कर्नाटक को ‘‘नजरअंदाज’’ करने को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी पर निशाना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 जनवरी 2020

कर्नाटक को ‘‘नजरअंदाज’’ करने को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी पर निशाना

karnataka-congress-blame-modi
बेंगलुरु, दो जनवरी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बृहस्पतिवार के दौरे से पहले कर्नाटक कांग्रेस ने उन पर राज्य को ‘‘नजरअंदाज’’ करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि उन्होंने पिछले साल भयंकर बाढ़ के कारण राज्य के अधिकतर हिस्सों के प्रभावित होने के बावजूद उचित राहत क्यों नही दीं और यहां का दौरा क्यों नहीं किया। मोदी का कर्नाटक का दो दिवसीय दौरा बृहस्पतिवार दोपहर को आरंभ होगा। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री से सवाल किया कि सिद्धगंगा मठ के शिवकुमार स्वामीजी को ‘भारत रत्न’ क्यों नहीं दिया गया? उनका 111 वर्ष की आयु में पिछले साल निधन हो गया था। राज्य कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘‘आपने राज्य का दौरा तब क्यों नहीं किया, जब वह बाढ़ से प्रभावित था? एक लाख करोड़ रुपए से अधिक के नुकसान के बावजूद इसे राष्ट्रीय आपदा क्यों घोषित नहीं किया गया? आपने अंतरिम राहत क्यों नहीं दी? जब राज्य सरकार ने रिपोर्ट दी थी कि 35,300 करोड़ रुपए की सम्पत्ति का नुकसान हुआ तो आप 1,200 करोड़ रुपए देकर चुप क्यों बैठ गए?’’  कर्नाटक में अगस्त में अभूतपूर्व बाढ़ के कारण 22 जिलों की 103 तालुक प्रभावित हुई थी और 80 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। कांग्रेस ने सवाल किया कि केंद्र जीएसटी राशि का राज्य का पर्याप्त हिस्सा क्यों नहीं दे रहा, मनरेगा कार्यक्रम के तहत बकाए का भुगतान अभी तक क्यों नहीं किया गया और राज्य को अनुदान आवंटित करते समय नजरअंदाज क्यों किया जा रहा है?  कांग्रेस ने क्षेत्रीय भाषाओं और मातृभाषा को नजरअंदाज करके हिंदी भाषा को बढ़ावा देने पर भी भाजपा नीत केंद्र सरकार को निशाना बनाया।

कोई टिप्पणी नहीं: