बिहार : जब इंदिरा आवास योजना की राशि का गटक गए मुखिया जी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 जनवरी 2020

बिहार : जब इंदिरा आवास योजना की राशि का गटक गए मुखिया जी

indira-awas-scam-bihar
सोनपुर, 30 जनवरी। महादलित पिंकी देवी (30 साल) की तरह अनेक लाभान्वित हैं,जो जन प्रतिनिधियों के द्वारा ठगा जाते हैं। शिव हजरा और पिंकी देवी,ग्राम-छितरचक,थाना-सोनपुर और जिला सारण(छपरा) के निवासी हैं। खबर है कि हाल के दिनों में सरकारी इंदिरा आवास योजना के अन्तर्गत मिली राशि को धोखे से मुखिया जी पहलेजा बैंक बुलाकर एक अनपढ़ (पिंकी देवी) और बेबस महिला से अंगूठा लगाकर अपने खाता में पूरा पैसा जबरन ट्रांसफर करवा लिए। यह वाक्या दिनांक 10/01/2020 के दिन लगभग बारह बजे की हैं जब मुखिया जी नाम से प्रचलित धनेश्वर राय  ने अपने सहयोगी श्री शनिचर राय से पिंकी देवी को पहलेजा बैंक बुलाकर सारा पैसा अपने खाता पर डलवा लिए, जब पीड़िता ने पैसों की माँग की तो उसके साथ गलत आचरण भी किया गया । इस घटना की जानकारी बीती रात पीड़िता के साथ गई उसकी बड़ी बहन रेखा पासवान ने दी ।यह जानकर अत्यंत दुःख हुआ कि किस स्तर पर भ्रष्टाचार इंसानियत को निगलती चली जा रही है । पीड़िता ने बताया की इससे पूर्व दो बार पैसा खाता से निकला था तब कथित मुखिया जी पैसा और खाता अपने पास ले लिए तथा बोले की जब इंदिरा आवास योजना की पूरी राशि आ जायेगी, तब शेष राशि दे देंगे। किन्तु जब आज पूरी शेष राशि निष्कासित किया तो वह कथित मुखिया ने छल से अंगुली का ठप्पा लगवाकर संपूर्ण राशि अपने खाता में डलवा लिया । पिंकी देवी कहती हैं कि जब पैसा मांगी गयी तब उन्होंने गलत नीयत से मेरा हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खींचते हुए किसी मकान में चलने को कहने लगे। वहां पर चलो तब वहाँ पैसा देंगे। तब मेरी बहन रेखा देवी ने इसका विरोध किया तो कथित मुखिया जी ने कहा की एक हरिजन का इतना साहस है? इतना कहते हुए गाली देने लगे तथा कहा की इस बात की जानकारी किसी को दिया तो मैं  (मुखिया)जान से मार दूँगा ! खैर अब समाज और सिस्टम में फैले भ्रष्टाचार के विषय में थोड़ा आप भी समझे ताकि इंसानियत जिंदा रहे । निजी तौर पर मैं मुखिया जी से आग्रह करता हूँ की कृपा कर उस बेबस , लाचार और एक महादलित महिला के साथ ऐसा ना करे ।

कोई टिप्पणी नहीं: