पटोले निर्विरोध चुने गए महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 1 दिसंबर 2019

पटोले निर्विरोध चुने गए महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष

patole-elected-unopposed-as-maharashtra-assembly-speaker
मुंबई, 01 दिसंबर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नाना पटोले को रविवार को निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा का नया अध्यक्ष चुन लिया गया।इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन वापस ले लिया था।छप्पन वर्षीय श्री पटोले शिव सेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के गठबंधन महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) के उम्मीदवार हैं।इससे पहले महाराष्ट्र में एमबीए की अगुवाई में उद्धव ठाकरे की सरकार ने शनिवार को विधानसभा में आसानी से अपना बहुमत साबित कर दिया।राज्य की 288 सदस्यीय विधानसभा में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बहुमत के लिए 145 विधायकों का समर्थन चाहिए था जबकि उनके पक्ष में 169 वोट पड़े।राज्य विधानसभा में 105 विधायकों वाले सबसे बड़े दल भाजपा ने मतदान से पहले सदन का बहिर्गमन किया जबकि चार विधायक तटस्थ रहे।कांग्रेस पार्टी के किसान मोर्चे के पूर्व नेता श्री पटाेले विदर्भ क्षेत्र के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) कुनाबी समुदाय से संबंध रखते हैं। श्री पटोले चार बार विधायक रह चुके हैं और वह विदर्भ की सकोली विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं।श्री पटोले ने 2014 में कांग्रेस छोड़कर भाजपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। श्री पटोले ने राकांपा के उम्मीदवार प्रफुल पटेल को भंडारा-गोंडिया सीट से हराया था।श्री पटोले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 से 2019 के बीच पहले कार्यकाल के दौरान उनके खिलाफ बगावत करने वाले पहले नेता थे।इस बार उन्होंने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के खिलाफ नागपुर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...