सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 20 दिसंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 दिसंबर

सीहोर की बहू ने भारत के सबसे मशहूर  ब्युटि पेजेंट कम्पीटिशन में बिखेरा जलबा 
मिसेस फेब इंडिया चुनी गई संगीता ठाकुर  फेब इंडिया कम्पीटिशन इंदौर में आयोजित हुआ 
sehore news
सीहेार। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में भारत का मशहूर फेब इंडिया ब्युटि पेजेंट कम्पीटिशन ट्रेजर ऑइसलेंड मॉल में आयोजित हुआ। कम्पीटिशन में देश भर की सात सौ से अधिक महत्वाकांक्षी मॉडल्स ने ऑडिशन दिया। इस कम्पीटिशन में सीहोर की महत्वाकांक्षी मॉडल संगीता ठाकुर पहले और दूसरे राउंड में  मिसेस फेब इंडिया फस्ट रनर अप चुनी गई।  इस राउंड में अन्य मॉडल्स भी शामिल रहंी।  कम्पीटिशन के ऑडिशन 23 नवंबर को भोपाल और 24 नवंबर को इंदौर शहर के रिलाइन्स ट्रेंड स्टोर में आयोजित किए गए थे। जिस में महत्वाकांक्षी मॉडल्स के साथ सीहोर की बहू संगीता ने भी ऑडिशन दिया था। कम्पीटिशन के लिए  करीब 4 हजार से भी ज़्यादा ऑनलाइन मॉडल्स एंट्रीज़ में से कुल सात सौ  मॉडल्स चुनी गई थी। इससे पहले कम्पीटिशन देश के मुंबई, पुणे, सूरत, अहमदाबाद, नागपुर, रायपुर, जयपुर जैसे कई बड़े शहरों में सफलतापूर्वक हो चुका है। जिसे वहाँ के लोगों का खूब प्यार और सम्मान भी प्राप्त हुआ है। आयोजन फ़ैशन के क्षेत्र में मशहूर फेब इंडिया के द्वारा किया गया है जो अपने सूक्ष्म और निष्पक्ष निर्णय के लिए जाना जाता है। कुल मिलकर 70 प्रतियोगियों को मध्य प्रदेश के ग्रेंड फिऩाले के लिए चुना गया था। 
सीहेार बहू है श्रीमति ठाकुर 
मिसेस फेब इंडिया फस्ट रनर अप चुनी गई संगीता ठाकुर मूलरूप से ग्रहणी है उनके पति मोहित सिंह ठाकुर का शहर में बिजनेस है। श्री ठाकुर स्टेशन रोड सुभाष नगर सीहोर में निवासरत है। श्रीमति ठाकुर ने टेलेंट राउंड, फिजिकल राउंड और मिसेस पॉपुलर में भी टॉप किया है। श्रीमति ठाुकर ने बीकॉम किया।  

ऐसी हुई फ़ाइनल की तैयारी-
श्रीमति ठाकुर ने बताया की इस शो में सभी 70 फाइनलिस्ट को जाने माने कोरियोग्राफर वैशाली वर्मा ने इंटरेक्टिव वर्कशॉप के जरिये ग्रेंड फिऩाले के लिए तैयार किया। इस वर्कशॉप में राउंड, रैम्प वॉक जैसी फील्ड में ट्रेनिंग दी गई। 
जिस में फाइनलिस्ट को पार करना था जिसके बाद सिर्फं 3 लोगों को खिताब का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

डिस्ट्रीक पेनकेक सिलेट में सिलेक्ट हुए खिलाड़ी  चेम्पीयनशिप में जीते सिलवर मेडल 

sehore news
सीहोर। डिस्ट्रीक पेनकेक सिलेट में सिलेक्ट हुए शहर के होनहार कराते खिलाड़ी प्रताप सिंह ठाकुर और राघवेंद्र सिंह ठाकुर ने भोपाल में आयोजित  चेम्पीयनशिप में प्रथम और द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। चेम्पीयनशिप के पुरूस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व राज्यसभा सांसद के द्वारा दोनों खिलाडिय़ों को गोल्ड और सिल्वर मेडल देकर सम्मानित किया गया। खिलाडिय़ों की उपलब्धी पर माहर सिंह ठाकुर,राम सिंह, नारायण सिंह, अवधनारायण दांगी, महेंद्र ठाकुर, भूपेंद्र ठाकुर सहित अन्य खिलाडिय़ों ने सराहना व्यक्त की है। 




वरिष्ठजनों के आशिवाज़्द से हीं प्रगति करता है समाज- ठाकुर  अखिल भारतीय क्षत्रीय दांगी समाज का कायज़्क्रम 

sehore news
सीहेार। अखिल भारतीय क्षत्रीय दांगी समाज एवं युवा दांगी समाज संगठन की संयुक्त रूप से कायज़्क्रम आयोजित किया। मुख्य अतिथि पूवज़् सांसद सुरेन्द्र सिंह ठाकुर एवं पूवज़् निगम अध्यक्ष भोपाल माधोसिंह दागी सम्मिलित हुए।   युवा दांगी समाज संगठन के युवा पदाधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत किया। कायज़्क्रम के दौरान भूपेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा की समाज में हमें एकजुटता लाने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि समाज एकजुट होगी तभी समाज की सही मायने में तरक्की होगी । इसके लिये हमें हमारे समाज के अध्यक्ष की वरिष्ठ समाज जनों को सम्मान देकर उनके बताये मागज़् पर चलना होगा। समाज हर क्षेत्र में प्रगति पथ पर बढ़ेगा । समाज के लोगों को पूणज़् रूप से शिक्षिता करना होगा तभी समाज की प्रगति संभव होगी । राजनीति क्षेत्र में कोई बड़ी जिम्मेदारी किसी भी पाटीज़् चाहे भाजपा हो या काग्रेस द्वारा दांगी समाज के व्यक्ति को नहीं दी गई है। उन्होने कहा की मंत्री ,विधायक पाटीज़् जिलाध्यक्ष सांसद अधिकारी वगज़् का समाज द्वारा सम्मान किया जाना चाहिए। पूवज़् सांसद सुरेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा की कम से कम एक बार रक्तदान जरूर करना चाहिए  कायज़्क्रम रखकर रक्तदान करवाना चाहिए क्योंकि रक्त की सभी को जरूरत पड़ सकती है और ये कायज़्क्रम सीहोर शहर या श्यामपुर दोराहा कही भी रखा जा सकता है ।  मृत्युभोज समाज में पूणज़्त: बंद किया जाये एवं दूसरे समाज के व्यक्तियों से सीखना चाहिए उनके द्वारा रसोई का कायज़्क्रम न करते हुये । कायज़्क्रम में बड़ी संख्या में समाजजन मौजूद रहे। 

श्रद्धालुओं ने निकाली कलश यात्रा  गंगा आश्रम में श्रीमदभागवत कथा 

sehore news
सीहोर। सीवन मां दुर्गा उत्सव समिति के तत्वाधान में प्रमुख मार्गो से कलश यात्रा निकाली गई। शुक्रवार से श्री गोपाल धाम मंदिर परिसर में संगीतमय सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा का शुभारंभ किया गया। भागवत कथा वाचक पंडित राजेश शर्मा गुरू के सानिध्य में यजमान ओमवती गौवर्धन कुशवाहा ने विधिवत गीताजी और समस्त देवी देवताओं की पूजा अर्चना की। प्रथम दिवस कथा वाचक पंडित श्री शर्मा ने श्रद्धालुओं के समक्ष भागवत महात्यम प्रस्तुत किया।  भागवत कथा आयोजन में शनिवार को शुकदेव जीपरिक्षित मिलन शिव विवाह, रविवार को  ध्रुव चरित्र , प्रहलाद कथा चामन अवतार,सोमवार को श्रीराम कथा कृष्ण जन्म, ननद उत्सव, मंगलवार को कृष्ण लीला , गोबरधन पूजा छप्पन भोग बुधवार को  काली देह से यमुना जी का उद्धार रुकमणिविवाह गुरुवार को  नैमिषारण्य महत्व सुदामा चरित्र ,परिक्षित मोक्ष कथा का वाचन पंडित राजेश शर्मा गुरू श्रद्धालुओं को श्रवण कराएंगे। समिति ने समस्त श्रद्धालुओं से श्रीमद भागवत कथा श्रवण करने पहुंचने की अपील की है। 

अ भा धोबी रजक महासंघ ने  मनाई  राष्ट्रीय संत गाडगे बाबा की पुण्यतिथि 

sehore news
सीहोर। समाज सुधारक, भारत में स्वच्छता मिशन के जनक राष्ट्रीय संत गाडगे बाबा की पुण्यतिथि अखिल भारतीय धोबी रजक महासंघ द्वारा मनाई गई। इस अवसर पर इन्दौर नाका घाट पर महासंघ के पदाधीकारी और समाज जनो ने संत गाडगे को याद कर उनकी जीवन पर प्रकाश डाला। समाज के लोगों ने बाबा के चित्र पर पुष्प अर्पित किए और बाबा अमर रहे के नारे लगाए। इस अवसर को और यादगार बनाने के लिए महान राष्ट्रीय संत गाडगे बाबा की मूर्ति लगाने और घाट निर्माण को लेकर चर्चा की गई। कार्यक्रम में रमेश मालवीय, जगदीश प्रसाद मालवीय, जमुना प्रसाद मालवीय, मांगीलाल मालवीय, धर्मेंद्र मालवीय, रितिक मालवीय, विनोद मालवीय, जिले के महामंत्री राकेश मालवीय, नगर अध्यक्ष सोनू मालवीय, उद्देश मालवीय, अरविंद मालवीय, दिनेश मालवीय ओम प्रकाश माली, अनिल मालवीय, जिले के महामंत्री मुकेश मालवी कचनारिया वाले, श्याम मालवीय, गौतम पनवसीया, राजू मालवीय, आकाश वाधवी आदि उपस्थित थे।  

प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील आज सीहोर जिले के भ्रमण पर विभिन्न स्थानों पर आयोजित आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में होंगे शामिल

गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग मध्यप्रदेश शासन तथा सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 21 दिसंबर शनिवार को सीहोर जिले के भ्रमण पर रहेंगे। जारी दौरा कार्यक्रम अनुसार प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील 21 दिसंबर को प्रात: 10 बजे भोपाल से कार द्वारा प्रस्थान कर प्रात: 11 बजे सीहोर पहुंचेंगे। जहां सीहोर के टाउनहाल में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल होंगे। दोपहर 12 बजे प्रभारी मंत्री ग्राम सतपिपलिया के लिए प्रस्थान कर 12:20 बजे ग्राम सतपिपलिया पहुंचेंगे जहां आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल होंगे एवं नलजल योजना का लोकार्पण करेंगे। दोपहर 1:20 बजे सतपिपलिया से जावर के लिए रवाना होंगे एवं अपरान्ह 3:30 बजे जावर पहुंचकर शासकीय महाविद्यालय जावर का लोकार्पण करेंगे तथा आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। प्रभारी मंत्री श्री अकील सायं 4:30 बजे ग्राम गुराड़ियावर्मा में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल होकर नलजल योजना का लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम के पश्चचात प्रभारी मंत्री सायं 5:30 बजे कार द्वारा भोपाल के लिए प्रस्थान करेंगे। 

मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा विदेश अध्ययन हेतु निःशुल्क शिक्षा योजना लागू

श्रम विभाग, मध्यप्रदेश शासन अंतर्गत मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा विदेश अध्ययन हेतु निःशुल्क शिक्षा योजना 2019 लागू की गई है। इस योजना में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों की संतानों के लिए प्रतिवर्ष निर्माण श्रमिकों की संतानों को विदेश स्थित मान्यता प्राप्त संस्थाओं से गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अधिकतम 50 छात्र-छात्राओं को विदेश अध्ययन हेतु राशि प्रदान की जायेगी। योजनांतर्गत चयनित विद्यार्थियों को विदेशों में 2 वर्ष तक स्नातकोत्तर स्तर के पाठ्यक्रमों, शोध उपाधि (पी.एच.डी) हेतु छात्रवृत्ति एवं अन्य लाभ दिया जायेगा। लाभार्थी का चयन श्रमायुक्त, मध्यप्रदेश इंदौर की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया जायेगा। योजना से संबंधित और अधिक जानकारी के लिए लाभार्थी श्रम विभाग की वेबसाइट http://www.labour.mp.gov.in//mpbocwwb  पर देख सकते हैं।

सीहोर में बढ़ता सौंदर्यीकरण (विशेष लेख)

पूर्व समय में सिद्धपुर के नाम से प्रसिद्ध सीहोर ब्रिटिश राज में बसाया गया शहर है, जो कि आज भी उस दौर के कई पुरातात्‍विक महत्‍व के भवनों को समेटे हुए है। मध्‍य प्रदेश का एक सुप्रसिद्ध देवी मंदिर सलकनपुर में है। यहां पर पहाड़ की ऊंची टेकरी पर बीजासन देवी की पिंडी है और हजारों की संख्‍या में श्रद्धालू यहां पर दर्शनों के लिये देश भर से आते हैं विशेषकर नवरात्रि में तो ये संख्‍या काफी बढ़ जाती है। मध्‍य प्रदेश के सीहोर जिले में स्थित ये मंदिर राजधानी भोपाल से 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। राजधानी से 84 किलोमीटर दूरी पर सारू मारू की गुफाएँ स्थित है, जो कि बौद्ध धर्म से संबंधित हैं। यहाँ पर विशाल स्तूप एवं गुफाएँ हैं। इनके अलावा यहाँ पर पेशवाकालीन गणेश मन्दिर भी है। हाल ही के कुछ वर्षों में सीहोर में विकास की लहर तेजी से चली है। जहां एक ओर सीहोर का सड़क निर्माण एवं नवीनीकरण तेजी से हुआ वहीं दूसरी ओर भारत माता की मूर्ति देशभक्ति के प्रतीक के रूप में स्थापित की गई। शहर में स्थित टाउन हॉल अत्यंत सुलभ एवं महत्वपूर्ण स्थानों का केंद्र है जिसमें कार्यक्रमों हेतु सभागार, घूमने के लिए उद्यान, बच्चों-बच्चियों के लिए झूले, शासन द्बारा संचालित पुस्तकालय एवं समीप ही पीहू-पीहू हब आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। साथ ही बात करें प्रशासनिक व्यवस्थाओं कि तो नवीन कलेक्टर कार्यालय की अपनी ही एक गरिमा है। उपयुक्त स्थान के साथ-साथ सभी विभाग एक स्थान पर समाहित हो गए हैं जहां सभी समस्याओं का समाधान आसानी से हो जाता है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय के पास ही कंट्रोल रूम की स्थापना भी लाभदायक है। जहां एक ओर नगर पालिका स्वच्छता हेतु प्रयासरत है, वहीं समान्य नागरिकों के समर्थन से सीहोर में सुख एवं शांति व्याप्त है।

30 दिसम्बर तक गिरदावरी पखवाड़ा घोषित

शासन द्वारा गिरदावरी कार्य समय-सीमा में पूर्ण करने हेतु 15 दिसम्बर से 30 दिसम्बर की अवधि को गिरदावरी पखवाड़ा के रूप में घोषित किया गया है। कलेक्टर ने नियत अवधि में गिरदावरी कार्य पूर्ण करने हेतु राजस्व अधिकारियों, पटवारियों को निर्धारित समय-सीमा में गिरदावरी का कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि मौसम रबी वर्ष 2019-20 हेतु सारा एप का नवीन संस्करण  गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है, जिसके माध्यम से मौसम रबी 2019-20 का गिरदावरी का कार्य पटवारी द्वारा किया जाना है। एमपी किसान एप के माध्यम से स्वयं किसान द्वारा भी फसल स्व-घोषणा की जानकारी दर्ज की जा सकती है एवं उक्त जानकारी पटवारी द्वारा एप्रूव किए जाने के पश्चात वह गिरदावरी डाटा में उपलब्ध होगी। एमपी किसान एप पर फसल पीएम किसान की जानकारी का अवलोकन किया जा सकता है। गिरदावरी डाटा का उपयोग राजस्व विभाग के अतिरिक्त अन्य विभागों द्वारा भी किया जाता है। अतः नियत समय-सीमा में मौसम रबी गिरदावरी कार्य 30 दिसम्बर तक पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करें।

एमपी माय गव के सहयोग से नागरिक दें सकतें हैं यातायात संबंधी सुझाव

प्रदेश में यातायात सुरक्षा उपायों को और बेहतर एवं सुरक्षित बनाने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने एमपी माय गव के सहयोग से सभी नागरिकों से सुझाव आमंत्रित किये हैं। सीट बेल्ट और हेलमेट पहनने जैसे सुरक्षात्मक उपायों पर लोगों में जागरूकता के लिए ट्रैफिक पुलिस, मध्य प्रदेश ने सुझाव मांगे है। इच्छुक व्यक्ति इस विषय पर अपने विचार एमपी माय गव पर शेयर कर सकते है।

बालक एवं किशोर श्रम प्रतिषेध एवं विनियम अधिनियम 1986

यह अधिनियम इस बात को परिभाषित करता है कि बच्चे और किशोर कहां काम कर रहे हैं और कहां नहीं। इस अधिनियम के अनुसार 14 वर्ष से कम उम्र का व्यक्ति बालक और 14 वर्ष से ऊपर लेकिन 18 वर्ष से कम उम्र का व्यक्ति किशोर माना जाएगा। अधिनियम के अनुसार किसी भी बालक को किसी व्यवसाय या प्रक्रिया में नियोजित नहीं किया जा सकता है। संशोधन के द्वारा पहली बार अधिनियम में किशोर शब्द को जोड़ा गया है, साथ ही बालश्रम को संज्ञेय अपराध बनाते हुए पुलिस द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफ.आई.आर.) दर्ज करने हेतु प्रावधान बनाए गए हैं। इस अधिनियम में बालकों के लिए परिवार से जुड़े व्यवसाय को छोड़कर किसी भी व्यवसाय या प्रक्रिया में नियोजन पर पूर्णतः रोक का प्रावधान किया गया है। यह संगठित और असंगठित क्षेत्र दोनों पर लागू होता है, बच्चे अपने स्कूल के समय के बाद परिवारिक व्यवसाय में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा किशोरों को स्वास्थ्य के लिए खतरनाक माने जाने वाले उद्योगों को छोड़कर दूसरे कारोबार में कुछ शर्तों के साथ काम करने को छूट दी गई है। इस आयु वर्ग के बच्चों को किसी खतरनाक उद्योग में भी नियोजित नहीं किया जा सकेगा। 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से काम करवाना, पारिवारिक व्यवसाय के अलावा संज्ञेय अपराध माना जाएगा। प्रावधानों के उल्लंघन की दशा में 6 महीने का कारावास जिसका विस्तार 2 वर्ष तक हो सकेगा अथवा जुर्माना 20 हजार जिसका विस्तार 50 हजार तक हो सकेगा अथवा कैद और जुर्माना दोनों दंडनीय होगा। बालक या किशोर को बाल श्रम अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन कर नियोजित किए जाने पर पुलिस द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराया जा सकेगा। अपराध की पुनरावृत्ति फिर से वही अपराध करना होने की दशा में 1 वर्ष का कारावास जिसे 3 वर्ष तक बढ़ाया जा सकेगा से दंडनीय होगा। यदि ऐसा कोई बाल श्रमिक बच्चा आपको दिखायी देता है तो आप 1098 बाल कल्याण समिति, 100 या स्थानीय पुलिस को सूचित कर सकते है।

मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना

शासन द्वारा मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना अंतर्गत कृषक पुत्री-पुत्र को कृषि पर आधारित स्वयं का उद्योग, सेवा, व्यवसाय उद्यम स्थापित करने हेतु बैंक के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। इच्छुक आवेदक द्वारा एमपी ऑनलाईन पोर्टल के माध्यम से एमएसएमई (सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योग) के वेबसाइट mponline-gov-in  से निर्धारित प्रारूप में आवश्यक सहपत्रों सहित ऑनलाईन आवेदन किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री किसान मान-धन वृद्धावस्था पेंशन योजना शुरू

सरकार ने देश के सभी भू-धारक लद्यु और सीमांत किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पीएम-केएमवाई) नामक वृद्धावस्था पेंशन योजना शुरू की है। परियोजना संचालक आत्मा किसान कल्याण श्योपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह योजना एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन स्किम है। प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना में दो हेक्टयर तक के किसानो को जिनकी उम्र 18 वर्ष से 40 वर्ष है। के लिए लागू की गई है। योजना अनुसार प्रीमियम राशि रू. 55 से 200 तक है। इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानो को कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर निशुल्क रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन हेतु खसरा-खतौनी की नकल और दो फोटो और बैंक पासबुक की आवश्यकता होगी।प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पीएम-केएमवाई) के अतंर्गत सभी भू-धारक लद्यु और सीमांत किसानो (पुरूष और स्त्री दोनो) के लिए 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर 3 हजार रू. की एक सुनिश्चित मासिक पेंशन की व्यवस्था की गई है।

शाहगंज महाविद्यालय में हुआ व्याख्यान माला का आयोजन

शासकीय महाविद्यालय शाहगंज के प्राचार्य श्री सुनील गौतम ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की 130 वीं जन्म वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित व्याख्यान माला के चरण में शुक्रवार को नेहरु एवं लोकतंत्र विषय पर व्याख्यान आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान व्याख्यान में चिंतन विचारक डॉ रंजिता तेकाम ने भारत में नेहरु जी के लोकतंत्र स्थापित करने पर प्रकाश डाला। इसी प्रकार मुख्य अतिथि श्री राजकुमार पटेल ने नेहरु जी की लोकतंत्र स्थापना में भूमिका, साहित्य नेहरु दर्शन, राष्ट्र निर्माण, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी, औद्योगिक ईकाई की स्थापना करने संबंधी अन्य तथ्यों के बारे में विस्तार से बताया। इस अवसर पर डॉ.मनीष परिहार, डॉ प्रदन्या पुरंदरे सहित महाविद्यालय स्टाफ एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।   

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...