झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जनवरी

प्रदेष मे मीनी इमरजेंसी जैेसे हालात पैेदा कर दिये प्रदेष सरकार ने, बदले की भावना के साथ काम कर रहा जिला प्रषासन- सांसद गुमानसिंह डामोर
प्रेसवार्ता कर बदले के भावना से की गई प्राथमिकी के बारें में बताया सांसद ने
jhabua news
झाबुआ । भारत में नागरिकता संशोधन कानून 12 दिसम्बर को बनाया गया जिसमें बांग्ला देश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान में रहने वालेे सिक्ख, ईसाई, बौद्ध, जैन, पारसी, हिन्दु अल्पसंख्यक होकर धर्म के आधार पर प्रताडित होने के चलते जो 31 दिसम्बर 2014 को भारत मे शरणार्थी बन कर आये उन्हे भारत में नागरिकता प्रदान करने का उक्त कानून में प्रावधान किया गया । इन 6 वर्ग के प्रताडित शरणार्थियों को इस देश की नागरिकता देकर सम्मान दिया जाना ही मुख्य उद्देश्य रहा है। हमारे देश में 1955 में नागरिकता कानून बना होकर इसके तहत पूर्व में युगांडा, श्रीलंकाआदि के शरणार्थियों को पूर्व में भी अलग अलग समय पर नागरिकता दी गई है। नागरिकता संशोघन विधेयक बनने के बाद वर्ग विशेष के लोगों को कतिपय राजनैतिक दलों द्वारा भडकाया जाकर देश में आगजनी एवं अशांति पैदा करने की कोशिशे की गई है । भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता इस कानून जिसके द्वारा नागरिकता दिये जाने का प्रावधान है, किसी की नागरिकता छिनने का नही है के बारे में घर घर जाकर जन जागृति के तहत समझाने एवं जानकारी देने का काम किया जारहा है। उक्त बात गुरूवार को सांसद कार्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दोैरान रतलाम,झाबुआ आलीराजपुर के सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहीं । श्री डामोर ने कहा कि 7 जनवरी को झाबुआजिला मुख्यालय पर भारत सुरक्षा मंच, एवं भारत के नागरिक मंच के अन्तर्गत जिले भर के लोगों ने इस कानून के समर्थन में रैली निकालने के लिये  निर्धारित समय के पूर्वही रैली के लिये  जिला प्रशासन को आवेदनदेकर अनुमति का पत्र दे दिया गया था ।। श्री डामोर ने कहा कि 7 जनवरी को मैने स्वयं कलेक्टर झाबुआ से रैली की अनुमति के लिये चर्चा की तो उन्होने अनुमति दिये जाने के बारे में बताया था किन्तु एसडीएम ने बताया कि रेली निकालने की अनुमति नही दी जायेगी । रैली की तिथि को  करीब 10 हजार से अधिक लोग, महिलाये बच्चे उत्कृष्ठ मेदान पर समर्थन रैली के पहूंच चुके थे । हमने कलेक्टर से यह भी अनुरोध किया था कि यदि रैली निकालने की अनुमति नही देते है तो कृप्या हमे सभा करके तथा यही पर ज्ञापन देने के लिये अनुमति दी जावे । किन्तु रेली समय तक रैली के लिये अनुमति के अभाव में हमने लोगों से शांति पूर्वक रैली निकाल कर तथा कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपने का निश्चय किया तथा नगर में बिना किसी हुडदंग के शांतिपूर्वक अनुशासित रैली निकाली गई तथा कलेक्टर को ज्ञापन सोपा गया । इस दोरान नगर मे पुरी तरह शांति बनी रही । श्री डामोर ने आगे कहा कि सायंकाल मेरे सहित 61 अन्य लोगों के अतिरिक्त 300 से अधिक लोगों के विरुद्ध प्रशासन द्वारा धारा 144 तोडने का आरोप लगा कर एफआईआर दज्र कर दी गई । संसद गुमानसिंह डामोर के अनुसार18-129 दिसम्बर से जिले में प्रशासन ने धारा 144 लगा रखी है जिसके तहत 5 से अधिक लोगों के एकत्रित होने पर उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाती है । इस धारा मे पुष्ट जानकारी हो कि समाज में अशांति, हुडदंग, आदि की संभावना हो तो उसे देखते हुए इस धारा को लगाया जाता है। श्री डामोर ने कहा कि झाबुआ के इतिहास में अभी तक धार्मिक, या सामाजिक आधार पर ऐसा कभी नही हुआ है तथा कफ्यू लगाने की नौबत आई हो ।इस तरह जिला प्रशासन का यह  कदम पूरी तरह हास्यास्पद होने साथ ही कानून के साथ खिलवाड भी है । श्री डामोर ने आगे कहा कि यह ां पर 25 दिसम्बर को तीन दिनों तक क्रिसमस पर्वका मेला आयोजित हुआ जिसमें 50 हजार से अधिक लोग एकत्रित हुए थे । 27 दिसम्बर को हुडा क्षेत्र से नमाज के बाद 400-500 लोग एकत्रित होकर इस सीसीए कानून के विरोध में ज्ञापन देने जारहे थे तब जिला प्रशासन स्वयं राजवाडा चैक पहूंच कर वहां उनसे ज्ञापन लिया । 7 जनवरी को रानापुर में कांग्रेस का रानापुर में सम्मेलन आयोजित हुआ जिसमें 2000 लोग एकत्रित हुए  वही 8 जनवरी से गोपाल मंदिर के जुलुस में सैकडो लोगों की उपस्थिति रही तो फिर धारा 144 का उल्लंघन नही हुआ क्या ? श्री डामोर ने आगे कहा कि यदि इन कार्यक्रमों के लिये यदि प्रशासन ने अनुमति दी थी तो उनकी शर्ते क्या थी ? उसकी प्रतिलिपि हमे दी जावे  या इसका जवाब दिया जावे ।उन्होने आगके कहा कि प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी सीसीए के समर्थन में रैली निकालने की अनुमति मिली है। जबकि भोपाल में अल्पसंख्यक वर्ग के लोग भी अधिक तादाद में रहते है। तो फिर झाबुआ में सीसीए के समर्थन मे रैली निकालने की अनुमति क्यों नही दी गई ? मेैने प्रशासन से पुछा है कि यदि राज्य सरकार ने प्रशासन को राष्ट्रभक्तो के संगठन या भाजपा जो राष्ट्र के लिये प्राण न्यौछावर करने को तत्पर रहते है, को अनुमति नही देने कके निर्देश तो नही दिये है । उन्होने कहा कि भाजपा के हर कार्यकर्ता के प्रति शासन प्रशासन ने ऐसा ही मानस बना लिया है ।और पूरे प्रदेश में इमरजेंसी जेसे हालात निर्मित किये जारहे है । इस कदम को मीनी इमरजेंसी कहे तो अतिशयोक्ति नही होगी । क्यो भाजपा के कार्यकर्ताओं पर द्वेषभावना के साथ प्रशासन स्तर से कार्यवाही हो रही है । श्री डामोर ने कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने भूमाफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करने के कदम का भाजपा ने भी पुरजोर समर्थन किया है । किन्तु झाबुआ के किशनपुरी में प्रधानमंत्री आवास तथा गरीबो के झोपडे तोड कर प्रशासन ने बहादुरी दिखांने का काम किया है । श्री डामोर ने प्रतिप्रश्न किया कि क्या ये गरीब भू माफीया थे ? उन्होने कहा कि प्रशासन सडक से 52 फीट जमीन हाई वे पर तोडे जाने की बात करता है।किन्तु गोपोल कालोनी में मुख्य हाईवे से 5 फिट की दुरी पर वरदान हास्पीटल को क्यो बक्शा गया ? उन्होने चेतावनी देते हुए कहा कि राज्य सरकार इस तरह की भेदभाव पूर्ण नीति को बंद करे। हम लोगों  पर हजार एफआईआर दर्ज करे तो तो हमे कोई फर्क नही पडता है ।हमारा लक्ष्य ही देशवासियांे को आंच नही आने का ही रहेगा । श्री डामोर ने बताया कि यहां का प्रशासन दोहरा रवैया अपना रहा है। पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य एवं शिक्षा की सेवायें चरमरारही है । पूरे जिले में शिक्षकों के पद रिक्त है  । आंगनवाडियों के भवन तक नही बन रहे है । झाबुआ जिले में  अवैध शराब की नदिया बह रही है।घर घर पर खुलेआसमान के नीचे अवैध शराब बिक रही है । जिला प्रशासन में यदि हिम्मत नही है कि उनके गिरेबान मे हाथ डाले क्यो यह सब कुछ पार्टी विशेष के लोग है तथा प्रशासन इन्हे सहयोग कर रहा है । सांसद डामोर ने कहा कि जिले में अवेध रेत खनन जोर शोर से हो रहा है । झाबुआ चाहे स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र मे प्रदेश में पिछे हो किन्तु अवैध शराब एवं अवैध रेत खनन में प्रदेश में अग्रणी है ।किसानों को जिले में किसानों के 2 लाख तक ऋण माफ नही हुए है,किसानों का यूरिया नही मिल रही है, गांव गांव मे बिजली की किल्लत है  और राज्य की कांग्रेस सरकार हर मोर्चे पर विफल हो रही है। श्री डामोर ने कहा कि 2018 में कांग्रेस ने झुठ बोल कर प्रदेश मे ंसरकार बनाइ्र्र है । 2 लाख तक के कर्जे माफ नही हुए, बिजली के बिल हाफ नही हुए, बेराजगारों को भत्ता नही मिला, आज किसानों की सुनन वाला प्रदेश में कोई नही है । उन्होने सरकार एवं प्रशासन को सचेत किया कि सरकासर बदले की भावना से काम करना बंद करें ।  उन्होने कहा कि हम नागरिकता संशोधन कानून के लिये काम करते रहेगें। तथा इन सभी मुद्दो को वे संसद में भी निश्चित तौर पर उठायेगें । इसके  पूर्व जिला भाजपाध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने मीडिया का स्वागत किया । प्रेस वार्ता में  अजय पोरवाल, ओपी राय, सुरेश चैहान भूरू, विजय चैहान, अंकुर पाठक, नाना राठौर, बबलु सकलेचा, मनोहर मोदी, मनोज अरोडा, राजेन्द्र सोनी, दिनेश अमलियार सहित बडी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

