मधुबनी : SSB के मुख्यालय निर्माण हेतु अधिग्रहित भूमि पर अड़चन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 नवंबर 2019

मधुबनी : SSB के मुख्यालय निर्माण हेतु अधिग्रहित भूमि पर अड़चन



जयनगर/दुल्लीपट्टी (आर्यावर्त संवाददाता)  दुल्लीपट्टी पंचायत के ग्रामीणों और किसानों को जयनगर अनुमंडल पदाधिकारी और जयनगर एसएसबी के कमांडेंट अनुज कुमार के साथ अनुमंडल सभागार के समन्वय बैठक रखा गया था। इस बैठक में दुल्लीपट्टी पंचायत के करीब 50 ग्रामीण और किसान मौजूद थे। ग्रामीणों का कहना था कि पहली बार जब 2007 में अधिग्रहण किया गया या फिर 2013 में किया गया हो, उनसे कभी सरकार ने पूछा तक नहीं और न ही उनसे इस मामले में जमीन के एवज में पैसे की बात की गई। उनका आरोप था कि यह अधिग्रहण सिर्फ कागज पर हुआ है, हमलोगों को कभी इस बात की जानकारी ही नही दी गयी। वहीं जयनगर एसएसबी के कमांडेंट अनुज कुमार का कहना था कि आपलोग अभी सरकार से जो जमीन का मूल्य मिला है वो लेके जमीन अधिग्रहित करने दीजिए, बांकी का सरकार से बात करने के बाद विचार किया जाएगा। इस पर ग्रामीणों ओर किसानों के वकील ने कहा कि सर एक बार हम ऐसा नही करेंगे, ओर अभी 2019 के वर्तमान मूल्य के हिसाब से आप हमारी जमीन अधिग्रहित कर सकते हैं। आपको बता दें कि इस मामले में सरकार और पंचायत के ग्रामीणों के बीच इस विवाद पर केस चल रहा है, जो न्यायालय में है अभी। वहीं शंकर शरण ओमी ने बताया कि यह बैठक एसएसबी ओर ग्रामीणों को हो रही परेशानी के मद्देनजर बुलाई गई थी, पर ग्रामीण आज के मूल्य पर जमीन अधिग्रहण की बात कह रहे हैं, जो अभी संभव नही है। फिलहाल जो भी हो पर इन सब के बीच हमारे देश के एसएसबी के जवान धूप, बारिश और आंधी या किसी विपदा में भी खुले आसमान के निचे रहने को मजबूर हैं, जिनकी सुध शायद सरकार भी नही लेती दिख पड़ रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...