक में बीजेपी के सभी विधायक देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुने गए. शिवसेना के घमासान के बीच देवेंद्र फडणवीस ने ऐलान कर दिया था कि वह ही अगले मुख्यमंत्री होंगे, शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले के तहत मुख्यमंत्री पद का वादा नहीं किया गया था.

भाजपा को मिला निर्दलीयों का साथ
भारतीय जनता पार्टी को लगातार निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिलता जा रहा है. साहूवाडी से जनसूर्या पार्टी के विधायक विनय कोरे, युवा स्वाभिमानी पार्टी के रवि राणा, मीरा-भयंडर से गीता जैन, बारसी से राजेंद्र राउत, उरान से महेश बाल्दी, गोंदिया से विनोद अग्रवाल अभी तक महाराष्ट्र में भाजपा को अपना समर्थन दे चुके हैं.

शिवसेना CM पद पर अड़ी
शिवसेना की ओर से लगातार मुख्यमंत्री पद की मांग की जा रही है. शिवसेना के संजय राउत का कहना है कि चुनाव से पहले भाजपा ने 50-50 फॉर्मूले का वादा किया था, जो मीडिया के सामने की ही बात है. इसी के तहत मुख्यमंत्री पद शिवसेना को मिलना चाहिए. शिवसेना के सामना में भी लगातार इस बारे में बात कहा जा रहा है. बीजेपी और शिवसेना के बीच इस मसले पर लगातार विवाद चल रहा है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...