पेषनर वह व्यक्तित्व होते है जो समाज को प्रेरणा देने के साथ ही आगामी पीढी को भी मार्गदर्षन देने  में अग्रणी होते है - विधायक कांतिलाल भूरिया
 जिला पेंषनर एसोसिएषन ने पेंषनर दिवस पर 12 वरिष्ठ पेंषनरों का शाल श्रीफल से किया सम्मान

jhabua news
झाबुआ । जीवन के अनुभवों को समाज में साझा करने में पेंशनरों के योगदान को कदापित विस्मृत नही किजासकता है  । पेंशनर वह व्यक्तित्व होते है जो समाज को प्रेरणा देने के साथ ही आगामी पीढी को भी मार्गदर्शन देने  में अग्रणी होते है । लम्बे शासकीय सेवाकाल के उतार चढावों को आप लोगों ने देखा है और इसमें आने वाली परेशानियों के साथ ही उसका केसे निराकरण किया जाता हे यह अनुभव आप सभी को हे जो समाज के नव निर्माण में सहायक होता हे । यह  बात पूर्व केन्द्रीय मंत्री, पूर्व सांसद एवं झाबुआ के  विधायक कांतिलाल भूरिया ने जिला पेंशनर एसोसिएशन झाबुआ द्वारा आयोजित पेंशनर दिवस के अवसर पर  75 वर्ष की आयु को पूर्ण करने वाले 12 पेंशनरों के शाल श्रीफल से सम्मान के समारोह में जिले भर से आये करीब 300 पेंशनरों को संबोधित करते हुए कहीं । जिला  पेंशनर एसोसिएशन झाबुआ के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं सचिव सुभाष दुबे नक जानकारी देते हुए बताया कि इस अवसर पर मुख्य अतिथि कांतिलाल भूरिया ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा अपवे वचन पत्र में पेंशनरों से जो वादे किये थे तथा पेंशनरों की विभिन्न मांगों के लिये जो ज्ञापन सौपा गया है, उसके बारे में वे स्वयं मुख्यमंत्री से रूबरू भेंट करके इन मांगों के निराकरण के लिये अपनी भूमिका का निर्वाह करेगें । श्री भूरिया ने कहा कि पेंशनरों की हर वाजिब मांगों को पूरा कराने में वे अहम भूमिका निभावेगें । जिला पेंशनर एसोसिएशन द्वारा आयोजित इस आयोजन में 75 वर्ष से अधिक आय्रु के पेंशनरों का सम्मान शाल-श्रीफल से स्टेंट बैंक आफ इण्डिया राजवाडा शाखा के प्रतिनिधि श्री विश्वास, संगठन के सरंक्षक केके त्रिवेदी, जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर, एवं अन्य पदाधिकारियों द्वारा सम्मान किया गया । सचिव श्री दुबे ने बताया कि इस सम्मान समारोह में नगर के पेंशनर श्री अब्दूल वहाब शेख, मधुसुदन शर्मा, एफएम खान, एमसी जाॅन, बलदेव प्रसाद चतुर्वेदी, पीदिया जी, श्रीमती पुष्पादेवी सोनी, कैलाशचंद्रसमीर, हिम्मतसिंह, कालीदेवी, सज्जनसिंह चैहान, एहमद हुसैन का सम्मान किया गया । कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्ती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर तथा माल्यार्पण के साथ किया गया । श्री गोपालसिंह चैहान ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। कार्यक्रम में तहसील शाखाओं से पधारे हुए अतिथियों का भी पुष्पमालाओं से स्वागत किया गया।एनएल रावल पेटलावद, नवलसिंह नायक मेघनगर, मांगीलाल दुर्गेश्वर रानापुर, गोविन्द वर्मा कल्याणपुरा, रमण पांचाल पारा जयेन्द्र बैरागी थांदला,, द्वारा भी पेंशनरों की समस्याओं  एवं भावी कार्यक्रमों केबारे में विचार व्यक्त किये गये ।वही सेनि प्राचार्य एमएल फुलपगारे ने श्री अपने विचार व्यक्त किये । बशीरूद्दी सेयद,समीउद्ददीन सैयद ने भीसंबोधित किया ।  कार्यक्रम के मध्य  एमसी जाॅन द्वारा प्रश्नोत्तरी का रोचक कार्यक्रम रखा गया जिसमेक विजेता प्रतिभागियों को उनकी ओर से 1000-1000 रुपये का पुरस्कार दिया गया जिसे पेंशनर प्रतिभागियों ने पेंशनर संघ में सहयोग निधि के रूप  में जमा करवा दिया । इस अवसर पर  सरंक्षक एमसी गुप्ता द्वारा भी मार्ग दर्शन दिया गया । वरिष्ठ पेंशनर मूलचंद काग द्वारा बैंक अधिकारी से प्रश्न पुछे गये जिसका समाधान बेंक अधिकारी विश्वास ने किया ।  इस अवसर पर कवि हृदय शंकरसिंह चंद्रावत ने कविता पाठ किया गया जिसकी मुख्य अतिथि कांतिलाल भूरिया सहित सभी उपस्थित पेंशनरों ने मुक्त कंठ से प्रसंशा की तथा उनकी नेसर्गिक प्रतिभा की भूरी भूरी प्रसंशा की । कार्यक्रम का सफल संचालन सचिव सुभाष दुबे ने किया गया । कार्यक्रम को सुल बनाने में गोपालसिंह चैहान, रूपसिंह खपेड,श्रीनाथसिंह चैहान, निरंजनसिंह चैहान, बहादूरसिंह चैहान, एवं श्याम सुंदरसिंह कसेरा का सराहनीय सहयोग रहा । कार्यक्रम के अंत मे आभार प्रदर्शन बालमुकुंदसिंह चैहान ने व्यक्त किया । 

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित झाबुआ मे मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री यादव को बिदाई दी एवं श्री सरोठिया का स्वागत किया

jhabua news
झाबुआ । जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्या. झाबुआ मे बिदाई एवं स्वागत समारोह आयोजित किया गया जिसमें बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.एन.यादव का मंदसौर स्थानांतरण होने से बिदाई दी गई एवं शाजापुर बैंक से स्थानांतरित होकर आये नवागत सीईओ श्री डी.आर.सरोठिया का स्वागत किया गया । कार्यक्रम मे पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद व झाबुआ विधायक मान. श्री कांतिलालजी भूरिया, थांदला विधायक मान. श्री वीरसिहजी भूरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष मान. श्रीमती शांति डामोर, संयुक्त आयुक्त सहकारिता एवं प्रषासक श्री जगदीष कनोज, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष श्री सुरेन्द्रसिह मोटापाला एवं श्री दौलत भावसार, बैंक के पूर्व संचालक श्री मानसिंह मेडा, श्री संजय श्रीवास, श्री गणेष प्रजापत, व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्री नीरजसिंह राठौर, श्री प्रकाषजी रांका, श्री हनुमंतसिंहजी डाबडी एवं जिले के शासकीय अधिकारी, बैंक अधिकारी, कर सलाहकार, प्रतिनिधि इफ्को/कृभको मीडिया कर्मचारी विषेष रूप से उपस्थित थे । कार्यक्रम की शुरूआत सरस्वती देवी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर की गई । कार्यक्रम मे मंचासीन अतिथियो एवं नवागत सीईओ श्री डी.आर.सरोठिया का बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री यादव द्वारा साफा बांधकर पुष्पमालाओं से स्वागत किया गया । इसके बाद बैंक के नवागत सीईओ श्री डी.आर.सरोठिया सहित बैंक कर्मचारियो द्वारा श्री यादवजी का साफा बंाधकर स्वागत कर शाॅल, श्रीफल एवं प्रतीक चिन्ह भेंट किया गया एवं बैंक के समस्त कर्मचारियो द्वारा श्री यादवजी एवं सरोठियाजी का पुष्पमालाओ से जोरदार स्वागत किया गया । साथ ही श्रीमती यादव एवं कु. दीक्षा यादव का भी पुष्प गुच्छ भंेटकर स्वागत किया । विधायक मान. श्री कान्तीलालजी भूरिया द्वारा अपने उद्बोधन मे कहा कि यादवजी ने बैंक के लिये समर्पित भाव से कार्य किये गये है एवं टीम भावना से कार्य करते हुये बैंक को ऊंचाईयो पर ले गये है । बैंक एवं समिति कर्मचारियो द्वारा शासन की योजना के अनुरूप बहुत अच्छे कार्य किये है। नवागत सीईओ श्री सरोठियाजी भी इसी तरह बैंक के कार्यो को आगे बढायेंगे । विधायक मान. श्री वीरसिंहजी भूरिया द्वारा कहा कि स्थानांतरण एक व्यवस्था है जिसके तहत आना और जाना होता है । किसानों के लिये किये जा रहे कार्यो से अवगत कराया गया । संयुक्त आयुक्त सहकारिता एवं बैंक प्रषासक श्री कनोज द्वारा कहा कि श्री यादव द्वारा बैंक हित मे बहुत अच्छे कार्य किये है जिससे बैंक ने काफी प्रगति की है । नवागत सीईओ श्री सरोठिया बैंक के विकास कार्याे की यात्रा को निष्चित रूप से गति देगें । झाबुआ बैंक प्रदेष मे अग्रणी बैंको मे रही है एवं ऐसा कार्य करे कि आने वाले समय भी बैक उच्च स्थान पर रहें । डाॅ. विक्रांत भूरिया द्वारा भी यादवजी के कार्यो की सराहना की गई एवं नवागत सीईओ श्री सरोठिया से बैंक,किसानो एवं कर्मचारियो के हित मे कार्यो की उम्मीद जाहिर की गई । पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष श्री सुरेद्रसिंह मोटापाला एवं श्री दौलत भावसार द्वारा भी यादव सा. के कार्यकाल मे किये कार्यो को सराहा एवं श्री मोटापाला द्वारा कहा कि जिस तरह पुष्प की सुंगध सभी जगह बिखरती है उसी प्रकार यादवजी भी अन्यत्र स्थान पर अपने कार्यो मे सफल होेेगे । बैंक वरिष्ठ महाप्रबंधक श्री यादवजी द्वारा अपने उद्बोधन मे कहा कि बैंक की प्रगति के लिये हमेषा भरसक प्रयास किये हैं, मुझे आप सभी का बहुत सहयोग एवं स्नेह मिला है । मुझे बहुत अपनापन एवं सम्मान मिला है, जिसे मै आजीवन नहीं भूल पाउंगा । श्री यादव द्वारा जय किसान ऋण माफी योजना एवं बैंक की प्रगति से भी अवगत कराया गया।  नवागत सीईओ श्री सरोठियाजी द्वारा अपने उद्बोधन मे कहा कि यहां का समारोह देखकर अभिभूत हूं ।  झाबुआ बैंक टाॅप 5 बैंको मे रही है ।  झाबुआ बैंक की स्थिति सभी स्तर पर बेहतर है।इसी प्रकार जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शांति राजेष डामोर, व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्री नीरजसिंह राठौर, श्रीमती रष्मि यादव एवं बैंक के प्रभारी लेखा श्री एच.ए.के.पाण्डेय द्वारा भी अपने विचार व्यक्त किये गये । उक्त कार्यक्रम मे सहकारिता विभाग के कर्मचारियो सहित जिले के समस्त शाखा प्रबंधक, पर्यवेक्षक, समिति प्रबंधक एवं प्रधान कार्यालय के समस्त कर्मचारीगण उपस्थित रहे ।  कार्यक्रम का संचालन श्रीमती सुषीला डामोर द्वारा एवं आभार प्रदर्षन श्री मनोज कोठारी द्वारा किया गया ।

