मथुरा, काशी का मसला उठाने की अभी फुरसत नहीं: विहिप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 नवंबर 2019

मथुरा, काशी का मसला उठाने की अभी फुरसत नहीं: विहिप

mathura-kashi-not-yet-free-to-raise-the-issue-vhp
नयी दिल्ली, 09 नवंबर, विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले को सत्य एवं न्याय की उद्घाेषणा बताते हुए आज संकेत दिया कि वह मथुरा एवं काशी का मसला नहीं उठायेगी तथा भव्य राममंदिर का निर्माण शुरू होने के साथ ही धर्म जागरण के काम में जुटेगी।विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि विहिप का काम राममंदिर का निर्माण करना नहीं है। यह काम श्रीरामजन्मभूमि न्यास करेगा जिसे अदालत ने विवादित 2.77 एकड़ भूमि सौंप दी है। विहिप मानती है कि फैसले के बाद राममंदिर बनाने की शुरुआत हुई है। विहिप अब इसी के साथ देश में धर्मजागरण करेगी।यह पूछे जाने पर कि अयोध्या के मामले का समाधान होने के बाद क्या विहिप मथुरा एवं काशी का मामला उठाएगी, डॉ. आलोक कुमार ने कहा कि वह देश को आश्वस्त करना चाहते हैं कि हमारा पूरा ध्यान भव्य राममंदिर के निर्माण तथा सांस्कृतिक जागरण पर केन्द्रित रहेगा। कोई और मुद्दा उठाने की अभी उन्हें फुरसत नहीं है।उच्चतम न्यायालय द्वारा मुस्लिम समाज को मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ जमीन दिये जाने को लेकर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह विषय सरकार से संबंधित है। ज़मीन सरकार को देना है, विहिप को नहीं। सुन्नी वक्फ़ बोर्ड ज़मीन लेता है या नहीं, यह उन पर निर्भर करता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...