सनाया ईरानी ने घोस्ट क्यों की साइन, वजह जान चौंक जाएंगे आप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 अक्तूबर 2019

सनाया ईरानी ने घोस्ट क्यों की साइन, वजह जान चौंक जाएंगे आप

मैंने अपने डर का सामना करने के लिए यह भूमिका निभाई: सनाया ईरानी
sanaya-irani
जब भारत में हॉरर जॉनर की बात आती है, तो विक्रम भट्ट निस्संदेह गेम-चेंजर हैं और उन्होंने बार-बार अपनी योग्यता साबित की है। उनकी अगली फिल्म घोस्ट में खूबसूरत सनाया ईरानी और शिवम भार्गव मुख्य भूमिका में हैं। सनाया, जो अब तक रिलीज हो चुकी क्लिप में अपने अभिनय और आत्मविश्वास के लिए काफी प्रशंसा प्राप्त कर रही हैं, खुद डरावनी फिल्मों से डरती रही है। फिर उन्होंने घोस्ट जैसी फिल्म क्यों साइन की? उन्होंने खुलासा किया कि वह हमेशा हॉरर फिल्मों से डरती रही है लेकिन उन्हें ऐसी फिल्म देखना बहुत पसंद है। उन्होंने घोस्ट करने का फैसला इसलिए लिया कि वह अपने डर का सामना करना चाहती थी और उन्होंने ऐसे दृश्यों के लिए कैमरे का सामना करने का फैसला किया, जिसे वह एक आंख बन्द कर के देखती है। सनाया ईरानी कहती हैं,“जब भूत की कहानियों की बात आती है तो मुझे बहुत डर लगता है। मैं उन्हें देखना बहुत पसंद करती हूं, लेकिन वास्तव में मैं भूत को थिएटर में सुनती हूं क्योंकि मेरी आंखें बन्द रहती है। घोस्ट भी एक ऐसी फिल्म है और मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि मैं अब खुद स्क्रीन पर हूं। मैंने अपने डर का सामना करने के लिए इस भूमिका को निभाया और मुझे खुशी है कि मैंने ऐसा कर दिखाया। इस फिल्म में अभिनय करना मेरे लिए एक शानदार अनुभव रहा।” विक्रम भट्ट ने बताया कि घोस्ट का विचार उन्हें तब आया जब उन्होंने एक अखबार में पढ़ा कि कैसे एक ब्रिटिश अदालत ने एक मामले में एक आत्मा के ट्रायल की अनुमति दी. उन्हें इस फिल्म में अपनी ऊर्जा लगाने का फैसला किया. वाशु भगनानी प्रोडक्शन की घोस्ट का निर्देशन विक्रम भट्ट ने किया है. ये फिल्म 18 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...