गोपाल प्रभुजी की महाआरती में झूमे भक्तजन, सांसद, भाजपा जिलाध्यक्ष एवं नगरपालिका अध्यक्ष भी महाआरती में हुई शामिल, महाप्रसादी का किया गया वितरण

jhabua news
झाबुआ। शहर के गोपाल काॅलोनी स्थित गोपाल मंदिर में शताब्दी समारोह-2020 के उपलक्ष में त्रि-दिवसीय महोत्सव के तहत अंतिम दिन गोपाल प्रभुजी की महाआरती का आयोजन हुआ। महाआरती दोपहर ठीक 12 बजे आरंभ हुई। इससे पूर्व भजन-किर्तन किए गए। महाआरती में विषेष रूप से क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाष शर्मा, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नूबेन डोडियार भी शामिल हुई। महाआरती के दौरान भक्तों ने उत्साहपूर्वक नृत्य भी किया। बाद सभी भक्तों ने कतार में खड़े रहकर महाप्रसादी प्राप्त की।  अंतिम दिन 9 जनवरी, गुरूवार को सुबह 6 से 8 बजे तक ध्यान, 8 से 10 बजे गुरू ऊॅं जाप, 8 से दोपहर 11.30 बजे तक सद्गुरू पूजन, इस दौरान सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक भजनों में भी बड़ी संख्या मंे भक्तजन शामिल हुए। दोपहर ठीक 12 बजे से गोपाल प्रभुजी की जन्मोत्सव महाआरती आरंभ हुई, जो आधे घंटे तक सत्त चली। इस दौरान युवाओं ने गोपाल प्रभुजी के जयकारे लगाते हुए नृत्य भी किया। महाआरती में क्षेत्रीय सांसद श्री डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री शर्मा, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती डोडियार, मप्र कर्मचारी कांग्रेस जिलाध्यक्ष भेरूसिंह सोलंकी, प्रसिद्ध चिकित्सक डाॅ. शीना भूरिया ने भी शामिल होकर बाद गोपाल प्रभुजी के दर्षन का भी लाभ लिया। महाआरती के दौरान पूरा परिसर गोपाल प्रभुजी के जयकारों से गूंजायमान होने के साथ ही श्रद्धालुओं की भीड़ से खचाखच भर गया। तत्पष्चात् मंदिर परिसर में सभी भक्तजनों को प्रसादी का वितरण किया गया। श्रद्धालुओं ने कतार में खड़े रहकर प्रसादी प्राप्त की।शाम 6.30 बजे से सद्गुरू लीला दर्षन (व्याख्यान) एवं रात्रि 8.30 बजे से भजन संध्या का आयोजन हुआ।

हजारों भक्तों ने लिया दर्षन-पूजन का लाभ
तीन दिवसीय महोत्सव के दौरान हजारों गुरू भक्तों, जिसमें झाबुआ जिले सहित मप्र, गुजरात, राजस्थान एवं महाराष्ट्र के साथ विदेष से भी पधारे हजारों गुरू भक्तजनों ने गोपाल प्रभुजी के दर्षन-पूजन का लाभ लिया। साथ ही तीन दिवसीय महोत्सव में सहभागिता कर भव्य रूप प्रदान किया। आयोजक श्री गोपाल भक्त मंडल ने सभी भक्तजनों सहित सहयोगियों के प्रति आभार माना है।

शारदा विद्या मंदिर हिन्दी माध्यम में स्पोर्टस-डे (खेल महोत्सव)’का हुआ आयोजन, राष्ट्रीय ध्वज फहराकर मार्च पास्ट, मषाल प्रज्जवलन के साथ हुआ शुभारंभ विद्यार्थियों को चार घरानों में विभाजित कर विभिन्न प्रतियोगिताएं की गई

jhabua news
झाबुआ। शारदा विद्या मंदिर हिन्दी माध्यम बिलिडोज में 9 जनवरी, गुरूवार को स्पोर्टस-डे (खेल महोत्सव) का भव्य आयोजन हुआ। शुभारंभ अतिथियों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराकर मार्च पास्ट एवं मषाल प्रज्जवलन के साथ हुआ। बाद विद्यार्थियों को चार घरानों में विभाजित कर उनके बीच विभिन्न प्रतियोगिताएं रखी गई। शुभारंभ अवसर पर अतिथि के रूप में स्कूल के संचालक अथर्व शर्मा एवं संस्था प्राचार्य डाॅ. कंचन चैहान ने विद्यालय परिसर में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। बाद राष्ट्रगान हुआ। सभी विद्यार्थियों ने मषाल जुलूस प्रज्जवलन करथ मार्च पास्ट किया। अतिथियों ने राष्ट्रीय ध्वज के तीन रंगों के गुब्बारे आकाष में छोड़े। अपूर्वा खतेड़िया एवं परिधि जैन से सभी बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत किया। बाद खिलाड़ियों से परियय प्राप्त करते हुए प्रथम उद्घाटन मैच बास्केट बाॅल का चरस और द्रोणाचार्य टीम ने बीच हुआ। विद्यार्थियों के बालक-बालिका अलग-अलग वर्ग में चार घराने द्रोणाचार्य, एकलव्य, चरख और चाणक्य बनाए गएं। जिनके लिए 200 मीटर एवं 400 मीटर दौड़ प्रतियोगिता, बाॅस्केट बाॅल, कबड्डी, व्हालीबाॅल, रस्सी कूद, रस्सा खेंच आदि प्रतियोगिता रखी गई।

