धनबाद : पुलिस जवानों ने पढ़ी भारत के संविधान की प्रस्तावना, शपथ भी ली - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 नवंबर 2019

धनबाद : पुलिस जवानों ने पढ़ी भारत के संविधान की प्रस्तावना, शपथ भी ली

dhanbad-police-take-constitution-oath
धनबाद (आर्यावर्त संवाददाता) : संविधान दिवस के अवसर पर एसएसपी किशोर कौशल की अगुवाई में जिले के पुलिस पदाधिकारियों और जवानों ने भारत के संविधान की प्रस्तावना पढ़ा और आजीवन इसे आत्मसात करने की शपथ ली।बता दे की इस मौके पर एसएसपी ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि, भारतीय संविधान की प्रस्तावना विश्व में सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है। प्रस्तावना के नाम से भारतीय संविधान का सार, अपेक्षाएँ, उद्देश्य उसका लक्ष्य तथा दर्शन प्रकट होता है। उन्होंने कहा भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...