मधुबनी : उप-विकास आयुक्त की अध्यक्षता में संविधान दिवस कार्यक्रम का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 नवंबर 2019

मधुबनी : उप-विकास आयुक्त की अध्यक्षता में संविधान दिवस कार्यक्रम का आयोजन

constitution-day-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) 26,नवंबर,2018,, श्री अजय कुमार सिंह, उप-विकास आयुक्त, मधुबनी की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में भारतीय संविधान दिवस के अवसर पर मंगलवार को संविधान दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  कार्यक्रम में श्री किशोर कुमार, अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, बेनीपट्टी, श्री विमल कुमार मंडल, प्रबंधक, एस0एफ0सी0, मधुबनी, श्री विकाश कुमार,वरीय उप-समाहत्र्ता, मधुबनी(प्रशिक्षु), श्री विवेक कुमार, अपर निर्वाचन पदाधिकारी, जयनगर, श्री रमण प्रसाद सिंह, महामंत्री, अराजपत्रित कर्मचारी संघ, मधुबनी, श्री दुःखी राम, कार्यालय अधीक्षक, मधुबनी, श्री लक्ष्मी पासवान, श्री आनंद कुमार झा, श्री सुरेन्द्र कुमार, श्री प्रशांत कुमार झा, आई0टी0 सहायक, मधुबनी, श्री परमेश्वर महतो, श्री अशोक कुमार, मो0 जकी अहमद समेत समाहरणालय स्थित विभिन्न शाखाओं के कर्मीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप-विकास आयुक्त, मधुबनी ने कहा कि 26 नवंबर 2019 को संविधान के 70 साल पूरे हुए है। भारतीय संविधान के जनक श्री बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर है। आज पूरे देश में 70वां संविधान दिवस मनाया जा रहा है। आज से 70 साल पहले सरकार ने 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को अपनाया था। जिसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था। बाबा साहेब डाॅ0 भीमराव अंबेडकर को भारत का संविधान निर्माता कहा जाता है। वे संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष थे और उन्हें संविधान का फाइनल ड्राॅफ्ट करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन लगे थे।  उन्होंने कहा कि संविधान हमें हमारे अधिकार एवं कत्र्तव्यों का बोध कराता है। हम सबों को अपने अधिकार एवं कत्र्तव्यों का हमेशा उपयोग करना चाहिए। साथ ही हमारा संविधान हम सबों को समानता का अधिकार भी देता है। इस देश के सभी नागरिकों को संविधान के द्वारा समान अधिकार प्राप्त है।   तत्पश्चात उप-विकास आयुक्त, मधुबनी के नेतृत्व में संविधान की प्रस्तावना को पढ़कर देश की एकता और अखंडता को मजबूत करने का संकल्प लिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...