इनका रहा सराहनीय सहयोग
यह प्रतियोगिता दोपहर 11 से शाम 5 बजे तक चली। खेलों का अवलोकन स्कूल के संचालक ओम शर्मा एवं श्रीमती किरण शर्मा ने कर सभी खिलाड़ियों का उत्साह वर्धन किया। संस्था प्राचार्य डाॅ. कंचन चैहान ने बताया कि प्रतियोगिताओं में विजेता रहे छात्र-छात्राओं को आगमी दिनों में पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन कर पुरस्कृत किया जाएगा। सभी प्रतियोगिताएं यषपाल ठाकुर, निलेष खराड़ी, देवेन्द्र व्यास एवं पंकज अजनार ने संपन्न करवाई। वहीं प्रतियोगिताओं को सफल बनाने में सराहनीय सहयोग विद्यालय के षिक्षक-षिक्षिकाओं में राजेष चैहान, सतीष लाखेरी, दिनेष भूरिया, योगिता पाठक, ममता भूरिया, संगीता बामनिया आदि का रहा।

डॉ राम शंकर चंचल की ताजा कृति अक्षर समीक्षाष् एक अस्मरणीय कृति है .डॉक्टर आशीष

jhabua news
झाबुआ ! मां शारदा सदन गोपाल कॉलोनी में अखिल भारतीय साहित्य परिषद के बैनर तले प्रख्यात साहित्यकार डॉरामशंकर चंचल की ताजा कृति अक्षर समीक्षा का विमोचन मुख्य अतिथि डॉ आशीष भट्ट ;प्रोफेसर मध्यप्रदेश सामाजिक विज्ञान शोध संस्थान उज्जैन द्धकार्यक्रम अध्यक्ष डॉक्टर गीता दुबे ;महाविद्यालय झाबुआद्ध और अतिथिगण  डॉक्टर वाहिद फराज डॉ अंजना मुवेलए श्री लोकेंद्र सिंह चौहानए ए मनोज जैन एभेरु सिंह चौहान तरंगए प्रशांत सिंह सोलंकीए अभिजीत सिंह पंवारए सुरेश सन्नाटा के कर कमलों से संपन्न हुआ। मुख्य अतिथि डॉ आशीष भट्ट ने विमोचन करते कहा कि अक्षर समीक्षा एक स्मरणीय कृति है जिसमें देश के प्रख्यात साहित्यकार संपादकों की श्रेष्ठ कृतियां पर डॉक्टर रामशंकर चंचल की समीक्षाएं है ।हर्ष का विषय यह है कि इसमें डॉक्टर चंचल ने अपने शहर के श्रेष्ठ रचनाकारों की कृतियों की समीक्षा भी शामिल की है समीक्षा कार्य साहित्य की मूल्यवान महत्वपूर्ण विधा है मैं उन्हें और सभी रचनाकारों को बधाई देता हूं। कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ गीता दुबे ने कहा कि डॉ राम शंकर चंचल ने अपना परिचय समाचार पत्रों की कुछ महत्वपूर्ण समाचारों के माध्यम से दिया है जिसे देख पढ़कर हमें डॉक्टर चंचल की साहित्यिक उपलब्धियों पर गर्व होता है ।इस अवसर पर आमंत्रित अतिथि डॉ गीता दुबे डॉ वाहिद फराज ए डॉ अंजना मुवेलएलोकेंद्र सिंह चौहान ए मनोज जैन एभेरु सिंह चौहान तरंग और  डॉक्टर चंचल ने अपनी श्रेष्ठ कविताएं सुनाएं जिसे सभी ने बहुत सराहा कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन किया युवा कवि श्री भावेश त्रिवेदी ने।

देष के ख्यातनाम साहित्यकार यषवंत भंडारी ‘यष’ के चतुर्थ काव्य संग्रह ‘‘जिंदगी’’ का इंदौर में करंेगे विमोचन

jhabua news
झाबुआ। इंदौर साहित्य सागर संस्था द्वारा अपने 10वें वर्ष के सुअवसर पर 139वें आयोजन के अंतर्गत नषा मुक्ति अभियान महोत्सव का आयोजन स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर 12 जनवरी, रविवार को दोपहर 12 बजे से इंदौर में किया जाएगा। जिसमें संस्था की बहु रचनाकारों की कृति नषा मुक्ति सागर के साथ ही झाबुआ जिले के वरिष्ठ साहित्यकार यषवंत भंडारी ‘यष’ के चतुर्थ काव्य संग्रह ‘‘जिंदगी’’ का भी विमोचन देष के ख्यातनाम साहित्यकारों द्वारा सामूहिक रूप से होगा। जानकारी देते हुए इंदौर साहित्य सागर संस्था कीे संरक्षक अर्चना राठौर ने बताया कि उक्त आयोजन में अध्यक्ष महा-महोपाध्याय आचार्य श्रीयुत मिथिलाप्रसाद त्रिपाठी, मुख्य अतिथि काव्याधिपति डाॅ. सरोजकुमार, वरिष्ठ साहित्यकार, प्रधान अतिथि कृष्णकुमार अष्ठाना, प्रधान संपादक देवपुत्र, प्रमुख अतिथि काव्याधीष राजकुमार वर्मा, प्रसिद्ध साहित्यकार एवं अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीष तथा विषेष अतिथि डाॅ. विकास दवे, संपादक देवपुत्र रहेंगे। इन ख्यातनाम हस्तीयों की उपस्थिति में 127 कलमकारों द्वारा रचित राष्ट्रीय कृति ‘‘नषा मुक्ति सागर’’ का विमोचन समारोह सहित 151 साहित्यकारों का सम्मान समारोह भी होगा। इसी बीच जिले के वरिष्ठ साहित्यकार यषवंत भंडारी ‘यष’ के चैथे काव्य संग्रह ‘‘जिंदगी’’ का विमोचन भी समस्त अतिथियों द्वारा मिलकर किया जाएगा।

