बिहार : जन्मदिन मनाने वाले आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो का छलकता दिल की बात - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 नवंबर 2019

बिहार : जन्मदिन मनाने वाले आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो का छलकता दिल की बात

बिहार विधान सभा में 15 नवम्बर,2000 के बाद एंग्लो इंडियन समुदाय से मनोयन नहीं होने पर जन्मदिन मनाने वाले आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो ने कहा कि हमलोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह कर चुके हैं कि एग्लो इंडियन समुदाय के संवैधानिक अधिकारों से वंचित न किया किया जाए। लोकसभा से राज्यों के विधान सभा में हमारे समुदाय के लोग मनोनीत हो रहे हैं।केवल बिहार ही अछूता है। हमलोगों के समुदाय से विधान सभा या विधान परिषद में प्रतिनिधित्व करने वाला नहीं है।
alfred-jorge-rojario
पटना,  एंग्लो इंडियन समुदाय से है आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो। आज इनका जन्मदिन है। डॉन बोस्को एकेडमी के डायरेक्टर हैं। पाटलिपुत्र कॉलोनी व दीघा-आशियाना रोड में स्कूल है।  खैर, मिस्टर आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो प्रारंभिक काल में संत माइकल हाई स्कूल के टीचर थे। यहां से मि. रोजारियो व अंथोनी फर्नाडिस ने मिशनरी स्कूल की नौकरी छोड़ दी। इसके बाद दोनों ने खुद का स्कूल खोल लिए। इसमें मि. रोजारियो की तकदीर चमक गयी। खुद का स्कूल खोलकर व्यवसाय करने वाले हस्ती की मेहनत रंग लायी। अब तो स्कूल विस्तार रूप धारण कर लिया है। यहां पर अनेक ईसाई धर्मावलम्बियों व एंग्लो इंडियन समुदाय को सेवा में बहाल कर पुण्य का कार्य किए। इसके अलावे सामाजिक कार्यों में भी बढ़कर हिस्सा लेते रहे हैं। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल में एंग्लो इंडियन समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में बिहार विधान सभा में विधायक के रूप में मनोनीत हुए। इस संदर्भ में अल्पसंख्यक विभाग (कांग्रेस) के उपाध्यक्ष सिसिल साह कहते हैं कि मि.रोजारियो की छवि खराब करने का प्रयास एक एंग्लो इंडियन समुदाय के सदस्य ने किया। चूंकि स्वयं मनोयन के कतार में खड़े थे। उसने एक अखबार में  मि.रोजारियो के खिलाफ कीचड़ उछाल दिया।इससे मि.रोजारियो आहत हो गए। इसके आगे अल्पसंख्यक विभाग (कांग्रेस) के उपाध्यक्ष सिसिल साह ने कहा कि उस समय पटना व धनबाद से प्रकाशित होने वाला अमृतवर्षा दैनिक के रिपोर्टर आलोक कुमार से बातकर वस्तुस्थिति की जानकारी दी गयी।उनसे आग्रहपूर्ण निवेदन किया गया कि आप  अखबार में मि.रोजारियो के सामाजिक कार्यों को लेकर मि.रोजारियो के बारे में लिखे।चूंकि आप निष्पक्ष पत्रकार हैं। इसके बाद फोन लगाकर मि.रोजारियो से बात कराएं।एकदम उखड़ गए और कहा नो..नो..आई डॉट लाइक..इसके बाद निष्पक्षता के साथ पक्ष रखकर खबर देने के वादे के साथ खबर प्रकाशित करने की हरी झंडी दी।  दैनिक अमृतवर्षा में प्रकाशित आलोक कुमार की साकारात्मक व नाकारात्मक खबर ने मि.रोजारियो को विधायक बना दिया। इस संदर्भ में सुशील लोबो कहते हैं कि संत विंसेंट डी पौल के द्वारा नव मनोनीत एंग्लो इंडियन समुदाय से  विधायक बने आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो का उपस्थित लोगों से परिचय कराया जा रहा था तो तुरंत विधायक आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो आलोक कुमार के बारे में कहने लगे कि इनकी लेखनी से लिखित खबर को मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने पढ़कर तुरंत विधायक के रूप में मुझे (आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो) चयन कर लिए। बिहार विधान सभा में 15 नवम्बर,2000 के बाद एंग्लो इंडियन समुदाय से मनोयन नहीं होने पर जन्मदिन मनाने वाले आल्फ्रेड जौर्ज रोजारियो ने कहा कि हमलोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह कर चुके हैं कि एग्लो इंडियन समुदाय के संवैधानिक अधिकारों से वंचित न किया किया जाए। लोकसभा से राज्यों के विधान सभा में हमारे समुदाय के लोग मनोनीत हो रहे हैं।केवल बिहार ही अछूता है। हमलोगों के समुदाय से विधान सभा या विधान परिषद में प्रतिनिधित्व करने वाला नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...