बिहार : 98 एचपी की डिवाटरिग मशीन लगाकर कुर्जी हॉस्पिटल से पानी निकाला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 अक्तूबर 2019

बिहार : 98 एचपी की डिवाटरिग मशीन लगाकर कुर्जी हॉस्पिटल से पानी निकाला

water-out-kurji-hospital
पटना,01 अक्टूबर (आर्यावर्त संवाददाता) । स्थानीय कुर्जी होली फैमिली हॉस्पिटल में पानी प्रवेश कर गया। इस हॉस्पिटल में बेसमेंट है, वहां पर दो से तीन फीट पानी जमा हो गया था। इसके कारण हॉस्पिटल की प्रशासिका सिस्टर जुलियाना डि'कुन्हा ने  जिला प्रशासन से पानी निकलवाने का आग्रह किया। पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर-22 बी की वार्ड पार्षद सुचित्रा सिंह के पतिदेव निलेश प्रसाद काफी सहयोग किए और कैम्प करने लगे। तीन दिन परेशान रहने के बाद चौथे दिन सोमवार की सुबह बारिश रूकी तो लोग अपने -अपने कैंपस व घरों से पानी निकालने में जूट गए।लेकिन, कुर्जी होली फैमिली हॉस्पिटल से पानी निकालने के लिए प्रशासन ने जो उपाय किया, उससे सड़क जाम हो गई। मुख्य सड़क से मोटा पाइप ले जाकर पानी को गंगा में गिराया जा रहा था।वाहनों के आवागमन को रोकने के लिए बांस-बल्लियों से सड़क को ब्लॉक कर दिया गया था। इसके बाद जाम में फंसे लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।  हंगामा बढ़ने पर प्रशासन ने एक लेन को  बंद कर दूसरी लेन से वाहनों को निकालना शुरू किया,लेकिन इससे भी जाम का कोई निदान नहीं निकला। इसके बाद प्रशासन ने लोहे पाइप में मोटे पाइप डालकर पाइप से पानी निकालना शुरू किया।पाइप के पास ही बालू की बोरी रख कर एक लेन को बंद ही रखा।यह स्थिति देर शाम तक बनी रही। एक लेन बंद होने से दोनों और जाम लगा रहा। देर रात में पानी निकल गया। मुख्य गेट पर थोड़ा पानी जमा है।

भारी बारिश में जब राजीव नगर, कुर्जी व इसके आसपास के इलाके पानी में डूब गए तो नगर निगम को नाले की सफाई की याद आई। सोमवार को जब जल निकासी के लिए कुर्जी का संप हाउस खोला गया तो उसमें से पानी की निकासी ही नहीं हो पा रही थी। फिर आनन-फानन में नाले की सफाई कराई गई तो पानी की निकासी शुरू हुई है। मानसून की आमद से पहले राजीव नगर व कुर्जी नाले की सफाई में पटना नगर निगम के पाटलिपुत्र अंचल के अधिकारियों की लापरवाही साफ दिखी। स्थिति यह रही कि कुर्जी नाले की सफाई ही नहीं कराई गई थी। विशेष प्रतिनियुक्ति पर पटना पहुंचे अधिकारी विशाल आनंद की निगरानी में सोमवार को नाले की सफाई कराई गई। इसमें करीब 50 मीटर से अधिक नाला चोक मिला। दो पोकलेन मशीन के माध्यम से नाले से अतिक्रमण व कचरे को निकाला गया। इसके लिए निगम से कई हाईवा व जेसीबी मशीन लगाई गई। इसके बाद कुर्जी संप तक फ्लो में पानी पहुंचने लगा। वार्ड-22बी पार्षद सह नगर निगम की सशक्त स्थायी समिति सदस्य सुचित्रा सिंह ने बताया कि मानसून से पहले ही निगम अधिकारियों से कुर्जी-राजीव नगर नाले की सफाई की गुहार लगाई थी। लेकिन पाटलिपुत्र अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी व नगर प्रबंधक की लापरवाही के कारण राजीव नगर, पाटलिपुत्र, कुर्जी आदि इलाके डूब गए। राजीव नगर-कुर्जी जैसे महत्वपूर्ण नाले की सफाई नहीं होने पर अधिकारियों ने भी आश्चर्य जताया।

नाले से निकला कचरा व सिल्ट, कुर्जी में लगी डिवाटरिग मशीन
राजीव नगर नाले में काफी मात्रा में सिल्ट व कचरा जमा होने के कारण कुर्जी संप तक फ्लो में पानी नहीं पहुंच रहा था। कुर्जी नाले के पेपर फैक्ट्री का एरिया सिक्स लेन जाम हो गया था। बिहार राज्य पथ विकास निगम (बीएसआरडीसी) की मदद से कुछ जगहों पर नाला साफ कराया गया। निजी बाउंड्री तोड़ कर भी लगभग 50 मीटर एरिया की सफाई हुई। वहीं, पाटलिपुत्र कॉलोनी आदि से जल निकासी को लेकर कुर्जी होली फैमिली अस्पताल के पास नगर निगम की ओर से 98 एचपी की डिवाटरिग मशीन लगाई गई। इसके लिए कुर्जी-गांधी मैदान सड़क के एक लेन को बंद कराया गया। वहीं, आर-ब्लॉक सर्पेटाइन नाले की सफाई भी बीएसआरडीसी के अधिकारियों की मदद से आर-ब्लॉक व हड़ताली मोड़ के बीच कराई गई। इससे हज भवन के पीछे के नाले से पानी का तेज बहाव शुरू हो गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...