चैथे काव्य संग्रह का विमोचन
ज्ञातव्य रहे कि झाबुआ के साहित्यकार यषवंत भंडारी द्वारा पूर्व में अपने तीन काव्य संग्रह आनंद अश्रु, पतझड़ की छाया एव ंना जायज का दर्द प्रकाषित किए जा चुके है, जिसे संाहित्य जगत में सराहा गया है। इसी क्रम में चैथे काव्य संग्रह ‘‘जिंदगी’’ का विमोचन आगामी 12 जनवरी को इंदौर में भव्य रूप से होगा। 

जिला वरिष्ठ नागरिक फोरम की कार्यकारिणी गठित, सचिव समीउद्दीन सैयद मनोनीत

झाबुआ। जिला वरिष्ठ नागरिक फोरम के अध्यक्ष विद्याराम शर्मा ने फोरम की नवीन कार्यकारिणी का गठन किया है। जिसमें सचिव समीउद्दीन सैयद को मनोनीत किया गया है। इसके साथ ही अन्य पदों में संरक्षक डाॅ. केके त्रिवेदी, परामर्षदाता महेषचन्द्र गुप्ता, उपाध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं अरविन्दकुमार व्यास, सह-सचिव सज्जनसिंह चैहान, कोषाध्यक्ष पीडी रायपुरिया, संगठन सचिव जर्नादन शुक्ला, प्रचार-प्रसार राजेन्द्र सोनी को बनाया गया है। कार्यकारिणी सदस्यों में श्री नाथ चैहान, बीएल सांकी, रूपसिंह खपेड़, श्याम सुंदर कसारा, गोपालसिंह चोहान, भागीरथ सतोगिया, श्रीमती सुषीला भट्ट एवं कुंता सोनी को शामिल किया गया है। नवीन कार्यकारिणी की घोषणा नवीन सत्र 1 जनवरी 2020 से की गई हे। सभी नव-मनोनीत पदाधिकारी एवं सदस्यों को शुभकामनाएं प्रेषित की गई है।

रबी फसलो की बुआई के लिये किसानो को दी गई सलाह
    
झाबुआ।  कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ द्वारा किसानो को सलाह दी गई है कि आगामी पांच दिनो में आसमान मे साफ से छिटपुट बादल रहने ,अधिकतम व न्यूनतम तापमान 20.0 से 25.0 व 9.0 से 7.0 से 13.0 डि.से के बीच रहने, उत्तर-पष्चिम से उत्तर-पूर्व से पूर्व दिषा से 7.9 से 17.5 किमी/घंटा चलने एवं आगामी पाचं दिनो में वर्षा नही होने का अनुमान है। किसानो को सलाह दी जाती है कि गेहू, सरसो एवं चना में सिंचाई करे। सिंचाई उपरांत गेहू में नत्रजन उर्वरक की 1/3 मात्रा यूरिया के रूप में छिटकवा विधि से दे। आगामी दिनो में तापमान में गिरावट को देखते हुए पाला पडने की संभावना बन सकती है। अतः पाला से बचाव हेतु चना,कपास, सरसो, सब्जी आदि की स्प्रिंकलर से हल्की सिंचाई करे। रात में तीसरे व चैथे प्रहर खेत के उत्तर-पष्चिम दिषा में 5-6 जगह धुआं करें वं थायो यूरिया 0.5 ग्राम प्रति लीटर या घुलनषील सल्फर 3.0 ग्राम प्रति लीटर या गंधक के तेजाब के 0.05 से 0.1 प्रतिषत के घोल का छिडकाव करे। गेंहू की फसल के लिये 20 से 25 दिन की फसल ने चैडी पत्ती के खरपतवार नियंत्रण हेतु मेट सल्फुरान मिथाइल 8.0 ग्राम/एकड या दोनो तरह के खरपतवार हेतु सल्फो-सल्फुरान 13.5 ग्राम/एकड की दर से छिडकाव करे। गेहू में दूसरी 35-40 दिन बाद एवं तीसरी सिंचाई 55-60 दिन करे ताकि नमी की कमी न हो। सिंचाई उपरांत नत्रजन उर्वरक की 1/3 मात्रा यूरिया के रूप में छिटकवा विधि से दे। सरसो के लिए रसचूसक कीट के नियंत्रण हेतु एसिटामेप्रिड या थयोमिथाक्सिम दवा 0.35-0.45 ग्रा/ली. की दर से छिडकाव करें। सरसो में सिंचाई 60-65 दिन बाद दाना बनते समय करे। चना कीटो के नियंत्रण हेतु पक्षियो के बैठने हेतु टी आकार की खूटीया 20-25 प्रति हेक्टेयर एवं फेरोमोन ट्रैप (8 ट्रैप प्रति हेक्टेयर) लगाये। इल्लियो का आक्रमण बढने पर (3 इल्लिया/मी.) नियंत्रण हेतु ट्रायजोफाॅस दवा 800 मिली./हेक्टे. का छिडकाव करे। चना में दूसरी सिंचाई 60-70 दिन बाद फलियो में दाना बनाते समय करे। आम के बाग की सिचाई रोक दें। आम के पेडो पर मीलीबग के नियंत्रण हेतु ताने पर ग्रीस की पटियां बधे एवं ताने के आसपास भूमि में फोलिडाल दवा 250 ग्रा/पेड की दर से डाले। टमाटर ,भिण्डी ,बैगन, पालक, ग्वारफली, कद्दूवर्गीय सब्जियो,हरी मिर्च, गोभी, गाजर,मटर, लहसुन, प्याज की खेती के लिये खेत तैयार करे। हल्दी व अदरक की परिपक्व फसल की सिंचाई रोक दे व प्रकंद की खुदाई करे। दुधारू पषुओ को हरा चारा 25 किलो प्रति पषु प्रति दिन व संतुलित आहार एवं मिनरल की आपूर्ति हेतु 50 ग्राम प्रति पषु के हिसाब से मिनरल मिश्रण की खुराक दे। बरसीम की प्रथम कटाई उपरांत सिंचाई कर अनुषंसित उर्वरक फसल की समय पर सिंचाई करे।

