मेस्सी ने रिकार्ड छठी बार फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीता - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 3 दिसंबर 2019

मेस्सी ने रिकार्ड छठी बार फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीता

messi-won-six-time-best-player-award
मैड्रिड, तीन दिसंबर, अपने क्लब और देश के लिये कठिन दौर में भी फुटबाल के मैदान पर अपने फन का शानदार मुजाहिरा पेश करने वाले अर्जेंटीना के स्टार लियोनेल मेस्सी ने रिकार्ड छठी बार फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीता ।  पिछले सत्र में बार्सीलोना का प्रदर्शन औसत रहा जबकि कोपा अमेरिका के सेमीफाइनल में ब्राजील ने अर्जेंटीना को हरा दिया । इसके बावजूद मेस्सी का प्रदर्शन 2019 में शानदार रहा । अब उनके नाम फुटबाल के इतिहास में सबसे अधिक बार यह सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार हो गया है । उन्होंने पांचवां ‘बलून डि ओर’ पुरस्कार चार साल पहले जीता था । उनके चिर प्रतिद्वंद्वी क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने पांच बार यह पुरस्कार जीता है जबकि जोहान क्रफ, माइकल प्लातिनी और मार्को वान बास्टेन के नाम पर तीन-तीन पुरस्कार दर्ज हैं।  मेस्सी ने इस साल 54 मैच खेलकर 46 गोल किये और 17 गोल में सूत्रधार की भूमिका निभाई । उन्होंने बार्सीलोना के लिये 44 मैचों में 41 गोल किये और 15 में सहायता की जिनमें तीन हैट्रिक शामिल हैं । बतौर कप्तान मेस्सी ने पहले सत्र में टीम को लगातार तीसरा ला लिगा खिताब दिलाया । उन्होंने लेवांटे के खिलाफ फाइनल में विजयी गोल भी दागा ।  चैम्पियंस लीग में हालांकि मेस्सी के दो गोल के बावजूद बार्सीलोना को लीवरपूल ने सेमीफाइनल में हरा दिया । कोपा डेल रे के फाइनल में उसे वालेंशिया ने हराया ।  चैम्पियंस लीग में सर्वाधिक 12 गोल करके मेस्सी ने लगातार तीसरे साल गोल्डन शू पुरस्कार जीता जो उनके कैरियर का छठा खिताब था ।  कोपा अमेरिका में चिली के खिलाफ तीसरे स्थान के प्लेआफ मुकाबले में रैफरिंग की आलोचना के कारण मेस्सी को तीन महीने अंतरराष्ट्रीय फुटबाल से निलंबन झेलना पड़ा । लौटकर आने के बाद वह चोट के शिकार हो गए । इसके बाद भी उन्होंने पांच मैचों में छऊ गोल किये । उन्होंने ला लिगा में 34वीं हैट्रिक लगाकर रोनाल्डो के रिकार्ड की बराबरी की। क्लब के लिये शानदार प्रदर्शन करने वाले इस धुरंधर की हालांकि कई अधूरी ख्वाहिशें हैं जिनमें चैम्पियंस लीग खिताब और विश्व कप ट्राफी शामिल है । उनके कैरियर के कुछ ही साल अब बचे हैं लेकिन अपने पैरों के जादू से उन्होंने इस खूबसूरत खेल के महानतम खिलाड़ियों में अपना नाम शामिल करा लिया है । 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...