मधुबनी : छठ महापर्व के अवसर पर विधि व्यवस्था को लेकर बैठक का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 अक्तूबर 2019

मधुबनी : छठ महापर्व के अवसर पर विधि व्यवस्था को लेकर बैठक का आयोजन

law-and-order-meeting-for-chhath-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) : श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में बुधवार को स्थानीय डी0आर0डी0ए0 स्थित सभाकक्ष में छठ महापर्व 2019 के अवसर पर विधि व्यवस्था को लेकर बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में अपर समाहत्र्ता, मधुबनी,श्री दुर्गानंद झा, उप-विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री अजय कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मधुबनी, श्री सुनील कुमार सिंह, विशेष कार्य पदाधिकारी, मधुबनी, श्री सुनील कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, बेनीपट्टी, श्री मुकेश रंजन, अनुमंडल पदाधिकारी, जयनगर, श्री शंकर शरण ओमी, प्रभारी, जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी, श्रीमती रेणु कुमारी, समेत सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, थानाध्यक्ष समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। इस वर्ष छठ महापर्व दिनांक 31.10.2019 से 03.11.2019 तक मनाया जा रहा है। इस वर्ष पर नदियों, तालाबों एवं घाटों पर श्रद्धालुओं, छठ व्रतियों एवं उनके परिवार के सदस्य तथा इष्ट-मित्र की भारी भीड़ इकट्ठा होती है। जिसको लेकर विधि-व्यवस्था प्रभावित होने की संभावना रहती है। जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा इस अवसर पर आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार दिये गये निदेश के आलोक में सभी खतरनाक नदी घाटों को चिन्हित करते हुए उनकी बैरिकेडिंग करने साथ ही नदियों में जहां गहराई प्रारंभ होती है एवं स्नान करनेवालों के डूबने की संभावना हो वहां भी बैरिकेडिंग करने, चिकित्सा व्यवस्था के सभी प्रमुख घाटों पर चिकित्सकों की प्रतिनियिुक्ति करने, क्यू0एम0आर0टी0 की प्रतिनियुक्ति करने तथा सभी प्रमुख घाटों पर ऐंम्बुलेंस उपलब्ध कराने का निदेश सिविल सर्जन, मधुबनी को दिया। उन्होंने नदी घाटों पर आपदा विभाग द्वारा जिला स्तर पर चयनित गोताखोंरों को संबंधित प्रखंडों के ही छठ घाटों पर प्रतिनियुक्ति करने एवं प्रशिक्षित गृहरक्षकों की भी प्रतिनियिुक्त करने का निदेश दिया गया। साथ ही मधुबनी शहर स्थित गंगासागर तालाब, बेनीपट्टी के संसार पोखर, जयनगर, झंझारपुर तथा फुलपरास में भी मोटरबोट उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। साथ ही इस अवसर पर सभी अनुमंडल मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष तथा सभी प्रमुख छठ घाटों पर भी नियंत्रण कक्ष की स्थापना करने का निदेश दिया गया। जिससे कि किसी आपात स्थिति में शीघ्र संपर्क स्थापित किया जा सकें। सभी प्रमुख तालाबों के आस-पास रौशनी की व्यवस्था करने एवं खराब स्ट्रीट लाईट की मरम्मति करने का निदेश भी संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया। सभी छठ घाटों के आस-पास पटाखे की बिक्री पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने तथा पटाखा का इस्तेमाल नहीं करने का अनुरोध करने का निदेश दिया गया। उन्होंने इस अवसर पर निजी नावों के परिचालन पर पूर्णतः रोक लगाने का निदेश दिया। विशेष परिस्थिति में अनुमंडल पदाधिकारी/अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी की अनुशंसा के आलोक में ही नावों का परिचालन करने का निदेश दिया। विशेषकर मधेपुर प्रखंड क्षेत्र में विशेष निगरानी रखने का निदेश दिया गया। इस अवसर पर विशेषकर सोशल मीडिया के माध्यम से आपत्तिजनक एवं भ्रामक पोस्ट करनेवालों पर कड़ी कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। सभी पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति इस महापर्व के अवसर पर दिनांक 02.11.2019 के पूर्वा0 एवं 03.11.2019 के अप0 तक रहने एवं प्रतिनियुक्ति स्थल पर पूरी तत्परता के साथ अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन करने का निदेश दिया गया। सभी पदाधिकारियों को अलर्ट पर रहने एवं किसी प्रकार की आपात स्थिति की सूचना शीघ्र वरीय पदाधिकारियों को देने का निदेश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...