कलेक्टर के निर्देष पर आकस्मिक निरीक्षण के दौरान अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित षिक्षको के विरूद्व कार्यवाही
     
झाबुआ।  कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा झाबुआ के आदेषानुसार दिनांक 6 जनवरी 2020 के द्वारा श्री रमण डामोर प्राचार्य हाईस्कूल झापादरा के द्वारा दिनंाक 8 जनवरी 2020 को प्रा.वि. ईटावा, मा.वि. ईटावा, प्रा.वि. खेडिया फलिया ईटावा का निरीक्षण किया गया है। जिसमें निरीक्षणकर्ता द्वारा निरीक्षण टीप से अवगत कराया है, मा.वि. ईटावा में श्री मकनसिंह भूरिया, माध्यमिक षिक्षक समय प्रातः 11.10 बजे एवं प्रा.वि. ईटावा में श्री मानसिंह भाबर, प्राथमिक षिक्षक एवं श्री रतनसिंह परमार, सहायक षिक्षक समय प्रातः 11.45 बजे तथा श्री अन्तोन भूरिया, प्राथमिक षिक्षक सूचना के अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित पाये  गये है। अनुपस्थित षिक्षको के द्वारा पदीय कर्तव्यो के निर्वहन में रूचि नही ली जा कर आदिवासी छात्र/छात्राओ के भविष्य के साथ खिलवाड किये जाने के संबंध में अनुपस्थित षिक्षको को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास झाबुआ के द्वारा कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है।

4 लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत
     
झाबुआ।  निवासी ग्राम रसौडी तहसील झाबुआ की नदी में डुबने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के वैध वारिस उसके पति श्री खुमान पिता पांगला को 4 लाख की आर्थिक सहायता राशि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री अभयसिंह खराडी द्वारा स्वीकृत की गई है। स्वीकृत राशि बैंक खाते में ई-पेमेन्ट द्वारा भुगतान की जाएगी।

4 लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत
     
झाबुआ । श्री भुदरा पिता नानसिंह अजरानिया निवासी ग्राम माछलिया तहसील झाबुआ की तालाब में डुबने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के वैध वारिस उसकी पत्नी श्री श्रीमती रूखा पति भुदरा को 4 लाख की आर्थिक सहायता राशि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री अभयसिंह खराडी द्वारा स्वीकृत की गई है। स्वीकृत राशि बैंक खाते में ई-पेमेन्ट द्वारा भुगतान की जाएगी।

4 लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत
     
झाबुआ । श्री गोपाल पिता सकरिया भूरिया निवासी ग्राम रंगपुरा तहसील झाबुआ की कुए में डुबने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के वैध वारिस उसके पुत्र श्री श्री नानसिंह पिता सकरिया को 4 लाख की आर्थिक सहायता राशि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री अभयसिंह खराडी द्वारा स्वीकृत की गई है। स्वीकृत राशि बैंक खाते में ई-पेमेन्ट द्वारा भुगतान की जाएगी।

सभी जेलों और न्यायालयों में लगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग उपकरण
   
झाबुआ। प्रदेश की सभी जेलों और न्यायालयों में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग उपकरण लगाये गये हैं। इससे परिरूद्ध बंदियों की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आसानी से कराई जा सकेगी। पिछले एक वर्ष में मध्यप्रदेश की 37 जेलों में ई-प्रिजन कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसमें बंदियों का डाटाबेस तैयार किया जा रहा है।

सभी जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे
जेलों की सुरक्षा के लिये अब तक सिर्फ 23 जेलों में ही सीसीटीव्ही कैमरे लगाये गये थे। नई सरकार ने सभी जेलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की कार्यवाही शुरू कर दी है। जेलों की सुरक्षा-व्यवस्था सुदृढ बनाने के लिये सभी केन्द्रीय जेल और 9 जिला जेलों पर इलेक्ट्रिक फेंसिंग की स्थापना प्रचलन में है। जेलों में 590 वॉकी-टॉकी सेट एवं 22 बेस-सेट उपलब्ध कराये गये हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: