धवन, राहुल के लिये खुद को क्रम में नीचे खिसका सकते हैं विराट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 14 जनवरी 2020

धवन, राहुल के लिये खुद को क्रम में नीचे खिसका सकते हैं विराट

kohli-steps-down
मुंबई, 13 जनवरी, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे के अंतिम एकादश में शिखर धवन और लोकेश राहुल को शामिल करने के लिये खुद को बल्लेबाजी क्रम में नीचे खिसकाने का संकेत दिया है। भारत और आस्ट्रेलिया के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज़ का पहला मैच मुंबई में मंगलवार को खेला जाएगा। इस सीरीज़ में रोहित शर्मा वापसी कर रहे हैं, ऐसे में टीम प्रबंधन के लिये लोकेश राहुल, और रोहित तथा शिखर में से एक को ओपनिंग जोड़ी में चुनने की सिरदर्दी पैदा हो गयी है। तीनों ही बल्लेबाज़ फिलहाल अच्छी फार्म में हैं। उपकप्तान रोहित का हालांकि स्थान ओपनिंग में सुनिश्चित है लेकिन धवन और राहुल के बीच किसी एक को चुनना मुश्किल हो सकता है। लेकिन कप्तान विराट ने पहले वनडे की पूर्व संध्या पर सोमवार को कहा,“ जब भी खिलाड़ी अच्छी फार्म में होते हैं तो यह टीम के लिये बढ़िया होता है क्योंकि आप चाहते हैं कि जो भी खिलाड़ी उपलब्ध हों वे मजबूत होने चाहिये ताकि आप सही संयोजन ढूंढ सकें।” कप्तान ने कहा,“ मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि तीनों लोकेश, रोहित और शिखर एक साथ क्यों नहीं खेल सकते हैं। मेरे हिसाब से तीनों को खेलते देखना दिलचस्प होगा। इससे हम मजबूत संयोजन भी ढूंढ सकते हैं।” विराट ने क्रम में नीचे बल्लेबाज़ी को लेकर कहा,“ यह एक बड़ी संभावना है कि मैं निचले क्रम में बल्लेबाजी करूं। मुझे ऐसा करने में खुशी होगी। मैं आपको बताना चाहता हूं कि मुझे क्रम को लेकर कोई प्यार नहीं है। मैं किसी भी क्रम पर खेलने की क्षमता रखता हूं।” भारतीय कप्तान आमतौर पर तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करते हैं। स्टार बल्लेबाज़ ने कहा कि उनके लिये निजी स्वार्थ और रिकार्ड से अहम टीम की सफल अगुवाई करना है। उन्होंने कहा,“ टीम का कप्तान होने के नाते यह मेरा काम है कि भावी खिलाड़ी तैयार हों। अधिकतर लोग ऐसा नहीं सोचते हैं, लेकिन बतौर कप्तान मेरा मानना है कि मैं इस टीम के अलावा एक और टीम तैयार करूं जो आपके जाने के बाद जगह ले सके।” 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...