भारत की विविधता शेष विश्व से अनूठी : जावड़ेकर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 3 अक्तूबर 2019

भारत की विविधता शेष विश्व से अनूठी : जावड़ेकर

india-diffrent-from-world-javdekar
नयी दिल्ली 02 अक्टूबर, केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि भारत विविधताओं से भरा है और यह भारत को शेष विश्व की तुलना में अलग और अनूठा बनाता है। श्री जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के अनुसार 2022 तक सभी को भारत के 15 स्थानों का दौरा करना चाहिए। उन्होंने देश में पर्यटन क्षेत्र के विकास के बारे में पर्यटन मंत्रालय के काम की भी सराहना की। श्री जावड़ेकर ने यहां पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के साथ राष्ट्रव्यापी ‘पर्यटन पर्व 2019’ के उद्घाटन के बाद यह बात कही। इस अवसर पर केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल भी उपस्थित थे। पर्यटन मंत्रालय द्वारा आयोजित पर्यटन पर्व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती दो से 13 अक्टूबर तक पूरे देश में आयोजित किया जाएगा। इस पर्व की दिल्ली शाखा का आयोजन दो से छह अक्टूबर तक रफी मार्ग और जनपथ के बीच जनपथ मार्ग में आयोजित किया जा रहा है। पर्यटन पर्व में केंद्र सरकार के मंत्रालयों के साथ-साथ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 31 स्टॉल हैं। देश भर से व्यंजनों का प्रतिनिधित्व करने वाले लगभग 59 फूड स्टॉल भी इसमें स्थापित किए गए हैं। भारत के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर जाने के लिए भारतीयों को प्रोत्साहित करने और ‘टूरिज्म फॉर ऑल’ एवं ‘देखो अपना देश’ के संदेश को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य पर पर्यटन पर्व का विचार आधारित है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय के ब्यूरो ऑफ आउटरीच कम्युनिकेशन द्वारा आयोजित एक मल्टी मीडिया प्रदर्शनी का भी उद्घाटन तीनों मंत्रियों ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...