वर्ल्ड रोप स्किपिंग कप -2019 में भारत का वर्चस्व कायम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 नवंबर 2019

वर्ल्ड रोप स्किपिंग कप -2019 में भारत का वर्चस्व कायम

rope-skeeing-chaimpion-india
नईं दिल्ली (आर्यावर्त संवाददाता) । वर्ल्ड रोप स्किपिंग फेडरेशन एवं इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ़ कबांटिव गेम्स के संयुक्त तत्वाधान में दिल्ली के तालकटोरा इंडोर स्टेडियम में वर्ल्ड रोप स्किपिंग कप -2019 का आयोजन किया गया। इस आयोजन मे अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, तुर्की, न्यूजीलैंड, नेपाल, भूटान, भारत समेत अनेक देशों के खिलाडियों ने हिस्सा लिया। वर्ल्ड रोप स्किपिंग फेडरेशन के नियमानुसार रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया के सफल संचालन में खेली गयी इस चैंपियनशिप में भारत के बच्चों ने प्रथम स्थान हासिल करके देश का गौरव बढ़ाया। जबकि नेपाल दूसरे एवं इस श्रीलंका तीसरे स्थान पर रहा। मौके पर रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया ने महासचिव एवं मुख्य तकनीकी अधिकारी निर्देश शर्मा एवं विवेक सोनी के कुशल निर्देशन में यह प्रतियोगिता संम्पन्न हुई। इस मौके पर वर्ल्ड रोप स्किपिंग फेडरेशन एवं इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ़ कबांटिव गेम्स के  अंतर्राष्ट्रीय कोडिनेटर थॉमस कैलिपर (अमेरिका) ने  कहा कि यह भारत में यह आयोजन यहाँ की खेल प्रतिभाओं को आगे लाने में सफल रहा है। आज अंतर्राष्ट्रीय पहचान यहाँ खेलने वाले प्रत्येक खिलाडी को मिली है यह सब बधाई के पात्र हैं। उन्होंने भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे फिट इंडिया मूवमेंट को कहा की भारत देश बहुत बड़ा है इसलिए यहाँ खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए यह फिट इंडिया मूवमेंट मील का पत्थर साबित होगा ऐसा मेरा विश्वास है। उन्होंने उपस्थित लोगों से रोप स्किपिंग जैसे खेल को व्यायाम मानते हुए अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल करने की अपील करते हुए कहा कि अगर दवा से दूर रहना है तो सभी को रोज फिट रहने के लिए मैदान में आना होगा। इस प्रतियोगिता में पहले स्थान पर रहे भारत के खिलाडी दीपक,राज बाली,शाम्भवी तुली,वंशिका अली रिज़वी ने स्वर्ण पदक जीते। दूसरे स्थान पर रहे श्रीलंका के एम.बी हैराथ,आर.कुमार,एम. रंगनाथ ने रजत पदक जीते जबकि तीसरे स्थान पर रहे नेपाल के खिलाडी  बिकेश कुमार,जनक राज,राजेश बसंत ने कांस्य पदक जीता। सभी विजेताओं को मैडल,शील्ड एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं: