हार्दिक पंड्या सफेद गेंद के लिेय टीम में कर सकते हैं वापसी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 जनवरी 2020

हार्दिक पंड्या सफेद गेंद के लिेय टीम में कर सकते हैं वापसी

hardik-pandya-may-play-test-cricket
मुंबई, 11 जनवरी, न्यूजीलैंड के छह हफ्ते के आगामी दौरे के लिये भारत की सीमित ओवर की टीम में ज्यादा फेरबदल की उम्मीद नहीं है और इसमें एकमात्र बदलाव आल राउंडर हार्दिक पंड्या को शामिल करना हो सकता है।  भारतीय टीम 24 जनवरी से शुरू होने वाले दौर में पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय, तीन वनडे और दो टेस्ट मैच खेलेगी। इस दौरे के लिये टीम का चयन रविवार को किया जायेगा।  न्यूजीलैंड में भारतीय टीम सफेद गेंद से आठ मैच खेलेगी और यह देखना दिलचस्प होगा कि चयनकर्ता 15 के बजाय 16 या 17 सदस्यीय टीम का चयन करेंगे या नहीं।  भारत ए टीम का दौरा भी सीनियर टीम के दौरे के साथ ही हो रहा है तो चयनकर्ताओं के पास जरूरत पड़ने पर खिलाड़ियों को तुरंत शामिल करने का विकल्प होगा।  इस साल टी20 विश्व कप खेला जाना है, इसे देखते हुए चयनकर्ताओं का मुख्य ध्यान सफेद गेंद के क्रिकेट के लिये अहम खिलाड़ियों के चयन पर लगा होगा।  श्रीलंका के खिलाफ हाल में समाप्त हुई श्रृंखला में खेलने वाली टी20 टीम के खिलाड़ियों का चयन तय ही है। लेकिन पहले ही ए टीम के साथ न्यूजीलैंड पहुंच चुके पंड्या के दो वनडे अभ्यास मैचों के अलावा न्यूजीलैंड के खिलाफ लिस्ट ए के दो मैचों में फिटनेस साबित करने के बाद टीम में शामिल किये जाने की उम्मीद है।  भारत ए के तीन लिस्ट ए मैच 26 जनवरी को ही समाप्त होंगे और पीठ की सर्जरी से वापसी करने के बाद उन्हें 29 जनवरी को तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में शामिल किया जा सकता है।

बीसीसीआई के सीनियर अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘‘हार्दिक के बारे में, सिर्फ यही देखना है कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिये पूरी तरह से फिट है या नहीं। वह भारत की विश्व टी20 योजना के लिये बहुत अहम है। ’’  यह देखना भी दिलचस्प होगा कि वनडे टीम और टी20 टीम एक सी होंगी या नहीं।  वनडे टीम की सबसे कमजोर कड़ी केदार जाधव हैं जो दबाव के बावजूद 50 ओवर की टीम में अपना स्थान बरकरार रखे हैं।  न्यूजीलैंड में जाधव की तकनीकी खामियां सामने आ सकती हैं और हाल के दिनों में ज्यादा ओवर नहीं खेलने को देखते हुए उन्हें टीम से बाहर किया जा सकता है।  अगर टीम तकनीकी मजबूती के पहलू को देखती है तो अजिंक्य रहाणे वापसी कर सकते हैं लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो मुंबई के सूर्यकुमार यादव की आक्रमक बल्लेबाजी को देखते हुए पांचवें या छठे स्थान के विकल्प के रूप में देखा सकता है। सूर्य और संजू सैमसन दोनों ए टीम में शामिल हैं। टेस्ट टीम काफी संतुलित दिखती है जिसमें सिर्फ तीसरे सलामी बल्लेबाज के स्थान पर ही विचार किया जाना है। घरेलू श्रृंखला के लिये रिजर्व के तौर पर चुने गये युवा शुभमन गिल तीसरे सलामी बल्लेबाज के हकदार हैं लेकिन लोकेश राहुल की मौजूदा फार्म और टेस्ट क्रिकेट में उनके अनुभव पर विचार किया जा सकता है। चयनकर्ता इस पर भी विचार करेंगे कि जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा का साथ निभाने के लिये पांचवें तेज गेंदबाज (नवदीप सैनी) के बजाय तीसरा स्पिनर (कुलदीप यादव) दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिये जरूरी होगा या नहीं। बाकी अन्य खिलाड़ियों को फिटनेस संबंधित कोई परेशानी नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...