झारखण्ड : बुलेट से नहीं बैलेट से होगा विकास : अमित शाह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 नवंबर 2019

झारखण्ड : बुलेट से नहीं बैलेट से होगा विकास : अमित शाह

ballot-take-development-amit-shah
गढ़वा (झारखंड), 28 नवंबर, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार यहां साफ शब्दों में कहा कि ‘विकास बुलेट से नहीं बल्कि बैलेट’ से होगा क्योंकि जहां अशांति होती है वहां विकास नहीं होता विकास के लिए शांति का होना बहुत जरूरी है। पांच चरणों में होने वाले झारखंड विधानसभा चुनाव में 30 नवंबर के पहले चरण के प्रचार के अंतिम दिन केन्द्रीय गृह मंत्री शाह ने नक्सलवाद पर करारा हमला बोला। शाह ने भाजपा की रघुवर दास के नेतृत्व वाली सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा, ‘‘वर्तमान भाजपा सरकार ने 5 वर्ष के अपने कार्यकाल में झारखंड और विशेषकर पलामू में नक्सलवाद को समाप्त करने का काम किया है।’’  उन्होंने हाल में चंदवा में हुए नक्सली हमले में चार जवानों के शहीद होने की घटना का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘मैं बता देना चाहता हूं कि राज्य में एक बार फिर से भाजपा की सरकार बनने जा रही है और हमारी सरकार नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ फेंकेगी।’’  उन्होंने दोहराया, ‘‘विकास बंदूक की गोली से नहीं होगा बल्कि विकास तब होगा जब जनता चुनावों में कमल के बटन पर अपनी अंगुली दबायेगी।’’  अमित शाह ने कहा कि वर्षों तक राम मंदिर निर्माण कार्य को लटका कर रखा गया। इस मामले में उच्चतम न्यायालय में कांग्रेस ने अड़ंगा लगाकर फैसला नहीं होने दिया। लेकिन अब राम मंदिर पर फैसला आ चुका है। भव्य राम मंदिर बनने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस वोट बैंक की वजह से जम्मू कश्मीर से जुड़े अनुच्छेद 370 और 35 ए पर कोई कार्यवाही नहीं कर रही थी। देश की जनता और झारखंड की जनता के प्रचंड बहुमत के बल पर 5 अगस्त 2019 को मोदी जी ने अनुच्छेद 370 और 35 ए को समाप्त कर ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की परिकल्पना को सार्थक किया।’’

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...