मुशर्रफ को मृत्युदंड सुनाने वाली विशेष अदालत का गठन असंवैधानिक : हाई कोर्ट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 14 जनवरी 2020

मुशर्रफ को मृत्युदंड सुनाने वाली विशेष अदालत का गठन असंवैधानिक : हाई कोर्ट

special-court-against-musharraf-illegal-high-court
इस्लामाबाद, 13 जनवरी, पाकिस्तान के लाहौर हाई कोर्ट ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को मौत की सजा सुनाने वाली विशेष अदालत के गठन को सोमवार को असंवैधानिक घोषित कर दिया। मुशर्रफ ने दिसंबर 2019 में हाई कोर्ट में मौत की सजा के फैसले के खिलाफ अपील की और उनके खिलाफ विशेष अदालत के फैसले को अवैध, बिना अधिकार क्षेत्र के और असंवैधानिक बताते हुए खारिज करने की मांग की। कोर्ट ने मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ राजद्रोह का मामला जिसमें उन्हें मौत की सजा सुनाई गयी, कानून के अनुरूप तैयार नहीं किया गया था। हाई कोर्ट की तीन सदस्यीय पीठ ने हालांकि मुशर्रफ को मौत की सजा देने के विशेष अदालत के फैसले की वैधता के संबंध में कोई बयान जारी नहीं किया लेकिन याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि विशेष अदालत का गठन गैरकानूनी घोषित होने के बाद उसके द्वारा दिया गया फैसला भी अमान्य हो गया है। गौरतलब है कि 2007 में देश में आपातकाल लागू करके संविधान को निलंबित करने के लिए पाकिस्तानी सरकार की ओर से 2013 में दायर कराये गये एक मामले में मुशर्रफ को 17 दिसंबर 2019 को मृत्युदंड दिया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...