अयोध्या मामले में जीत का जश्न और हार पर हंगामे से बचें: नकवी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 नवंबर 2019

अयोध्या मामले में जीत का जश्न और हार पर हंगामे से बचें: नकवी

celebration-of-victory-in-ayodhya-case-and-avoid-uproar-over-defeat-naqvi
प्रयागराज,02 नवम्बर, केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में विवादित रामजन्मभूमि मामले में उच्चतम न्यायालय के आने वाले फैसले का सभी समुदाय के लोगाें को सम्मान करने के साथ “जीत के जुनूनी जश्न और हार के हाहाकारी हंगामे” से बचना चाहिए।उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र में 10 दिवसीय ‘हुनर हाट ’ मेला का उद्घाटन करने के बाद श्री नकवी ने पत्रकारों से कहा “ मै कोई भविष्य वक्ता नहीं हूं और अयोध्या मसले पर आने वाले फैसले के बारे में कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता। यह जरूरी है कि संवेदनशील मुद्दे पर जीत का जुनूनी जश्न नहीं और हार का हाहाकारी हंगामा नहीं होना चाहिए। न्यायालय का जो भी फैसला आता है उसे सभी को सहर्ष स्वीकार करना चाहिए।”अयोध्या में दुनिया की सबसे ऊंची भगवान श्रीराम की प्रतिमा की स्थापना के लिये उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 447.46 करोड़ रूपये की जमीन खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी मिलने को लेकर पूछे गये सवाल को टालते हुये श्री नकवी ने कहा “हुनर हाट में लगे मेले का आनंद लीजिये और लजीज व्यंजनों का लुत्फ उठाइये। ”उन्होने कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पांच वर्षों में दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी हुनर को बाजार की जरूरतों के हिसाब से तराशने एवं प्रोत्साहित करने के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय सभी राज्यों में “हुनर हब” स्थापित करने के मिशन पर तेजी से काम कर रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...