बंगाल में ‘बुलबुल’ के कारण तबाही का मंजर, दो मरे, कई लापता - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 नवंबर 2019

बंगाल में ‘बुलबुल’ के कारण तबाही का मंजर, दो मरे, कई लापता

bulbul-in-bengal-causing-havoc-two-dead-many-missing
कोलकाता 10 नवंबर, भीषण चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ के भारत-बंगलादेश तट पर पहुंचने के बाद पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों और सुंदरवन के पास बकहाली, नामखाना, काकद्वीप और सागरद्वीप में चारो ओर तबाही का मंजर है तथा दो लोगों की मौत भी हो गयी है।चक्रवाती तूफान के कारण बालीगंज स्थित कलकत्ता क्रिकेट एंड फुटबॉल क्लब के 28 वर्षीय शेफ पर देवदार का पेड़ गिर जाने के कारण उसकी मौत हो गयी। इसके अलावा नामखाना में भी एक व्यक्ति की मौत हो गयी और दो अन्य लापता हो गये। नामखाना में दो जेटी भी क्षतिग्रस्त हाे गये। तूफान के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हो रही है जिससे कई पेड़, बिजली के खंबे और टेलीफाेन के खंबे आदि जड़ से उखड़ गये। फसलें बर्बाद हो गयी।मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तूफान के मद्देनजर पूरी रात राज्य सचिवालय नाबन्ना में गुजारी जहां स्थिति का जायजा लेने के लिए विशेष नियंत्रण कक्ष बनाये गये हैं।उन्होंने कल अपने एक ट्वीट में कहा, “हम तूफान से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए सभी एहतियादी कदम उठा रहे हैं। इसके लिए विशेष नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गयी है और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल तथा राज्य आपदा प्रक्रिया बल की टीमों को तैनात किया गया है।” 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...