प्रज्ञा की टिप्पणी पर लोकसभा में हंगामा, विपक्ष का बहिर्गमन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 नवंबर 2019

प्रज्ञा की टिप्पणी पर लोकसभा में हंगामा, विपक्ष का बहिर्गमन

uproar-in-the-lok-sabha-due-to-pragya-s-remarks-opposition-exit
नयी दिल्ली 28 नवंबर, भारतीय जनता पार्टी की साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बुधवार को लोकसभा में दिये एक आपत्तिजनक बयान पर गुरुवार को विपक्ष ने सदन में हंगामा किया और कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने सदन से बहिर्गमन किया।सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक और मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (एमआईएम) के सदस्यों ने सुश्री ठाकुर के बयान पर हंगामा शुरू कर दिया। अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सुश्री ठाकुर के बयान को सदन की कार्यवाही से निकाल दिया गया था। जब उनका बयान रिकॉर्ड में नहीं है तो उस पर बहस कैसे हो सकती है।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर कोई नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानता है तो हमारी पार्टी इसकी निंदा करती है। महात्मा गांधी हमारे लिए आदर्श हैं। वह हमारे मार्गदर्शक थे और आगे भी रहेंगे।कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक पार्टी को आतंकवादी पार्टी कहा था जबकि उस पार्टी से हजारों नेताओं ने देश की आजादी के लिए बलिदान दिया था। यह क्या हो रहा है? क्या सदन इस पर चुप रहेगा? महात्मा गांधी के हत्यारे का महिमामंडन किया जा रहा है।गौरतलब है कि बुधवार को सदन में एसपीजी विधेयक पर चर्चा के दौरान प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने नाथूराम गोडसे के बारे में एक टिप्पणी की थी जिस पर काफी हंगामा हुआ था। हालांकि लोकसभा अध्यक्ष ने उसी वक्त स्पष्ट कर दिया था कि सुश्री ठाकुर का बयान सदन की कार्यवाही का हिस्सा नहीं होगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...